केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदूषण में बदला का ब्यौरा भी मांगा

देहरादून। राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पर्यावरण अभियंता डॉ. अंकुर कंसल ने बताया कि आतिशबाजी से प्रदूषण में आए बदलाव की जांच पड़ताल के लिए घंटाघर और नेहरू कॉलोनी स्थित क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कार्यालय में दो मॉनिटरिंग स्टेशन खोले गए हैं। इसके अलावा आईएसबीटी, राजपुर जैसे इलाकों में भी प्रदूषण की निगरानी की जा रही है। डॉ. कंसल ने बताया कि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सात से लेकर 21 नवंबर तक प्रदूषण स्तर में आए बदलाव का ब्योरा भी मांगा है।


Featured Post

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने से भाजपा के पाप धुलने वाले नहींः पायलट

रुड़की। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने से भाजपा के पाप धुलने वाले नहीं हैं। ...