Tuesday, 31 August 2021

मधु जैन ’आउटस्टैंडिंग सोशल एक्टिविस्ट अवार्ड’ से सम्मानित

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। अंतर्राष्ट्रीय लायंस क्लब द्वारा प्रेषित लायंस क्लब देहरादून हिमगिरी द्वारा मानवधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन की प्रदेश अध्यक्ष मधु जैन को ’आउटस्टैंडिंग सोशल एक्टिविस्ट अवार्ड’ प्रदान किया गया है।उन्होंने कोरोना वैश्विक माहमारी के भयंकर प्रकोप के समय अपनी जिंदगी की परवाह न करते हुए महिलाओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री वितरित की। लायंस क्लब हिमगिरी देहरादून ने मधु जैन द्वारा किये गए सराहनीय एवम उत्कृष्ट कार्यों के लिए उनकी भूरि-भूरि प्रशंसा की है। क्लब का कहना है कि जिस तरह से मधु जैन समाज के लिए दिन-रात कार्य कर रही हैं इससे मातृशक्ति को उनसे प्रेरणा और बल मिलेगा। उनके कार्य अनुकरणीय हैं। वे महिला सशिक्तकरण की मिसाल हैं। समाज के हर वर्ग के लिए किए गए योगदान को ध्यान में रखते हुए क्लब द्वारा उन्हें सम्मानित किया जा रहा है। कोरोना काल में मधु जैन ने लोगों की जो सेवा की है उसके लिए क्लब के सदस्य धन्यवाद देते हैं। इस मौके पर लायंस क्लब हिमगिरि के वॉइस प्रेसिडेंट जितेंद्र डंडोना ने कहा कि हम मधु जैन की मेहनत, लगन और विश्वास के जज्बे को सलाम करते हैं। उन्होंने हमेशा महिलाओं के हित के लिए कार्य किया है, जिससे कहीं ना कहीं मातृशक्ति को उसका सम्मान और हक किसी न किसी रूप में मिला है। इस अवसर पर मधु जैन ने इस सम्मान के लिए लायंस क्लब हिमगिरी देहरादून का धन्यवाद और आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि इस सम्मान से मेरा हौसला और बढ़ा है। कार्यक्रम में मानवधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सचिन जैन, प्रदेश कानूनी सलाहकार राजकुमार तिवारी, रेखा निगम, एस पी सिंह, वरिष्ठ समाजसेवी सागर गुरंग, हरिओम ओमी, अमित अरोरा, मुकेश निगम, रमन खन्ना, विजय गर्ग आदि उपस्थित रहे। 

विप्रो कम्पनी ने 150 ऑक्सीजन सिलेण्डर प्रदान किये

देहरादून। कोविड-19 के दृष्टिगत विप्रो कम्पनी हरिद्वार द्वारा सी.एस.आर. मद से राज्य को 150 ऑक्सीजन सिलेण्डर प्रदान किये गये। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कोविड में इस सहयोग के लिए विप्रो कम्पनी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर विधायक आदेश चौहान, सिडकुल एसोसिएशन के अध्यक्ष हरेन्द्र गर्ग, विप्रो कम्पनी से शरद सक्सेना, अरविंद चौहान, मिलन्द मारकंडे, पुनिल वाधवा, अजीम प्रेमजी फाउण्डेशन से कैलाश कांडपाल सोबन सिंह उपस्थित थे।

सैन्य धाम के संबंध में उच्च स्तरीय समिति की हुई बैठक

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में सैन्य धाम के संबंध में आयोजित उच्च स्तरीय समिति की बैठक आयोजित की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में भव्य सैन्यधाम बनाया जायेगा। इसमें सभी शहीद सैनिकों के आंगन की मिट्टी लाई जायेगी। इसका स्वरूप भव्य होगा। हमारे सैनिकों का शौर्य एवं पराक्रम की गाथा का यह जीता जागता उदाहरण होगा। सैन्यधाम के संबंध में उच्च स्तरीय समिति की अगली बैठक जल्द आयोजित की जायेगी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि शहीद सम्मान यात्रा के लिए सभी तैयारियां जल्द पूर्ण की जाय। शहीद सम्मान यात्रा के दौरान शहीदों के आश्रितों को सम्मान पत्र भी दिया जायेगा। इस अवसर पर सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी, विधायक खजान दास, चंद्रा पंत, प्रमुख सचिव सैनिक कल्याण एल. फैनई, सचिव वी. षणमुगम एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

महिंद्रा फर्स्ट चॉइस व्हील्स स्टोर अब देहरादून में भी

देहरादून। महिंद्रा फर्स्ट चॉइस व्हील्स लिमिटेड (एमएफसीडब्ल्यूएल), भारत की अग्रणी मल्टी-ब्रांड प्री-ओन्ड कार रिटेलर ने भारत के टियर शहरों में 75 नए अत्याधुनिक फ्रैंचाइजी स्टोर लॉन्च किए। इन नए स्टोरों के जुड़ने से यूज्ड कार सेगमेंट में एमएफसीडब्ल्यूएल के बाजार नेतृत्व को मजबूती मिली है। निजी वाहनों की बढ़ती मांग के कारण एमएफसीडब्ल्यूएल ने केरल, कर्नाटक, जम्मू और कश्मीर, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, गुजरात, पश्चिम बंगाल, झारखंड,असम, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में स्टोर खोले हैं। इन स्टोरों के जुड़ने से एमएफसीडब्ल्यूएल के पास अब पूरे भारत में 1100 से अधिक स्टोर्स का एक मजबूत नेटवर्क है। एमएफसीडब्ल्यूएल ने देहरादून में भी अपना नया स्टोर लॉन्च किया है यह हरबर्टपुर में डील ऑन व्हील्स और कोटद्वार में भगवान कृष्ण ऑटोमोबाइल्स स्टोर है।यह नया महिंद्रा फर्स्ट चॉइस स्टोर सभी सुविधाओं और सेवायें प्रदान करेगा जो एमएफसीडब्ल्यूएल ब्रांड का प्रतिनिधित्व करता है, जिसमें प्रमाणित पुरानी कारों की बिक्री, महिंद्रा द्वारा प्रमाणित इस्तेमाल की गई कारों पर वारंटी, आसान लोन, परेशानी मुक्त आरटीओ हस्तांतरण और उत्कृष्ट ग्राहक अनुभव शामिल हैं। महिंद्रा फर्स्ट चॉइस व्हील्स लिमिटेड के सीईओ और एमडी आशुतोष पांडे ने कहा-“देश भर के ग्राहकों के लिए कार के खरीदने की सुविधा को आसान और सुलभ बनाना हमारा मिशन है। आज 75स्टोर्स का लॉन्च हमारे लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, खासकर कोविड-19 के बाद ग्राहक पुरानी कारों को लेकर अत्यधिक रूचि दिखाने लगे है । महिंद्रा ब्रांड के उत्पादों, सेवाओं, प्रौद्योगिकी और शक्ति के संयोजन के माध्यम से इस पारिस्थितिकी तंत्र को व्यवस्थित करने के लिए उद्यमियों के साथ साझेदारी करके हमें खुशी हो रही है।

स्पोर्ट्स ताइक्वांडो एसोसिएशन दल ने सीएम से की भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुख्यमंत्री आवास में उत्तराखण्ड स्पोर्ट्स ताइक्वांडो एसोसिएशन दल ने भेंट किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने देहरादून के चार ताइक्वांडो खिलाड़ियों राघवी चौधरी, आरूषि खंडेलवाल, दीपांशु मेहरा एवं कुणाल गुप्त को साउथ कोरिया से ब्लैक बेल्ट प्राप्त करने पर प्रमाण पत्र प्रदान किया। उत्तराखण्ड स्पोर्ट्स ताइक्वांडो एसोसिएशन के महासचिव जावेद खान ने दिसम्बर 2021 में देहरादून में होने वाली राष्ट्रीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता के लिए आमंत्रित किया। इस अवसर पर उत्तराखण्ड स्पोर्ट्स ताइक्वांडो एसोसिएशन के उपाध्यक्ष रोनक जैन, हिना हबीब एवं मो. उमर मौजूद थे।

Monday, 30 August 2021

उद्योगों में राज्य के युवाओं को प्राथमिकता देने का किया आग्रह

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुख्यमंत्री आवास स्थित कैंप कार्यालय में अखिल भारतीय राष्ट्रीय गोरखा मोर्चा पार्टी के अध्यक्ष कैप्टन (रिटा.) जे.बी. कार्की ने भेंट की। भेंट के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री से युवाओं को रोजगार एवं स्वरोजगार से जोड़ने, उत्तराखण्ड के उद्योगों में राज्य के युवाओं को पहले प्राथमिकता देने एवं विभिन्न प्रमाणपत्रों को जारी करने के लिए प्रक्रिया को सरल करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सभी बिन्दुओं पर गम्भीरता से विचार किया जायेगा और उनका उचित समाधान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि रोजगार और स्वरोजगार पर राज्य सरकार का विशेष ध्यान है। राज्य में अनेक विभागों में नई विज्ञप्तियां निकाली गई हैं। लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए भी लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।

कैग की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि हिमालयी राज्यों में स्वास्थ्य सेवाओं की सबसे बुरी हालत उत्तराखंड में

देहरादून। आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कैग की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि सभी हिमालयी राज्यों में स्वास्थ्य सेवाओं की सबसे बुरी हालत उत्तराखंड में है। उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं की हालत इतनी खराब है कि मरीजों का दम अस्पताल पहुंचने से पहले ही टूट जाता है। उत्तराखंड का स्वास्थ्य बजट 2018-19 में 188 करोड़ था, 2019-20 में घटाकर मात्र 97 करोड कर दिया गया, प्रत्येक आदमी के स्वास्थ्य पर एक साल में मात्र 5.25 पैसे खर्च किए जा रहे हैं। मरीजों को अस्पताल लाने के लिए एंबुलेंस तक उपलब्ध नहीं है। एयर एंबुलेंस का इस्तेमाल सिर्फ बड़े-बड़े नेताओं और उनके रिश्तेदारों के लिए किया जाता है, आम आदमी को वहां पर मरने के लिए छोड़ दिया गया है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के ऊपर कर्ज का बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है, वर्तमान में उत्तराखंड सरकार पर 65,982 करोड रुपए का कर्ज है। उत्तराखंड सरकार के खातों में 2019-20 में पर्याप्त राशि मौजूद थी। इसके बावजूद इस साल करीब 5100 करोड़ का लोन महंगी दरों पर लिया है। आम आदमी पार्टी की सरकार उत्तराखंड में बनेगी तो दिल्ली की तरह से अच्छी और मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं उत्तराखंड के लोगों को भी मिलेंगी। आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने पार्टी मुख्यालय में सोमवार को प्रेसवार्ता को संबोधित किया। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कैग की 2019-20 की रिपोर्ट के अंदर स्वास्थ्य सेवाओं के बुरे हालात का पूरा ब्यौरा दिया गया है। उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं की हालत इतनी खराब है कि ज्यादातर मरीजों का दम अस्पताल पहुंचते-पहुंचते ही टूट जाता है। पूरे पहाड़ी क्षेत्रो में अस्पताल, डिस्पेंसरी, सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं की हालत बेकार है और काफी कम अस्पताल हैं। कैग की रिपोर्ट में बताया गया है कि सभी हिमालयी राज्यों के अंदर स्वास्थ्य सेवाओं की सबसे बुरी हालत उत्तराखंड में है। हर साल हजारों महिलाओं की मृत्यु गर्भवती होने की वजह से हो जाती है। मरीजों को अस्पताल लाने के लिए एंबुलेंस तक उपलब्ध नहीं है। इस वजह से मरीजो को डांडी-कांडी के ऊपर लाया जाता है और अक्सर मरीजों की मौत अस्पताल पहुंचने से पहले ही सड़क पर हो जाती है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं की हालत खराब होने के बावजूद स्वास्थ्य बजट में लगातार कटौती की गई है। उत्तराखंड सरकार का स्वास्थ्य बजट 2018-19 में 188 करोड़ था। 2019 में स्वास्थ्य बजट को घटाकर मात्र 97 करोड कर दिया गया है। उत्तराखंड की सरकार का वहां की स्वास्थ्य सेवाओं और लोगों के ऊपर किए जा रहे खर्च का आंकलन किया जाए तो प्रत्येक आदमी के हिसाब से मात्र 5.25 पैसे निकलता है। कैग ने कहा कि एयर एंबुलेंस का इस्तेमाल मात्र बड़े-बड़े नेताओं और रिश्तेदारों के लिए किया जाता है। आम आदमी को वहां पर मरने के लिए छोड़ दिया गया है। सौरभ भारद्वाज ने बताया कि कैग की रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। जिसके अंदर सबसे बड़ी बात है कि उत्तराखंड के ऊपर कर्ज का बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है। इस वक्त उत्तराखंड सरकार के ऊपर 65,982 करोड रुपए का कर्ज है। हर साल यह कर्ज बढ़ता जा रहा है। जबकि सरकार के कई निकाय ऐसे हैं जहां पर सरकार के पास पर्याप्त मात्रा में नगद राशि मौजूद है। इसके बावजूद सरकार बेवजह बाजार से महंगी दरों पर लोन उठा रही है। उत्तराखंड सरकार के पास 2019-20 में खातों में पर्याप्त नकदी मौजूद थी, इसके बावजूद अप्रैल, जुलाई, अगस्त, सितबर और दिसंबर में बाजार से ऊंची दरों पर लोन उठाया गया। उत्तराखंड सरकार ने इस साल करीब 5100 करोड़ का लोन महंगी दरों पर बाजार से लिया है। इसके अलावा करीब 100 करोड़ रुपए कहां खर्च किए गए, इसकी जानकारी सरकार को भी नहीं है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार उत्तराखंड में बनेगी तो दिल्ली की तरह से अच्छी और मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं उत्तराखंड के लोगों को भी मिल पाएंगी।

सीएम ने क्षतिग्रस्त हुए रानीपोखरी पुल का निरीक्षण किया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पिछले दिनों नदी के अधिक बहाव से क्षतिग्रस्त हुए रानीपोखरी पुल का स्थलीय निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को एक सप्ताह में अस्थायी वैकल्पिक मार्ग की व्यवस्था के निर्देश दिये। उन्होंने क्षेत्रीय लोगों से भी मुलाकात की। लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता हरिओम ने विस्तार से जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभावित यातायात को जल्द से जल्द सुचारू किया जाएगा। पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने थानों भोगपुर के मार्ग को जल्दी दुरुस्त कर यातायात को खोलने के निर्देश दिए।

कोटड़ा बिरसनी में मकान का एक हिस्सा गिरा, दो बच्चे मलबा में दबे

देहरादून। विकासनगर के कोटड़ा बिरसनी गांव में एक मकान का हिस्सा अचानक से भरभराकर गिर गया। इस दौरान बच्चे मलबे में दब गए। एसडीआरएफ की टीम ने एक बच्चे को मलबे से निकाल लिया है। जबकि दूसरे बच्चे का रेस्क्यू जारी है। हादसा सोमवार सुबह करीब 10 बजे नवनिर्मित मकान के पिलर धंस जाने के कारण हुआ। दोनों बच्चे कोटड़ा बिरसनी में नए मकान के नीचे पुराने मकान की छत पर खेल रहे थे। इस दौरान अचानक नए मकान का पिलर धंस गया और मकान भरभराकर गिर गया। दोनों बच्चे मलबे के बीच फंस गए। लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची सहसपुर थाना पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने तत्काल राहत बचाव कार्य शुरू किया। टीम ने मकान के पीछे से सुरंग खोदकर एक आठ वर्षीय बच्ची आस्था को सुरक्षित बाहर निकाला। लेकिन दूसरा छह वर्षीय बालक आरव अभी भी मलबे में फंसा है। ग्रामीणों ने बताया कि मकान में प्लास्टर का काम गतिमान था, लेबर ने भी इस दौरान भागकर जान बचाई। इस दौरान घर के अन्य सदस्य बाहर थे।

सीएम ने दिए आपदा प्रभावितों को सुरक्षित स्थान पर लाने के निर्देश

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद पिथौरागढ़ के तहसील धारचूला के ग्राम जुम्मा में भारी वर्षा से हुए नुकसान के बारे में कुमाऊं कमिश्नर सुशील कुमार एवं अपर जिलाधिकारी पिथौरागढ़ फिंचाराम से वर्चुअल माध्यम से जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने प्रभावित क्षेत्र में मौजूद जिलाधिकारी आशीष चौहान से फोन पर राहत व बचाव कार्यों की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कुमाऊं कमिश्नर एवं जिलाधिकारी पिथौरागढ़ को निर्देश दिए कि प्रभावित क्षेत्र से लोगों को तत्काल सुरक्षित स्थानों पर लाया जाय। प्रभावितों को रहने के साथ ही खाद्य सामग्री, दवाइयों एवं बच्चों को दूध की पर्याप्त व्यवस्था की जाए। यह सुनिश्चित किया जाय की प्रभावित क्षेत्र में कोई न फंसे। मुख्यमंत्री ने कुमाऊं कमिश्नर को निर्देश दिए की प्रभावित क्षेत्र में यातायात व्यवस्था को जल्द शुरू करने के लिए युद्धस्तर पर कार्य किया जाय। लोक निर्माण विभाग की टीम से जल्द रास्ते का मलवा हटाया जाय। एनएच के जो भी रूट बाधित हो रहे हैं, उनको शीघ्र खुलवाने के लिए जेसीबी एवं अन्य करण की पर्याप्त व्यवस्था रखी जाए। मुख्यमंत्री ने कुमाऊं कमिश्नर एवं जिलाधिकारी पिथौरागढ़ से बारिश से हुए नुकसान की जानकारी ली । प्राप्त जानकारी के अनुसार 03 लोगों के मृत्यु एवं 04 लोगों के लापता होने की सूचना है। प्रशासन एवं एसएसबी की टीम घटना स्थल पर राहत एवं बचाव कार्य में जुटी है। जिलाधिकारी पिथौरागढ़ आशीष चौहान प्रभावित क्षेत्र में हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी फोन से जिलाधिकारी से लगातार अपडेट ले रहे हैं। मौसम साफ होते ही मुख्यमंत्री प्रभावित क्षेत्र का दौरा करेंगे। इस अवसर पर केबिनेट मंत्री गणेश जोशी, विधायक चंद्रा पंत, खजान दास, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी, आपदा प्रबंधन रिद्धिम अग्रवाल, अपर सचिव आपदा प्रबंधन डॉ. आनन्द श्रीवास्तव, पिथौरागढ़ से वर्चुअल माध्यम से एडीएम फिंचाराम चौहान मौजूद थे।

धारचूला के जुम्मा गांव में अतिवृष्टि से भारी तबाही, पांच लोगों के शव बरामद

पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ में कुदरत का कहर जमकर बरपा। धारचूला के जुम्मा गांव में भारी बारिश के बाद भारी तबाही हुई है। आपदा में कई घर जमींदोज हो गए तो कई लोग लापता हैं। अब तक पांच लोगों के शव बरामद किए गए हैं। भारी बारिश से तबाही मच गई। धारचूला के जुम्मा गांव में जामुनी तोक में लगभग पांच और सिरौउड़यार तोक में दो आवासीय मकान क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं, करीब सात लोग लापता बताए जा रहे थे, जिसमें से अब तक पांच लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। दो लोगों की तलाश अभी भी जारी है। जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बताया कि बीती देर रात जुम्मा गांव में अतिवृष्टि के कारण सात लोगों के मलबे में दबे होने की सूचना मिली थी। सूचना के तत्काल बाद घटना क्षेत्र में राजस्व, एसएसबी, पुलिस, एसडीआरएफ और रेस्क्यू टीम रवाना हो गई है। वहीं, एनडीआरएफ भी क्षेत्र में भेजी गई है। इस दौरान टीम ने गांव से दो शव बरामद किए हैं। डीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक कर मौके पर राहत एवं बचाव कार्य कराने के साथ ही क्षेत्र में राहत सामग्री भेजने के निर्देश भी दिए हैं। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जिलाधिकारी पिथौरागढ़ डॉ. आशीष चौहान से फोन पर बात कर जुम्मा गांव में भारी बारिश से हुए नुकसान की जानकारी ली। सीएम ने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि प्रभावितों को तत्काल हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाए। राहव व बचाव कार्य पूरी क्षमता के साथ चलाए जाएं। घायलों का समुचित उपचार सुनिश्चित किया जाए।

पिथौरागढ़ के जुम्मा गांव की घटना पर धीरेंद्र प्रताप ने किया शोक व्यक्त

देहरादून। उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष व वरिष्ठ प्रवक्ता धीरेंद्र प्रताप ने पिथौरागढ़ जनपद के धारचूला क्षेत्र के जुम्मा गांव में आधा दर्जन से अधिक लोगों के भूस्खलन की एक हृदय विदारक घटना में जिनमें कुछ बच्चे भी शामिल हैं के कॉलकल्वित होने की‌ घटना पर गहरा दुख और शोक व्यक्त किया है। धीरेंद्र प्रताप ने इस दुखद हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से दिवंगतो के परिजनो को तत्काल आर्थिक सहायता पहुंचाए जाने की मांग की है। व आपदा के इस भीषण दौर में राज्य के विभिन्न अंचलों में मृत्यु को प्राप्त कर रहे लोगों के परिजनों को सहायता दिए जाने हेतु मुख्यमंत्री कार्यालय में एक त्वरित सहायता बल गठित किए जाने का भी सुझाव दिया है।

कर्नल कोठियाल ने लचर स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सरकार को घेरा

देहरादून। आप के वरिष्ट नेता और सीएम पद प्रत्याशी कर्नल अजय कोठियाल ने प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए राज्य में पिछले 21 सालों में लचर हो चुकी स्वास्थ्य सेवाओं पर जमकर हल्ला बोला है। उन्होंने कहा उत्तराखंड सरकार कितने ही झूठ बोलकर अपनी झूठी साख बचाने की कोशिश कर ले लेकिन समय समय पर इनके स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़ी लापरवाही सामने आती रही है। इस बार कैग रिपोर्ट 2019-20 में उत्तराखंड हिमालय राज्यों में स्वास्थ्य के नाम पर सबसे कम बजट खर्च करने वाला राज्य निकला। जिससे ये साबित होता ये सरकार उत्तराखंड की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही वो भी तब जब यहां राज्य में स्वास्थ्य सेवाए खुद वेंटिलेटर पर हैं। उन्होंने कैग द्वारा जारी रिपोर्ट पर चिंता जताते हुए कहा कि, ये हमारे प्रदेश के लिए बडे ही शर्म की बात है कि, एक ओर हमारा राज्य देवभूमि के नाम से पूरे विश्व में जाना जाता है, तो दूसरी ओर बीेजेपी सरकार की नाकामियों से हमारे प्रदेश को कई बार शर्मिंदगी उठाने को मजबूर होना पडा है। उन्होंने कहा कि, कैग की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उत्तराखंड का हेल्थ सेक्टर हिमालयी राज्यों में सबसे पीछे है ,जो इस प्रदेश के लिए बहुत ही दुर्भाग्य की बात है। डबल इंजन का दम भरने वाली सरकार ने स्वास्थय सेवाओं पर कोई काम नहीं किया जिसके चलते उत्तराखंड को एक बार फिर जारी आंकडों से शर्मिंदां होना पडा है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों के सापेक्ष उत्तराखंड राज्य में स्वास्थय सेवाओं पर सबसे कम बजट खर्च किया जाता है। विधानसभा के पटल पर रखी गई कैग रिपोर्ट 2019 - 2020 में राज्य में चिकित्सा एवं लोक स्वास्थ्य में पूंजीगत व्यय पहले की तुलना में घटा है ,जिसका असर सीधे सीधे आम जनता की सेहत पर पडा है। 2018 -2019 में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 188 करोड का बजट दिया गया, जबकि अगले वर्ष 2019 - 2020 में यह बजट घटाकर 97 करोड कर दिया गया। कैग ने खुद सरकार को इस सेक्टर में बजट बढाने का सुझाव सरकार को दिया है। उन्होंने कहा कि एक संस्था एसडीसी के मुताबिक उत्तराखंड में जो बजट हैल्थ सैक्टर पर खर्च किया जाता है वो हिमालय राज्यों में सबसे कम 6.8 प्रतिशत है,जबकि जम्मू कश्मीर में ये खर्च 7.7 प्रतिशत , हिमाचल में 7. 6 प्रतिशत तो दिल्ली में ये बजट 16.7 प्रतिशत है,यानि की उत्तराखंड में स्वास्थय का बजट सबसे कम है। उन्होंने कहा कि, राज्य में स्वास्थय सेवाओं के बुरे हाल हैं। आज भी कई अस्पताल ऐसे हैं ,जहां डॉक्टरों के अभाव में मरीजों को कई मील दूर जाना पडता है। आज भी प्रदेश में इलाज ना मिल पाने और अस्पताल में सुविधाएं ना मिल पाने के एवज में कई प्रसूताएं रास्ते में ही बच्चों को जन्म दे देती हैं या फिर दम तोड देती हैं। प्रदेश में एयर एंबुलेंस की सुविधाएं नहीं होने से आज भी कई लोग दम तोड देते हैं। लेकिन अगर कोई बडा नेता या वीआईपी हो तो उसको ये सुविधा आसानी से उपलब्ध हो जाती है। इसके अलावा उन्होंने कहा,उत्तराखंड में पलायन की एक मुख्य वजह भी खराब स्वास्थ्य व्यवस्था है जिसके चलते यहां के लोगों को पलायन करना मजबूरी बन गई है।

दून-मसूरी रोपवे के ऊपरी टर्मिनल और बहुउद्देश्यीय पार्किंग का किया निरीक्षण

देहरादून। दून और मसूरी के बीच बनने वाले रोपवे के ऊपरी टर्मिनल और मसूरी के किंग्रेग में बन रही बहुउद्देश्यीय पार्किंग का युगल किशोर पंत अपर सचिव पर्यटन के नेतृत्व में पर्यटन विभाग, लोक निर्माण विभाग और रोपवे की कार्यदायी संस्था मैसर्स मसूरी स्काई कार कम्पनी प्राइवेट लिमिटेड के प्रतिनिधियों ने स्थलीय निरीक्षण किया। दून-मसूरी रोपवे का ऊपरी टर्मिनल मसूरी के लाइब्रेरी में तैयार किया जाएगा। रोपवे का अपर टर्मिनल 1996 मीटर ऊंचाई पर होगा। जबकि लोअर लोअर टर्मिनल की ऊंचाई 958.20 मीटर होगी। अपर सचिव, पर्यटन युगल किशोर पंत ने बताया कि निरीक्षण के दौरान ऊपरी टर्मिनल को तैयार करने के लिए अतिरिक्त भूमि की आवश्यकता, रोपवे के लिए आने वाले यात्रियों के लिए बैठने और उतरने की व्यवस्था समेत अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही रोपवे की कार्यदायी संस्था को निर्देश दिए कि निरीक्षण के दौरन दिए गए सुझाव को अपने डिजाइन में शामिल किया जाए। पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ मिल मसूरी के किंग्रेग पर बन रही बहुउद्देश्यीय पार्किंग का निरीक्षण कर कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिए कि जल्द कार्य को पूरा किया जाए। जिससे मसूरी में पार्किंग की समस्या को दूर किया जा सके। इस मौके पर पर्यटन विभाग के जिला पर्यटन अधिकारी अतुल भंडारी, देहरादून जिला पर्यटन अधिकारी जसपाल सिंह चौहान समेत नगर पालिका मसूरी व अन्य विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

बूथ को सशक्त करना अत्यंत जरूरीः स्पीकर अग्रवाल

ऋषिकेश। विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल सोमवार को रायवाला के गौहरीमाफी बूथ का सत्यापन किया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि बूथ को सशक्त करना अत्यंत जरूरी है चुनाव की दृष्टि से यदि बूथ पर सफलता मिल गई तो समझो चुनाव में भी सफलता मिल गई। बूथ सत्यापन कार्यक्रम के दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने रायवाला के गौहरीमाफी बूथ मे कार्यकर्ताओं के साथ सीधा संवाद किया और कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा अनेक जन उपयोगी योजनाएं संचालित की जा रही है उन योजनाओं को आम जनमानस तक पहुंचाने का कार्य कार्यकर्ताओं का है जिससे आम जनमानस योजनाओं का लाभ उठा सके। श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा अनेक ऐसी योजनाएं चलाई गई है जिससे बड़ी संख्या में लोग लाभान्वित हो रहे हैं। श्री अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण से निजात दिलाने के लिए प्रधानमंत्री ने मुक्त वैक्सीन उपलब्ध करायी साथ ही आयुष्मान कार्ड योजना, उज्वला योजना, सौभाग्य योजना, किसान सम्मान निधि सहित अनेक ऐसी योजना है जिससे देश में करोड़ों एवं प्रदेश में लाखों लोग लाभान्वित हो रहे हैं स श्री अग्रवाल ने कहा है कि ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र में विगत साढ़े चार वर्षों में मोटर मार्गाे का जाल बिछा है, घर-घर तक शुद्ध पेयजल आपूर्ति हो रही है, विद्युत व्यवस्था दुरुस्त है इसके साथ ही नमामि गंगे, एमडीडीए आदि के माध्यम से भी अनेक कार्य किए गए हैं जिससे लोगों को लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा है कि प्रत्येक कार्यकर्ता का कर्तव्य है कि वह पूरे आत्मविश्वास के साथ सरकार द्वारा किए गए कार्यों को आम जनमानस तक पहुंचाने का कार्य करें। इस अवसर पर डोईवाला के ब्लॉक प्रमुख भगवान सिंह पोखरियाल, भाजपा के जिला महामंत्री सुदेश कंडवाल, स्थानीय प्रधान रोहित नौटियाल, बूथ सह सयोजक राजेश जुगलान, मंडल अध्यक्ष गणेश रावत, बूथ अध्यक्ष सुरेंद्र रावत, भगवंत सिंह संधू, रमेश कंडारी , राजेंद्र चौहान, वीरेंद्र गोनीयाल, निर्मला नौटियाल, जगत सिंह रावत, कल्याण सिंह, कमल कुमार, धीरज, राकेश कुमार आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

सीएम ने महंत देवेंद्र दास महाराज से भेंटकर आशीर्वाद प्राप्त किया

देहरादून। सोमवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने महंत देवेन्द्र दास जी महाराज से भेंट कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में महंत इन्द्रेश अस्पताल का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में श्री महंत इन्द्रेश अस्पताल राज्य सरकार का सहयोगी है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने श्री दरबार साहिब में मत्था टेककर प्रदेशवासियों की खुशहाली की कामना भी की। इस अवसर पर मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक उमेश शर्मा (काऊ), खजान दास भी उपस्थित थे।

धूमधाम से मनाई गई श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

ऋषिकेश। विधानसभा अध्यक्ष के बैराज रोड स्थित कैंप कार्यालय पर सोमवार को भगवान श्रीकृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने भगवान श्रीकृष्ण को भोग लगाकर उनकी लीलाओं से लोगों को अवगत कराया। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि श्रीकृष्ण ने अपना हर रिश्ता पूरी ईमानदारी से निभाया यहां तक कि अपने परिजनों सहित अन्य लोगों के लिए द्वारिका नगरी ही बसा दी। माता-पिता, भाई-बहन, समाज , मित्र आदि तमाम रिश्ते श्री कृष्ण ने हर स्तर पर मर्यादा पूर्वक निभाए। श्री अग्रवाल ने कहा है कि महाभारत युद्ध में जब जब पांडवों पर कोई मुसीबत आई श्री कृष्ण ने अपनी युद्ध नीति से धर्म के साथ सत्य के लिए उसका हल निकाला । श्री अग्रवाल ने कहा है कि श्रीकृष्ण के जीवन से हमें प्रेरणा मिलती है। जीवन में सही समय व उचित निर्णय लेने का साहस भगवान श्री कृष्ण मे था। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने भगवान श्रीकृष्ण से जुडी हुई अनेक घटनाओं का उल्लेख किया तथा धूमधाम से बैराज रोड स्थित स्थित कैंप कार्यालय पर श्री कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया स इस अवसर पर पंडित श्रीवेद प्रकाश शर्मा, सरस्वती विद्या मंदिर के प्रबंधक दीपक तायल, श्रीमती सुमित थपलियाल, अमन कुकरेती, रवि थपलियाल, प्रधान दीपा राणा, हरपाल सिंह राणा, उषा जोशी, लक्ष्मी गुरुंग, रोशन कुडियाल, पार्षद विजेंद्र मोघा, आशीष रांगड, नागेंद्र चौहान आदि सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

पिथौरागढ़ के गांवो में राहत को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने किया कार्यकर्त्ताओं को अलर्ट

देहरादून। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने पिथौरागढ के तहसील धारचूला के ग्राम जुम्मा में भारी वर्षा से हुए नुकसान को लेकर प्रभावितो के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और राहत कार्यों को लेकर संगठन को अलर्ट किया है। श्री कौशिक ने जिलाध्यक्ष पिथौरागढ वीरेंद्र वल्दीया से दूरभाष पर वार्ता कर स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने तत्काल एक टीम सम्बंधित गावं में जाकर राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने पीड़ित परिवारों को खाद्य सामग्री, दवाइयों और जरूरी सामान मुहैया कराने के निर्देश दिया। इसके साथ ज़िला प्रशासन और राहत कार्यों में लगी एजेन्सि यो के साथ तालमेल बनाकर जरुरतमन्दो को मौके पर पहुँँचकर मदद पहुचाने को कहा। श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश भर के कई क्षेत्रो में भारी बारिश के कारण नुकसान की आशंका है और कार्यकर्ताओ को हर स्तिथी में तत्परता से कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दुःख की घड़ी में भाजपा पीड़ितों के साथ पूरी तरह से खड़ी है।

महाराज ने दिए राशन कार्ड सत्यापन रोकने के आदेश

पौड़ी। प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने एपीएल, बीपीएल वालों को राज्य खाद्य योजना के अंतर्गत मिलने वाले राशन में आ रही दिक्कतों को देखते हुए जनपद में राशन कार्डों के सत्यापन पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। जनपद में राशन कार्डों के सत्यापन के चलते एपीएल एवं बीपीएल कार्ड धारकों को राशन नहीं मिल पा रहा है। कार्ड धारकों को राज्य खाद्य योजना के अंतर्गत राशन न मिल पाने की समस्या को देखते हुए प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि राशन कार्डाे का सत्यापन तुरंत रोक दिया जाए। श्री महाराज ने अपने पौड़ी प्रवास के दौरान खाद्य सचिव भोपाल सिंह मनराल को दूरभाष पर निर्देश देते हुए कहा कि राशन कार्डाे के सत्यापन के चलते लोगों को राज्य खाद्य योजना के अंतर्गत राशन मिलने में दिक्कत आ रही है। इसलिए तत्काल राशन कार्डाे के सत्यापन को रोक दिया जाये।

डेल्टा प्लस वेरियंट मिलने के बाद और बढ़ाई सैंपलिंग

रुद्रप्रयाग। रूद्रप्रयाग जिले में डेल्टा प्लस वेरियंट का पहला केस मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग और भी सर्तक हो गया है। विभागीय स्तर पर सैंपलिंग बढ़ा दी गई है। पेट्रोल पंप, पुलिस बैरियर और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर सैंपलिंग की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन करीब 600 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेज रहा है। जिला प्रशासन के निर्देशों पर स्वास्थ्य विभाग अनेक जगहों पर टीम भेजकर कोरोना सैंपलिंग करा रहा है। एक ओर कोविड टीकाकरण कर लोगों को सुरक्षित किया जा रहा है वहीं दूसरी ओर सैंपलिंग कर कोरोना संक्रमण की संभावनाओं पर भी लगातार निगरानी की जा रही है। डेल्टा प्लस वेरियंट मिलने के बाद और भी सर्तकता बढ़ा दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पेट्रोल पंप में दो दिनों में करीब 70 से अधिक लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे। वहीं पुलिस बैरियर खांकरा और अन्य स्थानों पर भी स्वास्थ्य विभाग की टीम कोरोना सैंपल ले रही है। हालांकि अब किसी से जोर जबरदस्ती नहीं की जा रही है। पूछने पर जो भी लोग सहमति व्यक्त करें, या फिर किसी को संक्रमण की आंशका लग रही है वह जांच करा रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ बीके शुक्ला ने बताया कि कोरोना के प्रति लगातार सजग रहने की जरूरत है। स्वास्थ्य विभाग लोगों से मास्क पहनने के साथ ही सोसल डिस्टेंसिंग और जरूरी रूप से टीकाकरण के लिए निरंतर आग्रह करता रहा है। अब भी विभागीय स्तर पर सैंपलिंग की जा रही है ताकि कोई भी कोविड का केस आम समाज में घूमता न रहे।

रुद्रप्रयाग में जीएमवीएन कर्मियों ने रखा दो घंटे कार्यबहिष्कार

रुद्रप्रयाग। गढ़वाल मंडल विकास निगम और कुमाऊं मंडल विकास निगम के आह्वान पर रुद्रप्रयाग में रुद्रा काम्पलेक्स के कर्मचारियों ने दो घंटे कार्यबहिष्कार किया। साथ ही जिले के अन्य जीएमवीएन विश्राम गृह में भी कर्मचारियों ने कार्यबहिष्कार किया। इस दौरान जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर लम्बित मांगों पर कार्यवाही की गुहार लगाई गई। जीएमवीएन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुनील प्रसाद व उपाध्यक्ष केदार सिंह ने कहा कि लम्बे समय से वह विनियमितीकरण की मांग करते आ रहे हैं किंतु शासन प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। पूर्व में कई बार सरकार को ज्ञापन और अन्य माध्यमों से अवगत कराया गया है किंतु छोटे कर्मचारियों की समस्या पर गंभीरता से विचार नहीं किया जा रहा है, जिससे समस्त कर्मचारियों में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि जिले के अन्य पर्यटक आवास गृहो में भी कार्य बहिष्कार कर अपना विरोध व्यक्त किया गया। साथ ही इस मौके पर धरती मां के नाम पर एक-एक पौधा रोपा गया। इस मौके पर संगठन के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष द्वारा जिलाधिकारी को ज्ञापन देते हुए अपनी समस्याओं पर कार्यवाही की मांग की गई। इस मौके पर कृष्ण लाल भट्ट, प्रेमचंद्र, गजेंद्र सिंह, नरेंद्र सिंह, कुंवर सिंह कनवासी, धीरूलाल, मोर सिंह, वीरेंद्र राणा, गजेंद्र सिंह चौहान, ऊखीमठ प्रबंधक यशवंत सिंह गुसाईं, दिनेश सिंह, मायाराम, रघुनाथ सिंह, संजय भट्ट, मुकेश चौहान, युद्धवीर सिंह, भगवान सिंह, रविंद्र सिंह आदि मौजूद थे।

श्रीराम काव्य पाठ में जानकी भट्ट रही अव्वल

पौड़ी। जिला पंचायत सभागार पौड़ी में राष्ट्रीय कवि संगम द्वारा आयोजित श्री राम काव्य पाठ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें पौड़ी जिले के साथ ही विभिन्न स्थानों से आए प्रतिभागियों ने श्री राम के आदर्श, चरित्र पर अपनी काव्य प्रस्तुति दी। जिला पंचायत सभागार में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ परिसर पौड़ी के निदेशक प्रो. आरएस नेगी और कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष केशर सिंह नेगी ने प्रभु श्री राम के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन के साथ किया। प्रतियोगिता में जानकी भट्ट पहले, मैथली सिंह दूसरे व कुसुमलता तीसरे स्थान पर रहीं। वहीं प्रोत्साहन पुरस्कार के लिए साइनी कृष्ण उनियाल, रश्मि और दीपांशु का चयन किया गया। कार्यक्रम के सहसंयोजक भाष्कर द्विवेदी ने बताया कि पहले तीन स्थानों पर पहुंचे प्रतिभागी अक्तूबर महीने में देहरादून में आयोजित राज्यस्तरीय प्रतियोगिता में पौड़ी जिले का प्रतिनिधित्व करेंगे। कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष केशर सिंह नेगी ने अपने संबोधन में कहा कि जहां इस आयोजन से पौड़ी में सांस्कृतिक शून्यता खत्म हुई है वहीं प्रभु राम के आदर्शों को नई पीढ़ी को सुनने और समझने का मौका मिला है। पौड़ी परिसर के निदेशक प्रो. आरएस नेगी ने कहा कि भगवान श्री राम एक आदर्श पुत्र, भाई, पति, राजा के रूप में हमे बहुत सारे सन्देश देते हैं। ये संदेश अगर हम आत्मसात करें तो हमारा जीवन सफल हो जायेगा। कार्यक्रम में राष्ट्रीय कवि संगम पौड़ी की महामंत्री एवं कवियत्री डॉ. ऋतु सिंह और उपाध्यक्ष व कवियत्री अंजलि डुडेजा द्वारा श्री राम पर स्वरचित काव्य पाठ किया गया। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में वरिष्ठ साहित्यकार वीरेंद्र पंवार और मनोहर चमोली के साथ परिसर पौड़ी संस्कृत विभाग से डा. ललिता शामिल थी। आयोजन टीम में अम्बेश पन्त, वीरप्रताप सिंह, श्रीकांत, आशुतोष नेगी, भरत सिंह रावत ने महत्वपूर्ण योगदान दिया । इस मौके पर त्रिभुवन उनियाल, वीरेंद्र खंकरियाल, जिला युवा अधिकारी शैलेश भट्ट, मनोज रावत अंजुल, सरिता रावत, सभासद अनिता रावत, रमन रावत पोली, आशीष मोहन नेगी, ललित बिजल्वाण, जगमोहन डांगी आदि शामिल थे। संचालन राष्ट्रीय कवि संगम पौड़ी के अध्यक्ष व कार्यक्रम संयोजक योगम्बर पोली ने किया।

गंगोत्री हाईवे पर वाहनों की आवाजाही शुरू

टिहरी। गंगोत्री राजमार्ग को भिन्नु गांव पास खोल दिया गया है। यहां भारी वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। इधर, बद्रीनाथ हाईवे बंद है। श्रीनगर और पौड़ी के लिए अभी भी लोगों को टिहरी समेत दूसरे वैकल्पिक मार्गों से जाना पड़ रहा है। अतिवृष्टि के कारण प्रमुख गंगोत्री व बदरीनाथ राजमार्ग व ग्रामीण सड़कें बंद हो गई थी। जिससे लोगों को काफी परेशानियां उठानी पड़ी। सोमवार से गंगोत्री राजमार्ग पर भारी वाहनों की आवाजाही शुरू कर दी गई है। जिससे लोगों ने राहत की सांस ली है। लोगों को देहरादून-मंसूरी-धनोल्टी-चंबा होते हुये नई टिहरी आना पड़ रहा है। बद्रीनाथ हाईवे चौथे दिन भी मलबा व पत्थर आने के चलते बंद है। आम लोगों की सुरक्षा को देखते हुये इस राजमार्ग पर डीएम ने आवाजाही को प्रतबंधित किया हुआ है। डीएम इवा श्रीवास्तव ने बीआरओ व एनएच के अधिकारियों को दोनों राजमार्गों को पूरी तरह से सुचारू करने के निर्देश दिये हैं। बीआरओ के कमांडेंट समीर मदान का कहना है कि फकोट के पास वाशआउट पैच को ठीक करने का काम तेजी से किया जा रहा है। जबकि यहां गंगोत्री हाईवे पर वाहनों की आवाजाही सुचारू कर दी है। जिससे लोगों की परेशानियां अब कम हो गई है। जल्दी ही गंगोत्री राजमार्ग पूरी तरह से सुचारू हो जायेगा। बद्रीनाथ राजमार्ग पर भी जेसीबी व पौकलैंड मशीनें लगाकर राजमार्ग को खोलने का काम किया जा रहा है। बारिश के कारण जनपद में 6 ग्रामीण सड़कें भी बंद हैं, जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। डीएम इवा श्रीवास्तव का कहना है कि लोगों की परेशानी को देखते हुये सम्बंधित विभागों को जल्द से जल्द सड़कें खोलने के निर्देश दिये गये हैं। लोगों की परेशानी को देखते हुये वैकल्पिक मार्गों से आवाजाही की अपील की गई है।

अधिकारी सजग होकर कार्य करें व अपने-अपने क्षेत्रों में पैनी नजर रखेंः मंडलायुक्त

नैनीताल। वर्षाकाल चल रहा है इसलिए सभी अधिकारी सजग होकर कार्य करें तथा अपने-अपने क्षेत्रों मे पैनी नजर रखें व सभी उपलब्ध संसाधनों को अलर्ट मोड पर रखें। यह निर्देश आयुक्त कुमाऊ सुशील कुमार ने मण्डल के अधिकारियों को वीडियो क्राफ्रेसिग के माध्यम से दिये। उन्हांेने कहा कि अधिकारी अलर्ट मोड पर रहें ताकि किसी प्रकार की आपदा होने पर त्वरित राहत व बचाव कार्य किया जा सके। आयुक्त ने मण्डल के जिलाधिकारियों व अन्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे उपलब्ध संसाधनों को अलर्ट मोड पर रखें तथा नियमित क्षेत्रों का भ्रमण करें। उन्होने कहा कि आपदा में धनराशि की जरूरत हो तो मांग करे ताकि आपदा क्षेत्रों मे सहायता राशि वितरण व आपदा बचाव कार्य त्वरित गति से हो सके। उन्होंने कहा कि आपदा दौरान क्षेत्र के परिवारों को विस्थापित करने हेतु चयनित स्थानों में मूलभूत सुविधायें खाद्यान, दवायें, टैन्ट,विद्युत, पानी आदि तैयार रखे जांए। संचार, सडक मार्ग, खाद्यान एवं दवा भण्डारण रखा जाए ताकि आपदा के दौरान त्वरित कार्यवाही एवं बचाव व राहत कार्य हो सके। आयुक्त सुशील कुमार ने मण्डल के सभी जिलाधिकारियो व अन्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि आपदा सम्भावित क्षेत्रों मे पर्याप्त खाद्यान, दवा भण्डारण के साथ ही अन्य आवश्यक वस्तुयें रखने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि चिकित्सा टीमें व संचार हेतु सैटेलाइट फोन, आपदा उपकरण तैनात रखे जांए। उन्होने कहा कि आवगमन सुचारू हो इसलिए बन्द सडकों को जल्द खोला जाए इस हेतु सडकों के छोरों पर जेसीबी, पोकलैंड आदि मशीनें तैनात रखी जांए। उन्होने गत दिनों बादल फटने से पिथौरागढ के ग्राम जुम्मा तोक जामुनी व सिरोउडियार तोक में हुई आपदा को गम्भीरता से लेते हुये सभी अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिये। समीक्षा दौरान अपर जिलाधिकारी पिथौरागढ ने अवगत कराया कि जिलाधिकारी अन्य अधिकारियों के साथ आपदा क्षेत्र में हैलीकाप्टर द्वारा पहुच चुके है तथा खाद्यान,चिकित्सा टीमे, संचार टीमें भी आपदा क्षेत्र मे भेजी जा चुकी है। राहत बचाव कार्य युद्व स्तर पर गतिमान है। जामुनी तोक में आपदा में 05 लोग लापता हैं जिसमे से 04 शव बरामद कर लिये गये हैै 01 शव खोजने का कार्य चल रहा है। इस तरह सिरोउडियार तोक में 02 लोग लापता थे जिसमे 01 शव बरामद कर लिया गया है 01 की तलाश जारी है। उन्होने बताया कि क्षेत्र के अन्य परिवारों को दूसरे स्थान पर विस्थापित कर दिया गया है साथ ही भोजन, दवाये, खाद्यान, रोशनी तथा अन्य व्यवस्थायें सुनिश्चित की गई है। समीक्षा दौरान जिलाधिकारी नैनीताल श्री धीराज सिह गर्ब्याल ने बताया कि जनपद में बेतालघाट,मझेडा, ओखलकांडा, कोटाबाग खाद्य गोदामों में राशन पर्याप्त भण्डारण है तथा पर्वतीय क्षेत्रों में सितम्बर तक का खाद्यान राशन की दुकानों मे रखा गया है और नियमित वितरित किया जा रहा है। विद्यालयों मेे मध्याह्न भोजन भी नियमित वितरित किया जा रहा है। उन्होने बताया कि वर्षाकाल दौरान जनपद में सडकें बन्द हो रही है साथ ही उन्हे तत्काल खुलवाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होने बताया कि हल्द्वानी-नैनीताल हाइवे दोगांव के पास गत दिवस क्षतिग्रस्त हो गया था एनएच द्वारा यातायात सुचारू कर दिया गया है। सडक मरम्मत कार्य प्रगति पर है। उन्होने बताया कि दस दिन के भीतर रानीबाग पुराना पुल भारी वाहनो के लिए खोल दिया जायेगा। वीरभट्टी पुल के पास मलुवा गिरने के कारण लगातार बन्द हो रहा है उसे नियमित खोलने का कार्य किया जा रहा है ताकि वाहनों का आवागमन बना रहे। जिस पर मण्डलायुक्त ने कहा कि हल्द्वानी-भीमताल व हल्द्वानी-ज्योलीकोट-भवाली सडक मार्ग पहाड की लाइफ लाइन है इसमें त्वरित कार्य करते हुये दोनो सडकों यातायात हेतु सुचारू किया जाए। चम्पावत, बागेश्वर, उधमसिह नगर की समीक्षा दौरान मण्डलायुक्त ने सभी सडकें यातायात हेतु सुचारू रखने के निर्देश देते हुये आपदा सम्भावित क्षेत्रों में पैनी नजर रखने के निर्देश जिलाधिकारियों को दिये साथ ही पूरी मशीनरी को अलर्ट मोड पर रखने के निर्देश भी दिये। आयुक्त ने कहा कि सभी मुख्य सडकें को खोलने के लिए आपदा सम्भावित क्षेत्रों मे सडक के दोनो किनारों पर जेसीबी तैनात रखी जाए ताकि यातायात शीघ्र सुचारू किये जा सकेे। उन्होने कहा कि आपदा दौरान जनहानि, पशुहानि, भवन क्षतिग्रस्त होने पर तुरन्त सहायता राशि प्रदान की जाए साथ ही त्वरित बचाव व राहत कार्य सम्पादित किये जांए। वीसी में जिलाधिकारी बागेश्वर विनीत कुमार, अल्मोडा वन्दना सिह, चम्पावत विनीत तोमर, उधमसिह नगर रंजना राजगुरू सहित अपर आयुक्त प्रकाश चन्द्र, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भागीरथी जोशी,अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि एबी काण्डपाल, जलसंस्थान विशाल सक्सेना, एनएच श्री पांगती, मुख्य शिक्षाधिकारी केके गुप्ता,अधिशासी अभियन्ता जलसंस्थान एसके उपाध्याय आदि मौजूद थे।

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान ने मनाया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव

देहरादून। उत्तराखंड कोविड वैश्विक महामारी के इस संघर्ष पूर्ण दौर मे, जहां हर ओर लोग आर्थिक तंगी, स्वास्थ्य समस्याओं, मानसिक तनाव अथवा पारिवारिक समस्याओं का सामना कर रहे हैं, वहां आध्यतामिकता ही मानवता को संतोष व धीरज प्रदान करने का एक मात्र उपाय है। अध्यात्म के द्वारा ही एक व्यक्ति किसी भी प्रकार की प्रतिकूल परिस्थितियों से सहजता से बाहर निकल सकता है। यह एक ऐसा सार्वभौमिक सत्य है जिसे समय-समय पर हमारे संतों महापुरुषों ने मानव जाती को याद कराया है। आज भी, दिव्य गुरु श्री आशुतोष महाराज जी, दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के संस्थापक एवं संचालक, लोगों को न केवल अध्यात्म के महत्व से परिचित करवा रहे हैं अपितु इसके सार को मानव के आंतरिक जगत में ‘ब्रह्मज्ञान‘- आत्म साक्षात्कार का सनातन विज्ञान के द्वारा प्रयोगात्मक ढ़ंग से प्रकट भी कर रहे हैं। विश्व भर के असंख्य लोगों की आध्यात्मिक तृप्ति हेतु, डी.जे.जे.एस. ने श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2021 के शुभ अवसर पर ‘संभावमी युगे युगे’ विषय पर आधारित एक विशेष सामाजिक-सांस्कृतिक- आध्यात्मिक वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया। उक्त विषय श्रीमद् भगवत गीता मे बताए गए भगवान श्रीकृष्ण के सार्वभौमिक उद्घोष- ‘पवित्र आत्माओं के कल्याण व अधर्मियों के विनाश हेतु मैं धरती पर अवतार लूँगा’ पर आधारित था।

आईआईटी मद्रास ने ई-कचरे से निपटने का अभिनव मॉडल विकसित किया

देहरादून। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास इलेक्ट्रॉनिक कचरे (ई-कचरे) से निपटने का अभिनव मॉडल विकसित कर रहा है, जिसके तहत संगठित और असंगठित अर्थव्यवस्था के भागीदारों को आपस में जोड़ा जाएगा। ‘ई-सोर्स‘ नामक यह प्लैटफॉर्म एक एक्सचेंज प्लेटफॉर्म होगा जो वेस्ट इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (डब्ल्यूईईई) का ऑनलाइन मार्केट होगा और विभिन्न भागीदारों (खरीदारों और विक्रेताओं) को संगठित आपूर्ति श्रृंखला की सुविधा देगा। शोध बताते हैं कि वर्तमान में पूरी दुनिया में सालाना 53.6 मिलियन टन ई-कचरा पैदा होता है, जिसके अगले 16 वर्षों में दोगुना होने का अनुमान है। इन शोधों का यह भी अनुमान है कि पूरी दुनिया में इसका 85 प्रतिशत नष्ट हो रहा है। आईआईटी मद्रास के शोधकर्ताओं ने ‘सर्कुलर इकोनॉमी‘ पर ध्यान केंद्रित रखते हुए ई-कचरा के क्षेत्र की कमी दूर करने का काम हाथों में लिया है जिसके परिणामस्वरूप 50 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के दरवाजे खुल सकते हैं। भारत के लिए भी ई-कचरा गंभीर होती समस्याओं में से एक है और सबसे अधिक ई-कचरा पैदा करने में हमारा देश दुनिया में तीसरे स्थान पर है। इतना ही नहीं, 2019 और 2020 के बीच भारतीयों ने 38 प्रतिशत अधिक ई-कचरा पैदा किया। और इससे भी बड़ी चिंता की बात यह है कि हमारे देश में सिर्फ 5 प्रतिशत ई-कचरे को जिम्मेदारी के साथ रिसाइकिल किया जाता है। ई-सोर्स नामक इस पहल का नेतृत्व इंडो-जर्मन सेंटर फॉर सस्टेनेबिलिटी (आईजीसीएस) करता है। आईजीसीएस टीम का यह दृढ़ विश्वास है कि ई-कचरे की समस्या दूर होगी यदि हम उपयोग हो गए और बेकार पड़े इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और कम्पोनेंट के खरीदारों और विक्रेताओं को आपस में इस तरह जोड़ दें कि दोनों के हितों की रक्षा हो। ‘ई-सोर्स‘ नामक इस पहल का मकसद उपभोग के बाद बाजार में जमा ई-कचरे का पता जानना और उनकी रिकवरी की व्यवस्था कर सर्कुलर इकोनॉमी को बढ़ावा देने में ‘वेस्ट इलेक्ट्रिकल इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट‘ (डब्ल्यूईईई) को एक मुख्य संसाधन का रूप देना है। ‘ई-सोर्स‘ पहल की अहमियत बताते हुए प्रो. सुधीर चेल्लराजन, फैकल्टी मेंबर, इंडो-जर्मन सेंटर फॉर सस्टेनेबिलिटी (आईजीसीएस), आईआईटी मद्रास ने कहा, ‘‘ई-कचरा निपटान और प्रबंधन को संगठित रूप देने के लिए एक नया ओपन-सोर्स सॉल्यूशन चाहिए जो डेटा से समृद्ध हो और पारदर्शिता होने की क्षमता का लाभ उठा सके। आम तौर पर या तो कीमती धातु और अन्य महंगी सामग्री निकालने के लिए ई-कचरे को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया जाता है या फिर सीधे लैंडफिल में फेक दिया जाता है। उनके दुबारा उपयोग और वैकल्पिक उपयोग पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है। लेकिन रीसाइकिल करने की यह अवैज्ञानिक प्रक्रिया इस काम में लगे लोगों और हमारे पर्यावरण के लिए हानिकारक है।‘‘ प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से बताते हुए प्रो. सुधीर चेल्लराजन, जो मानविकी और सामाजिक विज्ञान विभाग, आईआईटी मद्रास में भी फैकल्टी हैं उन्होंने कहा, “ई-सोर्स एक अभूतपूर्व ओपन-सोर्स प्लेटफॉर्म है जो आगे चल कर ई-कचरे की बेहतर ट्रेसेबिलिटी के लिए संबंधित नियमों के अनुपालन में मशीन लर्निंग के उपयोग को बढ़ावा देगा और ई-कचरे की मरम्मत और पुनः उपयोग के अवसर बढ़ाने में सहायक होगा। यह शहर की परिधि में रहने वाले युवाओं और महिलाओं का कौशल बढ़ाएगा और उनके पेशाजन्य स्वास्थ्य और सुरक्षा में भी सुधार करेगा। साथ ही, कचरे के प्रवाह में विषाक्त पदार्थों का जाना कम करेगा और सस्ते, सेकेंड-हैंड ई-उपकरणों का बाजार बड़ा कर रोजगार भी बढ़ाएगा।’’

कर्नल कोठियाल ने सच्चिदानंद प्रभु से लिया आशीर्वाद

देहरादून। आम आदमी पार्टी के वरिष्ट नेता और सीएम प्रत्याशी कर्नल अजय कोठियाल ने जन्माष्टमी पर पूरे देश और प्रदेशवासियों को कृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाएं दी।इस दौरान वो देर शाम देहरादून के इस्कॉन मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने उत्तराखंड के नवनिर्माण और विकास के लिए प्रार्थना की। उन्होंने इस दौरान कहा ,आज भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी है और बुराई के अंत के लिए जैसे भगवान कृष्ण ने जन्म लिया वैसे अब उत्तराखंड में भी सबको मिलकर बुराई के अंत के लिए एकजुट होना पड़ेगा। इस दौरान कर्नल कोठियाल ने वृंदावन से आए प्रमुख पुजारी सच्चिदानंद प्रभुजी से उत्तराखंड नवनिर्माण के लिए आशीर्वाद लिया। इस दौरान सच्चिदानंद प्रभुजी जी ने कर्नल कोठियाल को आशीर्वाद देते हुए कहा,उत्तराखंड को आध्यात्मिक राजधानी होना चाहिए,जिसके लिए उन्होंने कर्नल कोठियाल को आशीर्वाद दिया । इस दौरान देहरादू इस्कॉन के प्रमुख पुजारी जगदीश प्रभुजी ने विशिष्ट अतिथि भक्त कर्नल अजय कोठियाल प्रभुजी और सभी भक्तों का स्वागत करा और यह आशा जताई की हिंदुओं की आध्यात्मिक राजधानी उत्तराखंड बनना महत्वपूर्ण है। इस दौरान कर्नल कोठियाल ने कहा,मुझे आज कृष्ण जन्माष्टमी पर भगवान कृष्ण का आशीर्वाद मिला और यहां मौजूद रहते हुए अहसास हुआ जैसे हम साक्षात हिंदुओं की आध्यात्मिक राजधानी में बैठे हैं। इस दौरान कर्नल कोठियाल ने वहां मौजूद सभी भक्तों से मुलाकात की और सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई दी।

“भारतीय संसद में भगत सिंह कोश्यारी“ पुस्तक पर आयोजित हुई परिचर्चा

देहरादून। राजपुर रोड स्थित होटल में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के लोकसभा व राज्यसभा में दिए गए भाषणों एवं याचिका समिति के अध्यक्ष के रूप में दिए गए निर्णयों पर आधारित पुस्तक “भारतीय संसद में भगत सिंह कोश्यारी“ पुस्तक के संबंध में उनकी उपस्थिति में परिचर्चा का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया गया। वरिष्ठ साहित्यकार पद्मश्री लीलाधर जगूड़ी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, गणेश जोशी, रेखा आर्या, विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह, सांसद अजय टम्टा, नरेश बंसल, विधायक एवं भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक, बलवंत सिंह भोर्याल, भाजपा नेता श्याम जाजू, साहित्यकार लक्ष्मी नारायण भाला सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे। परिचर्चा में सभी वक्ताओं ने भगत सिंह कोश्यारी के भारतीय संविधान में विहित सदनों, लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा एवं विधान परिषद में उनके द्वारा उठाए गए जनहित एवं राष्ट्रहित से संबंधित मुद्दों की सराहना की। सभी ने श्री कोश्यारी को युगदृष्टा बताते हुए उन्हें आम आदमी से जुड़ा उदार व्यक्तित्व वाला महान व्यक्ति बताया, सभी ने श्री कोश्यारी के ‘‘वन रैंक वन पेंशन’’ की भूमिका तैयार करने के प्रयासों की भी सराहना की। उन्हें सर्वधर्म समभाव, राष्ट्रभक्त एवं राष्ट्रभाषा का समर्थक भी बताया। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सभी को जन्माष्टमी की बधाई देते हुए कहा कि राष्ट्र के स्वाभिमान, गौरव एवं राष्ट्रीय अस्मिता को बचाने का दायित्व हम सबका है। इसमें हमारे सांसदों एवं विधायकों की विशेष जिम्मेदारी है। यह कार्य संसद एवं विधानसभाओं में स्वस्थ परिचर्चा के माध्यम से किया जाना चाहिए। ग्राम सभा से लेकर लोक सभा तक लोग कैसे देश को आगे बढ़़ाने में अपना योगदान दे सकें इस पर ध्यान दिये जाने की जरूरत है। उन्होंने हाल में उत्तराखण्ड विधानसभा में हुई स्वस्थ परिचर्चा को जनता के बेहतर हित में बताया। उन्होंने कहा कि वर्षों पहले रेडियो में संसद समीक्षा हम बड़े ध्यान से सुनते थे जिसमें देश के पक्ष एवं विपक्ष के योग्य सांसदों की बहस की समीक्षा होती थी। ऐसी ही स्वस्थ परिचर्चा हमारी संसद एवं विधान सभाओं में भी होनी चाहिए। उन्होंने राज्य सभा में गुलाम नबी आजाद की विदाई की घटना को देश में सहिष्णुता का वातावरण बनाने वाला बताया। श्री कोश्यारी ने कहा कि हमें अपनी मातृभाषा, राष्ट्रभाषा पर अभिमान होना चाहिए। उन्होंने उदाहरण दिया कि पहले महाराष्ट्र के विश्वविद्यालयों में होने वाले कार्यक्रम अंग्रेजी में होते थे उन्होंने ऐसे कार्यक्रमों को मातृभाषा व राष्ट्रभाषा में आयोजित करने की पहल की तो आज महाराष्ट्र में मराठी में कार्यक्रम आयोजित होने लगे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें संयुक्त राष्ट्र में भी हिंदी में बोलने का अवसर मिला। हमें अपनी भाषा पर गर्व होना चाहिए। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उन्हें श्री भगत सिंह कोश्यारी के सान्निध्य में रहकर सामाजिक व राजनैतिक क्षेत्र में कार्य करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रकाशित पुस्तक के माध्यम से श्री कोश्यारी के जीवन दर्शन के अनेक अनछुए पहलू समाज के सामने लाये गये हैं। यह पुस्तक उनके विशाल व्यक्तित्व का भी विश्लेषण करती है। उन्होंने सामान्य परिवेश में रहकर शिखर छूने का कार्य किया है तथा अपने पुरुषार्थ से महानता प्राप्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 वर्षों से लम्बित टिहरी डैम को उसके पूर्ण स्वरूप में लाने का श्रेय भी श्री कोश्यारी को है। प्रदेश में ऊर्जा मंत्री रहते उन्होंने इसके लिये राजनैतिक नफा नुकसान की चिंता न करते हुए बांध बनाने में अपना योगदान दिया। उन्होंने कहा कि श्री कोश्यारी सभी नीतिगत विषयों के जानकार, दृढ निश्चय वाले व्यक्ति रहे हैं। उन्होंने उन्हें सीख दी कि अपनी ही विधानसभा नहीं पूरे प्रदेश को समझने, जन समस्याओं को जानने का प्रयास करो, वक्त आने पर व्यक्ति के अच्छे कार्यों को पहचान मिलती है। देश में वन रैंक वन पेंशन को लागू करने की भूमिका तैयार करने में श्री कोश्यारी के योगदान की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके पिता भी पूर्व सैनिक थे जब देश में यह लागू हुआ तो उनके साथ ही क्षेत्र के सभी पूर्व सैनिकों ने खटीमा में श्री कोश्यारी का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि खटीमा में केन्द्रीय विद्यालय की स्थापना के उनके अनुरोध को भी श्री कोश्यारी ने पूरा किया। सबको साथ लेकर चलना, छोटे-बड़े का भेदभाव न कर सभी को आगे बढ़ाने में मदद करने की भी सीख हमें श्री कोश्यारी से मिली है। उनका जीवन हम सबके लिये निश्चित रूप में अनुकरणीय एवं प्रेरणादायी है। पद्मश्री लीलाधर जगूड़ी ने कहा कि आज के राजनैतिक परिवेश में पढ़े लिखे डिग्रीधारी तो सभी हैं लेकिन वास्तव में जिन्होंने समृद्ध साहित्य, उपनिषद आदि का गहराई से अध्ययन किया है कोश्यारी जी ऐसे वास्तविक पढ़े लिखे व्यक्ति हैं। राष्ट्र के प्रमुख राज्य महाराष्ट्र में उनकी उपस्थिति हमें गौरवान्वित करती है। उन्होंने कहा कि जो अतीत को समझता है वही वर्तमान को संवार सकता है। श्री कोश्यारी अच्छे विचारक एवं मनीषी हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्र भाषा के विकास में भी श्री कोश्यारी का बड़ा योगदान है। राष्ट्रभाषा हिंदी का पहाड़ के विकास में बड़ा योगदान है। इस भाषा ने हमें अभिव्यक्ति एवं आत्मिक आजादी देने का कार्य किया है। उन्होंने कामना की कि हमारी युवा पीढ़ी को श्री कोश्यारी का मार्गदर्शन निरंतर प्राप्त होता रहेगा। प्रदेश की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य द्वारा प्रेषित अपने संदेश में प्रकाशित पुस्तक को देश प्रदेश के जनप्रतिनिधियों एवं जनता के लिये उपयोगी बताया है। इस अवसर पर जिन लोगों ने अपने विचार रखे उनमें लक्ष्मी नारायण भाला, श्याम जाजू, पुस्तक के लेखक अमित जैन शामिल थे।

भजन गीत ‘नन्दलाला‘ के यू ट्यूब चैनल रासो फिल्मस पर किया लांच

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास में रविवार को जन्माष्टमी महोत्सव के उपलक्ष्य में सचिवालय संघ के तत्वाधान में समीक्षा अधिकारी राकेश महर द्वारा लिखित व अभिनय किये गये भजन गीत ‘‘नन्दलाला‘‘ का यू ट्यूब चौनल रासो फिल्मस पर लांच किया। उक्त गीत को समीक्षा अधिकारी राकेश महर एवम् पर्यटन विभाग में अनुभाग अधिकारी वंदना असवाल द्वारा स्वर दिया गया है। गीत में संगीत रूहान भारद्वाज द्वारा दिया गया है तथा निर्देशन मोहित सिलवाल ने किया है। गीत को नये परिधानो मे उत्तराखण्ड के पहनावे के साथ प्रस्तुत किया गया है, जो कि ब्रजभूमि एवं उत्तराखण्ड की संस्कृति को जोड़ने का कार्य करती है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुभकामनाएं देते हुए गीत संगीत व फिल्मांकन की सराहना करते हुए आगे भी अपनी संस्कृति एवं धर्म तथा पर्यटन पर आधारित गीतों को बनाए जाने हेतु जोर दिया। इस अवसर पर सचिवालय संघ के अध्यक्ष दीपक जोशी, महासचिव विमल जोशी, गीत के कलाकार के रूप में किरन सिंह, रूहान भारद्वाज, कुलदीप भारद्वाज, बाल कलाकार टिम्मो भी मौजूद रहे।

उत्तराखंड में दिखा फैशन वीक का जलवा, बॉलीवुड की नामी हस्तियों ने की शिरकत

देहरादून। उत्तराखंड फैशन वीक देहरादून शहर द्वारा देखे जाने वाले सबसे बड़े फैशन कार्यक्रमों में से एक है। देश के शीर्ष प्रमुख डिजाइनरों ने अपनी रचनात्मकता, सौंदर्य से डिजाइन किए गए कपड़े और फैशन का प्रदर्शन करते हुए, यह कार्यक्रम भारतीय फैशन की सराहना करने के लिए जिम्मेदार होगा। इस फैशन वीक का आयोजन डिस्कवर उत्तराखंड मैगजीन द्वारा किया जा रहा है, जो उत्तराखंड की अपनी पहली लाइफस्टाइल मैगजीन है। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में सतपाल महाराज मौजूद रहे। उन्होंने उत्तराखंड की समृद्ध फैशनेबल संस्कृति को बढ़ावा देते हुए दर्शकों को संबोधित किया। यह कार्यक्रम होटल वाइसराय ग्रैंड पर हुआ।इस कार्यक्रम में विशाल थवानी, विक्टर रॉबिन्सन, फॉरएवर नवीन कुमार, किंगशुक भादुड़ी, निहाल ठाकुर, इकरा खान, खुशी चौहान, मुकेश दुबे और कई अन्य सहित प्रसिद्ध फैशन डिजाइनरों की मेजबानी की गई। इस अवसर की शोभा बढ़ाने के लिए, इस कार्यक्रम में अभिनेत्री श्वेता तिवारी, एक्टो मनोज तिवारी और जाने-माने कोरियोग्राफर टेरेंस लुईस जैसे शो स्टॉपर थे। प्रसिद्ध मनोज तिवारी ने पत्रिका के अगस्त अंक का विमोचन किया और अपने संगीत से समां बाँध दिया। डिस्कवर उत्तराखंड पत्रिका की टीम के कारण यह शो एक मेगा इवेंट बन गया। कार्यक्रम के आयोजक आशुतोष मिश्रा, आकाश गुप्ता, राहुल ठाकुर थे। इसके अलावा मैगजीन की एडिटर इन चीफ वेदिका मिश्रा, क्रिएटिव हेड फैसल खान, फोटोग्राफर मयंक जुयाल, मार्केटिंग कंसल्टेंट केतन पुरोहित, प्रोडक्शन हेड सुधांशु नेगी और मैगजीन की पूरी टीम वहां मौजूद रही। यह शो उत्तराखंड पर्यटन बोर्ड, नासिर बीस्पोक, ग्लैमर,राज कम्यूनिकेशन, मिनिस्टरी ऑफ क्लब, माउ जिम, होटल सॉलिटेयर, बर्गर मीडिया, बीन और बेरी बेकरी, कुल्हड़ कैफे, महेंद्रडेस्टीनेशन, एकले, लग्जरी राइड, प्रतिभा वेलफेयर सोसाइटी तनेजा ऑप्टिकल्स, बिगमास्टर, डीबीजीआईटी, और कई अन्य द्वारा प्रायोजित किया गया था।

सीएम धामी ने नीरज चोपड़ा ग्लोरी क्रास कंट्री रन को फ्लैग ऑफ किया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गांधी पार्क से नीरज चोपङा ग्लोरी क्रास कंट्री रन को फ्लैग ऑफ किया। मुख्यमंत्री ने भी इसमें जॉगिंग करते हुए प्रतिभाग किया। इसका आयोजन राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर खेल विभाग उत्तराखण्ड और उत्तराखण्ड एथलेटिक्स संघ द्वारा किया गया। मुख्यमंत्री ने हॉकी खिलाङी मेजर ध्यानचंद का स्मरण करते हुए खेल दिवस की बधाई दी । मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इस प्रकार की नई खेल नीति लाएगी जिसमेँ खिलाड़ियों को तैयारी के लिए संसाधनों की कमी न रहे। राज्य सरकार की कोशिश है कि खिलाड़ियों को अधिक से अधिक प्रोत्साहित किया जाए। अभावों के कारण खेल प्रतिभा दबी न रहे। आगे बढने के पूरे अवसर मिलें। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों ओलम्पिक में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन हम सभी को गौरवान्वित करने वाला रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल भावना सर्वाेपरि है। जीवन के हर क्षेत्र में स्पोर्ट्समैन शिप होनी चाहिये। जीवन में भी खेल की तरह कभी आगे बढते हैं कभी पीछे हटते हैं। जीवन में बहुत से अभावों का सामना करना पड़ता है। परन्तु अगर हम ठान लें और संकल्प लेकर प्रयास करें तो सफलता जरूर मिलती है। मेहनत करने से मंजिल मिलती है। अगर संकल्प लिया है तो दूसरे विकल्प के बारे में नहीं सोचना चाहिए। मन में उत्साह होना चाहिए। उत्साह है तो ऊर्जा है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, विधायक खजानदास, मेयर सुनील उनियाल गामा, खेल विभाग के अधिकारी, खिलाङी और खेल प्रेमी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को दी ‘श्रीकृष्ण जन्माष्टमी’ की बधाई

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ‘श्रीकृष्ण जन्माष्टमी’ के पावन पर्व पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने मनुष्य को निष्काम कर्म के लिए सदैव समर्पित रहने, दीन-दुखियों एवं समाज के उपेक्षित वर्ग के कल्याण का संदेश दिया है। उनका जीवन सम्पूर्ण मानव जाति के लिए प्रेरणादायी है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण द्वारा श्रीमद् भगवद् गीता में दिये गये दिव्य संदेश में मानव जाति का कल्याण निहित है, यह पावन पर्व हमें भगवान श्री कृष्ण की शिक्षाओं का स्मरण करने और सार्वभौमिक भाईचारे और शांति की भावना को मजबूत करने का अवसर भी प्रदान करता है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी से कोरोना के दृष्टिगत आवश्यक सावधानियां बरतते हुए ‘श्रीकृष्ण जन्माष्टमी’ का त्यौहार मनाने की भी अपील की है।

अनुसूचित जाति आयोग उत्तराखण्ड की वेबसाइट का विमोचन किया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को मुख्यमंत्री आवास में अनुसूचित जाति आयोग उत्तराखण्ड की वेबसाइट का विमोचन किया। इस अवसर पर उत्तराखण्ड अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्षमुकेश कुमार ने मुख्यमंत्री को बताया कि आम जन की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पीड़ित को तत्काल न्याय मिले इस उद्देश्य को लेकर ऑनलाईन शिकायत दर्ज करने के लिये यह वेबसाईट जारी की गई है। अब प्रदेश के किसी भी हिस्से से अनुसूचित जाति का कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या को वेबसाईट पर दर्ज कर सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति व जनजाति के विकास हेतु राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

Sunday, 29 August 2021

आई.टी.सी. हरिद्वार के प्रतिनिधिमंडल ने सीएम से की भेंटवार्ता

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से रविवार को मुख्यमंत्री आवास में आई.टी.सी. हरिद्वार के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट वार्ता की। आईटीसी द्वारा सीएचसी रुड़की एवं सीएचसी पिथौरागढ़ हेतु 15-15 आईसीयू बेड सहित अन्य मेडिकल इक्विपमेंट्स प्रदान किए गए। इसके साथ ही एक्स रे मशीन व अल्ट्रासाउंड मशीन भी चिकित्सा क्षेत्र हेतु प्रदान की गई। आईटीसी द्वारा अवगत कराया गया कि 933 एल.पी.एम. की क्षमता का एक ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट मेला अस्पताल हरिद्वार में उनके द्वारा लगाया जा रहा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आईटीसी द्वारा दिये जा रहे सहयोग की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोविड की रोकथाम तथा आपदा से बचाव के लिये किये जा रहे प्रयासों में सभी संस्थानों का काफी सहयोग मिल रहा है। वर्तमान में कोरोना महामारी नियंत्रण की स्थिति में है, संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत पूरी तैयारियां राज्य सरकार द्वारा कर ली गई है। इस अवसर पर स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा, आईटीसी के चीफ मैनेजर कौशिक मुखर्जी, आईटीसी हरिद्वार के एचआर हेड अल्ताफ हुसैन, बलवंत सिंह ब्रिजवाल, फाइनेंस हेड अक्षय मोदी एवं अरुण सास्वत उपस्थित थे।

रविंद्र सिंह आनंद ने कैंट विधानसभा क्षेत्र के गोविंदगढ़ क्षेत्र में किया जनसंपर्क

देहरादून। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रविंद्र सिंह आनंद ने कैंट विधानसभा के गोविंदगढ़ वार्ड में जनसंपर्क किया। जिसमें आपदा ग्रसित क्षेत्र आजाद कालोनी में लोगांे से उनका दर्द साझा किया। मौके पर लोगों ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक व पार्षद भाजपा से है उसके बाद भी उनका कोई सहयोग नहीं मिल पाया है। उन्होंने रविंद्र सिंह आनंद का स्वागत कर अपनी आप बीती सुनाई। उन्होंने उन्हें बताया कि किस तरह वे आपदा के दौरान रात रात भर घरों से बाहर रहे और उन्हे पूछने वाला कोई नहीं था। इस पर रविन्द्र द्वारा नदी में उतरकर क्षतिग्रस्त पुस्ते का निरीक्षण किया एवं तत्काल एक्शन लेते हुए कई अधिकारियों से मौके से बात कर उनसे उचित कर्रवाई करने का अग्रह किया। इस मौके पर रविंद्र सिंह आनंद ने कहा कि प्रदेश मे ऐसी डबल इंजन की सरकार का क्या फायदा कि जो इस तरह से आपदा में लोगांे के काम न आ सके। देहरादून राजधानी है और यहां पर यदि यह हाल है कि विधायक, पार्षद दोनो एक ही पार्टी के हो कर मौके पर नहीं पहुंच रहे है तो पहाड़ों पर आ रही आपदा और उनसे होने वाले नुकसान झेल रहेे लोगों की स्थिति का अंदाजा यहीं से लगाया जा सकता है।

मंत्री गणेश जोशी ने टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण किया

देहरादूना। कैबिनेट मंत्री एवं मसूरी विधायक गणेश जोशी ने रविवार को वार्ड नं० 10, डोभालवाला स्थित सामुदायिक भवन परिसर में टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने टीकाकरण की पारदर्शिता सुनिश्चित की और टीकाकरण की व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीन सबसे कारगर हथियार है। उन्होंने उपस्थित लोगों से दूसरे लोगों को भी टीकाकरण कराने हेतु प्रेरित करने की अपील की। साथ ही उन्होंने क्षेत्रवासियों से कहा कि कोरोनाकाल के इस विषम दौर में सरकार जनता के साथ खड़ी है और जनता की हरसंभव मदद को प्रयासरत है। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि प्रदेश सरकार का पूरे प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों का दिसम्बर माह तक शत-प्रतिशत टीकाकरण करने का लक्ष्य है। इस अवसर भाजपा श्रीदेव सुमन नगर मंडल अध्यक्ष पूनम नौटियाल, वार्ड अध्यक्ष अजय कुमार, मोहन बहुगुणा, अमन, जीवन लामा, कस्तुव, भुवन, सिकंदर संग स्थानीय निवासी मौजूद रहे।

प्रेमसुख धाम में णमोकार महामंत्र का सामूहिक जाप कराया

देहरादूना। जैन मिलन परिवार देहरादून द्वारा राजेश मुनि जी महाराज साहब ठाणे 2 के सानिध्य में प्रेमसुख धाम में णमोकार महामंत्र का सामूहिक जाप कराया गया। जिसमे सभी वीर वीरांगनायें उपस्थित रहीं। भारतीय जैन मिलन द्वारा 3 सितंबर को आयोजित मासिक मिलन के लिए जैन ध्वज एवं जय जिनेंद्र पट्टी का वितरण जैन मिलन पारस की ओर से किया गया। भारतीय जैन मिलन की केंद्रीय महिला संयोजिका मधु सचिन जैन ने बताया कि राजेश मुनि की महाराज ने अपना आशीर्वाद देते हुए कहा कि हमारे जैन धर्म मे णमोकार महामंत्र का विशेष महत्व है, जो सभी कष्टों को हरने वाला है। ये सभी मंत्रों का महामंत्र है हमारे आगामी पर्युषण पर्व सभी के लिए मंगलमय हो। इस अवसर पर जैन भवन मंत्री और सौरभ सागर समिति द्वारा किये गए कार्यों की भी सराहना की गई। राष्ट्रीय महामंत्री वीर नरेश चंद जैन कहा कि भारतीय जैन मिलन समय-समय पर सेवा कार्य और धार्मिक कार्यों में संलग्न रहती हैं जिससे सभी धर्म प्रेमियों धर्म प्रभावना की लहर बहती रहती है। वर्षायोग में जहाँ एक तरफ जहां सारे कार्यकाज मंदे पड़ जाते हैं वहीं सभी धर्मप्रेमी बंधु धार्मिक आयोजन कर देव, भक्ति गुरुभक्ति, जिनभक्ति में तल्लीन हो जाते है ओर पुण्यार्जन कर अपना जीवन सफल बनाते है। पर्यूषण पर्व की स्वागत तैयारी 3 सितंबर को घर घर जैन ध्वज लगाए जाएंगे/गौशाला में दाना चारा दिया जाएगा। राष्ट्रीय चेयरमैन सचिन जैन, आशीष जैन, संदीप जैन, सुनीता जैन, वीरेश जैन, राहुल जैन, अजय जैन, पंकज जैन, अलका जैन, शेफाली, रश्मि, कविता, रानी, अशोक जैन, डॉ संजीव कुमार, मदन जैन, संदीप जैन क्षेत्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आदि लोग उपस्थित रहे।

डा. वाचस्पति मैठाणी के नाम पर हो बालगंगा महाविद्यालय का नाम

देहरादूना। शिक्षाविद डा.वाचस्पति मैठाणी की 72वीं जयंती पर स्मृति मंच द्वारा संस्कृत का महत्व एवं डॉ वाचस्पति मैठाणी का बहुआयामी व्यक्तित्व विषय पर एक बेबीनार कार्यक्रम का आयोजन गया। जिसमें देश के विभिन्न क्षेत्रों के विद्वानों ने अपने विचार रखे। वक्ताओं ने डॉ मैठाणी द्वारा स्थापित महाविद्यालय को उनके नाम पर रखने की मांग की। इस अवसर पर स्मृति मंच के संरक्षक पूर्व शिक्षा मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी ने कहा कि डॉ मैठाणी ने शिक्षा एवं संस्कृत भाषा के उन्नयन के लिए जो अतुलनीय कार्य किए आज उन कार्यों को आगे बढ़ाने की जरूरत है तभी हमारी उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो देवी प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि डॉ मैठाणी ने संस्कृत भाषा के लिए विशेष कार्य किए और देहरादून में अपने घर पर ही विश्व के पहले प्राथमिक संस्कृत विद्यालय की स्थापना के साथ साथ स्नातकोत्तर स्तर की शिक्षण संस्थाएं खोली। संस्कृत भाषा को उत्तराखंड की द्वितीय राजभाषा बनाने में डॉ मैठाणी की अहम भूमिका रही। कार्यक्रम के अध्यक्ष संस्कृत शिक्षा निदेशक शिव प्रसाद खाली ने कहा की संस्कृत शिक्षा विभाग डॉ मैठाणी जी के कार्यों को आगे बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयासरत है। उत्तराखंड संस्कृत अकादमी के सचिव डॉ आनंद भारद्वाज ने कहा कि डॉ मैठाणी ने बिनोवा भावे की तरह अपना सामान्य जीवन जी कर शिक्षा की जो मशाल जलाई है उसको आगे बढ़ाने के लिए हम सबको कार्य करना होगा। समाजसेवी श्रीमती सुमित्रा धूलिया ने कहा कि डॉ मैठाणी ने बालिकाओं में सुसंस्कार पैदा करने के लिए पहाड़ के दुर्गम क्षेत्र में अलग से बालिका स्नातकोत्तर संस्कृत महाविद्यालय के साथ साथ अन्य महाविद्यालयों की भी स्थापना की जिसका लाभ उन बालिकाओं को मिलेगा जो किसी कारणवश घर से दूर नहीं जा पाती हैं। पूर्व आयुर्वेद निदेशक डॉ मायाराम उनियाल ने कहा कि डॉ मैठाणी ने अपना जीवन शिक्षा के प्रचार-प्रसार एवं शैक्षणिक संस्थाओं को खोलने के लिए समर्पित कर दिया। प्रसिद्ध साहित्यकार एवं समाजसेवी शंभू प्रसाद रतूड़ी ने राज्य सरकार से डॉ मैठाणी द्वारा स्थापित बालगंगा महाविद्यालय सेंदुल का नाम डॉ वाचस्पति मैठाणी के नाम पर रखने की मांग की। प्रसिद्ध गांधीवादी विजय कुमार हांडा ने कहा कि डॉ मैठाणी शिक्षा के साथ-साथ समाज के गरीब तबके के उत्थान के लिए भी समर्पित रहे। इस अवसर पर जनकवि बेलीराम कंसवाल एवं विजय रतूड़ी ने डॉ मैठाणी पर स्वरचित कविता सुनाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम का संचालन डॉ आशाराम मैठाणी ने किया। इस अवसर पर विजय बडोनी, डॉ हरीश चंद्र गुरुरानी, डॉ संजू प्रसाद ध्यानी, किरन डंडरियाल, विजय कुमार श्रीवास्तव, ज्योति शर्मा, दिनेश उनियाल, कमलापति मैठाणी, आरबी सिंह, कैलाशपति मैठाणी, डॉ बबीता आदि उपस्थित रहे।

आप की सरकार बनते ही पहली कलम से देवस्थानम बोर्ड होगा निरस्त

देहरादूना। आम आदमी पार्टी प्रदेश कार्यालय में आप प्रदेश प्रवक्ता नवीन पिरशाली और केदारनाथ विधानसभा प्रभारी सुमंत तिवारी ने एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए राज्य सरकार पर देवस्थानम बोर्ड के नाम पर तीर्थ पुरोहितों और हक हकूकधारियों के साथ हो रहे खिलवाड को लेकर जमकर निशाना साधा है। नवीन पिरशाली ने कहा कि, उत्तराखंड की सरकार देवस्थानम बोर्ड को लेकर तीर्थ पुरोहितों के साथ खिलवाड़ कर रही है। लंबे समय से तीर्थ पुरोहित इस बोर्ड के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही, और सरकार तीर्थपुरोहितों के आंदोलन के बावजूद अभी भी कमेटी बनाने की बात कर रही है। उन्होंने कहा देवस्थानम बोर्ड बना कर हजारों साल की परंपरा पर बीजेपी ने प्रहार किया है। उन्होंने कहा जो बीजेपी मंदिरों को सुधारने की बात पर 2017 में चुनाव जीती,प्रचंड बहुमत जनता ने जिनको दिया वही बीजेपी आज देवस्थानम बोर्ड के जरिए हमारे मंदिरों को सरकार के शिकंजे में डालने का काम किया है। उन्होंने कहा कि तीर्थपुरोहित इस बोर्ड के खिलाफ प्रधानमंत्री को अपने खून से पत्र लिखकर भी भेज चुके हैं , पूरे देश में अलग अलग बीजेपी के लोग ही इसका विरोध कर रहे बावजूद इसके अभी तक इसको लेकर सरकार कोई निर्णय नहीं ले पाई। उन्होंने कहा, समस्त तीर्थ समाज के लोगों में रोष व्याप्त है। बीजेपी हिन्दुत्व का दम भरती है लेकिन अब यही बीजेपी हिंदुत्व के नाम पर तीर्थ पुरोहितों के शोषण पर उतर आई है। 2017 से पहले बीजेपी ने वादा किया था कि चारोंधामों में वह हर तरह की सुविधाएं देगी ,लेकिन सरकार बनने के बाद बीजेपी ने बोर्ड का गठन कर तीर्थपुरोहितों के साथ खिलवाड किया है ,और जनता से वादाखिलाफी की है। आप के नेता और केदारनाथ विधानसभा प्रभारी सुमंत तिवारी ने भी इस मौके पर सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि, सरकार देवस्थानम बोर्ड के नाम पर पुरोहितों का उत्पीडन कर रही है ,और लगातार चारधामों में हो रहे प्रदर्शन पर भी सरकार पुरोहितों की मांगें नहीं मान रही है। उन्होंने कहा कि, बीजेपी अपने आप को हिंदुत्व की पार्टी बताती है ,लेकिन उत्तराखंड में ये सरकार हिंदुओं की आस्था पर कुठाराघात कर रही है। उन्होंने कहा कि, सरकार तीर्थ पुरोहितों को ठगने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि एक ओर अन्य राज्यों में इनकी सरकार देवस्थानम बोर्ड के खिलाफ है ,और उत्तराखंड में ये बोर्ड के पक्ष में हैं ,तो ये दोहरा चरित्र आखिर क्यों। सरकार की आखिर ऐसी कौन सी मजबूरी है जो इस बोर्ड को भंग नहीं किया जा रहा है। इनके एक पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत बोर्ड की वकालत करते हैं,वो कहते हैं कि बोर्ड का गठन ठीक है,जबकि दूसरे पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ रावत कहते हैं कि बोर्ड के गठन पर सरकार को पुनर्विचार करना चाहिए। आप पार्टी ये सवाल पूछती है कि, आखिर तीरथ सिंह रावत जब मुख्यमंत्री थे ,तो क्यों नहीं उन्होंने बोर्ड भंग करने की वकालत की। अब उनके सुर बदल गए हैं। वहीं मौजूदा मुख्यमंत्री कमेटी बनाने की बात कर रहे हैं ,लेकिन इन सभी के अलग अलग बयानों से ये स्पष्ट हो चुका है कि, देवस्थानम बोर्ड पर सिर्फ तीर्थपुरोहितों की भावनाओं के साथ खिलवाड की साजिश रची जा रही है और कमेटी गठन के बहाने से उन्हें गुमराह करने की पुरजोर कोशिश की जा रही है। जिसे किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

सीएम ने आपदाग्रस्त इलाकों को हवाई सर्वेक्षण किया

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज गढ़वाल मण्डल के देवप्रयाग, तोताघाटी, तीनधारा, कौड़ियाला, ऋषिकेश, रानीपोखरी, नरेन्द्रनगर, फकोट एवं चंबा के आपदा ग्रस्त इलाक़ों का हवाई सर्वेक्षण किया। मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट मंत्री डॉ धन सिंह रावत व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, मुख्य सचिव एस एस संधु भी थे।

महाराज के नेतृत्व में मुख्यमंत्री से मिला माध्यमिक शैक्षणिक संघ का शिष्टमण्डल

देहरादूना। उत्तराखंड माध्यमिक शैक्षणिक संघ का एक शिष्टमंण्डल उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री ‌सतपाल महाराज के नेतृत्व में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिला। कैबिनेट मंत्री ‌सतपाल महाराज के नेतृत्व में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिले उत्तराखंड माध्यमिक शैक्षणिक संघ के प्रतिनिधि मंडल ने शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की वेतन बिसगतियों को दूर करने तथा राजकीय कर्मचारियों की भांति अवकाशों के बदले नगदीकरण जैसे 10 मांगे रखी गई। प्रतिनिधि मंडल से हुई वार्ता के दौरान मुख्य मंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया गया। उत्तराखंड के जनपद पौड़ी के जिला अध्यक्ष दर्शनसिंह रिगोंडा के सानिध्य में उत्तराखंड माध्यमिक शैक्षणिक संघ का शिष्टमंडल प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिला और शिष्टमडल द्वारा कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज जी की अगुवाई में मुख्यमंत्री को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा गया। मुख्यमंत्री द्वारा आश्वस्त किया गया कि जल्द ही उनकी मांगों पर विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री से मिलने वाले शिष्टमंडल में कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के साथ प्रदेश अध्यक्ष बीएस पंवार, महामंत्री संजय गग़, देहरादून मण्डल के अध्यक्ष सहित जनपद पौड़ी गढ़वाल के जिलाध्यक्ष दर्शन सिंह रिगोंडा महामंत्री महेन्द्रसिह, बिजयनन्द डुगरियाल, राकेश नेगी, हरेन्द्र खनतवाल, भोलासिहं नेगी और जयदेव असवाल शामिल थे।

जलियांवाला बाग कार्यक्रम में वर्चुवल शामिल हुए महाराज

देहरादूना। सौंदर्यीकरण की वजह से डेढ़ साल से बंद जलियांवाला बाग आम जनता के लिए खोल दिया गया। पंजाब सरकार ने करोड़ों रुपये खर्च कर जलियांवाला बाग को संवारा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका वर्चुअल उद्घाटन किया। इस मौके पर अन्य राज्यों के साथ साथ उत्तराखण्ड ने भी प्रतिभाग किया। कोरोना एवं सौंदर्यीकरण की वजह से डेढ़ साल से बंद जलियांवाला बाग अब आम लोगों के लिए खोल दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुनर्निर्मित परिसर, संग्रहालय एवं दीर्घाओं के वर्चुअल उद्घाटन समारोह में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर पंजाब सहित अन्य राज्यों ने भी वर्चुवल कार्यक्रम में हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विधान सभा सत्र में व्यस्त रहने की वजह से प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने भी इस कार्यक्रम में वर्चुवल प्रतिभाग किया।

स्व. जेपी पांडे व उनके सहयोगियों को निर्दाेष ठहराये जाने के कोर्ट के फैसले का किया स्वागत

देहरादूना। उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एवं राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से अब से करीब 11 वर्ष पूर्व उत्तराखंड पुलिस के एक दरोगा गणेश बौंठियाल द्वारा पांच अन्य अभियुक्तों के साथ मिलकर व साजिश रच कर जाने-माने राज्य निर्माण आंदोलनकारी जेपी पांडे के विरुद्ध एक झूठे मामले में उन्हें जेल भिजवाए जाने के मामले में हरिद्वार के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मुकेश चंद्र आर्य द्वारा स्वर्गीय जे पी पांडे व उनके सहयोगियों को निर्दाेष ठहराये जाने के फैसले का जोरदार स्वागत करते हुए स्वर्गीय जेपी पांडे को हंसाने वाले उक्त दरोगा गणेश बौंठियाल को उनकी नौकरी से तत्काल बर्खास्त किए जाने, उन्हें जेल भेजे जाने व उनके साथ के पांच अन्य अपराधकर्मियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग उठाई है। धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि स्वर्गीय ज जेपी पांडे क्योंकि समाज के तमाम हिस्सों में भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज उठाते रहते थे यही कारण था कि पुलिस दरोगा गणेश बौठियाल ने स्वर्गीय जेपी पांडे को 11 साल पहले एक झूठे मामले में फंसा दिया था जिसमें उन्हें कई दिनों तक हरिद्वार जेल में उत्पीड़न भी सहना पड़ा था और कांग्रेस पार्टी ने भी जेपी पांडे को बजाय उनके मदद करने के किनारा करके भगवान के भरोसे छोड़ दिया था। धीरेंद्र प्रताप ने बताया उस दौरान वे अकेले कांग्रेस के ऐसे नेता थे जो हरिद्वार जेल में उन्हें मिलने गए व उनकी लगातार मदद की। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि जिस तरह से अब हरिद्वार के विद्वान न्यायाधीश ने फैसला दिया है उससे स्पष्ट हो गया है कि स्वर्गीय जेपी पांडे बेदाग नेता थे और सामाजिक जीवन में सच्चे मुद्दों को लेकर लड़ने वाले नेताओं को किस तरह का उत्पीड़न झेलना पड़ता है यह घटना इसका जीता जागता प्रमाण थी। प्रताप ने इस मामले में अब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मांग की है कि वे इस मामले में तत्काल व्यक्तिगत हस्तक्षेप कर उक्त भ्रष्ट दरोगा को तत्काल पुलिस सेवा से बर्खास्त कर जेल भेजने का मार्ग प्रशस्त करें व अन्य लोग भी जो दोषी हैं उन्हें सजा मिलनी चाहिए धीरेंद्र प्रताप ने कहा पुलिस को सदैव अपना रवैया निष्पक्ष रखना चाहिए और प्रशासन के लोगों को भी हर मामले में दूध का दूध और पानी का पानी करना चाहिए। धीरेंद्र प्रताप ने कहा स्वर्गीय जे पी पांडे तो एक सड़क दुर्घटना में अतीत का हिस्सा बन गए परंतु उनके द्वारा किए गए संघर्षाे को आज भी हरिद्वार और उत्तराखंड के हजारों लोग याद कर रहे हैं और इस मामले में उनके बरी होने से उनका चेहरा और चमक कर जनता के सामने आ गया है। उन्होंने उन्हें उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन का एक चमकदार सितारा बताया जिसे जनता ने फील्ड मार्शल का दर्जा दिया। धीरेंद्र प्रताप ने कांग्रेस समेत तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं से कहा है कि वे उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले लोगों की उपेक्षा न करें क्योंकि इससे बड़ा कोई पाप हो नहीं सकता।जिन्होंने रात दिन राज्य निर्माण के लिए बड़े संघर्ष की हत्या की है जिले काटी, आंदोलन किए उन्हें दरकिनार किया जा रहा है और पैसों के दम पर, भ्रष्टाचार के दम पर, साजिशें रच कर, भाई भतीजावाद कर, अच्छे-अच्छे नेताओं का गला कोटा जा रहा है। यह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। जिसमें बड़े नेताओं के व्यवहार में निश्चय ही सुधार होना चाहिए। धीरेंद्र प्रताप ने हाल के विधानसभा सत्र में सरकार के एक मंत्री व पूर्व भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत द्वारा आंदोलनकारियों के 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण प्रस्ताव राज्यपाल को भेजे जाने को भी सफेद झूठ बताते हुए कहा कि मंत्रियों को सदैव सच बोलना चाहिए और जनता को बेवकूफ नहीं बनाना चाहिए।

संजय डोभाल बने यूकेडी के जिलाध्यक्ष

देहरादूना। उत्तराखंड क्रांति दल का कुनबा प्रदेश में धीरे-धीरे अपने पैर पसार रहा है, जो राष्ट्रीय पार्टियों के लिए यह चिंता का बड़ा कारण हो सकता है। आज सर्वसम्मति से यूकेडी के नए जिलाध्यक्ष (परवादून) से संजय डोभाल को जिला अध्यक्ष पद की कमान सौंपी गई एवं उन्हें जिला अध्यक्ष (परवावादून) की पदवी से विभूषित किया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को पूर्व अध्यक्ष त्रिवेंद्र पंवार, केंद्रीय महामंत्री एवं चुनाव पर्यवेक्षक जय प्रकाश उपाध्याय, युवा नेता शिवप्रसाद सेमवाल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष (परवादून) संजय डोभाल ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए क्षेत्रीय एकता को मजबूत करना होगा क्योंकि राष्ट्रीय पार्टिया सिर्फ राजनीति करती है। राष्ट्रीय पार्टियों का प्रदेश के विकास से कोई भी सरोकार नहीं है। इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय अध्यक्ष त्रिवेंद्र पंवार, केंद्रीय महामंत्री जय प्रकाश उपाध्याय, पूर्व जिलध्यक्ष क्रेदपाल सिंह तोपवाल, धर्मवीर गुसाई ,सुरेंद्र चौहान, दामोदर जोशी, अरविंद बिष्ट जीवानंद भट्ट ,अशोक तिवारी, पेशकार गौतम, दिनेश कैतुरा, रमेश तोपवाल, राकेश तोपवाल, मोहम्मद नबाब ,आनंद सिंह तडियाल, भावना मैठाणी, सरिता गुसाईं, सीमा धामी, तारा देवी, सावित्री देवी, कमला देवी, लक्ष्मी नेगी, शशि बाला, संजू देवी, आदि वरिष्ठ सदस्यों ने अपनी गरिमामय उपस्थिति दर्ज करवाई।

Friday, 27 August 2021

ट्रैक्टर पर गन्ना लाद निकले कांग्रेसी, विधानसभा के गेट तक चला प्रदर्शन

देहरादून। विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान शुक्रवार को विपक्ष ने हल्ला बोला। गन्ना के समर्थन मूल्य को बढ़ाने, बकाया भुगतान और किसान बिल के विरोध में कांग्रेस विधायकों और नेताओं ने जमकर हंगामा किया। उन्होंने किसान विरोधी विरोधी नीतियों के विरोध में रेस कोर्स विधायक आवास से ट्रैक्टर में गन्ना लेकर विधानसभा गेट के सामने विरोध-प्रदर्शन किया। सरकार के खिलाफ मुख्य विपक्षी दल सत्र के दौरान काफी आक्रामक नजर आ रहा है। गन्ना समर्थन मूल्य समेत कई मांगों को लेकर आज उन्होंने ट्रैक्टर रैली निकाली। इस दौरान मंगलौर विधायक काजी निजामुद्दीन ने बताया कि केंद्र सरकार ने किसानों के खिलाफ जो काला कानून बनाया, कांग्रेस उसका विरोध कर रही है और जब तक इसे वापस नहीं लिया जाएगा पार्टी विरोध करती रहेगी। वहीं, गन्ना समर्थन मूल्य को लेकर विधायक ने कहा कि सरकार ने अभी तक एक रुपया भी नहीं बढ़ाया है। इससे पहले बीते रोज सत्र के दौरान कांग्रेस विधायक साइकिलों से विधानसभा पहुंचे थे और उन्होंने पेट्रोल-डीजल के साथ ही रसोई गैस की कीमतों में बढोतरी को लेकर सरकार के खिलाफ हल्ला बोला था। कांग्रेस इस विधानसभा सत्र में किसी भी हाल में सरकार को घेरने का मौका नहीं छोड़ना चाहती है।

भरभराकर गिरा रानीपोखरी पुल, कई लोग हुए चोटिल

देहरादून। उत्तराखंड में बारिश से उफान पर आई नदियों ने अब मैदानी इलाकों में अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है। इस बार बारिश से विकराल हुई नदियों ने राजधानी देहरादून के कई हिस्सों में तबाही मचाई है। सुबह ही मालदेवता की तरफ जाने वाली सड़क को बरसाती नदी अपने साथ बहाकर ले गई, तो वहीं, 12.20 बजे के करीब रानीपोखरी स्थित नदी के ऊपर बना पुल भी भराभराकर गिर गया। यह हादसा उस वक्त हुआ जब बरसाती नदी पुल के नीचे से गुजर रही थी और ऊपर से गाड़ियां सवारी लेकर देहरादून की तरफ आ रही थीं। अचानक पुल का बीच का हिस्सा ढह गया। गनीमत यह रही कि अभी तक कोई जनहानि की सूचना नहीं है। रानीपोखरी से आई तस्वीरें इस बात की तस्दीक कर रही हैं कि जिस वक्त यह हादसा हुआ होगा और उस वक्त जो लोग सफर कर रहे थ। उनका क्या हाल हुआ होगा। वहीं, अब इस पुल के टूटने से एयरपोर्ट जाने वाले लोगों को भी अब दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। यह पुल ऋषिकेश-देहरादून को जोड़ने वाला सबसे बड़ा पुल है।

विकासनगर क्षेत्र के जाखन गांव में बादल फटने से एक व्यक्ति की मौत

देहरादून। देहरादून जिले में विकासनगर के पष्टा क्षेत्र के जाखन गांव में बादल फटा। इस दौरान एक मकान भरभरा कर गिर पड़ा, जिससे एक शख्स की मलबे में दबकर मौत हो गई। वहीं, दर्जनों किसानों के खेतों में मलबा आने से फसलों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, तीन पावर हाउसों में बिजली उत्पादन ठप हो गया, मात्र दो पावर हाउसों छिबरौ और खोदरी में जनरेशन चल रहा है। यमुना में डिस्चार्ज बढ़ने व भारी मात्रा में सिल्ट आने के कारण उत्पादन रोका गया। बारिश से देहरादून के विकासनगर में शीतला नदी उफान पर है। खुशालपुर में एक मकान का कुछ हिस्सा नदी में बह गया। इससे पहले नदी ने जस्सोवाला गांव में भी तबाही मचाई और कई मकान ध्वस्त हो गए। प्रदेशभर में बारिश आफत बनकर बरस रही है। कहीं, सड़कें क्षतिग्रस्त तो कहीं पुल टूट रहे हैं। मकानों को भी नुकसान पहुंचा है। विकासनगर में बादल फटने से एक की मौत हो गई है। साथ ही सभी बरसाती नदियां उफान पर आ गईं हैं। नदी किनारे के मकानों और खेतों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। हथियारी में निर्माणाधीन व्यासी जल विद्युत परियोजना स्थल पर भरा मलबा भरा व मशीनें दब गई। रुद्रपुर में मलबा आने से लांघा रोड पर यातायात बाधित हो गई। गौना नदी के उफान पर आने से नारंग फार्म हाउस की दीवारें ध्वस्त हो गई और मलबा भर गया।

पल्लू झाड़ने की आदत छोड़ दें अफसरः तीरथ सिंह

रुद्रप्रयाग। गढ़वाल सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत जिले के भ्रमण के दौरान अफसरों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ हर व्यक्ति तक पहुंचना चाहिए। इसके लिए सभी को दृढ इच्छाशक्ति से काम करना होगा। शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक ली। बतौर अध्यक्षता करते हुए उन्होंने विभागवार योजनाओं की समीक्षा की। पूर्व की बैठक में पारित प्रस्तावों के अनुपालन की स्थिति जानी और मौजूदा समय में जारी विकास कार्यों पर चर्चा की और अफसरों से सवाल किए। सांसद ने कहा कि अधिकारियों को पल्लू झाड़ने की आदत त्यागनी होगी। स्वास्थ्य विभाग पर चर्चा के दौरान सांसद ने कहा कि गरीब व असहाय पीड़ितों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराना जिम्मेदारी समझकर सेवाभाव जागृत होना चाहिए। आपदा की दृष्टि से जनपद रुद्रप्रयाग की संवेदनशीलता को देखते हुए सांसद रावत ने विद्युत, स्वास्थ्य, पेयजल, पूर्ति एवं परिवहन विभाग से जुड़े अधिकारियों को जरूरी संसाधनों के इंतजामात करने को कहा। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि आपदा के समय जमीनी स्तर पर आ रही परेशानियों से निपटने के लिए कार्य योजना बनाकर कार्य करें। इस मौके पर जिलाधिकारी मनुज गोयल ने जिले में संचालित विभिन्न विभागों द्वारा संचालित विकास योजनाओं की जानकारी दी। जिलाधिकारी ने बाल विकास के अनिस्तारित शौचालय निर्माण के मुद्दे को एक सप्ताह में निस्तारण करने को कहा। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को रेफरल रिपोर्ट प्रतिदिन उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए स्वयं भी अपडेट रहने को कहा। बैठक में मनरेगा के वित्तीय एवं भौतिक कार्यों की समीक्षा की गई। जिसके तहत आजीविका पैकेज मॉडल, जल शक्ति अभियान कीवी क्लस्टर, मत्स्य पालन आदि सम्मिलित थे। जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में वित्तीय वर्ष कुल 981 लक्ष्य के सापेक्ष्य 955 लाभार्थियों को पहली किश्त अवमुक्त की गई है। पीएमजीएसवाई योजना, समाज कल्याण, शहरी विकास, स्वच्छ भारत मिशन के तहत नगर पंचायत अगस्त्यमुनि, ऊखीमठ, तिलवाड़ा एवं नगर पालिका रुद्रप्रयाग के वित्तीय एवं भौतिक कार्यों की समीक्षा की गई। चिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान गढ़वाल सांसद ने वैक्शीनेशन के लक्ष्य के सापेक्ष उपलब्धि की जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी से मांगी। इससे पूर्व जिलाधिकारी ने सांसद एवं कार्यक्रम के अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत का अभिवादन करते हुए आश्वस्त किया कि बैठक में प्राप्त निर्देशों के निराकरण के लिए निष्ठा से कार्य किया जाएगा। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल, सांसद प्रतिनिधि विजय कप्रवाण, प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी मनविंदर कौर, परियोजना निदेशक रमेश चंद्र, संयुक्त मजिस्ट्रेट जयकिशन, प्रभागीय वनाधिकारी वैभव कुमार सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी एलएस दानू, परियोजना अर्थशास्त्री एमएस नेगी आदि मौजूद थे।

देवप्रयाग में संस्कृत सप्ताह का कलश यात्रा के साथ समापन

टिहरी। केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय के श्री रघुनाथ कीर्ति परिसर में आयोजित संस्कृत सप्ताह के दौरान वक्ताओं ने संस्कृत के महत्व के बारे में जानकारी दी। इस दौरान विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई। बीते 21 अगस्त से शुरु हुए संस्कृत कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि संस्कृत भारत की ही नहीं संपूर्ण विश्व की धरोहर है, यह एक ऐसी प्राचीन भाषा है जिसका सुंदर व्याकरणिक गठन है। संस्कृत सप्ताह में आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ज्योतिष विभागाध्यक्ष राष्ट्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय तिरुपति के प्रो. राधाकांत ठाकुर ने कहा की संस्कृत विश्व में अनेक भाषाओं की जननी है, प्रसन्नता की बात है कि संस्कृत भारत ही नहीं विदेशों के अनेक विश्वविद्यालयों में पढ़ाई जा रही है, इस पर शोध कार्य भी चल रहे हैं। मुख्य वक्ता डॉ. सदानंद दीक्षित ने कहा की हमारी नई पीढ़ी में संस्कृत के प्रति रुचि और उत्साह बढ़ रहा है जो संस्कृत के लिए सुखद संकेत है। कार्यक्रम अध्यक्ष श्री रघुनाथ कीर्ति परिसर निदेशक प्रो. वनमाली विश्वास ने कहा की संस्कृत एक भाषा ही नहीं बल्कि भाषा की एक मानक व्यवस्था है। कहा की केंद्रीय विश्वविद्यालय के श्री रघुनाथ कीर्ति परिसर में संस्कृत सप्ताह के तहत विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इस दौरान परिसर के विद्यार्थियों के लिए निबंध, गीता पद्य कंठ व पाठ प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। कोरोना काल में छात्र छात्राओं के घरों में होने के बावजूद कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर भागीदारी कई गई। कार्यक्रम संयोजक डॉ. शैलेंद्र प्रसाद उनियाल व डॉ. अनिल कुमार ने संस्कृत के महत्व पर प्रकाश डाला। संस्कृत सप्ताह समापन पर परिसर के प्राध्यापकों व विद्यार्थियों ने नगर में कलश यात्रा निकाली। मौके पर डॉ. सच्चिदानंद स्नेही, डॉ. कृपा शंकर शर्मा, डॉ. अरविंद गौर, दिनेश चंद्र पांडे, डॉ. सुरेश शर्मा, अमन मिश्रा, गौतम कुमार चौधरी, पंकज कोटियाल, डॉ. अवधेश बिजल्वाण, डॉ. ओम शर्मा आदि मौजूद थे।

मुख्यमंत्री से मिले सेन्ट्रल कमांड के जी.ओ.सी. इन चीफ

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शुक्रवार को विधानसभा में सेन्ट्रल कमांड के जी.ओ.सी इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल योगेन्द्र डिमरी ए.वी.एस.एम. वीएस.एम ने शिष्टाचार भेंट की। उन्होंने मुख्यमंत्री से राज्य के सीमान्त क्षेत्रों में संचार सुविधाओं एवं सड़कों के विकास से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा की। मुख्यमंत्री से जोशीमठ-औली तक सड़क चौड़ीकरण, पिथौरागढ़ के सीमांत क्षेत्रों तक सड़क निर्माण एवं सुधारीकरण की भी जरूरत बतायी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य सरकार सीमान्त क्षेत्रों के विकास पर विशेष ध्यान दे रही है। इन क्षेत्रों को सड़क से जोड़ने तथा संचार सुविधाओं के विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सैनिकों के कल्याण के लिये अनेक योजनायें संचालित की गई हैं। शहीद सैनिकों के आश्रितों का सेवायोजित करने की व्यवस्था राज्य में की गई है। उन्होंने सीमान्त क्षेत्रों में सड़कों, संचार सुविधाओं एवं स्वास्थ्य सुविधाओं के विकास में सेना को पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने बनबसा की भांति खटीमा में भी सीएसडी कैन्टीन खोले जाने की अपेक्षा की। ले.जन योगेन्द्र डिमरी ने मुख्यमंत्री से जोशीमठ-औली सड़क के चौड़ीकरण के साथ ही पिथौरागढ़ के सीमांत क्षेत्रों के मानसरोवर मार्ग को सड़क से जोड़ने में सहयोग की अपेक्षा की। उन्होंने रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग, बागेश्वर आदि स्थलों पर सेना द्वारा सीजीएचएस पॉलीक्लीनिक की स्थापना के लिये भूमि उपलब्ध कराने की भी अपेक्षा की। उन्होंने कहा कि देहरादून शहर में स्थित सीएसीडी डिपो को शहर में अन्यत्र कहीं उपयुक्त स्थल पर्याप्त भूमि उपलब्ध करायी जाये तो इसे स्थानान्तरित किये जाने पर विचार किया जायेगा। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, जीओसी सब एरिया मे.ज. एस खत्री, आदि उपस्थित थे।

आगंतुकों के लिए कोविड प्रोटोकॉल के साथ खुलेगा एफ.आर.आई.

देहरादून। आगंतुकों के लिए कोविड प्रोटोकॉल के साथ एफआरआई खुलेगा। उत्तराखण्ड शासन द्वारा कोविड-19 के संदर्भ में जारी दिशा-निर्देशानुसार इस संस्थान को 1 सितंबर से पर्यटकों के लिए कोविड प्रोटोकॉल के साथ खोला जाएगा। वर्तमान में कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए प्रतिदिन 100 आगंतुक हेतु एफ0आर0आई0 कैम्पस में आगमन की अनुमति दी जा रही है। भविष्य में स्थिति को देखते हुए संख्या बढाई जा सकती है। आगंतुकों हेतु कैम्पस प्रातः 9 बजे से सांय 5 बजे तक खुला रहेगा। केवल ऑनलाइन पंजीकृत पर्यटक ही कैम्पस में प्रवेश कर सकेंगे। सभी आगंतुक अपना पंजीकरण संस्थान की वेबसाइट पर ऑनलाइन कर सकते हैं तथा प्रिंटआउट दिखाकर गेट पर आगंतुक शुल्क जमा कर सकते हैं। इससे संबंधित समस्त जानकारी संस्थान की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

मंत्री जोशी ने अतिवृष्टि से हुए नुकसान का अधिकारियों संग जायजा लिया

देहरादून। कैबिनेट मंत्री एवं मसूरी विधायक गणेश जोशी ने अतिवृष्टि के कारण नदी में आये उफान से क्षतिग्रस्त सहस्त्रधारा-मालदेवता मुख्य मार्ग, धनौला क्षेत्र सहित इन्द्रा कालोनी, पथरिया पीर एवं बद्रीनाथ कालोनी में हुए नुकसान का अधिकारियों संग जायजा लिया। काबीना मंत्री ने उपजिलाधिकारी को कहा कि तत्काल चौनलाईजेशन एवं सुरक्षा दीवार का कार्य करवाया जाए। उन्होंने ग्रामीणों से मुलाकात की और उन्हें हरसम्भव मदद करने का आष्वासन दिया। इन्द्रा कालोनी, पथरिया पीर एवं बद्रीनाथ कालोनी में निरीक्षण के दौरान काबीना मंत्री ने जिलाधिकारी को दूरभाश पर निर्देशित किया कि बिन्दाल नदी में जलस्तर बढ़ने के कारण इससे लगे हुए क्षेत्रों में हुए जलभराव से हुए नुकसान का आंकलन कर प्रभावितों को त्वरित राहत उपलब्ध करायी जाए। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी गोपाल राम बिनवाल, जिला पंचायत सदस्य वीर सिंह चौहान, अनुज कौशल, क्षेत्र पंचायत सदस्य धनौला धीरज थापा, अरविंद तोपवाल, वीर सिंह जवाडी, मुकेश नेगी, सुनील चमोली, राजेंद्र सिंह चौहान, आनंद पयाल, मनोज पयाल, गोविंद भण्डारी, शान्ति प्रसाद, चन्द्रमणि, शिवराम, मनीष कुमार, विशाल पंवार, डा0 बबीता सहौत्रा, प्रदीप रावत, पार्शद सत्येन्द्र नाथ आदि उपस्थित रहे।

सीएम ने की शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति व श्रीदेव सुमन छात्रवृत्ति की राशि में बढ़ोतरी की घोषणा

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के 200 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने राज्य के विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राओं, अभिभावकों व अध्यापकों से वर्चुअल संवाद भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी विद्यालयों में छात्राओं के लिए अलग से शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति की राशि को 250 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये करने और साथ ही इसके लाभान्वितों की संख्या को 11 से बढ़ाकर 100 करने की घोषणा की। उन्होंने श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति की राशि को 150 रुपये से बढ़ाकर 1000 रुपये करने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने अटल उत्कृष्ट विद्यालयों सहित सभी शासकीय विद्यालयों में 1 से 14 सितम्बर 2021 तक प्रवेश पखवाड़ा एवं 15 सितंबर 2021 को नवप्रवेशित बच्चों के लिए स्वागोत्सव मनाये जाने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने सभी को शुभकामनायें देते हुए कहा कि माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम में 8 ट्रेड प्रारंभ किये गये हैं। इससे हमारे बच्चों का स्किल डेवलपमेंट होगा जो कि उनके कैरियर में सहायक होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रारंभ नई शिक्षा नीति में भी स्किल डेवलपमेंट पर बल दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों के लिये अच्छे से अच्छा जो भी हो सकता है, सरकार कर रही है। कोशिश है कि आम बच्चों तक क्वालिटी एजुकेशन की पहुंच बने। कोविड काल में आनलाईन एजुकेशन की महत्ता बढी है। सरकार राज्य के राजकीय विद्यालयों के 10 वीं और 12 वीं के छात्र छात्राओं को प्री लोडेड कंटेंट के साथ मोबाईल टैबलेट जल्द उपलब्ध कराएगी। 500 विद्यालयों में वर्चुअल क्लास की स्थापना की गई है जबकि 600 और विद्यालयों में वर्चुअल क्लास प्रस्तावित हैं। सभी विद्यालयों में एनसीईआरटी की पुस्तकें अनिवार्य की गई हैं। 189 विद्यालय सीबीएसई मान्यता के साथ इंग्लिश मीडियम में प्रारंभ किये गये हैं। मुख्यमंत्री ने वर्चुअल संवाद करते हुए कहा कि अपनी रूचि के अनुसार कैरियर का चयन करें और फिर पूरे मनोयोग से परिश्रम करें। सामान्य परिस्थितियों से उठे लोगों ने अपने संघर्ष से आसमान को छूआ है। स्वर्गीय डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने रामेश्वरम से राष्ट्रपति पद तक का सफर तय किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जीवन भी हम सभी के लिए अनुकरणीय है। परिश्रम, संकल्प और दृढ इच्छाशक्ति हो तो कोई काम असम्भव नहीं है। विकल्प रहित संकल्प होना चाहिए। भगवान भी उसी का साथ देते हैं जो खुद का साथ देते हैं। कहा भी गया है कि मन के जीते जीत है, मन के हारे हार। स्वामी विवेकानन्द जी ने कहा है कि मनुष्य की सीमाएं अनंत हैं। शिक्षा मंत्री अरविंद पाण्डेय ने कहा कि वर्ष 2017 से उत्तराखण्ड में स्कूल एजुकेशन मे काफी काम किया गया है। विषयवार अध्यापकों की नियुक्ति की गई है। अतिथि शिक्षकों का वेतन 15 हजार रूपये से बढाकर 25 हजार रूपए करने का निर्णय लिया गया है। नई शिक्षा नीति के अनुरूप कौशल विकास पर बल दिया जा रहा है। नीति आयोग द्वारा शैक्षिक गुणवत्ता मे उत्तराखण्ड को चौथे स्थान पर रखा गया है। कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राओं, अभिभावकों व अध्यापकों ने भी अपनी बात रखी। इस अवसर पर सचिव राधिका झा, महानिदेशक माध्यमिक शिक्षा बंशीधर तिवारी, निदेशक सीमा जौनसारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कोरोना टेस्टिंग घोटाले को लेकर आप ने की सीबीआई जांच की मांग

देहरादून। आम आदमी पार्टी ने हरिद्वार महाकुंभ में हुए कोरोना टेस्टिंग घोटाले की सीबीआई जांच की मांग की है। आप के वरिष्ट नेता और सीएम प्रत्याशी कर्नल अजय कोठियाल ने प्रदेश कार्यालय में एक प्रेस वार्ता के दौरान सरकार से कुंभ कोरोना जांच में सीबीआई जांच की मांग की। कर्नल कोठियाल ने कहा,इस घोटाले में दो अफसरों को सस्पेंड कर सरकार जांच के नाम पर इतिश्री कर रही है जबकि हजारों की जान लेने वाले इस घोटाले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के लिए सीबीआई जांच जरूरी है। कर्नल कोठियाल ने कहा कि इतना बड़ा घोटाला बिना राजनीतिक संरक्षण के नहीं हो सकता है, लिहाजा इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए ताकि असल गुनाहगारों के चेहरे बेनकाब हो सकें और उन्हें सजा दिलाई जा सके। आम आदमी पार्टी ने कहा कि दो अफसरों का निलंबन करने भर से सरकार अपनी जवाबदेही से नहीं बच सकती। पार्टी ने मांग की कि सरकार बताए कि इस घोटाले के पीछे कौन-कौन लोग शामिल हैं। हिंदुओं की आस्था के पवित्र पर्व हरिद्वार महाकुंभ के दौरान तीर्थयात्रियों की कोरोना जांच को लेकर हुआ ये घोटाला बताता है कि दूसरी लहर के दौरान अपनी नाकामी छिपाने के लिए सरकार ने झूठे आंकड़े दिखा कर लाखों लोगों के जीवन को खतरे में डालने का अपराध किया। उत्तराखंड में कोरोना महामारी की भवावह तस्वीर को छुपाने के लिए लाखों की संख्या में झूठी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट तैयार की गई। ये झूठी रिपोर्टें एक ऐसी फर्म ने तैयार कीं, जिसे कोरोना जांच करने का ठेका किसी और ने नहीं बल्कि खुद उत्तराखंड सरकार ने दिया था। लैब के जरिए एक लाख से ज्यादा झूठी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट तैयार की, ताकि यह साबित किया जा सके कि उत्तराखंड में कुंभ मेले के दौरान कोरोना का कोई प्रभाव नहीं था। हैरानी की बात ये है कि जिन लोगों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव दिखाई गई उनमें बड़ी संख्या ऐसे लोगों की थी जो कुंभ के दौरान न तो हरिद्वार आए और न ही उनका कभी कोरोना टेस्ट हुआ। फर्जी नेगेटिव जांच रिपोर्ट दिखाने के इस खेल में सरकार ने कुंभ मेले में आए लाखों यात्रियों का जीवन तो खतरे में डाला ही, साथ ही पूरे देश में कोरोना संक्रमण फैलाने की जमीन भी तैयार कर डाली। जो सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए कुंभ के दौरान झूठी रिपोर्ट तैयार कर सकती है क्या वह बाकी जांचों को लेकर भला ईमानदार हो सकती है? कर्नल कोठियाल ने कहा कि हिंदुओं की आस्था के प्रतीक महाकुंभ में घोटाला कर भाजपा सरकार ने करोड़ों लोगों की आस्था के साथ तो छल किया ही साथ ही सरकारी खजाने को भी नुकसान पहुंचाया।उन्होंने कहा, इस घोटाले का खुलासा होने के बाद से ही भाजपा के नेता जवाबदेही से बचते नजर आ रहे हैं।

आईआईपी में ऊर्जा भविष्‍य निर्माण-चुनौतियां एवं अवसर पर राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी आयोजित

देहरादून। सीएसआईआर-भारतीय पेट्रोलियम संस्‍थान देहरादून में ऊर्जा भविष्‍य निर्माण-चुनौतियां एवं अवसर ‘सेफ्को-2021’ विषय पर 5वीं राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन किया गया। इस संगोष्‍ठी में चर्चा का मुख्य विषय था ‘शून्‍य उत्‍सर्जन-विकल्‍प‘ था। यह संगोष्‍ठी ऊर्जा तथा इससे सम्बद्ध विशेष क्षेत्रों के विशेषज्ञों, वैज्ञानिकों, उद्योग एवं शिक्षा जगत के तकनीक-विदों तथा युवा शोधार्थियों को विचार-विमर्श के लिए एक साझा मंच प्रदान करती है। वैज्ञानिक सत्रों में मुख्‍य रूप से आमंत्रित विशेषज्ञों के व्‍याख्‍यान, मौखिक चर्चा तथा 26 डिजिटल पोस्‍टर का प्रस्‍तुतिकरण हुआ। 15 विषय विशेषज्ञों के व्याख्यान तथा उनके द्वारा श्रोताओं के प्रश्नों के उत्तर से यह सत्र संगोष्ठी का मुख्य आकर्षण रहा। आभासी वार्ता में मुख्‍य अतिथि वर्तिका शुक्‍ला निदेशक, इंजीनियर इंडिया लिमिटेड तथा विशिष्‍ट अतिथि डॉ पुरंदर चक्रवर्ती (प्रमुख अन्‍वेषण तथा वैकल्पिक ऊर्जा ने अपने रोचक और ज्ञानपरक व्‍याख्‍यान से न केवल राष्‍ट्रीय स्तर पर अपितु विश्‍व स्‍तर पर नवीकरणीय ऊर्जा के नवीन स्रोतों संबंधी आवश्‍यकताओं एवं समस्‍याओं से प्रतिभागियों को रूबरू करवाया अपितु ऊर्जा, ईंधन तथा कार्बन से संबद्ध विषय क्षेत्रों में अनुसंधान के अवसरों की जानकारी भी दी । विभिन्‍न आभासी माध्‍यमों जैसे कि एम एस टीम, सीएसआईआर-आईआईपी के यू-ट्यूब लाइव तथा फेसबुक लाइव पेज के माध्‍यम से देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से 400 से भी अधिक प्रतिनिधियों ने इस आभासी संगोष्‍ठी में भाग लिया। इस संगोष्‍ठी के प्रारंभ में नेहा नंदल, संयोजक सेफ्को-2021 ने संगोष्‍ठी के बारे में विस्‍तृत जानकारी दी । तदपुरांत सीएसआईआर-आईआईपी के निदेशक डॉ अंजन रे ने इस आभासी संगोष्‍ठी में उपस्थित सभी गणमान्‍य अतिथियों का स्‍वागत किया। शून्‍य उर्त्‍सजन ऊर्जा लक्ष्य पर और अधिक प्रकाश डालते हुए विशिष्‍ट अतिथि डॉ पुरंदर चक्रवर्ती ने हमें एक संपोषित भविष्‍य देने में सक्षम नवीकरणीय ऊर्जा, वैकल्पिक ईंधन के रूप में हाइड्रोजन और अमोनिया, गैस किण्वन तथा इथेनॉल, विद्युत वाहन एवं ग्रीन डीज़ल जैसे विभिन्‍न ऊर्जा विकल्‍पों पर चर्चा की। उन्‍होंने अपने व्‍याख्‍यान के अंत में इस बात पर बल दिया कि प्रौद्योगिकी निर्माण तथा इसका आवश्यक्ता अनुसार विकास बहुत ही महत्‍वपूर्ण है। इस अवसर पर मुख्‍य अतिथि द्वारा सेफ्को-2021 की स्मारिका का विमोचन भी किया गया। स्‍वाति सैनी, सह-संयोजक ने अति‍थियों तथा आयोजन के सभी सहयोगियों के प्रति धन्‍यवाद ज्ञापित किया।

Featured Post

कोरोना काल के पश्चात राफ्टिंग का प्रारंभ होना बेहद सुखदः महाराज

ऋषिकेश। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े 15 हजार लोगों को पर्यटन विभाग की ओर से अब तक 7 करोड़ की धनराशि वितरित की जा चुकी है। उक्त बात गंगा नदी राफ...