Friday, 2 December 2022

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

नई दिल्ली, गढ़ संवेदना न्यूज: कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ़ इंडिया नई दिल्ली में नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम द्वारा आयोजित नेशनल सेमिनार में देश के विभिन्न हिस्सों से आए अपने अपने क्षेत्र की विशिष्ट प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के मुख्यातिथि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवम सांसद तीरथ सिंह रावत, सांसद अनिल अग्रवाल, पूर्व राज्य मंत्री धीरेन्द्र प्रताप, पूर्व राजदूत के. एल. गंजू एवम क्त जेनिस दरबारी, तुषार पटनायक डारेक्टर डाबर इंडिया लिमिटेड, भाजपा नेता राम कुमार वालिया आदि रहे। कार्यक्रम का संयोजन फोरम के अध्यक्ष सुनील कुकरेजा ने किया। कार्यक्रम में पूरे देश के विभिन्न प्रदेशों से आए अलग अलग क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाले लोगों को फोरम द्वारा नेशनल एचिवर अवार्ड देकर सम्मानित किया गया। पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पुरस्कार विजेताओ को भारत की‌ नई ताकत बताया। धीरेंद्र प्रताप ने प्रतिभा के लिए उद्देश्य आवश्यक बताया।जबकि‌ राज्य सभा सांसद अनिल शर्मा ने विजेताओं की उपलब्धि को शानदार बताया। समारोह में उत्तराखंड की जानी मानी साहित्यकार रामेश्वरी नादान को बाल साहित्य पर विशिष्ट लेखन के लिए सम्मानित किया गया।

टाटा 1एमजी ने 3 स्टोर खोलकर उत्तराखंड के देहरादून में प्रवेश किया, ड्रोन से की जाएगी दवा की डिलीवरी

देहरादून: भारत का सबसे बड़ा डिजिटल हेल्थ प्लेटफॉर्म टाटा 1एमजी ने देहरादून में तीन इंटीग्रेटेड फार्मेसी और डायग्नोस्टिक्स स्टोर और एक डायग्नोस्टिक लैब खोलकर उत्तराखंड में अपनी उपस्थिति दर्जा करा दी है। कंपनी ने एक अनूठी पहल के तहत शहर में डायग्नोस्टिक सैंपल और दवाओं के लिए ड्रोन सर्विस पायलट भी शुरू की है, ताकि सड़क माध्यम में जाम के कारण होने वाली देरी से बाचा जा सके और तेजी से सैम्पल (नमूने) संग्रह और दवा का वितरण सुनिश्चित किया जा सके। ड्रोन का उपयोग शहर के विभिन्न हिस्सों से सैम्पल के एकत्र करने और उन्हें प्रसंस्करण के लिए टाटा 1एमजीलैब में ले जाने के लिए किया जाएगा। दूर-दराज के इलाकों में दवाइयां पहुंचाने के लिए भी इनका इस्तेमाल किया जाएगा। एक अकेला ड्रोन 150 नमूनों तक का पेलोड ले जाने में सक्षम होगा। ड्रोन सहित नमूना परिवहन आपूर्ति श्रृंखला के सभी घटक तापमान नियंत्रित होंगे और प्रयोगशाला में उड़ान के दौरान तापमान की लगातार निगरानी करने के लिए प्रौद्योगिकी से लैस होंगे। टाटा 1एमजी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर तन्मय सक्सेना ने कहा, "हमें देहरादून में अत्याधुनिक टाटा 1एमजी स्टोर और एक डायग्नोस्टिक लैब खोलकर खुशी हो रही है, जो उत्तराखंड में हमारे भौगोलिक पदचिह्न स्थापित कर रहा है। यह हमारे लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण बाजार है। अपने लोकेशन एडवांटेज, तेजी से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था और मजबूत बुनियादी ढांचे के कारण, देहरादून उत्तर में हमारे परिचालन का विस्तार करने के लिए एक स्वाभाविक पसंद था। यह शहर राज्य में अन्य कम सेवा वाले बाजारों, जैसे हरिद्वार, मसूरी और ऋषिकेश तक पहुंच बढ़ाने में हमार केंद्र होगा। टाटा 1एमजी भरोसे का पर्यायवाची नाम है। हम बेहतर तकनीक और प्रणालियों के साथ देहरादून के लोगों को एक अलग और उन्नत स्वास्थ्य सेवा अनुभव प्रदान करने के लिए तत्पर हैं। हम जल्द ही दून और उत्तराखंड के दूसरे लोकेशन पर कई और टाटा 1एमजी स्टोर निकट भविष्य में खोलेंगे।" तन्मय ने आगे कहा , "हमारा मिशन स्वास्थ्य सेवा को सभी के लिए समझने योग्य, सुलभ और सस्ती बनाना है। हम एक प्रौद्योगिकी-पहली कंपनी हैं। यह पता लगाने का हमारा निरंतर प्रयास है कि कैसे तकनीकी नवाचार हमारे मिशन को प्राप्त करने में हमारी मदद कर सकते हैं। हम इसका लाभ उठाने के लिए तत्पर हैं।" देहरादून में ड्रोन तकनीक के जरिये हम नमूना हस्तांतरण समय को कम करने और तेजी से रिपोर्ट तैयार करने में सक्षम होंगे। इस पहल के माध्यम से, हम एक कम सेवा वाले बाजार में टाटा 1एमजी की सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान करना चाहते हैं और राज्य में डायग्नोस्टिक्स के परिदृश्य को बदलना चाहते हैं।" कंपनी के अनुसार टाटा 1एमजी किसी भी तरह की दुर्घटना से बचने के लिए ड्रोन उड़ाने में सभी आवश्यक सावधानी बरत रही है। तन्मय ने कहा, "हमने उड़ान भरने से पहले और बाद में ड्रोन के लिए एक अग्रिम जांच की व्यवस्था की है। ड्रोन अपने तकनीक का विश्लेषण करता है, जिसमें बैटरी की जांच शामिल है, और एक स्मार्ट मैपिंग तकनीक का पालन करता है, जिसकी मदद से यह उड़ने के लिए सबसे सुरक्षित मार्ग का पता लगा सकता है। साथ ही, यह टक्कर रोधी तकनीक का उपयोग करता है, जो इसे यह समझने में सक्षम बनाता है कि उड़ान के दौरान कोई वस्तु इसके सामने आती है या नहीं। आपातकालीन लैंडिंग की स्थिति में ड्रोन नजीदीकी लोकेशन को पता लगाने में सक्षम होगा। इससे किसी भी संपत्ति या पार्सल को नुकसान पहुंचाए बिना सुरक्षित रूप से ड्रोन को लैंड होगा।" टाटा 1एमजी ने पूरे शहर में डायग्नोस्टिक सैंपल ट्रांसपोर्ट करने के लिए अग्रणी ड्रोन लॉजिस्टिक्स सर्विस प्रोवाइडर टीएसएडब्ल्यू (TSAW) ड्रोन्स के साथ पार्टनरशिप की है। नमूने एक ड्रोन द्वारा ले जाए जाएंगे, जो 6 किलो तक का पेलोड ले जा सकता है और 100 किमी की हवाई दूरी तय कर सकता है। देहरादून में टाटा 1एमजी की कंपनी के स्वामित्व और संचालन वाले स्टोर, जिनका औसत आकार 500 वर्ग फुट है, हर जरूरत के लिए इंटीग्रेटेड हेल्थ सर्विस का समाधान प्रदान करता है। इस स्टोर से ग्राहक 100% असली दवाएं खरीद सकते हैं। साथ ही विश्व स्तरीय डायग्नोस्टिक्स का लाभ उठा सकते हैं और शीर्ष डॉक्टरों से सुविधाजनक ई-परामर्श ले सकते हैं। लॉन्च समारोह के हिस्से के रूप में, देहरादून में टाटा 1एमजी स्टोर दवाओं और प्रयोगशाला परीक्षणों सहित कई उत्पादों और श्रेणियों पर 50% तक की छूट की पेशकश की जा रही है। तन्मय सक्सेना ने कहा, "ग्राहकों को 100% असली दवाएं मिले यह सुनिश्चित करने के लिए हम नेटवर्क पर अत्याधुनिक तकनीक और आपूर्ति श्रृंखला का लाभ उठाते हैं। हमारे स्टोर 'एंडलेस आइज़ल' नामक एक अनूठी अवधारणा पर चलते हैं। इसका मतलब है कि हमारे बहुत ही माध्यम से व्यापक आपूर्ति श्रृंखला नेटवर्क, हम न केवल फार्मास्यूटिकल्स में बल्कि आयुर्वेद, होम्योपैथी, न्यूट्रास्यूटिकल्स, वेलनेस, चिकित्सा उपकरणों आदि जैसी श्रेणियों में भी उपयोगकर्ताओं को एक अद्वितीय इन्वेंट्री रेंज प्रदान करते हैं। सभी टाटा 1एमजी स्टोर सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास फार्मेसी, डायग्नोस्टिक्स, और ई-परामर्श एक ही छत के नीचे प्रदान करते हैं।" देहरादून में टाटा 1एमजी के दवा स्टोर रेसकोर्स, वसंत विहार और किशन नगर में स्थित हैं। कंपनी पहले से ही दिल्ली-एनसीआर, जयपुर और कोलकाता में 40 से अधिक स्टोर संचालित करती है और अगले कुछ महीनों में पूरे भारत में 200 नए स्टोर खोलने का इरादा रखती है

Tuesday, 22 November 2022

गोवा अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में उत्तराखंड स्टेट फोकस सेमिनार का आयोजन

गोवा/देहरादून। 53वंे अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में मंगलवार को नॉलेज सीरीज का आयोजन किया गया। नॉलेज सीरीज में उत्तराखंड में फ़िल्म शूटिंग को लेकर चर्चा की गई। कार्यक्रम शुरू होने से पहले विशेष प्रमुख सचिव सूचना अभिनव कुमार ने उत्तराखंड की पारंपरिक पहाड़ी टोपी और अंग वस्त्र भेंट कर चर्चा में प्रतिभाग कर रहे विषय विशेषज्ञों का स्वागत किया। इस अवसर पर अध्यक्ष केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड प्रसून जोशी, प्रवेश साहनी, संस्थापक इंडिया टेक वन प्रोडक्शन, विशेष प्रमुख सचिव सूचना उत्तराखंड सरकार अभिनव कुमार सिंह मुख्य वक्ता के तौर पर उपस्थित रहे, जबकि सुश्री लोहिता सुजीत, सीनियर डॉयरेक्टर कॉपी राइट-डिजिटल इकॉनमी मोशन पिक्चर असोसिएशन द्वारा संचालन किया गया। मुख्य वक्ता के तौर पर अध्यक्ष केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड प्रसून जोशी ने कहा कि उत्तराखंड में शूटिंग के लिये अनुकूल माहौल है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में युवाओं को दिशा देने के साथ ही सिनेमोग्राफी, स्क्रिप्ट लेखन के साथ ही अन्य फिल्म कलाओं में भी आगे बढ़ना है। उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माताओं को यह देखने के साथ कि वे उत्तराखंड में क्या कर सकते हैं, यह भी देखें कि उत्तराखंड के कलाकार और अन्य लोग फ़िल्म उद्योग में क्या योगदान दे सकते हैं। श्री जोशी ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड को फ़िल्म डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करने के लिए कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का संगीत, कला, एयर, संस्कृति सबसे अलग है। प्रवेश साहनी, संस्थापक इंडिया टेक वन प्रोडक्शन ने कहा कि सभी राज्यों को विदेशी फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने के लिए अधिक प्रयास करने होंगे। फ़िल्म निर्माण में इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। विशेष प्रमुख सचिव सूचना अभिनव कुमार बताया कि मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर फ़िल्म नीति में काफी संशोधन किए जा रहे है। मुख्यमंत्री श्री धामी उत्तराखंड में फ़िल्म निर्माण को युवाओं के रोजगार से जोड़ना चाहते हैं। फिल्म सिटी की स्थापना की दिशा में कार्य शुरु किया गया है। फिल्म सिटी चयन के लिए उपयुक्त भूमि की तलाश हेतु जिलाधिकारियों को पत्र लिखा गया है। फ़िल्म निर्माता और निर्देशकों को हर संभव सहायता दी जा रही है। राज्य में नई फिल्म लोकेशन, क्षेत्रीय फिल्मों को बढ़ावा देने और फिल्म और क्रिएटिव आर्ट संस्थान विकसित करने पर भी सरकार का विशेष फोकस है। उन्होंने कहा कि गढ़वाली कुमाऊनी सहित उत्तराखंड की क्षेत्रीय बोली भाषा में फिल्म निर्माण को प्रोत्साहन देना सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सेशन में उपस्थित दर्शकों में कई फिल्म निर्माताओं ने उत्तराखंड में फिल्म शूटिंग और नीति पर विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार से कई प्रश्न पूछे। कुछ प्रश्न नेशनल पार्क में वन विभाग की अनुमतियों को लेकर भी थे जिस पर विशेष प्रमुख सचिव ने नीति की व्यवस्था के बारे में बताया। कुछ प्रश्न फिल्म सिटी और स्थानीय फ़िल्म संस्थान को लेकर थे। विशेष प्रमुख सचिव ने सभी प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि सरकार सभी सकारात्मक सुझावों का स्वागत करती है। इस अवसर पर उप निदेशक/नोडल अधिकारी उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद डॉ. नितिन उपाध्याय भी उपस्थित थे।

कैम्पटी क्षेत्र के सुनियोजित विकास को इसे नगरपंचायत बनाया जाएगाः सीएम धामी

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को कैम्पटी में खेलकूद एवं सांस्कृतिक मेले में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री ने कैम्पटी में लगने वाले इस मेले के लिए 02 लाख रुपए का अनुदान देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कैम्पटी क्षेत्र के सुनियोजित विकास के लिए इसे नगर पंचायत बनाने की दिशा में प्रयास किए जाएंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मेलों की सांस्कृतिक धरोहरों को बचाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। उत्तराखण्ड में गौचर एवं जौलजीवी मेला अंतर्राष्ट्रीय महत्व के मेले हैं। कैम्पटी क्षेत्र पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण क्षेत्र है। राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। बागवानी एवं जल विद्युत परियोजनाओं के क्षेत्र में भी राज्य में अनेक संभावनाएं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड को 2025 तक देश के श्रेष्ठ राज्यों की श्रेणी में लाने के लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। सभी प्रदेशवासियों के सहयोग से उत्तराखण्ड को हर क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि लाल बहादुर शास्त्री अकादमी में आयोजित चिंतन शिविर में उत्तराखंड को देश का अग्रणी राज्य बनाने की दिशा में मंथन चल रहा है। अधिकारियों को इसके लिए सुनियोजित योजना बनाने के लिए कहा गया है। अन्य राज्यों में जो अच्छे कार्य हो रहे हैं, अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि उत्तराखण्ड की भौगोलिक परिस्थितियों के हिसाब से ऐसे कुछ कार्यों को राज्य में बेस्ट प्रैक्टिस के रूप में अपनाया जाय। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश हर क्षेत्र में तेजी से प्रगति कर रहा है। वैश्विक स्तर पर भारत का मान, सम्मान एवं स्वाभिमान बढ़ा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाबा केदार की भूमि से कहा कि 21वीं सदी का तीसरा दशक उत्तराखंड का दशक होगा। इस बार चारधाम यात्रा में लगभग 50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। इस अवसर पर विधायक प्रीतम सिंह पंवार, क्रीडा समारोह के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह पंवार, मसूरी के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मनमोहन सिंह मल, ब्लॉक प्रमुख जौनपुर सीता रावत, क्रीडा समिति के संयोजक राजेश नौटियाल, जिलाधिकारी टिहरी सौरभ गहरवार, एसएसपी नवनीत सिंह भुल्लर एवं अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

टीएचडीसीआईएल ने राइज इन प्रदर्शनी गाजियाबाद में स्टाल का किया प्रदर्शन

ऋषिकेश,गढ़ संवेदना न्यूज। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड द्वारा 22 से 24 नवंबर तक गाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश में आज़ादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित राईज इन उत्तर प्रदेश प्रदर्शनी भाग लिया गया। उक्त प्रदशनी में टीएचडीसीआईएल के केन्द्रीय संचार विभाग, ऋषिकेश द्वारा एक आकर्षक स्टाल प्रदर्शित किया गया। टीएचडीसीआईएल भारत की अग्रणी विद्युत उत्पादन कंपनियों में से एक है। टिहरी बांध एवं एचपीपी (1000मेगावाट), कोटेश्वर एचईपी(400 मेगावाट), गुजरात के पाटन में 50 मेगावाट एवं द्वारका में 63 मेगावाट की पवन विद्युत परियोजनाओं, उत्तर प्रदेश के झांसी में 24 मेगावाट की ढुकवां लघु जल विद्युत परियोजना एवं कासरगॉड केरल में 50 मेगावाट की सौर परियोजना के साथ टीएचडीसीआईएल की कुल संस्थापित क्षमता 1587 मेगावाट हो गई है।

डी.पी.एल. कप विजेता ऊर्जा पावर पैंथर्स की टीम ने की खेल मंत्री से मुलाकात

देहरादून,गढ़ संवेदना न्यूज। डिपार्टमेंटल क्रिकेट डेवलपमेंट कमेटी ऑफ उत्तराखंड द्वारा आयोजित प्रथम डिपार्टमेंटल प्रीमियर लीग के विजेता ऊर्जा पावर पैंथर्स की टीम ने आज खेल मंत्री रेखा आर्य से शिष्टाचार भेंट कर प्रतियोगिता के आयोजन में उनके सहयोग हेतु आभार प्रकट किया। इस अवसर पर खेल मंत्री रेखा आर्य ने पावर पैंथर्स की टीम को प्रथम डीपीएल कप जीतने पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी। साथ ही रेखा आर्य ने यह आश्वासन भी दिया कि भविष्य में इस प्रकार के आयोजनों में उनके स्तर से हर संभव सहायता दी जाएगी। इस अवसर पर ऊर्जा पावर पैंथर्स की टीम के सदस्यों ने खेल मंत्री को भरोसा दिलाया कि वे उत्तराखंड की नई पीढ़ी को खेलों के क्षेत्र में और आगे बढ़ाने एवं छिपी हुई प्रतिभाओं को तराशने में खेल विभाग का हर संभव सहयोग करेंगे। खेल मंत्री से भेंट करने वालों में ऊर्जा पावर पैंथर्स क्रिकेट टीम के कप्तान किरण सिंह, विमल डबराल, मुकेश कुमार, दीपक मधवाल, गौरव घिल्डियाल दारा, रवि बृजमोहन आदि शामिल थे।

हरीश रावत की हरिद्वार जोड़ो यात्रा भाजपा के लिए खतरे की घंटीः धीरेंद्र प्रताप

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि आज से हरिद्वार में उदलहेड़ी से उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में हुई भारत जोड़ो हरिद्वार जिंदाबाद यात्रा भाजपा के लिए खतरे की घंटी है है। धीरेंद्र प्रताप जो आज कांग्रेस अध्यक्ष करण माहरा, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव काजी निजामुद्दीन विधायक विजय जाति ,ममता राकेश, अनुपमा रावत, रवि बहादुर, फुरकान अहमद, विजय सारस्वत, नवीन जोशी, हाजी राव मुन्ना राजीव चौधरी मकबूल कुरेशी पीके अग्रवाल आदि नेताओं के साथ इस यात्रा में शरीक हुए कहा कि जिस तरह से भारी भीड़ इस यात्रा में जुटी और रास्ते में जगह-जगह गांव में इस यात्रा का जनता द्वारा स्वागत हुआ उसे स्पष्ट है जनता भाजपा राज से आजिज आ चुकी है और जब भी चुनाव होंगे भाजपा का राज्य से सूपड़ा साफ हो जाएगा। धीरेंद्र प्रताप ने कहा हरीश रावत आज भी जनता के आकर्षण के केंद्र बने हुए हैं उन्होंने कल देहरादून में कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह की यात्रा को भी ऐतिहासिक बताया और कहा कांग्रेस की राज्य भर में लहर चल रही है और लोकसभा चुनाव भाजपा के लिए बाटरलू साबित होंगे।

Featured Post

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

नई दिल्ली, गढ़ संवेदना न्यूज: कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ़ इंडिया नई दिल्ली में नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम द्वारा आयोजित नेशनल सेमिनार में देश के...