Sunday, 25 July 2021

मन की बात में पीएम ने हैंडलूम एवं अन्य स्थानीय उत्पादों की खरीद पर दिया बल

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना। उन्होंने कहा कि मन की बात कार्यक्रम लोगों को नए कार्य करने एवं समाज के लिए अनेक कार्य करने की प्रेरणा देता है। इस कार्यक्रम के माध्यम से देश में अनेक क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वालों से लोगों को भी प्रेरणा मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मन की बात के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वोकल फॉर लोकल को आगे बढ़ाने, ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए हैंडलूम एवं अन्य स्थानीय उत्पादों की खरीद पर बल दिया। 15 अगस्त 2022 को देश आजादी के 75 वर्ष पूर्ण कर रहा है। आजादी के 75 वर्ष के उपलक्ष्य में 12 मार्च से देश में अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। अमृत महोत्सव सम्पूर्ण देशवासियों का कार्यक्रम है। यह समय देश की आजादी के लिए बलिदान देने वाले वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देने का है। प्रधानमंत्री जी ने मन की बात कार्यक्रम में कारगिल विजय दिवस का भी जिक्र किया। कारगिल विजय हमारे सैनिकों के शौर्य एवं पराक्रम का जीता जागता उदाहरण है। कारगिल युद्ध में उत्तराखंड के अनेक वीर जवानों ने देश की रक्षा के लिए अपनी शहादत दी। 26 जुलाई 1999 का दिन भारत के इतिहास में एक महत्वपूर्ण दिन है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि देश को आगे बढ़ाने में युवाओं की अहम भूमिका होती है। प्रधानमंत्री जी ने मन की बात कार्यक्रम में इस बात का भी जिक्र किया कि इस कार्यक्रम के माध्यम से अधिकांश सुझाव युवाओं के प्राप्त हो रहे हैं। युवाओं की सक्रियता एवं सुझावों की वजह से यह कार्यक्रम काफी सफल रहा है। टोक्यो ओलंपिक में प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों का हौंसला बढ़ाने के लिए भी मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री जी का आभार व्यक्त किया। प्रधानमंत्री की अपील पर मुख्यमंत्री ने सभी को कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है।

शेयर बाजार में अच्छा रिटर्न दिला सकती है कैप्टन पॉलीप्लास्ट ब्रोकरेज फर्म

देहरादून। बीएसई पर लिस्टेड कैप्टन पॉलीप्लास्ट के प्रोडक्ट्स की बढ़ती डिमांड के चलते सालाना आधार पर ऑपरेटिंग रेवेन्यू 64.3 करोड़ रुपए रहा है। वहीं, कंपनी के ईबीआईटीडीए में 3 प्रतिशत का उछाल आया है। सालाना आधार पर ईबीआईटीडीए 7.4 करोड़ रुपए रहा। कंपनी के मुनाफे में भी 12.5 प्रतिशत का उछाल देखने को मिला है। टैक्स चुकाने के बाद कंपनी का प्रॉफिट 2.6 करोड़ रुपए रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, सीपीएल को कोर बिजनेस के अलावा अपने कॉम्प्लीमेंट्री प्रोडक्ट्स से भी अच्छी ग्रोथ की उम्मीद है। कंपनी का कोर बिजनेस माइक्रो इरिगेशन प्रोडक्ट्स का है। इससे कंपनी को 95 फीसदी रेवेन्यू होता है। कॉम्प्लीमेंट्री प्रोडक्ट्स का भी रेवेन्यू शेयरिंग बढ़ने की उम्मीद है। इनमें सोलल इक्विपमेंट्स, वॉटर सॉल्यूबल फर्टिलाइजर जैसे प्रोडक्ट शामिल हैं। कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर रमेशा खिछाड़िया के मुताबिक, सोलर ईपीसी सेगमेंट में टिकाऊ प्रोडक्ट्स टेक्नोलॉजी पर कंपनी का फोकस है और 2022 तक भारत में रिन्यूबल एनर्जी कैपेसिटी को 175 गीगावॉट तक बढ़ाने के लिए सरकारी अभियान में भाग लेने में मदद करेगा। सरकार के रिन्यूऐबल एनर्जी और ड्रिप इरिगेशन में जोर से कंपनी को भी आने वाले कुछ सालों में अच्छी ग्रोथ की उम्मीद है।

गीताराम जायसवाल कांग्रेस के प्रदेश सचिव नियुक्त

देहरादून। अनुसूचित जाति जनजाति विकास परिषद उत्तराखंड के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गीताराम जायसवाल को कांग्रेस पार्टी का प्रदेश सचिव बनाया गया है। इसके लिए गीताराम जायसवाल ने पार्टी नेतृत्व का आभार प्रकट किया। जायसवाल ने कहा कि पार्टी नेतृत्व द्वारा उन्हें जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उसका वे बखूबी निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस पार्टी की मजबूती की दिशा में कार्य करेंगे। कहा कि नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि की उम्मीदों पर वे खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे। अनुसूचित जाति जनजाति के प्रदेश महासचिव संजय कुमार उपाध्याय, मकान लाल बेसरियाल, टिहरी जिला अध्यक्ष कवीन्द्र आनंद, रोशनी जन सेवा संस्था के पदाधिकारियों, कृष्णा चैहान, जोशना रावत, निम्मी सिंह, बिजेन्द्र सिंह, जसवंत सिंह, लेखराज, दिनेश कुमार, संगीता सैनी, विवेक कुमार पेंगोवल, अमित धीमान, डॉ अरविंद चैधरी, गुड्डी चैधरी, पूनम देवी आदि ने उन्हें प्रदेश सचिव की जिम्मेदारी मिलने पर बधाई दी है।

वेहलम ओल्ड बॉयज एसोसिएशन ने गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा को एम्बुलेंस भेंट की

देहरादून। वेहलम ओल्ड बॉयज एल्युमनी एसोसिएशन ने गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा को एक नई टाटा की एम्बुलेंस भेंट की ताकि कोविड-19 के पैशेंट एवं अन्य जरूरतमंदों की सेवा और बढ़-चढ़कर की जा सकें। द वेहलम ओल्ड बॉयज एल्युमनी एसोसिएशन ने गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा को टाटा की सभी जरुरी उपकरणों से सुसज्जित एम्बुलेंस प्रदान की ताकि कोविड संक्रमित रोगियों एवं अन्य जरूरतमंदों को सहयोग प्रदान कर सकें। गुरुद्वारा श्री गुरु नानक निवास, सुभाष रोड पर आयोजित कार्यक्रम की मुख्यातिथि माया नोरूला, पूर्व शिक्षक वेहलम स्कूल वर्तमान में होपटाउन की प्रधानाचार्य ने गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा के प्रधान स. गुरबक्श सिंह राजन को एम्बुलेंस की चाबियां वेलहम स्कूल ओल्ड बॉयज के सदस्यों एवं गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा के सदस्यों की उपस्थिति में सौंपी। एसोसिएशन के अध्यक्ष स. गुरजोत सिंह ने कहा की एसोसिएशन 1984 में स्थापित की गई थीस तब से समाजिक कार्यों में अपना योगदान देती आ रही है यह दान जनता की भलाई के लिये कोविड-19 महामारी को हराने में सहयोग करेगा, ऎसे कार्यक्रमों से पुराने विद्यार्थियों को आपस में जुड़ने को मौका मिलता है स दून इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन देविन्दर सिंह मान ने गुरुद्वारा सिंह सभा द्वारा किये जा रहे समाजिक कार्यों की जानकारी दी स महासचिव स. गुलजार सिंह ने आये हुए मेहमानों का धन्यवाद किया, मंच का संचालन सेवा सिंह मठारु ने किया स इस अवसर पर गुरुद्वारा सिंह सभा के अध्यक्ष गुरबक्श सिंह राजन, महासचिव गुलजार सिंह, उपाध्यक्ष चरणजीत सिंह, सचिव अमरजीत सिंह छाबड़ा, मनजीत सिंह, सतनाम सिंह, अमरजीत सिंह नॉटी, अमरजीत सिंह चिट्टा,अनुराग चड्ढा, संदीप अग्रवाल, पवित्र अरोड़ा, गुरप्रीत सिंह गंभीर, राजिंदर वर्मा, प्रशांत कोचर, देविन्दर सिंह भसीन आदि उपस्थित थे।

श्रीदेव सुमन की पुण्यतिथि किया पौधारोपण

देहरादून। राजशाही के विरोध में अपने जीवन को कुर्बान करने वाले श्रीदेव सुमन की पुण्यतिथि पर आशिमा विहार में कपूर, अमरूद, कागजिनीबू व तेजपत्ता के पौधों का रोपण पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी के नेतृत्व में इंटिलियो वैलफेयर फाउंडेशन के तहत किया गया। आईएनटी ग्रुप ऑस्ट्रेलिया के अध्यक्ष भुवन भट्ट की अध्यक्षता में वेबिनार का भी आयोजन किया गया। भुवन भट्ट ने कहा उत्तराखंड की विषम भौगोलिक परिस्थितिया हैं इन परिस्थितियों को दरकिनार करते हुए घर घर के बच्चे को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ना हमारी प्राथमिकता होगी जिसके लिए हम एजुकेयर एप लाये हैं इस एप के माध्यम से बच्चे जब चाहे अपनी पढ़ाई कर सकते हैं जो निःशुल्क एप हैं और एक से 12 तक के बच्चे का कोर्स इसमें हैं अभी इसमें उत्तराखंड व एनसीइआरटी बोर्ड सम्मलित किये हैं आनेवाले समय में इस एप में अन्य बोर्डों का विस्तार भी किया जाएगा। पर्यावरणविद् वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद सोनी ने कहा हर बच्चे को अच्छी शिक्षा देने के साथ एक अच्छा वातावरण भी बनाना होगा जिसके के लिए पौधारोपण जरूरी हैं और अपने यादगार पलो के उपहार में एक पौधा धरा के सृगार के लिए जरूर लगाएं। पौधारोपण में रामचन्द्र यादव, विशम्बर सिंह, नकुल, भारती, नमिता यादव, विद्या देवी, मोहनराम आर्य, डॉ मदनमोहन नोडियाल, भानु आर्य आदि।

नदी में गिरी गौमाता को निकालकर बचाई जान

देहरादून। दून ऐनिमल वेलफेयर संस्था को सूचना मिल्ली की डोईवाला क्षेत्र में नदी में एक गाय गिर गयी, जिसकी हालत बहुत दयनीय है। संस्था द्वारा टीम को द्वारा तुरंत मदद के लिए भेजा गया। लगभग एक घंटे की कोशिश के बाद सफलतापूर्वक गाय को सुरक्षित बाहर निकाला गया। तुरंत उपचार देकर गौशाला में आगे के उपचार एवं जीवन यापन के लिए भेजा गया। संस्था के संस्थापक आशु अरोरा ने बताया बारिश का सीजन आ गया है। इस सीजन में पशुआंे के बीमार होने की तादाद बहुत ज्यादा होने लगती है। हमारे द्वारा संचालित सभी गौशालाएं इन दिनों भर जाती हंै क्योंकि रोजाना 5-7 पशु इस तरह के गौशाला आते हैं जिनकी हालत बहुत दयनीय होती है।

बलिदान दिवस पर याद किए गए टिहरी जनक्रांति के महानायक श्रीदेव सुमन

देहरादून। अमर शहीद श्रीदेव सुमन के बलिदान दिवस पर टिहरी मूल विस्थापित संघर्ष समिति द्वारा सामुदायिक केंद्र बंजारावाला देहरादून में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में वक्ताओं ने उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए पहाड़ के पहाड़ से प्रश्नों पर विमर्श किया। समिति अध्यक्ष राजेंद्र सिंह असवाल ने श्रीदेव सुमन को स्मरण करते हुए कहा कि राज्य बनने के कितने वर्षों बाद भी श्रीदेव सुमन के विचारों के अनुरूप उत्तराखंड नहीं बन पाया बल्कि यहां के निवासियों का निरंतर पलायन इस सीमांत क्षेत्र के लिए बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है, जिस पर आयोग भी बने, बात भी हुई, परंतु सरकारंे यहां के मूल निवासी को शिक्षा, चिकित्सा जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा पाई। वरिष्ठ पत्रकार राजीव उनियाल ने शहीद श्रीदेव सुमन के भारत की आजादी एवं टिहरी क्षेत्र को सामंत शाही से आजादी दिलाने के योगदान को याद करते हुए कहा कि यह उन्हीं की पीढ़ी के संघर्ष और बलिदान के कारण हो पाया कि हम आजादी की सांस ले पाए वरना राजशाही ने तो प्रजा के लिए शिक्षा तक के द्वार बंद कर रखे थे शिक्षा के लिए उनकी पीढ़ी को बनारस, ऋषिकेश, हरिद्वार और लाहौर तक जाना पड़ा। राजशाही में जीवन की मूलभूत आवश्यकताओं के लिए भी प्रजा को संघर्ष करना पड़ता था। उत्तराखंड के संदर्भ में बोलते हुए वरिष्ठ पत्रकार ने कहा कि हमने राज्य बनाने के लिए संघर्ष किया सफल भी हुए पर राज्य को चलाने की जिम्मेदारी आंदोलनकारियों ने नहीं ली, नतीजा सबके सामने है कि राज्य बनने के 21 वर्ष बाद भी हमें भू कानून के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। पहाड़ी प्रजा मंडल के अध्यक्ष वीर सिंह पंवार ने कहा कि बलिदानी श्रीदेव सुमन को सच्ची श्रद्धांजलि होगी कि हम अपनी आंचलिकता अर्थात अपनी भाषा, अपना सिनेमा एवं अपनी संस्कृति को निरंतर मजबूत करें, दूसरे शहरों में जाकर नौकरी करने के बजाए उत्तराखंड में ही रहकर स्वरोजगार को प्राथमिकता दें। कार्यक्रम का संचालन करते हुए पत्रकार गिरिराज उनियाल ने श्रीदेव सुमन के जीवन एवं उनके संघर्ष से जुड़े संस्मरण श्रोताओं से साझा किए। कार्यक्रम को वीरेंद्र दत्त पैन्यूली एवं गणेश उनियाल ने भी संबोधित किया। इस मौके पर राजेंद्र राणा, हरीश उनियाल, राजेंद्र चैहान, पंत ,विनोद रावत, कुलदीप पवार, जगदीश, निर्मल जगूड़ी, जगदंबा नौटियाल, अनुराग पंत, कलम सिंह मियां, नवीन नौटियाल, प्रसन्न लखेड़ा, उमा पंवार, मंजू रमोला आदि उपस्थित रहे।

Featured Post

मन की बात में पीएम ने हैंडलूम एवं अन्य स्थानीय उत्पादों की खरीद पर दिया बल

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना। उन्होंने कहा कि मन की बात कार्यक्रम ...