चिह्नित आंदोलनकारियों ने सरकार को बताया आंदोलनकारी विरोधी

पौड़ी। चिह्नित राज्य आंदोलनकारी समिति ने राज्य सरकार को राज्य निर्माण आंदोलनकारी विरोधी सरकार बताया है। समिति ने नए साल में सरकार के खिलाफ उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है। समिति की महिला प्रकोष्ठ की केंद्रीय अध्यक्ष सावित्री नेगी ने कहा है कि पिछले तीन सालों से आंदोलनकारी पेंशन, गैरसैंण राजधानी, आंदोलनकारियों का चिह्निकरण करने सहित विभिन्न समस्याओं के हल की गुहार लगा रहे है लेकिन सरकार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है। जिससे आंदोलनकारियों में सरकार के खिलाफ रोष बना हुआ है। कहा कि सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कभी भी राज्य आंदोलनकारियों की मांगों पर कोई ध्यान नहीं दिया। कहा कि सरकार के इस उदासीन रवैये से सभी में नाराजगी बनी हुई है। जिस तरह से झारखंड में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा उसी तरह से आने वाले विधानसभा चुनावों में इस सरकार को भी हार का मुह देखना पड़ेगा। कहा कि उच्चशिक्षा मंत्री ने राज्य आंदोलनकारियों को जल्द ही सीएम से मिलाने का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक इस ओर कोई कदम नहीं उठाए गए है। चेतावनी दी कि 12 जनवरी तक मांगों का हल नहीं होने पर उसके बाद प्रदेशभर में उग्र आंदोलन किया जाएगा।

---------------------------------------------------------------------

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग