बेटियां सृष्टि की निर्माताः एसडीएम अपूर्वा

देहरादून/कालसी। कालसी तहसील सभागार में सोमवार को बाल विकास विभाग की ओर से बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को घर-घर तक पहुंचाने के लिए जन आंदोलन की शुरुआत की गई। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर रही एसडीएम डा. अपूर्वा सिंह ने कहा कि बेटियां सृष्टि की निर्माता हैं।
बेटियां विभिन्न अवसरों पर बेटी, मां, दादी, नानी आदि के रूपों में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन करती हैं और समाज को आगे बढ़ाती हैं। एसडीएम ने कहा कि आज बेटियां समाज के हर क्षेत्र में आगे बढ़ कर भाग ले रही हैं, उनको समुचित शिक्षा दिलाना हर अभिभावक की जिम्मेदारी है। लेकिन, समाज में आज भी बेटियों के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार किया जाता है। बाल विकास विभाग परियोजना अधिकारी बडोला ने कहा कि बेटियों को देवी का दर्जा देने वाले समाज में ही उनके साथ दोयम दर्जे का व्यवहार समाज पर कलंक है। इस दौरान तहसीलदार शक्ति प्रसाद उनियाल, बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर बिंदु मौर्य, सीमा आर्य, अल्पना, रामो, सूरज, आशीष, शशी, भोपाल दास, जयपाल शर्मा, प्रदीप सिंह, सुगंधा बिष्ट, चमन सिंह, सूर्यपाल सिंह, डेविड मसीही, मुन्नाराम, सुनील आदि मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर