एसएसपी ने थाना प्रभारी व चैकी इंचार्ज को किया लाइन हाजिर

हरिद्वार। नरेंद्रनगर में तैनात चिकित्सक पर जानलेवा हमला और कार में तोड़फोड़ के मामले में एसएसपी ने कलियर थाना प्रभारी और धनौरी चैकी इंचार्ज को लाइन हाजिर किया है। दोनों अधिकारियों पर मामले में देरी और सही कार्रवाई नहीं करने पर गाज गिरी है। 

मोहनपुरा, प्रेमनगर, देहरादून निवासी जगदीश जोशी नरेंद्र नगर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक हैं। रविवार रात वह अपने चालक के साथ स्कार्पियों में सवार होकर धनौरी होते हुए ऋषिकेश जा रहे थे। रात करीब आठ बजे जैसे ही इनकी कार धनौरी पुल के पास पहुंची तो पीछे से दो बाइकों पर सवार होकर आए चार लोगों ने कार रुकवा दी। एक बाइक पर इनका परिचित संदीप कुमार था। जिसके साथ इनका विवाद है। आरोप है कि इन लोगों ने कार के रुकते ही चिकित्सक और चालक पर जानलेवा हमला कर दिया। इसके बाद कार में तोड़फोड़ करते हुए लूटपाट की कोशिश की। आरोपित हमलावर धमकी देकर फरार हो गए। पीड़ित ने धनौरी चैकी और कलियर पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने मामले को हमले में लिया। बताया जा रहा है कि चिकित्सक ने कलियर पुलिस को बताया था कि वह देहरादून के एक विधायक के रिश्तेदार भी हैं। इसके बावजूद पुलिस ने समय से कार्रवाई नही की। पुलिस ने इस मामले को मारपीट की धाराओं में दर्ज कर इस मामले को निपटा दिया।

सुबह इस मामले की जानकारी एसएसपी डी सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस को हुई तो पुलिस को कड़ी फटकार लगाई। एसएसपी ने थाना प्रभारी संतोष कुंवर और धनौरी चैकी इंचार्ज एनके बचकोटी को लाइन हाजिर कर दिया। संतोष कुंवर की जगह प्रकाश पोखरियाल को कलियर थाना प्रभारी बनाया गया है। एसएसपी ने बताया कि देरी और सही कार्रवाई नहीं करने पर दोनों को लाइन हाजिर किया है। एसएसपी की कार्रावाई से पुलिस विभाग में हड़कंप है।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर