जिलाधिकारी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का किया निरीक्षण 

नैनीताल। जिलाधिकारी सविन बंसल ने कस्बों के सरकारी अस्पतालों के साथ ही जिले के दूरदराज इलाकों मे संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के निरीक्षण का भी सिलसिला शुरू किया। जिसके तहत उन्होने गुरूवार को खैरना, गरमपानी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुचकर स्वास्थ्य सेवाआंे एवं व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जिलाधिकारी श्री बंसल के निरीक्षण के दौरान वहां तैनात स्टाफ मे हडकम्प मचा रहा, लगभग 2 घंटे स्वास्थ्य केन्द्र मे रहकर उन्होने वहां की व्यवस्थायें परखी।  जिलाधिकारी ने ओपीडी, एक्सरे कक्ष,पैथलैब, अल्ट्रासांउड कक्ष आदि का गहनता से निरीक्षण किया। चिकित्सालय का आवश्यक मरम्मत कार्य जो ग्रामीण अभियंत्रण के द्वारा किया जा रहा है मन्द गति  हो रहे कार्य पर उन्होने नाराजगी व्यक्त की। उन्होने मौके पर मौजूद उपजिलाधिकारी गौरव चटवाल को निर्देश दिये कि वह कार्यदायी संस्था से कार्य 15 फरवरी तक पूर्ण करायें।

जिलाधिकारी श्री बंसल ने बताया कि गरमपानी का चिकित्सालय दुर्गम पर्वतीय क्षेत्र में है तथा यह एक दुर्घटना सम्भावित जोन होने के कारण आये दिन भूस्खलन व अन्य कारणों से दुर्घटनायें होती रहती है ऐसे मे इस स्वास्थ्य केन्द्र की उपयोगिता बहुत अधिक है, ऐसे में सभी चिकित्सकीय सुविधायें आवश्यक दवायें स्वास्थ्य केन्द्र मे उपलब्ध रहनी चाहिए यह निर्देश उन्होेने मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भारती राणा को दिये। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य केन्द्र में स्थापित पैथोलाॅजी प्रयोगशाला तथा क्षयरोग  निदान प्रयोगशाला को फरवरी के अन्त तक क्रियाशील कर दिया जायेगा तथा इन दोनों प्रयोगशालाओं मे उपकरण आदि क्रय किये जाने के लिए एनएचएम से धन की व्यवस्था की जायेगी। उन्होने पैथोलाॅजी लैब मेें प्रयोगशाला सहायक की तैनाती अविलम्ब उपनल से किये जाने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये। उन्होने सीएमओ से कहा कि स्वास्थ्य केन्द्र के स्टाॅफ नर्स की तैनाती के लिए सचिव स्वास्थ्य को उनके ओर से पत्र प्रेषित किया जाए। उन्होने सीएमओ से यह भी कहा कि भवाली के स्वास्थ्य केन्द्र मे तैनात बालरोग विशेषज्ञ को सप्ताह मे दो दिन गरमपानी स्वास्थ्य केन्द्र मे कार्य करने के आदेश निर्गत करें। उन्होने स्वास्थ्य केन्द्र मे रैबीज के टीकों की निरंतर व्यवस्था बनाने को भी कहा। जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा देर सांय सामुदायिक स्वास्थ्य केेन्द्र सुयालबाडी का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण दौरान उप जिलाधिकारी गौरव चटवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भारती राणा, मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता,अधिशासी अभियन्ता ग्रामीण अभियंत्रण विनीत कुरील, जल संस्थान संतोष उपाध्याय. एमओआईसी डा0सतीश पंत, तहसीलदार नितेश डागर,हेम तिवारी आदि मौजूद थे।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर