केमिकल डिजास्टर से सम्बन्धित माॅक अभ्यास फरवरी में


 

देहरादून। राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण एवं उत्तराखण्ड आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के दिये गये निर्देशों के क्रम में जनपद देहरादून में औद्योगिक आपदाओं एवं भूकम्प के दृष्टिगत संवेदनशीलता को देखते हुए माह फरवरी में केमिकल डिजास्टर से सम्बन्धित एक माॅक अभ्यास प्रस्तावित है। उक्त के दृष्टिगत औद्योगिक रसायनों में किसी प्रकार के विस्फोट तथा भूकम्प आदि के प्रभाव में रासायनिक रिसाव के बाद जनहानि को रोकने तथा न्यून करने के लिए उद्योगों तथा प्रशासन की तैयारियों व रिस्पान्स सिस्टम को परखने के लिए माॅक अभ्यास किया जाना है।

जिसके सम्बन्ध में आज कलैक्टेªट सभागार में षासन द्वारा प्रस्तावित के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न की गयी। उक्त बैठक में जिसमें केमिकल डिजास्टर से सम्बन्धित प्रस्तावित माॅक अभ्यास से पूर्व तैयारियों से सम्बन्धित विस्तृत चर्चा की गयी, साथ ही बैठक में केमिकल डिजास्टर के दौरान उपलब्ध कराये जाने तथा जनपद स्तर पर बेहतर समन्वय स्थापित करने हेतुु उपस्थित उप निदेषक, फैक्टरी एवं बायलर, उत्तराखण्ड एवं विभिन्न फैक्टरी संचालको के प्रतिनिधियों को निर्देषित किया गया। शासन स्तर से उपस्थित आपदा स्पेशलिस्ट बी0बी0 गणनायक द्वारा केमिकल डिजास्टर की स्थिति में एम0ए0एच0 द्वारा स्थापित आई0आर0एस0 टीम के अनुसार राहत एवं बचाव सम्बन्धी किये जाने वाले कार्यो एवं दायित्वों से अवगत कराते हुए जिला प्रशासन से बेहतर समन्वय स्थापित के सम्बन्ध में विस्तृत रूप से जानकारी दी गयी।

------------------------------------------------------

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर