मैड के छात्रों ने रैफल होम में बुजुर्गों के साथ बिताया समय


देहरादून। देहरादून के शिक्षित छात्रों के संगठन मेकिंग ए डिफ्फरेंस बाई बींग दा डिफ्फरेंस (मैड) के स्वयंसेवकों के ने इस हफ्ते रैफल होम के बच्चों के साथ अपना समय व्यतीत किया। आम तौर पर शहर में सफाई एवं जागरूकता अभियान, वृक्षारोपण कार्यक्रम आदि चलाने वाले इन युवाओं ने इस बार एक मन को छूलेने वाले कार्यक्रम को आयोजित करने की ठानी। 

अपने साप्ताहिक कार्यक्रम के लिए छात्रों ने भूतपूर्व रैफल होम के प्राधिकारियों से अनुमति लेकर बच्चों के लिए ड्रॉयिंग व पेंटिंग कॉम्पीटिशन कराया द्य शहर भर के विभिन्न स्कूलों व कालेजों के करीब 30 छात्रों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया द्य छात्र पहले ऐश्ले हॉल के निकट एकत्रित हुए और फिर वहाँ से रैफल होम की ओर बढ़े। छात्रों ने रैफल होम में चित्रकला अभियान आयोजित किया व फिर बच्चों  को क्रिकेट इत्यादि खिलाया द्य बच्चों को झूला झूलते व खिलखिलाते देख स्वयंसेवकों को बहुत खुशी मिली। इस कार्यक्रम को रैफल होम के केयरटेकर ने पूरा समर्थन दिया और बताया की इतने खुश यह बच्चे पहले कभी नहीं हुए थे। आमतौर पर लोग यहाँ केवलदान देने की भावना से आते हैं परन्तु मैड यहाँ लगभग एक दर्जन कार्यक्रम चला चुका  है क्योंकि इन युवाओं का मानना है कि  इन लोगों को हमारी खोखली सहानुभूति से ज्यादा हमारे साथ की जरूरत है। बच्चों के साथ तीन घंटे व्यतीत करने के पश्चात मैड के युवा छात्रों ने अपने जेब खर्चे से खरीद कर बच्चों में चॉक्लेट बांटी व कार्यक्रम का अंत किया। इस अभियान में गायत्री, सम्मानिका रावत, सरयू, सारंग, अंशु यादव, कनिका, उन्नती, प्रदीप डोभाल, इन्दर बिष्ट, आदि शामिल थे।

----------------------------------------------------

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर