मुनस्यारी व धारचूला को विंटर गेम्स क्षेत्र घोषित करंे सरकारः मार्तोलिया   

देहरादून। उत्तराखण्ड में हिमपात का होना प्रकृति एंव मानव जीवन के लिए कल्याणकारी है। लेकिन सरकार उत्तराखण्ड में शीतकालीन पर्यटन को विकसित करने में नाकाम रही है, सरकार मुनस्यारी व धारचूला को विंटर स्नो गेम्स क्षेत्र घोषित करें।

पे्रस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान यह बात आज उत्तराखण्ड जागरूक नागरिक संगठन के प्रदेश संयोजक व जिला पचंायत सदस्य जगत मार्तोलिया द्वारा कही गयी। उन्होंने कहा कि हिमपात कब पहाड़वासियों के लिए रोजगार रूपी उपहार बनेगा। सरकार से इस सवाल को पूछने व सुझाव देने के लिए हमारा दल मनुस्यारी से राजधानी दून आया है, जो मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव से इस मामले में मुलाकात करेगा। उन्हांेने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य को बने 20 साल हो गये है लेकिन हम हिमपात को हिम उत्सव में नहीं बदल सके। बताया कि हिमपात होने पर देशी विदेशी सैलानी उत्तराखण्ड आते है लेकिन हम इसे रोजगार नहीं बना सके। उन्होने कहा कि मुनस्यारी में इन दिनों 4 से 5 फीट बर्फ जमा है और यह लगभग फरवरी तक रहेगी जिसमें स्नो स्कीइंग सहित अन्य हिम क्रीड़ाएं की जा सकती है। जिससे राज्य के लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर