रानीखेत में बृहद रोजगार मेले का आयोजन 15 फरवरी को 

अल्मोड़ा। जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया निर्देशानुसार 15 फरवरी को राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय चिलियानौला रानीखेत में बृहद रोजगार मेला का आयोजन किया जा रहा है। इस बात की जानकारी देते हुये क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी ए0एस0बिष्ट ने बताया कि इस रोजगार मेले में 15 से 20 कम्पनियों द्वारा लगभग 2000 रिक्तियों के साथ प्रतिभाग किया जाना है। जिसमंे जनपद के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को कम्पनी में लिखित एवं साक्षात्कार के माध्यम से सीधी नियुक्ति तथा कौशल प्रशिक्षण एवं आॅन जाॅब प्रशिक्षण में रोजगार के अवसर प्रदान किया जाना है।

उन्होंने बताया कि जनपद के समस्त विकास खण्डों में क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी के नेतृत्व में रोजगार मेले से पूर्व कैरियर वार्तायें, मोबलाईजेशन एवं प्रचार-प्रसार कार्यक्रम निर्धारित किया गया हैै। कैरियर वार्तायें, मोबलाईजेशन एवं प्रचार-प्रसार कार्यक्रम विकास खण्ड चैखुटिया व द्वाराहाट में दिनांक 01 फरवरी, 2020 को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक तथा द्वाराहाट में 02 बजे से 04 बजे तक, विकास खण्ड सल्ट में दिनांक 03 फरवरी, 2020 को प्रातः 11 बजे से 1 बजे तक, विकास खण्ड स्याल्दे में दिनांक 04 फरवरी, 2020 को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक तथा विकास खण्ड भिकियासैण में 1 बजे से 03 बजे तक, विकास खण्ड ताड़ीखेत मंे दिनांक 05 फरवरी, 2020 को प्रातः 11 बजे से 1 बजे तक, विकास खण्ड धौलादेवी में दिनांक 06 फरवरी, 2020 को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक तथा विकास खण्ड लमगड़ा में 02 बजे से 04 बजे तक, विकास खण्ड ताकुला में दिनांक 07 फरवरी 2020 को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक तथा हवालबाग में 02 बजे से 04 बजे तक एवं विकास खण्ड भैसियाछाना में दिनांक 10 फरवरी, 2020 को प्रातः 11 बजे से 1 बजे तक किया जायेगा। उन्होंने समस्त विकास खण्ड अधिकारी से अपील की है कि वे अपने स्तर से इस रोजगार मेले का प्रचार-प्रसार करे ताकि अधिक से अधिक इच्छुक बेरोजगार युवाओं द्वारा इस रोजगार में मेले में प्रतिभाग कर सके। उन्होंने मेले में प्रतिभाग करने  हेतु युवाओ को भारत सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार पंजीकृत होना आवश्यक है।  

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर