टीकेएम ने बीएस-6 अनुकूल इनोवा क्रिस्टा के लिए बुकिंग शुरू की

देहरादून। पर्यावरण को हरा-भरा और स्थायी रखने के लिए भारत सरकार के दर्शन के प्रति अपनी कटिबद्धता को मजबूत करते हुए टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने आज अपने बीएस 6 अनुकूल वाहन के रूपांतर के लिए बुकिंग शुरू की। यह इसकी प्रमुख एमपीवी इनोवा क्रिस्टा के लिए है। बीएस 6 अनुकूल इनोवा क्रिस्टा के पेट्रल और डीजल रूपांतर मैनुअल और ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन रूपांतर में उपलब्ध होंगे। इनोवा क्रिस्टा को 2016 में पेश किया गया था और तब से यह एमपीवी वर्ग में निर्विवाद रूप ले अग्रणी है। इसे इसकी आरामदेह खासियतों, सुविधा और सहूलियत, शक्तिशाली प्रदर्शन, रख-रखाव में कम झंझट और खर्च तथा उच्च रीसेल मूल्य के लिए जाना जाता है। इस तरह, इससे गुणवत्ता, मजबूती और शक्तिशाली प्रदर्शन के टोयोटा के मशहूर वायदे और विश्वसनीयता के मशहूर वायदे (क्यूडीआर) की पूर्ति होती है।

इस घोषणा पर अपने विचार साझा करते हुए कंपनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सेल्स एंड सर्विस नवीन सोनी ने कहा, ‘‘सरकार ऑटो उद्योग और तेल उद्योग सबने मिलकर पूरी मेहनत से काम किया है ताकि बीएस6 उत्सर्जन नियमों के जमाने में पूरी प्रतिबद्धता के साथ रिकार्ड समय में शामिल हुआ जा सके। इन नियमों के तहत पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) 2.5 होना चाहिए और यह सभी कारों के लिए है। इसमें कार के आकार के साथ साथ-साथ सीएनजी, पेट्रोल या डीजल से चलने वाली सभी कारें शामिल हैं। टोयोटा में हम लोग भारतीय बाजार के लिए उन्नत और पर्यावरण अनुकूल प्रौद्योगिकी लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और हम अपने सघन प्रयासों को सरकारी नीतियों के पक्ष में झुका हुआ रखते हैं ताकि एक साफ और हरा-भरा कल तैयार किया जा सके। पेश किए जाने के बाद से इनोवा क्रिस्टा ने अपने लिए जगह बनाई है और एमपीवी वर्ग में अग्रणी स्थिति कायम रखी है। अक्सर इसे भारत में एमपीवी वर्ग बनाने वाले के रूप में जाना जाता है। अभी भी यह देश में सबसे पसंदीदा एमपीवी है और इस वर्ग में इसकी हिस्सेदारी 40 प्रतिशत है। बीएस6 अनुकूल इनोवा क्रिस्टा पेश करना हमारे लिए वाकई एक गौरवशाली क्षण है। आज हम इसके लिए बुकिंग शुरू कर रहे हैं। आज यह पेशकश एक खास कीमत पर सीमित समय के लिए तथा सीमित लोगों के लिए है।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर