हिंदी की महत्ता के बारे में बताया

डोईवाला। एसआरएचयू में हिंदी पखवाड़ा सप्ताह में छात्र-छात्राओं को हिन्दी की महत्ता के बारे में बताया गया। इस दौरान नर्सिंग के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से दर्शकों का मन मोहा। शनिवार को स्वामीराम हिमालयन यूनिवर्सिटी के नर्सिंग कॉलेज सभागार में हिंदी पखवाड़ा सप्ताह के तहत कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रिसिंपल डॉ. संचिता पुगाजंडी ने कहा कि दुनिया के कई विकसित और विकासशील देश मातृभाषा की बदौलत ऊंचाइयों को छू रहे हैं। चीन और जापान इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। हिन्दी भाषा वर्षों से न केवल भारतीय संस्कृति के प्रसार का एक महत्वपूर्ण माध्यम रही है, बल्कि हिन्दी ने संस्कृतियों के आदान-प्रदान में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। लिटरेरी कमेटी की सदस्य प्रीति प्रभा ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि हमारा देश प्रगति के पथ पर अग्रसर है। पर यह भी सच है कि इस प्रगति का लाभ देश की आम जनता तक पूरी तरह पहुंच नहीं पा रहा है। जिससे पता चलता है कि हम अपनी मातृ भाषा का सही स्तर पर इस्तेमाल नहीं कर पाना है। इस दौरान नर्सिंग प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं ने पंजाबी, मराठी, बंगाली, गढ़वाली, हिन्दी, कुमाउनी लोग नृत्य से दर्शकों का मन मोहा। मौके पर प्रीति प्रभा, जयंत गिडियन, डा. अंचला, रश्मि आदि मौजूद थे।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर