महापुरुषों के आशीर्वाद से होती हैं सिद्धियों की प्राप्तिः स्वामी अवधेशानंद गिरि 


 

हरिद्वार। श्री सिद्धपीठ लाल माता वैष्णो देवी मंदिर की संस्थापिका पूज्य माता लाल देवी जी का पावन जन्मोत्सव युग पुरूष स्वामी परमानन्द गिरि जी महाराज के पावन सानिध्य में लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गा दास के संयोजन में आयोजित संत सम्मेलन में श्रद्धा और उत्साह के साथ मनाया गया। 

इस अवसर पर जूना पीठाधीश्वर आचार्य म.मं. स्वामी अवधेशानंद गिरि जी महाराज मुख्य अतिथि के रूप में पधारे, उन्होंने पूज्य लाल माता देवी को स्मरण करते हुए कहा कि पूज्य लाल माता देवी जी शक्ति स्वरूपा मां भगवती की परम साधक थी, अमृतसर, हरिद्वार में स्थापित मंदिर उनकी माता वैष्णो देवी के प्रति अगाध आस्था को प्रतिबिम्बित करते हैं। 

उन्होंने कहा कि महापुरुषों के मार्ग का अनुसरण करना चाहिए जो अपने गुरुजनों के मार्ग के अनुगामी बनते हैं उन्हें ही सिद्धियों की प्राप्ति होती हैं। निर्मल पीठाधीश्वर श्रीमहंत ज्ञान देव सिंह महाराज ने कहा कि पूज्य माता लाल देवी जी का हरिद्वार के संतजनांे के प्रति अगाध स्नेह और श्रद्धा भाव था वे अक्सर हरिद्वार से संतजनांे अमृतसर बुलाया करती थी वे करूणा, सेवा और सुमिरन की त्रिवेणी थी। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में श्रीराम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के ट्रस्टी युग पुरूष स्वामी परमानन्द गिरि महाराज ने कहा कि पूज्य माता लाल देवी जी शक्ति स्वरूपा मां भगवती की परम भक्त थी लेकिन भगवान कृष्ण उनके आराध्य थे जिनके गुणगान में उन्होंने अपना सारा जीवन समर्पित कर दिया। हरिद्वार में लाल माता वैष्णो देवी मंदिर स्थापित कर उन्होंने तीर्थनगरी की शोभा को बढ़ाया हैं। पावन जन्मोत्सव समारोह में पधारे संत महंतजनों का स्वागत करते हुए लाल माता वैष्णो देवी मंदिर के संचालक भक्त दुर्गादास ने कहा कि इस समारोह में अध्यात्म जगत की महान विभूतियों ने पधार कर पूज्य माता लाल देवी जी के प्रति जो सम्मान प्रकट किया हैं उससे समस्त श्रद्धालु भक्त अभिभूत है अपने गुरू के प्रति संतजनों के उद्गार श्रवण कर स्वयं को कृतार्थ महसूस कर रहे हैं। इस अवसर पर संत समाज ने युग पुरूष स्वामी परमानन्द गिरि जी महाराज को श्रीराम मंदिर निर्माण ट्रस्ट का हरिद्वार से ट्रस्टी बनने पर बधाई देते हुए प्रसन्नता प्रकट की। समारोह में म.मं. स्वामी अर्जुन पुरी महाराज, म.मं. स्वामी प्रेमानन्द महाराज, म.मं. स्वामी ज्योतिर्मया नंद, म.मं. स्वामी अनंतानन्द, भारत माता मंदिर के मंहत ललितानन्द गिरि, श्रीमहंत देवानन्द सरस्वती, म. ज्ञानानंद शास्त्री, कोठारी महंत जसविन्दर सिंह, महंत जगजीत सिंह, म. दुर्गादास, स्वामी ऋषिश्वरानंद, स्वामी सतपाल ब्रह्मचारी, स्वामी स्वयंमानंद महाराज, महंत कमल दास, भारत माता मंदिर जनहित, समन्वय सेवा ट्रस्ट के मुख्य न्यासी आईडी शर्मा शास्त्री, महंत मोहन सिंह, महंत रविदेव शास्त्री, आचार्य हरिहरानन्द, महंत दिनेश दास, महंत केशवानंद, वरिष्ठ समाजसेवी ब्रजभूषण विधार्थी, पार्षद अनिरूद्ध भाटी, अनिल मिश्रा, विनीत जौली, गिरिधारीलाल चंदवानी, गंगा माता आई हास्पिटल के संस्थापक ट्रस्टी ओपी बंसल, सचिव सुरेश गोयल, गीता कुटीर तपोवन के प्रबंधक शिवदास दूबे, समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा, राहुल खत्री, मेयर प्रतिनिधि अशोक शर्मा, देवेश गौतम, आकाश भाटी सहित विशिष्ट अतिथि शामिल हुए। समारोह का संचालन वरिष्ठ समाजसेवी संजय वर्मा ने किया। इस अवसर पर अमृतसर, दिल्ली, रूड़की, से पूज्य माता लाल देवी जी की संगत बड़ी संख्या में शामिल हुई रात्रि में भगवती जागरण का आयोजन किया गया जिसमें रूड़की, हरिद्वार, दिल्ली के कलाकरांे ने महामाई का गुणगान किया।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर