शीशमबाड़ा प्लांट अन्यत्र शिफ्ट न किए जाने से क्षेत्रवासियों में रोष 

देहरादून। शीशमबाड़ा प्लांट को अन्यत्र शिफ्ट न करने से ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सरकार प्लांट के सुधारीकरण के नाम पर करोड़ों रुपये एक निजी कंपनी को दे रही है। लेकिन कंपनी प्लांट को मानकों के अनुरूप बनाने में पूरी तरह से विफल रही है। ऐसे में सरकार प्लांट को न हटाकर जहां करोड़ों रुपये कंपनी पर लुटा रही है, वहीं स्थानीय लोगों को पलायन को मजबूर कर रही है। शीशमबाड़ा प्लांट के खिलाफ ग्रामीणों का धरना लगातार जारी है। लोगों का कहना है कि सरकार प्लांट को हटाने के बजाय प्लांट में सुधार लाने की बात कर रही है। लेकिन प्लांट में अब तक कोई सुधार नहीं हो रहा है। प्लांट से निकलने वाली जहरीली खतरनाक हवा से जानलेवा बीमारियां फैल रही हैं। सरकार यदि प्लांट नहीं हटाती तो लोगों को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ेगा। ग्रामीणो ने सरकार से प्लांट को तत्काल हटाने की मांग की है। धरना प्रदर्शन करने वालों में विनोद चैहान, एमएस कटारिया, राजेश शर्मा, गणेश रतूड़ी, रेखा भट्ट, रेवा देवी, सुनील शर्मा, राहुल कुकरेती, अहमद, नीलम थापा, पूनम पंवार ,दीपा जोशी, नीति पंवार, नीमा जोशी, सुमित्रा रावत, कमला नेगी, प्रेम सिंह नेगी, जितेंद्र गुप्ता, शशि कुमार, मनीष झा, सीएम जोशी, आशा मैन्दोला, सपना शर्मा, आशा रावत, बीना बमराडा, कुसुम भट्ट, निरंजन चैहान आदि शामिल रहे।

--------------------------------------------------------

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर