टीएचडीसीआईएल में अंतर केन्द्रीय विद्युत क्षेत्र उपक्रमों की टेबल टेनिस प्रतियोगिता का उद्घाटन


ऋषिकेश। टीएचडीसीआईएल में अंतर केन्द्रीय विद्युत क्षेत्र उपक्रमों की टेबल टेनिस प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ। मुख्य अतिथि विजय गोयल निदेशक (कार्मिक) टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) ने पाॅवर स्पोटर्स कन्ट्रोल बोर्ड विद्युत मंत्रालय के तत्वावधान में 22वीं अंतर केद्रींय विद्युत क्षेत्र उपक्रमों की टेबल टेनिस टूर्नामेंट का उद्धाटन किया। श्री गोयल ने पाॅवर स्पोटर्स कन्ट्रोल बोर्ड का ध्वज फहराया व टूर्नामेंट के शुभारम्भ की विधिवत घोषणा करने के साथ ही खिलाडियों को खेल भावना की शपथ दिलाई तथा उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आप सभी से आहवान करना भी चाहूंगा कि हम सब मिलकर भारत सरकार के खेलों इंडिया कार्यक्रम को आगे बढाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाऐं। इसके साथ ही रायवाला के आर्मी बैंड द्वारा मार्च पास्ट भी किया गया।


इस अवसर पर कुमार शरद, महाप्रबन्धक (सतर्कता), एन.के. प्रसाद, अपर महाप्रबन्धक (का.एवं प्रशा.), डी.एस. गुसांई, अपर महाप्रबन्धक (सतर्कता), डाॅ. ए.एन. त्रिपाठी, उप महाप्रबन्धक (कार्मिक) मुकेश वर्मा, उप महाप्रबन्धक (कार्मिक), ईश्वरदत्त तिग्गा, उप महाप्रबन्धक (कार्मिक) एवं दिलीप कुमार द्विवेदी, प्रबन्धक (कार्मिक) उपस्थित रहे। टूर्नामेंट के आयोजक श्री प्रसाद ने स्वागत संबोधन प्रस्तुत किया। उल्लेखनीय है कि 25 से 28 फरवरी तक चलने वाली इस टूनामेंट में विद्युत मंत्रालय भारत सरकार सहित कुल 10 टीमें प्रतिभाग कर रही है जिनका विवरण इस प्रकार हैः विद्युत मंत्रालय,  एनएचपीसीए पावर ग्रिड काॅरपोरेशन आॅफ इण्डिया लिमिटेड, भाखडा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड, पाॅवर फाईनंेस कॅारपोरेशन, के्रदªीय विद्युत प्राधिकरण, पोस्को, सतलुज जल विद्युत निगम लि0, दामोदर वैली काॅरपोरेशन, तथा आयोजक टीम – टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, उत्तराखंड टेबल टेनिस फेडरेशन से राष्ट्रीय कोच एवं चयनकर्ता, भारतीय टेबल टेनिस टीम के मैच रैफरी व अन्य दस सदस्य टूर्नामेंट के दौरान शामिल रहेंगे। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के सामुदायिक भवन में आयोजित टूर्नामेंट के पहले दिन 25 फरवरी को कुल 20 मैच खेले गये।


Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर