कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की आंदोलन की चेतावनी कांग्रेस की हताशा को दर्शाताः मुन्ना सिंह चैहान  

देहरादून। भाजपा के मुख्य प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना सिंह चैहान ने कहा कि कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने आज अपनी प्रेस वार्ता में जो बातें कही वह कांग्रेस की हताशा को दर्शाता है। जब कांग्रेस आंदोलन की बात करती है तो कांग्रेस पलटकर यह जरूर देखले कि जो परिवर्तन यात्रा कांग्रेस ने चकराता से प्रारंभ की उसने विकासनगर पहुँचने तक दम तोड़ दिया था। यही हस्र उनकी इस यात्रा का होने वाला है। कोरोना महामारी के इस दौर में कांग्रेस हरसंभव प्रयास कर रही है कि अफवाहें फैलाकर लोगों को गुमराह किया जाए पहले तो कांग्रेस अपने किसी ऐप के प्रचार प्रसार करते हुए कहती रही कि हमारे पास 15000 प्रवासियों की सूची है लेकिन जब प्रदेश सरकार ने अभी तक 2 लाख प्रवासियों को लाने का काम भी कर दिया तथा लगभग 5 लाख तक का रजिस्ट्रेशन हो गया तो कांग्रेस प्रदेश सरकार व मुख्यमंत्री की सराहना करने की बजाए यह कह रही है कि यह काम हमारे कारण हुआ है।

 इससे बड़ी बचकाना बात और क्या हो सकती है। प्रदेश सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं को जिस जबर्दस्त तरीके से बढ़ाने का काम किया उसी का नतीजा है कि बड़े पैमाने पर संक्रमित प्रवासियों को प्रदेश में आने के बावजूद अभी तक जो 2-3 मौतें हुई उसे भी चिकित्सक कोरोना से हुई मौत परिभाषित नहीं करते है और देश में इस दृष्टि से उतराखंड शानदार प्रदर्शन करने वाले राज्यों में है परंतु कांग्रेस मे इतना नैतिक साहस भी नहीं है कि वह राज्य सरकार की इस उपलब्धि की सराहना करती । इतना ही नहीं मैने आज से लगभग 10 दिन पूर्व भी आँकड़ों जारी कर कहा था कि लगभग 28000 लोगों के क्वारंटाइन की सुविधा सरकारी सृजित कर चुकी है। आज तारीख तक इसको और कई गुना बढ़ाया जा चुका है। त्रिवेंद्र रावत सरकार का यह इबाल है कि उन्होंने सभी प्रवासियों को लाने का निर्णय लिया है परन्तु कांग्रेस अभी भी उसी गुजरात फोबिया में फँसी है ओर कहती है कि गुजरात के तीर्थ यात्रियों को गुजरात क्यों भेजा ? यह सोच भी  बेहद शर्मनाक है। जहॉ  तक कोविड 19 के इस दौर से गरीबों को राहत देने का प्रश्न है तो केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार ने निम्न सुविधाओं को गरीबों और प्रवासियों को देना प्रारंभ कर चुकी है। 80 करोड़ लोगों को पाँच किलो मुफ्त राशन प्रति माह  दिया जा रहा है। सभी उज्ज्वला गैस कनेक्शन पर 3 माह तक मुफ्त गैस। वृद्धावस्था,विधवा विकलांग तथा किसान पेंशन का तीन माह का एडवांस भुगतान। प्रवासी भाई बहन जो अपने घरों को लौटे और जिन्हे रिटर्निस कहा गया है उन्हें बिना किसी राशन कार्ड के मुफ्त राशन की व्यवस्था की गई है। सभी प्रवासियों को मनरेगा से जोड़ा गया है कि चाहे उनके पास कारड है नहीं है। किसानों के खातों में किसान सम्मान निधि का एडवांस भुगतान। श्रम विभाग के द्वारा जिन श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन है उन सभी श्रमिकों का खाते में 1000 रुपया सरकार जमा कराया जा चुका है और आगे भी सहायता का सिलसिला जारी है। जनधन खाता धारक सभी माताओं बहनों को भी पाँच या 5 सौ रुपया प्रतिमाह की सहायता प्रदान की जा रही है। कांग्रेस का यह कहना है कि सभी प्रवासियों के खातों में थी 10000 नकघ्द जमा कराओ और 7500 प्रतिमाह उनको दो ने उसी राजनीतिक सोच के दिवालियेपन के पुनरावर्ती है जो राहुल गांधी ने लोक सभा चुनाव के पूर्व कहा था कि सभी बेरोजगारों के खातों में कांग्रेस 72 हजार रुपया हर साल जमा करेगी। जिसके लिए देश की जनता ने लोक सभा चुनाव में उनके मुँह पर करारा तमाचा मारा।

हम कांग्रेस पार्टी से पूछना चाहते हैं कि जब जब देश में या प्रदेश में कोई आपदा आयी तो उनकी केंद्र की और राज्यों की सरकार ने गरीबों के खातों में कौन कौन से सहायता राशि जमा करायी ? इतना  ही नहीं कांग्रेस उत्तराखंड के किसानों, बागवानों के बारे में जो घड़ियाली आँसू बहा रही है। उस बारे में भी उसे पता होना चाहिए कि त्रिवेंद्र रावत सरकार को बागवानों को दिए जा रहे हैलनेट (ओले से बचाव हेतु), फार्म मंशीनरी, प्लाटिग मटीरियल पर भारी भरकम छूट दे रही है तथा फसल बीमा योजना जैसे-जैसे बहुतों व्यापक प्लाभ वाली योजनाएं संचालित की जा रही है ।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग