कारगिल दिवस पर पुलिस लाइन स्थित शहीद स्मारक स्थल पर आयोजित हुआ कार्यक्रम



रुद्रपुर। सन् 1999 मे हुए कारगिल युद्ध के षहीदों की स्मृति में 21वीं कारगिल दिवस को जनपद भर मे षौर्य दिवस के रूप मे श्रद्धापूर्वक मनाया गया। कोविड-19 को देखते हुये सोषल डिस्टेंस का पालन करते हुये मुख्य कार्यक्रम पुलिस लाइन स्थित षहीद स्मारक स्थल मे आयोजित हुआ। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल, वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कंुवर, मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित, अपर जिलाधिकारी जगदीष चन्द्र काण्डपाल, उत्तम सिंह चैहान, एसपी देवेन्द्र पिंचा, एएसपी प्रमोद कुमार, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कै0 रंनजीत सिंह सेठ, विभिन्न विभागो के अधिकारियो, जनप्रतिनिधियो व भूतपूर्व सैनिको द्वारा कारगिल युद्ध मे षहीद हुए जनपद के हवलदार पदम राम व राइफलमैन अमित नेगी के चित्रो पर पुश्पचक्र अर्पित किये।
        इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कारगिल दिवस के षहीदो को नमन करते हुए कहा कि जिन वीर सैनिको ने देष की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर किये है, उन्हे याद करने के साथ उनकी कुर्बानी के बारे मे भी सोचे। उन्होने कहा वीर षहीदो के परिवारो के प्रति हमारा जो दायित्व बनता है, उसे पूरा किया जाए। उन्होने कहा हर आम व्यक्ति वीर षहीद परिवारो की समस्याओ को जाने व उनके निस्तारण को आगे आये यही वीर षहीदो को सच्ची श्रद्धान्जली होगी। उन्होने कहा देष प्रेम की भावना सभी मे जागृत होनी चाहिए, हमे जो जिम्मेदारियां दी गयी है, हम यदि अपनी जिम्मेदारियो का निर्वहन सही ढंग से करे तो वही सच्ची देष भक्ति होगी।
       क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल ने कहा षहीदो के कारण ही हमे आजादी का यह स्वच्छ वातावरण मिला है। हम सभी को देष के प्रति समर्पण का भाव जिन्दा रखना होगा। उन्होने कहा सैनिक कठिन परिस्थितयो मे भी सीमाओ पर देष की रक्षा कर रहे है, हम उनके परिजनो को सम्मान दे साथ ही सैनिको का कोई भी कार्य हो उसे प्राथमिकता से पूर्ण करे।
         वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक ने षौय दिवस के अवसर पर षहीद सैनिकों को नमन करते हुये कहा हमे देष के प्रति अच्छी सोच रखनी होगी तभी देष आगे बढेगा। उन्होने बच्चों को मन लगाकर पढने,दिये गये कार्यो को मन लगाकर करना व अधिकारियोध्कर्मचारियों को सैनिको व भूतपूर्व सैनिको के कार्यो को वरियता के अधार पर पूर्ण करने को कहा।
         संचालक जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कै0 रंनजीत सिंह सेठ ने सन् 1999 मे हुए कारगिल युद्ध के कारणो एवं कारगिल मिषन पर विस्तार से प्रकाष डाला। उन्होंने कहा कारगिल युद्ध मे भारतीय सेना ने अपने अदम्य साहस का प्रदर्षन करते हुए कारगिल युद्ध को जीता। उन्होने बताया इस युद्ध मे देष के 527 जवान षहीद हुए जिसमे प्रदेष के 75 व जनपद के 02 जवान षामिल है। इस युद्ध मे देष के 1363 जवान घायल हुए। उन्होने बताया कि इस युद्ध मे षहीद हुए जवानो की स्मृति मे प्रत्येक वर्श 26 जुलाई को कारगिल दिवस षौर्य दिवस के रूप मे मनाया जाता है। कार्यक्रम मे अपर उप जिलाधिकारी मुक्ता मिश्र, सैनिक कारगिल परिशद के अध्यक्ष सूबेदार हरक सिंह कार्की, सहायक सैनिक कल्याण अधिकारी भगवत सिंह सहित पुलिस विभाग के अधिकारी व अन्य लोग उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग