उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में टिहरी के गौरव व 12वीं में उधमसिंहनगर की ब्यूटी रहे टाॅपर



रामनगर/देहरादून। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद का 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। हाईस्कूल में 98.20 फीसद अंकों के साथ टिहरी के गौरव सकलानी व इंटर में 96.60 फीसद अंकों के साथ ऊधमसिंहनगर की ब्यूटी वत्सल टॉपर रही। गौरव को 500 में से 491 व ब्यूटी को 483 अंक प्राप्त हुए। गौरव के पिता स्वजल में संविदा पर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। गौरव की सफलता पर विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य देवी प्रसाद नौटियाल ने बताया कि पहली बार उनके विद्यालय का कोई छात्र प्रदेश में सर्वोच्च रैंक पर आया है। यह विद्यालय के लिए बड़ी उपलब्धि है बोर्ड परीक्षा में हर साल हमारे विद्यालय के छात्र-छात्राएं मेरिट में स्थान लाते हैं, लेकिन गौरव सकलानी ने पूरी लगन और मेहनत के साथ यह मुकाम हासिल किया है। गौरव का गांव चंबा के पास खुरेत है।
इंटर का परीक्षाफल इस बार 80.26 व हाईस्कूल का 76.91 फीसद रहा। परीक्षा परिणाम की घोषणा शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने की। इस बार हाईस्कूल में 1,47,155 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी थी, जिसमें से 1,13,191 उत्तीर्ण हुए हैं। गत वर्ष की तुलना में इस बार परीक्षाफल 0.48 फीसद अधिक रहा। वहीं, इंटर बोर्ड परीक्षा में 1,19,164 छात्र-छात्राओं में से 95,645 परीक्षार्थी पास हुए हैं। इंटर का रिजल्ट पिछले साल की तुलना में 0.13 फीसद अधिक रहा। 10वीं बोर्ड परीक्षा में दूसरे स्थान पर 97.80 फीसद अंकों के साथ ऊधमसिंह नगर की जिज्ञासा व 97.60 फीसद अंकों के साथ पौड़ी की शिवानी रावत, रूद्रप्रयाग के तनुज जगवान और पिथौरागढ़ के लक्षित सिंह बिष्ट सुंयक्त रूप से तीसरे स्थान पर रहे। जबकि, इंटर में 95.40 फीसद अंकों के साथ दूसरे स्थान पर नैनीताल जिले के युगल जोशी व तीसरे स्थान पर 95 फीसद अंकों के साथ पांच छात्र संयुक्त रूप से रहे। इनमें देहरादून के राहुल यादव, टिहरी गढ़वाल के सार्थक मैठाणी, चमोली के वैभव थपलियाल, अल्मोड़ा के दीपक सती और नैनीताल के मुकेश उपाध्याय शामिल रहे। दरअसल, कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इसबार बोर्ड परीक्षा का परिणाम करीब दो महीने देरी से घोषित किया गया है। सीएम ने विद्यार्थियों को देश का भविष्य बताते हुए कहा कि अपनी योग्यता, परिश्रम और दृढ़ इच्छा शक्ति से वे अपने भविष्य के साथ ही देश को नई दिशा देने में सफल होंगे। जिन विद्यार्थियों के परिणाम उनकी अपेक्षा के अनुरूप नहीं आए हैं, उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आगे और अधिक मेहनत करें, और लक्ष्य पाने तक लगातार प्रयास करें। सफलता अवश्य मिलेगी। उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए गए हैं। इसमें इंटरमीडिएट की परीक्षा में इसबार पासिंग परसेंटेज में दून जिला फिसड्डी रहा है। 72.12 फीसद के साथ सबसे पीछे है। परीक्षा परिणामों में बागेश्वर जिला 90 फीसद पासिंग परसेंटेज के साथ टॉप पर है। इस साल कोरोना संक्रमण की वजह से उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाएं दो चरणों में हुईं थीं। पहले चरण की परीक्षा एक मार्च से 21 मार्च तक हुई जबकि दूसरे चरण की परीक्षा जून के दूसरे पखवाड़े में हुई थी। इसके चलते इस बार बोर्ड के रिजल्ट में दो माह की देरी हुई। उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य भी दो चरणों मेें चला और 13 जुलाई को खत्म हुआ। इस बार हाईस्कूल में 147588 और इंटर में 119216 परीक्षार्थी शामिल हुए। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड बोर्ड की 10 वीें और 12 वीं की परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले प्रदेश के सभी छात्रों को बधाई एवं शुभकामनायें दी हैं। मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को देश का भविष्य बताते हुए कहा कि अपनी योग्यता, परिश्रम और दृढ़ इच्छा शक्ति से वे अपने भविष्य के साथ ही देश को नई दिशा देने में सफल होंगे। जिन विद्यार्थियों के परिणाम उनकी अपेक्षा के अनुरूप नहीं आए हैं, उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आगे और अधिक मेहनत करें, और लक्ष्य पूर्ति तक लगातार प्रयास करें। सफलता अवश्य मिलेगी।


Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग