प्रदेश सरकार के दबाव में काम रही पुलिसः प्रीतम सिंह

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने द्वाराहाट विधायक दुष्कर्म प्रकरण में पुलिस पर सरकार के दबाव में काम करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस पार्टी ने महिला द्वारा लगाये गये आरोपों की जांच के साथ ही जल्द डीएनए जांच कराये जाने की मांग की है। प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सरस्वत के माध्यम से जारी बयान में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि द्वाराहाट विधायक प्रकरण में पुलिस प्रशासन पूरी तरह राज्य सरकार के दबाव में काम कर रहा है इसीलिए अभी तक महिला द्वारा लगाये गये आरोपों तथा डीएनए जांच की मांग पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि एक ओर द्वाराहाट विधायक की पत्नी द्वारा महिला के खिलाफ ब्लैकमेल करने के आरोपों की जांच शुरू हो गई है परन्तु महिला द्वारा विधायक पर उत्तराखंड, नेपाल व हिमाचल समेत कई जगहों पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए अपनी बेटी व विधायक का डीएनए टेस्ट कराने की भी मांग की गई है जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है।
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले से ही आरोप लगाती आ रही है कि प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है तथा प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। द्वाराहाट विधायक प्रकरण में अभी तक महिला के आरोपों की जांच में बरती जा रही हीलाहवाली ने साबित कर दिया है कि राज्य सरकार महिला सुरक्षा के प्रति कितनी गम्भीर है। उन्होंने यह भी कहा कि आज महिलाएं उत्तराखण्ड प्रदेश में अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रही हैं। उन्होंने कहा कि द्वाराहाट विधायक प्रकरण पर भाजपा का शीर्ष नेतृत्व मौन धारण किये है इससे ऐसा प्रतीत होता है कि राज्य सरकार महिलाओं के यौन उत्पीड़न और कुत्सित मानसिकता रखने वालों को संरक्षण देने का काम कर रहे हैं। विजय सारस्वत ने कहा कि बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ का नारा देने वाली पार्टी में एक नहीं कई ऐसे प्रकरण हैं तथा महिलाएं भाजपा शासित राज्यों में सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आहवान पर द्वाराहाट विधायक प्रकरण में शीघ्र डीएनए जांच की मांग को लेकर पूरे प्रदेश में 22 अगस्त भाजपा सरकार का पुतला दहन करेगी।


Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग