वन भूमि हस्तान्तरण के लंबित प्रकरणों का त्वरित निस्तारण करने के दिए निर्देश

अल्मोड़ा। प्रमुख सचिव वन एवं पर्यावरण आनन्द वर्धन ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों एवं प्रभागीय वनाधिकारियों के साथ वीसी के माध्यम से समीक्षा करते वन भूमि हस्तान्तरण के लंबित प्रकरणों को त्वरित निस्तारण करने के निदेश दियें। उन्होने सभी जिलाधिकारियों एवं प्रभागीय वनाधिकारियों से कहा कि प्रदेश में वन भूमि हस्तान्तरण के जो भी प्रकरण जिस स्तर पर लंबित हैं उन प्रकरणों पर तत्परता एवं आपसी समन्वय के साथ निराकरण सुनिश्चित किया जाय, ताकि कोई भी योजना वन भूमि हस्तान्तरण से लंबित न रहें। उन्होने कहा कि वन भूमि हस्तान्तरण के तहत 2015 से आंनलाईन प्रक्रिया शुरू की गयी हैं, जिसके तहत तीन स्तरों पर आंनलाईन प्रक्रिया की जाती हैं तथा तीनों स्तर पर प्रक्रिया पूर्ण करने के उपरान्त ही संबंधित योजना का प्रस्ताव स्वीकार किया जाता हैं इसके लिए सभी अधिकारी आंनलाईन प्रक्रिया हेतु जारी गाइडलाइन एवं दिशा निर्देशों के अनुसार कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।
    प्रमुख सचिव ने कहा कि जिन प्रस्तावों पर संयुक्त निरीक्षणध्सर्वे किया जाना हैं उन पर संबंधित उपजिलाधिकारी, वन विभाग तथा संबंधित कार्यदायी संस्था के साथ संयुक्त निरीक्षण करते हुए उसकी अनुपालन आंख्या तत्काल उपलब्ध करायी जाय।  उन्होने प्रभागीय वनाधिकारियों को यह भी निर्देश दियें कि आंनलाईन पोर्टल प्रक्रिया के संबंध में एक प्रजेन्टेशन तैयार करते हुए जिलाधिकारियों के साथ बैठक आहूत कर संबंधित कार्यदायी संस्थाओं को भी आमंत्रित करते हुए उन्हें इस संबंध में पूर्ण जानकारी उपलब्ध करायी जाय, ताकि आंनलाईन प्रक्रिया को सही ढंग से किया जा सकें। उन्होने यह भी कहा कि जनपदो में जिन महत्वाकाक्षीं योजनाओं के लिए प्रस्ताव उपलब्ध हुए हैं उन पर प्राथमिकता से कार्यवाही करना सुनिश्चित करें, इसके लिए सभी जिलाधिकारी अपने-अपने जनपदों में मॉनिटरिंग भी करें। उन्होने कहा कि क्षतिपूरक वृक्षारोपण के लिए जमीन के संबंध में जो भी कार्यवाही की जानी हैं उस पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाय इसके लिए निकटवर्ती जनपदों से भी सम्पर्क किया जा सकता है। वीसी में जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने प्रमुख सचिव को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा। जिलाधिकारी ने प्रमुख सचिव को अवगत कराया कि जनपद में भूमि हस्तान्तरण के प्रकरणों पर त्वरित कार्यवाही एवं निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ समय-समय पर बैठक आयोजित की गयी हैं जिसमें सभी अधिकारियों को लंबित प्रकरणों पर त्वरित कार्यवाही के निर्देश दियें गयें हैं। इस दौरान वन संरक्षक प्रवीण कुमार, प्रभागीय वनाधिकारी माहतिम यादव, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि डी0एस0 हयांकि, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि बी0सी0 पन्त, विजय कुमार, एम0सी0 जोशी व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।


Featured Post

चौबट्टाखाल के लोगों को मदद करने के लिए उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने शुरू की अनोखी पहल

सतपुली/देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के चैबट्टाखाल संयोजक चंद्रशेखर नेगी ने लोगों को मदद करने के लिए अनोखी पहल की शुरुआत की। पूर्व ...