Wednesday, 9 September 2020

बेरोजगारी का भयावह चेहरा सामने आने का खतरा मंडरा रहा

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री संगठन विजय सारस्वत एवं प्रदेश उपाध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के चलते पूरे देश में छोटे-छोटे उद्योग धन्धे, होटल व्यवसाय, पर्यटन व्यवसाय एवं अन्य प्रकार के निजी व्यवसाय पूरी तरह बन्द हो गये हैं। उत्तराखण्ड राज्य से रोजगार की तलाश में बडी संख्या में पलायन कर चुके नौजवान जो इन उद्योगों में रोजगार में थे, कोरोना महामारी के चलते इन व्यवसायों के लगभग बन्द होने के कारण बेरोजगार होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। परन्तु राज्य सरकार ने बेरोजगार हुए लोगों के लिए रोजगार का कोई रोडमैप तैयार नहीं किया है। राज्य का बेरोजगार नौजवान आत्महत्या को मजबूर हो रहा है। उन्हांेंने कहा कि आने वाले समय में बेरोजगारी का भयावह चेहरा सामने आने का खतरा मंडरा रहा है।
महामंत्री संगठन विजय सारस्वत एवं उपाध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने कहा कि राज्य निर्माण के उपरान्त कांग्रेस पार्टी की प्रथम निर्वाचित सरकार ने तत्कालीन मुख्यमंत्री पं0 नरायण दत्त तिवारी जी के नेतृत्व में प्रदेश के चहुंमुखी विकास की नींव रखी तथा प्रदेष के कई भागों में सिडकुल के माध्यम से हजारों उद्योगों की स्थापना हुई। इन उद्योगों में राज्य के हजारों बेरोजगार नौजवानों को रोजगार मिला हुआ है। परन्तु वर्तमान में कोरोना महामारी तथा राज्य सरकार की बेरोजगार विरोधी नीतियों के कारण छोटे-छोटे उद्योग पिछले छः माह से लगभग बन्द पडे हैं तथा इन उद्योगों में रोजगार कर रहे नौजवान बेरोजगारी की कगार पर हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पहले से चैपट हो चुके रोजगार को और चैपट करने पर तुली उत्तराखण्ड सरकार को जगाने के लिए उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्रवान पर दिनांक 12 सितम्बर, 2020 को प्रदेशभर के जिला, महानगर, ब्लाक व नगर मुख्यालयों पर राज्य की त्रिवेंद्र सरकार की बेरोजगार युवा विरोधी नीतियों के खिलाफ धरना-प्रदर्शन किया जायेगा। 


Featured Post

तपोवन बाजार व्यापार मंडल इकाई का गठन, भुवन पालीवाल बने अध्यक्ष

देहरादून। दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल द्वारा रायपुर के तपोवन बाजार में अपनी इकाई का गठन किया गया, जिसमें भुवन पालीवाल को दून वेल...