Saturday, 19 September 2020

दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल ने कहा छोटे और मझोले व्यापारियों के हितांे की रक्षा हो

देहरादून। दून वैली महानगर उद्योग व्यापार मंडल के शीर्ष नेतृत्व की वर्चुअल सभा आयोजित की गई हैं जिसमे सर्वसम्मति से कुछ अहम मुद्दों पर विचार विमर्श किया गया ताकि छोटे और मझोले व्यापारियों की हितो कि कैसे रक्षा हो सके। आज जिस प्रकार से कोरोना महामारी के कारण तमाम व्यवसाय ठप्प पड़े हैं ग्राहक बाजार बंदी की इन्ही भांतियों के कारण बाजार से नदारद हैं व्यवसायी आर्थिक तंगी से जूझते हुए बड़ी मुशकिल से अपने व्यवसाय को खड़ा करने का प्रयास कर रहे हैं। शासन द्वारा इस विषय में बंद का कोई निर्णय नहीं लिया गया था और पूर्व कि भांति बाजार खुले रखने के लिए प्रसाशन द्वारा कहा गया था। इस विचार विमर्श से अलग अलग व्यापारियों द्वारा अपने विचार व्यक्त किये गए तथा सर्वसहमति से निर्णय लिया गया हैं कि इस तरह के जो चार पांच व्यापारी नेता हैं जो कि बिल्डर सोपिंग, होटल और बड़े व्यवसाय प्रतिस्थान के रूप में कार्य कर रहे हैं और उनसे दूर रहा जाए और जो छोटे व्यापारी हैं इनका इनसे कोई सरोकार नहीं हैं अगर भविष्य मे इनके द्वारा कोई गलत निर्णय लिए गए या गलत भ्रान्तियां फैलाई गयी तो इनका व्यापारियों द्वारा पुरजोर विरोध किया जायेगा।
  पिछले कुछ विगत वर्षों से कुछ बिल्डर कुछ बड़े बड़े व्यापारिक प्रतिष्ठान होटल और माल से जुड़े हुए लोग तथा कथित व्यापार मंडल के नाम से कुछ छोटे और मझोले व्यापारियो शोषण करते आ रहे थे प्रशासन और शासन से अपने स्वार्थो एवम् निजी हितो को साधने और अपने हिसाब से निर्णय लेकर छोटे और मंझोले व्यापारियों समय समय पर अनाप-शनाप निर्णय लेकर बाजारों में झूठी भान्तिया फैलाने का काम कर आ रहे हैं। इस विषय पर दून वैली महानगर उधोग व्यापार मंडल द्वारा विचार विमर्श किया गया कि व्यापारिक हितांे मे ऐसे तथा कथित व्यापार मंडलों से सावधान रहा जाए जो खाली अपने स्वार्थ एवं निजी हितो की खातिर नेतागिरी चलाते आ रहे है और व्यापारियों का अहित करने मे भी पीछे नहीं हट रहे हैं और समय समय पर छोटे और मझोले व्यापारियों का शोषण कर रहे हैं और साथ ही जिस प्रकार दो दिन पहले भी बाजारों में भ्रान्तिया फैलाई गयी कि बाजार बंद रहेगा जिसमे किसी भी व्यापारी से कोई वार्ता न करते हुए चार पांच स्वार्थी नेताओ द्वारा बाजार बंदी को लेकर निर्णय किया गया जिसका व्यापार मंडल द्वारा पुरजोर विरोध किया गया और आज उसका नतीजा हैं कि सभी व्यापारियों द्वारा बाजार खोल कर उसका कड़ा विरोध किया गया।
हमारी सरकार से यह भी मांग हैं कि छोटे और मझोले व्यवसायों के हितो को देखते हुए जो व्यापारी इस कोरोना काल मे गंभीर रूप से आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं उनकी किस रूप से सरकार द्वारा मदद की जा सकती हैं ताकि वो पूर्व की भान्ति अपने व्यापार को पुन रू खड़ा कर सके।
 इसके साथ यह भी निर्णय लिया गया कि तुरंत एक प्रतिनिधि मंडल छोटे और मझोले व्यापारियों की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री जी से मुलाकात करने का समय ले और उनसे मिलकर व्यापारियों को इस कोरोना काल मे क्या समस्या आ रही हैं उसके बारे मे बताये। दून वैली महानगर उधोग व्यापार मंडल रजि  शासन से मांग करता है कि पूर्व की भाँती जब भी शासन स्तर पर किसी व्यापारी मुददों पर सभा का आयोजन हो तो दून वैली महानगर को सभा मे अवश्य आमंत्रित किया जाए जिससे व्यापार मंडल व्यापारियों की समस्याओं का बोध करा सके ताकि सरकार द्वारा सहो निर्णय लेकर व्यापारियों की समस्याओ का सही से समाधान हो सके। दून वैली महानगर उधोग व्यापार मंडल द्वारा रजि . अपने सभी देहरादून नगर के व्यापारियों का धन्यवाद करता हैं जिनका सहयोग और सभी बाजारों का समर्थन प्राप्त हैं यह केवल कागजी संस्था नहीं हैं बल्कि धरातल से जुड़े व्यापारियों का संगठन हैं हम आपके सहयोग से आपके हितो कि लड़ाई लड़ने मे हमेशा सफल होंगे हम अपने मंडल से उत्तराखंड शासन मुख्यमंत्री मेयर सुनील उनियाल गामा जी एवम्  जिलाधिकारी एवम् एस.एस.पी देहरादून सभी के सहयोग का धन्यवाद करते हैं। हम शासन से मांग करते हैं कि कोरोना महामारी के कारण अगर किसी व्यापारी की मृत्यु होने पर उसके परिवार को तुरत आर्थिक सहायता प्रदान की जाए उस व्यापारी को कोई आर्थिक संकट से ना जूझना पड़े हमारा सरकार से अनुरोध हैं कि मुख्यमंत्री व्यापारियों की सहायता के लिए तुरंत व्यापारी सहायता प्रकोष्ठ का गठन करे जो प्रकोष्ठ व्यापारियों की सहायता के लिए ही तत्पर रहेगा। मीटिंग में यह भी कहा गया कि जो व्यापारी नेता बाजार ऑटो रिक्शा घुमा कर बाजार को बंद करवाने का आवहन कर रहे थे और उन्होंने भी अपनी स्वेच्छा से दुकाने खोल ली और व्यापारियों का उनसे प्रश्न है कि ये किस प्रकार का बंद था। वर्चुअल मीटिंग में अलग अलग बाजारों के प्रतिनिधियों एवं पदाधिकारीयो ने भाग लिया जिसमे मुख्य संरक्षक पृथ्वी राज चैहान, अशोक वर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष शेखर फुलारा, उपाध्यक्ष हरीश विरमानी, राजीव सच्चर, महासचिव पंकज दिदान, सहसचिव अनिल आनंद, कोषाध्यक्ष राकेश किशोर गुप्ता, संरक्षक रवि मल्होत्रा, सुशील अग्रवाल, तेज प्रकाश तलवार, हरीश गुप्ता, विश्वनाथ कोहली, संतोष कोहली, ऑर्गेनाइजेर सेकेरेट्री विनय नागपाल आदि शामिल रहे।


Featured Post

एसजेवीएन ने अखिल भारतीय कवि सम्‍मेलन का किया सफल आयोजन

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज नेटवर्क। आजादी का अम...