दून वेली महानगर उद्योग व्यापार मंडल ने कहा बाजार बंदी थोपी न जाए

देहरादून। दून वेली महानगर उद्योग व्यापार मंडल द्वारा कोरोना के संक्रमण को देखते हुए कोर ग्रुप की एक अति आवश्यक वर्चुअल मीटिंग बाजार बंदी को लेकर बुलाई गई। इसमें दूून वेली महानगर उद्योग व्यापार मंडल के अलग-अलग बाजारों के प्रतिनिधि सम्मलित हुए तथा बाजार बंदी को लेकर अपने अपने विचार व्यक्त किये। जिसमें कही सारे सुझाव आए जिसमे व्य्यापार मंडल के कई प्रतिनिधियो द्वारा बताया गया की कुछ चुनिन्दा लोगांे द्वारा जिनका छोटे और मंझोले व्यापारियों से कोई संबंध नहीं है और ना ही कोई सारोकार है जिनके द्वारा बाजारो में भ्रांतिया फैलाई जा रही है कि व्यापारी शनिवार और रविवार को लॉकडाउन करना चाहते हैं ये वो वर्ग जिनके बड़े-बड़े मॉल हैं, बड़े बड़े शॉपिंग काम्प्लेक्स हंै ये इनकी अपनी निजी राय हो सकती है जबकि तमाम प्रतिनिधियों द्वारा सुझाव आये हंै की अगर सरकार निर्णय लेती है तो ही बाजार बंदी को लेकर कोई निर्णय मान्य होगा। और साथ ही ये भी कहा गया कि जो साप्ताहिक बंदी रविवार की है वो साप्ताहिक बंदी की जगह सम्पूर्ण लॉक डाउन होना चाइये। साथ ही सेनीटाइजेशन का काम भी पूरे शहर और बाजारों में होना चाहिए। 14 दिनों का सम्पूर्ण लॉक डाउन लगे या फिर बाजारांे का जो समय है वो सुबह 10 से शाम 7 बजे तक किया जाए और ये भी तभी संभव होगा जब सरकार या प्रशासन द्वारा कोई ठोस निर्णय लिया जाएगा। किसी भी संगठन द्वारा जबरन बाजार बंद कराने पर व्यापारी कड़ा विरोध करेगा। व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज मैसोन ने बताया कि यदि सरकार या प्रशासन द्वारा कोई बंदी का आदेश आता है तो ही व्यापारी उस आदेश का पालन करेंगे नहीं तो किसी के कहने पर बाजार बंद नहीं किया जाएगा। बाकी व्यापारी अपने आप मंे स्वतन्त्र हैं कि उसे अपनी दुकान बंद करनी है या नहीं। उन्होंने कहा मेरा सभी से निवेदन है कि किसी भी व्यापारी पर जबरदस्ती उसका प्रतिष्ठान बंद करने का दबाव बनाने का काम न करें। वर्चुअल मीटिंग में अलग अलग बाजारों के प्रतिनिधियों एवम् पदाधिकारियों ने भाग लिया जिसमें मुख्य संरक्षक पृथ्वी राज चैहान, अशोक वर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष शेखर फुलारा, उपाध्यक्ष हरीश विर्मानी, राजीव सच्चर, महासचिव पंकज दीदान, सहसचिव अनिल आनंद, कोषाध्यक्ष राकेश किशोर गुप्ता, संरक्षक रवि मल्होत्रा, सुशील अग्रवाल, तेज प्रकाश तलवार, हरीश गुप्ता, विश्वनाथ कोहली, संतोष कोहली, ऑर्गनाइजर सेक्रेटरी विनय नागपाल आदि शामिल हुए।



वर्चुअल बैठक में ये रहे शामिल
पलटन बाजार- अनूप चैरसिया, नीरज टंडन, राजेश श्रीवास्तव, आशीष मल्होत्रा, नदीम बैग, मनीष मोनी, प्रवीण जैन, हरजीत सिंह चड्ढा मोहित भट्टनागर।
घोसी गली-सुरेश विरमानी, फजल खान अंकित वासन, संजीव श्री वास्तव, मदन खत्री, सौरभ गंभीर।
डिस्पेंसरी रोड-शेखर कपूर, तीरथ सचदेवा, परवीन मित्तल, सचिन जैन।
राजीव गांधी कॉम्प्लेक्स-केवल कुमार, जसपाल छाबड़ा।
फ्रूट मार्केट- सुरेन्द्र भाटिया, अहमद हसन।
तहसील मार्केट-इन्द्र प्रकाश सहगल संजीव टंडन, कमल अरोड़ा।
सर्निमल बाजार-हरदयाल सिंह, दर्शन गुलाटी, रहीश खान, भारत गुलाटी, अतुल अग्रवाल।
रामा मार्केट-जितेंद्र अरोड़ा, रमन लांबा।
धामवाला- विनोद कुमार, नेभराज कुकरेजा, संदीप रस्तोगी, सचिन गोयल।
मोती बाजार-दीप मिनोचा, विवेक सेठी, राधे श्याम कोहली, मधुर शर्मा।
मच्छी बाजार-दिव्य कुकरेजा, विनय सेठी।
गुरु राम राय मार्किट-मोहन लाल गर्ग, सरनजीत सिंह, अक्षय मित्तल।
बाबू गंज हनुमान चैक दर्शनी गेट पीपल मंडी-अमन सड़ाना, आनंद गर्ग, आशीष शर्मा।
लोकल बस स्टैंड-अनिल श्रीवास्तव, मोनू तोपवाल, परवीन जोशी।
कारगी चैक-हेमस्तोगी, संजय नौटियाल।
बालक राम मार्किट-शौकि, डिंपल।
प्रेम नगर-पुनीत सहगल, अशोक वर्मा, जीतेन्द्र तनेजा एवं और भी कई बाजारों से अलग अलग समय पर वर्चुअल मीटिंग में मौजूद रहे और अपनी राय रखी।



Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग