Friday, 11 September 2020

जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री व अन्य सामान उपलब्ध कराया


देहरादून। उत्तराखंड के अन्नपूर्णा रोटी बैंक चैरिटेबल ट्रस्ट फाउंडेशन संयोग से उड़ीसा की दुर्गा ट्रस्ट फाउंडेशन की संचालिक सांगरीका जेना ने उत्तराखंड में जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री व अन्य जरूरतमंद सामान उपलब्ध कराया।
उड़ीसा से जय दुर्गा ट्रस्ट फाउंडेशन की संचालिका सागरिका जेना जरूरतमंद लोगों की हर कदम पर मदद करने के लिए आगे खड़ी रहती है। बीते वर्ष उड़ीसा में बाढ़ पीड़ितों को भी सागरिका जैन ने आर्थिक रूप से मदद की थी। उन्होंने वहां पीड़ितों को खाद्य सामग्री व अन्य जरूरतमंद सामग्री मुहैया कराई थी। इस वर्ष कोरोना जैसे महामारी के समय पर भी उन्होंने हर जरूरतमंद लोगों की मदद की है। इस वर्ष पहली बार दुर्गा फाउंडेशन की सगाई का जेना उत्तराखंड राज्य मैं जरूरतमंद लोगों को वह बच्चों को मदद करने के लिए आई है। वह जय दुर्गा फाउंडेशन से 7 साल से जरूरतमंद लोगों की मदद कर रही है और उनके साथ 100 लोग जुड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि उड़ीसा में 13 जिले हैं और मैं लगभग 4 महीने से रोज हर किसी जरूरतमंद की मदद कर रही हूं। उन्होंने बताया कि मैं पिछले बार भी आई थी। उन्होंने बताया कि उनकी दोस्ती उत्तराखंड की समाज सेविका रमनप्रीत कौर से हुई है और उन्होंने उनसे बातचीत कर उत्तराखंड आने का विचार किया था और उनका कहना है कि कोरोना जैसी महामारी में लोग परेशान हैं और ऐसे जरूरतमंद लोगों परेशानी में हैं तो यही सोच कर उन्होंने यहां आने का निर्णय लिया और यहां आकर उन लोगों को खाद्य सामग्री अन्य आर्थिक मदद देने का प्रयास किया है और इस मौके पर दूसरे दिन भी राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय राजपुर रोड में बच्चों को सीईओ सीईओ सैनिटाइजर और मास्क स्टेशनरी भी बच्चों को वितरण किया जिसमें स्कूल के टीचर भी बेहद खुश हुए और इस मौके पर समाज सेविका रमनप्रीत कौर, किशोर रावत, शिवमणि मौजूद रहे। उनका  कहना है कि हर जरूरतमंद की मदद करती रहेंगी और ऐसा ही नहीं कि वह उड़ीसा या उत्तराखंड में ही लोगों की मदद करेंगे बल्कि उन्हें पूरे भारतवर्ष में कहीं भी हर  जरूरतमंद की मदद करेगी। उन्होंने बताया कि हमारा जय दुर्गा फाउंडेशन इसीलिए है कि वह हर जरूरतमंद की मदद करें।


Featured Post

उत्तराखंड में बारिश से हाल बेहाल, राज्य की 154 सड़कें पड़ी हैं बंद

देहरादून। प्रदेश में मॉनसून लगातार सक्रिय है। भारी बारिश के कारण शुक्रवार 30 जुलाई तक प्रदेश में 154 छोटे-बड़े मार्ग बंद हैं, जिन्हें खोलने...