Saturday, 12 September 2020

शिक्षकों ने जाने नई शिक्षा नीति के खास प्रावधान

-मानवभारती के वेबिनार में देहरादून और पटना के शिक्षकों ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर की चर्चा

देहरादून। मानवभारती स्कूल देहरादून व पटना के शिक्षकों ने वेबिनार के माध्यम से नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर चर्चा की तथा इसके विशेष प्रावधानों को समझा। इस दौरान शिक्षकों ने शिक्षाविद् एवं सामाजिक मनोविज्ञानी प्रो. राजेश्वर मिश्रा से शिक्षा नीति के खास बिन्दुओं पर विस्तार से जानकारी ली।
इस अवसर पर प्रो.राजेश्वर मिश्रा ने कहा कि नई शिक्षा नीति प्रशंसनीय है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हमें यह समझना होगा कि बच्चों के हितों को ध्यान में रखते हुए इसका क्रियान्वयन किस प्रकार किया जाए। मानव भारती स्कूल देहरादून के निदेशक डॉ. हिमांशु शेखर ने सभी शिक्षकों को नई शिक्षा नीति का अध्ययन करना चाहिए। इसके प्रावधानों का आधार क्या है। आने वाले समय में इसके क्या सकारात्मक परिणाम होंगे। मानव भारती स्कूल पटना के निदेशक प्रदीप मिश्रा ने कहा कि हमें शिक्षा नीति के सभी प्रावधानों तथा इनके क्रियान्वयन की चरणबद्ध प्रक्रिया पर विशेष ध्यान देना होगा और ईमानदारी से समझना होगा कि आखिर यह नीति बच्चों के किस हित की बात करती है।
मानव भारती-देहरादून की शिक्षिकाओं ने गीता शुक्ला, जसलीन कौर, सलोनी गोयल, रेखा चैहान, बबिता गुप्ता तथा आरती रतूड़ी आदि ने शिक्षा नीति के खास पहलुओं पर बात की और प्रो. राजेश्वर मिश्रा से कुछ खास बिन्दुओं के बारे में विस्तार से जाना। मनोविज्ञान के शिक्षक जॉय घोष ने कहा कि नई  शिक्षा नीति में बच्चों की विविध रूचि का ध्यान रखा गया है। यह प्रशंसनीय है।
शिक्षक डॉ.अनन्तमणि त्रिवेदी ने नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन से बच्चों में नैतिक और सांस्कृतिक समझ के विकास पर बात की। उन्होंने कहा कि शिक्षक बच्चों में मानवीय गुणों का विकास करते हैं। विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर बनाने में सहयोग करना शिक्षकों के लिए चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। अच्छी बात है कि  शिक्षा नीति में बच्चों के सर्वांगीण विकास पर बल दिया गया है।


Featured Post

मन की बात में पीएम ने हैंडलूम एवं अन्य स्थानीय उत्पादों की खरीद पर दिया बल

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना। उन्होंने कहा कि मन की बात कार्यक्रम ...