डीएम ने जल निगम के अधिकारियों की कार्य प्रणाली पर असन्तोष व्यक्त किया

हरिद्वार। जिलाधिकारी हरिद्वार सी0 रविशंकर की अध्यक्षता मे जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक आयोजित हुई।बैठक में जिलाधिकारी को अधिकारियों ने जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के तहत ग्रामीण इलाकों के आंगनबाड़ी केन्द्रों व स्कूलों में शुद्ध व साफ पानी आपूर्ति के सम्बन्ध में जानकारी दी।
अधिकारियों ने जिलाधिकारी को बताया कि कुछ गांव ऐसे हैं, जहां सीमित एरिया में ही पाइप लाइन बिछनी है, जो शीघ्र ही बिछा दी जायेगी। उन्होंने कहा कि जहां हैण्डपम्प स्थापित हैं, अगर वे चालू हालत में हैं, तो ठीक अन्यथा की स्थिति में वहां पर बोरिंग करके उनमें पम्प लगाकर छत पर टैंक स्थापित कर पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहा कि 100 हैण्डपम्प एक महीने में पूरा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि स्कूलों व आंगनबाड़ियों का मूल्यांकन अक्टूबर तक हो जायेगा, तो नवम्बर में हम कार्य शुरू कर देंगे।
जिलाधिकारी ने अधिकारियों से इन योजनाओं की डी0पी0आर0 के सम्बन्ध में भी विस्तृत चर्चा की और अधिकारियों को फील्ड की वास्तविक स्थितियों को देखते हुये ही डी0पी0आर0 प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने ये भी निर्देश दिये कि वे मानकों व प्रक्रियाओं का पालन करते हुये निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने में आपसी सहयोग व एकजुट होकर कार्य करें। जिलाधिकारी ने जल निगम के अधिकारियों की कार्य प्रणाली पर असन्तोष जताते हुये कहा कि अभी कई गांवों में आपका काम काफी पीछे है, इस सम्बन्ध में आपको दूसरी बार सचेत किया जा रहा है। अगर यही स्थिति रही तो सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होेंने कहा कि निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष आपके पास समय कम है तथा एक निश्चित समयबद्ध योजना बनाकर आपको लक्ष्य प्राप्त करना है। बैठक में जल संस्थान, जल निगम, स्वास्थ्य, शिक्षा सहित जल एवं स्वच्छता मिशन से जुड़े अधिकारीगण उपस्थित थे।  


Featured Post

चौबट्टाखाल के लोगों को मदद करने के लिए उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने शुरू की अनोखी पहल

सतपुली/देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के चैबट्टाखाल संयोजक चंद्रशेखर नेगी ने लोगों को मदद करने के लिए अनोखी पहल की शुरुआत की। पूर्व ...