Wednesday, 21 October 2020

डीएम ने ली जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक, कार्यों की प्रगति में तेजी लाने के निर्देश  

देहरादून। जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कैम्प कार्यालय से वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जिला गंगा सुरक्षा समिति से जुडे़ विभागों और अधिकारियों को निर्देशित किया कि गंगा सुरक्षा और इससे जुडे़ सीवरेज ट्रीटमेंट, पेयजल, बाढ सुरक्षा, सौन्दर्यीकरण, सड़क मरम्मत व सुधारीकरण, अतिक्रमण हटाने, कूड़ा व मृत पशुओं के अवशेष निस्तारण, सैनिटेशन, वृक्षारोपण और साफ-सफाई से सम्बन्धित कार्यों की प्रगति को तेजी से बढायें।
जिलाधिकारी ने आई0 एण्ड डी0 एवं 26 एम0एल0डी0एस0टी0पी0 के कार्यों की प्रगति का विवरण प्राप्त करते हुए निर्माण एवं अनुरक्षण इकाई (गंगा) उत्तराखण्ड पेयजल निगम ऋषिकेश को निर्देशित किया कि इसका अवशेष कार्य तेजी से पूरा करें तथा वन विभाग के समन्वय से रम्भा नदी से अतिक्रमण हटाने एवं एफआरए प्रमाण पत्र जारी करने की कार्यवाही भी पूर्ण करें। उन्होंने निर्माण एवं अनुरक्षण इकाई को आगामी बैठक से पूर्व डेटा तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर निगम ऋषिकेश को समस्त वार्डों में नियिमत स्वच्छता अभियान चलाने, कूड़ा उठाने तथा गंगा नदी में पूजा सामग्री और कूड़ा करकट डालने से रोकने के भी निर्देश दिये। इसके अलावा गंगा नदी के विभिन्न घाटों के आस-पास तम्बाकू बिक्री की रोक के साथ ही धूम्रपान निषेध की कार्यवाही भी करें।
जिलाधिकारी ने उत्तराखण्ड जल संस्थान देहरादून को निर्देश दिये कि 31 अक्टूबर तक सभी 23 पेयजल योजनाएं हर हाल में हस्तांतरित करें। उन्होंने कहा कि गंगा नदी में जा रहे गन्दे नालों की टेपिंग कार्यों में तेजी लाने के भरसक प्रयास किये जायं। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियन्ता सिंचाई खण्ड देहरादून को बाढ से बचाव कार्य की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने मृतक पशुओं के अवशेष निस्तारण हेतु भूमि की उपलब्धता के सम्बन्ध में नगर निगम को डीएफओ के माध्यम से आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने उत्तराखण्ड जल संस्थान को आगामी बैठक में पूर्ण विवरण के प्रस्तुत करने के साथ ही अनुमति निर्गत करते हुए इन पर निर्णय भी करना सुनिश्चित करें। उत्तराखण्ड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को पर्यावरण को दूषित करने वाली गतिविधियों की रोकथाम करने, लोक निर्माण विभाग को क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत कार्यों में तेजी लाने तथा नगर निगम ऋषिकेश को प्लास्टिक के विरूद्ध भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने जिला गंगा समिति के माध्यम से प्रकाशित मैग्जीन (समाचार पत्र) की स्थिति की जानकारी लेते हुए इसके प्रकाशन में क्षेत्रीय फोटोग्राफर एवं नगर निगम द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों के चित्र प्रकाशित करने के अतिरिक्त विभिन्न सम्बन्धित विभागों से 15 दिनों में आलेख प्राप्त करते हुए इसका प्रकाशन कराना सुनिश्चित करें। बैठक में गंगा सुरक्षा समिति से जुडेघ् पदाधिकारी श्री जुगलान द्वारा पौराणिक सरस्वती नदी के नामांकन का मामला उठाया इस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी ऋषिकेश को अभिलेखों के आधार पर कनवर्ट कराएं। बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी देहरादून राजीव धीमान, तहसील कार्यालय ऋषिकेश से उप जिलाधिकारी ऋषिकेश वरूण चैधरी, नगर निगम ऋषिकेश के मुख्य नगर अधिकारी नरेन्द्र क्वीराल, जल संस्थान, पेयजल निगम, सिंचाई, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, लोक निर्माण विभाग आदि गंगा सुरक्षा समिति से जुड़े आर.डी जुगलान सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।  


Featured Post

शारदीय नवरात्र की नवमी पर सीएम धामी ने किया कन्या पूजन

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को शारदीय नवरात्र की नवमी के पावन अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में विधि-विधान से कन्या-पूजन ...