आंदोलनरत संविदा कर्मियों की बहाली पर यूकेडी ने खुशी व्यक्त की

देहरादून। परिवहन निगम द्वारा संविदा पर ड्राइवर और परिचालक पदों पर सेवा दे रहे स्थानीय लोगों को बिना कारण बताये बाहर निकाल दिया था। परिवहन निगम के इस निर्णय के खिलाफ सभी सविंदा कर्मी न्यायालय के शरण मे गये। न्यायालय ने स्पष्ट आदेश दिया था कि कर्मियों की रुके हुये वेतन व बहाली अविलम्ब की जाय। लेकिन निगम के महाप्रबंधक दीपक जैन न्यायालय के आदेश को मानने को तैयार नहीं हुये, और स्पष्ट कहा कि हम यानि निगम उच्चतम न्यायालय जायेगा।
           उत्तराखंड क्रान्ति दल सविंदा कर्मियों के हकों के लिये 1 अक्टूबर को दीपक जैन को ज्ञापन के माध्यम से स्पष्ट कहा कि अगर सविंदा कर्मियों के पक्ष में दिये गए न्यायालय के आदेश को अमल नहीं किया गया तो दल आर-पार की लड़ाई के लिये तैयार है। आखिर संविदा कर्मियों के हक में उक्रांद की लड़ाई सफल हुई। संविदा कर्मी उक्रांद को धन्यवाद देने पार्टी कार्यालय आये, इस मौके पर उपस्थित दल के नेता लताफत हुसैन, जय प्रकाश उपाध्याय, सुनील ध्यानी, राजेन्द्र बिष्ट, धर्मेंद्र कठैत, अशोक नेगी, विजेंदर रावत आदि ने आश्वासन दिया कि दल हमेशा सविंदा कर्मियों के हकों और स्थायीकरण के लिये साथ है और संघर्ष करेगा।


Featured Post

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने से भाजपा के पाप धुलने वाले नहींः पायलट

रुड़की। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि उत्तराखंड में मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने से भाजपा के पाप धुलने वाले नहीं हैं। ...