Sunday, 15 November 2020

गांव में युवक की गोली मारकर हत्या

रुद्रपुर। ऊधमसिंहनगर जिले के केलाखेड़ा थाने के रम्पुराकाजी गांव में करीब 40 वर्षीय युवक की कनपटी के पास गोली मार कर निर्मम तरीके हत्या कर दी गई। वारदात के बाद से क्षेत्र में हडकंप मचा है। पुलिस को सूचना मिलने पर आनन-फानन में थानाध्यक्ष केलाखेड़ा मौके पर पहुंचे। शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए काशीपुर भेज दिया गया। शव के पास एक पत्र व एक टोपी को छोड़ा गया है, जिससे मामले को एक अलग ही रंग देने की कोशिश की गई है।
केलाखड़ा नगर से मात्र चार किमी दूर रम्पुराकाजी निवासी जसवंत सिंह पुत्र उत्तम सिंह की बीती रात कनपटी के पास गोली मार कर हत्या कर दी गई। मृतक की पत्नी के अनुसार वह और उसका मृतक पति जसवंत सिंह बीती रात करीब 11 बजे दो बेटसें साथ सो गए। जिसमें जसवंत की बीती रात गोली मारकर निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। हैरत की बात है कि बगल में सोई पत्नी को इसकी भनक तक नहीं लग पाई। वहीं परिजनों की मानें तो उन्हें सोते हुए कोई नशीला पदार्थ सुंघा दिया गया था जिससे उन्हें कोई सुध-बुध नहीं रही। मृतक की पत्नी के मताबिक सुबह करीब 4.30 बजे पेट मे दर्द होने के कारण उसकी आंख खुली तो उसने अपने पति को उठाया तो वह नहीं उठे हिलाने पर कुछ गीला सा हाथ में लगा तो रोशनी मे देखा तो वह खून था। जिस पर उसने शोर मचाकर अपने देवर को बुलाया और सारे घटनाक्रम से अवगत कराया। उसके बाद उसकी सूचना प्रधान पति को दी गई, जिनके द्वारा थाने मे सूचना देने पर थानाध्यक्ष प्रभात कुमार आनन-फानन में पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। घटना स्थल का निरीक्षण कर उच्चाधिकारीयों को घटना से अवगत कराया जिस पर मौके पर सीओ दीपशिखा अग्रवाल, अपर पुलिस अधीक्षक काशीपुर राजेश भट्ट, एसपी क्राइम प्रमोद कुमार व फारेन्सिक विशेषज्ञों की टीम भी मौके पर पहुंची। मृतक के शव का पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम हेतु काशीपुर भेज दिया गया। वहीं दूसरी ओर परिवार के साथ शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए उत्तराखण्ड सरकार में कैबिनेट मंत्री अरविन्द पाण्डेय व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेन्द्र पाल सिंह राजू भी पहुंचे व परिजनों को ढांढस बंधा कर मौके पर मौजूद उपनिरीक्षकों को जल्द ही हत्या का खुलासा करने के लिए निर्देशित किया। घटना स्थल पर एक संदिग्ध बार-बार आ रहा था। अधिकारियों के आस पास घूम रहा था जिसका फोन बार-बार बज रहा था। जिसको लेकर परिजनों ने आशंका जताई तो अधिकारियों ने उसे हिरासत मे लेकर केलाखेड़ा थाने पहुंचा दिया। वहीं सूत्रों की माने तो हिरासत मंे लिया गया युवक खनन से जुडे़ लोगों के लिए अधिकारियों व पुलिस की रैकी कर रहा था। जिस प्रकार निर्मम हत्या की गई है, परंतु संघर्ष का कहीं कोई निशान नहीं है। पास में सोई पत्नी को भी कुछ पता नहीं लग पाया। पत्नी-पति के करीब ही सोई हुई थी और पूरे घटना को लेकर उसे पता न चला पाना अपने आप में सवाल खड़े कर रहा है। मामले में पुलिस घर वालों के बयान का मिलान कर रही है। घटना के वक्त किसी को जानकारी न होने के मामले को पुलिस भी संदिग्ध मान रही है। घटना स्थल पर एक पत्र रखकर मामले को पुलिस को घुमाने की कोशिश की जा रही है। पत्र की भाषा शैली पर गौर करें तो उसमें लिखा है कि एक धर्म विशेष के धार्मिक ग्रंथ की कसम खाकर बदला लेने की बात कही गई है। जिससे प्रतीत होता है कि जघन्य हत्याकांड को अलग ही रंग देने की कोशिश की जा रही है। यह क्षेत्र का सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश भी हो सकती है। गांव से जुड़े सूत्रों की माने तो मृतक बहुत ही सीधा साधा व मिलन सार व्यक्ति था। उसकी किसी से कोई रंजिश नही थी।


Featured Post

तीरथ सरकार 100 दिन बेकार को लेकर आप कार्यकर्ता उतरे सड़कों पर

देहरादून। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के 100 दिनों के असफल कार्यकाल को लेकर आज आम आदमी पार्टी ने प्रदेश की सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में ...