सुुरक्षित, त्वरित और सुगम आवागमन के लिए जरूरी कदम उठाने के दिए निर्देश

-प्रभारी जिलाधिकारी ने ली जनपदीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक देहरादून। प्रभारी जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल की अध्यक्षता में कलेक्टेªट सभागार में जनपदीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गई। मुख्य विकास अधिकारी ने सड़क सुरक्षा समिति से जुड़े अधिकारियों को सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम तथा सुरक्षित, त्वरित और सुगम आवागमन के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने जनपद में सड़क दुर्घटनाओं की समुचित रोकथाम हेतु लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और अन्य सम्बन्धित विभागों को अपने-अपने स्तर पर किए जाने वाले विभिन्न सुरक्षात्मक और सुधारीकरण कार्यों को समय पर और तीव्र गति से पूरा करते हुए दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने को निर्देशित किया। उन्होंने लोक निर्माण विभाग और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की विभिन्न शाखाओं के प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया कि उनके क्षेत्र में चिन्हित ब्लैक स्पाॅट के सुधारीकरण के कार्यों को तेजी से पूरा करें कहा कि सड़क सुधारीकरण के सम्बन्ध में भारत सरकार को मंजूरी हेतु प्रेषित किए जाने वाले प्रस्तावों को भी समय से प्रेषित करें तथा जिनकी अनुमति प्राप्त हो जाती है उन पर तेजी से कार्य पूरा करें। इस सम्बन्ध में वन विभाग से भी जिन प्रकरणों का समाधान किया जाना हैं उन मामलों में भी जरूरी पहल करें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जिन क्षेत्रों में दुर्घटना का बहुत अधिक जोखिम रहता है तथा कार्य अनुमति में समय लगता है वहां पर अनुमति मिलने से पूर्व भी सड़क दुर्घटनाओं की त्वरित रोकथाम हेतु तत्काल एहतियाती कदम उठायें। उन्होंने निर्देशित किया कि जहां पर विभागीय स्तर पर अथवा समिति द्वारा निरीक्षण अथवा मौका मुआवना किया जाना है, वहां पर तत्काल निरीक्षण व मौका मुआवना कर लिया जाए तथा उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए दुर्घटना जोखिम से सम्बन्धित उठाए गए बिन्दुओं पर समय पर कार्य प्रारम्भ किया जाए ताकि जनपद में दुर्घटनाओं पर प्रभावी नियंत्रण पाया जा सके। उन्होंने कहा कि जहंा पर दुर्घटना घटित हो जाती है वहां पर जरूर मौका मुआवना किया जाए तथा दुर्घटनाओं की तह तक जाकर उसके कारण खोजे जायें ताकि दुर्घटना की पुनरावृत्ति ना हो सके। मुख्य विकास अधिकारी ने सम्बन्धित विभागों को निर्देशित किया कि सड़क मार्गों पर आवश्यकतानुसार रिफ्लेक्टर, पैराफिट, रम्बल स्ट्रीप, साइनबोर्ड, स्पीड ब्रेकर इत्यादि लगाया जाए। उन्होंने कहा कि शहरों में स्मार्ट सिटी, अमृत योजना अथवा अन्य योजनाओं के निर्माण कार्यों के दौरान जब सड़क की कहीं खुदाई की जाती है तो सम्बन्धित विभागों के समन्वय से उस सड़क को तत्काल ठीक किया जाए और सड़क पर किसी भी तरह के गड्डे अथवा पैच ना छोड़े जायं, जिससे यातायात सुगम और सुरक्षित बना रहे। उन्होंने लोक निर्माण विभाग ओर राष्ट्रीय राजमार्ग सुधारीकरण की विभिन्न शाखाओं से उनके विभागीय स्तर पर सुधारीकरण हेतु चिन्हित किए गए ब्लैक स्पाॅट के कार्यों की प्रगति का विवरण भी प्राप्त किया तथा अवशेष कार्यों को तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिए। मुख्य विकास अधिकारी ने पुलिस विभाग और परिवहन विभाग को भी विभिन्न क्षेत्रों में एन्फोर्समेंट की कार्यवाही में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने हरहाल में ओवर स्पीडिंग, शराब पीकर वाहन चलाने की रोकथाम करने तथा वाहन चलाने के विभिन्न मानकों का पालन करवाने के निर्देश दिए। इस दौरान बैठक में सहायक परिवहन अधिकारी अरविन्द पाण्डेय ने अवगत कराया है कि विगत वर्ष के मुकाबले इस वर्ष सड़क दुर्घटनाओं में कमी आयी है और उन्होंने इसका कारण सड़क सुरक्षा समिति से जुड़े विभिन्न विभागों के स्तर पर विभिन्न सुरक्षात्मक कार्यों में तेजी से कार्य करना बताया। इस दौरान बैठक में पुलिस अधीक्षक यातायात प्रकाश चन्द्र आर्य, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व वीर सिंह बुदियाल व प्रशासन अरविन्द पाण्डेय सहित लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, शिक्षा विभाग, परिवहन विभाग सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी व कार्मिक उपस्थित थे।

Featured Post

चौबट्टाखाल के लोगों को मदद करने के लिए उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने शुरू की अनोखी पहल

सतपुली/देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के चैबट्टाखाल संयोजक चंद्रशेखर नेगी ने लोगों को मदद करने के लिए अनोखी पहल की शुरुआत की। पूर्व ...