Thursday, 3 December 2020

अब पेटीएम के मर्चेंट पार्टनर्स मुफ्त में कर सकते हैं पेटीएम वॉलेट

-यूपीआई एप्स और रूपे कार्ड्स से पेमेंट स्वीकार देहरादून। भारत की अग्रणी डिजिटल फाइनेंसियल सर्विसेज प्लेटफार्म पेटीएम ने आज व्यापारिक लेन-देन पर सभी शुल्कों को माफ करने की घोषणा की है। कंपनी अब जीरो शुल्क पर मर्चेंट पार्टनर्स को पेटीएम वॉलेट, यूपीआई एप्स और रूपे कार्ड्स से पेमेंट स्वीकार करने में सक्षम बनाकर पेमेंट प्रक्रिया को अगले स्तर तक ले जा रही है। अभी चल रहे महामारी के दौरान एमएसएमई को सपोर्ट करने के लिए पेटीएम, बैंकों एवं अन्य शुल्कों द्वारा वार्षिक मर्चेंट डिस्काउंट रेट (एमडीआर) में 600 करोड़ रुपये को खर्च वहन करेगा। यह पहल उन्हें अपने कारोबार को और विस्तार प्रदान करने के लिए समुचित नगदी सुनिश्चित में मददगार साबित होगा। इस पहल से पेटीएम इकोसिस्टम पर 17 मिलियन से अधिक व्यापारियों को फायदा होगा, जो अपने ग्राहकों से भुगतान स्वीकार करने के लिए पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर, पेटीएम साउंडबॉक्स और पेटीएम ऑल-इन-वन एंड्रॉइड पीओएस (च्व्ै) का उपयोग करते हैं। व्यापारियों को यह चुनने की भी सुविधा होगी कि वे भुगतान को सीधे अपने बैंक खातों में जमा करा सकते हैं या सीधे अपने पेटीएम वॉलेट में भुगतान राशि प्राप्त कर सकते हैं। कंपनी पेटीएम वॉलेट, यूपीआई, रूपे, एनईएफटी और आरटीजीएस सहित अन्य सभी तरीकों के माध्यम से भुगतान की स्वीकृति को बढ़ावा दे रही है। साथ ही, व्यापारियों को बिना किसी शुल्क के पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर से अनलिमिटेड भुगतान स्वीकार करने का अधिकार भी देती है। पेटीएम के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट कुमार आदित्य ने कहा, “हम अपने मर्चेन्ट पार्टनर्स को समर्थन देने और उनके कारोबार का विस्तार करने हेतु उनकी नगदी को बढ़ाने के लिए मर्चेंट डिस्काउंट रेट (एमडीआर) का खर्च खुद वहन करेंगे। हमें विश्वास है कि इन शुल्कों को माफ करने से सभी एमएसएमई को पेटीएम ऑल-इन-वन क्यूआर, पेटीएम साउंडबॉक्स और पेटीएम ऑल-इन-वन एंड्रॉइड पीओएस डिवाइसों से सीधे अपने बैंक खातों में भुगतान एकत्र करने में फायदा मिलेगा।

Featured Post

एसजेवीएन अध्यक्ष नंदलाल शर्मा ने सीएम धामी से की भेंट, उत्तराखंड में जल विद्युत परियोजनाओं के क्षेत्र में निवेश की इच्छा जताई

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। एसजेवीएन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्द लाल शर्मा ने उत्तराखंड में जल विद्युत परियोजनाओं के क्षेत्र में निवे...