प्रशिक्षण कार्यशाला का विधानसभा अध्यक्ष ने किया उद्घाटन

देहरादून। अंतर्राष्ट्रीय संसदीय अध्ययन शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान विधानसभा उत्तराखंड के माध्यम से विधानसभा सचिवालय के अधिकारियों कार्मिकों के लिए “संसदीय पद्धति और प्रक्रिया के मुख्य बिंदु तथा विधानसभा की भूमिका” विषय पर एक आंतरिक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने विधिवत दीप प्रज्वलित कर किया। विधानसभा भवन देहरादून में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विधानसभा के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कार्यशाला में संसदीय प्रक्रिया एवं प्रश्नोत्तर प्रक्रिया के संबंध में दो सत्रों के दौरान प्रशिक्षण दिया गया। प्रथम सत्र में वरिष्ठ अधिकारी नरेंद्र रावत ने संसदीय प्रक्रिया के विषय में व्याख्यान दिया वहीं विश्व मोहन गौड द्वारा प्रश्नों की प्रक्रिया विषय पर व्याख्यान दिया गया।कार्यशाला के अंतिम सत्र में विशेषज्ञ पैनल द्वारा प्रश्नोत्तरी में प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर दिए गए। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि अतंर्राष्ट्रीय संसदीय अध्ययन शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान एक मिशन है, लोकतंत्र को मजबूत करने के उद्देश्य से इसकी स्थापना की गयी है। श्री अग्रवाल ने कहा कि संस्थान की स्थापना के लिये फंड को एकत्रित करने के उद्देश्य से सरकारी उपक्रमों के सी0एस0आर0 फंड से प्रयास किये जा रहे हैं एवं काॅमनवैल्थ पार्लियामेंट्री ऐसोसियेशन (सी0पी0ए0) से भी इस सम्बन्ध में बात की गयी है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि संस्थान की गतिविधियां प्रारम्भ करने का निर्णय लिया गया है, जिस क्रम में आज “संसदीय पद्वति और प्रक्रिया के मुख्य बिन्दु एवं विधानसभा सचिवालय की भूमिका” विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गयी है।कार्यशाला के दौरान दो सत्रों के अंतर्गत संसदीय प्रक्रिया एवं प्रश्नों से सम्बन्धित प्रक्रिया पर विधान सभा के कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया है। श्री अग्रवाल ने कहा कि उत्तराखण्ड विधान सभा के बीस साल के इतिहास में पहली बार विधान सभा के कार्मिकों के कौशल विकास हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया है, इस प्रकार के कार्यक्रम आगे भी आयोजित किये जाते रहेंगे। इस अवसर पर विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल ने कहा कि शोध संस्थान का उद्देश्य संसदीय लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं का विश्व स्तरीय पाठ्यक्रम तैयार करना एवं दीर्घ एवं लघु कालीन प्रशिक्षण कोर्स संचालित करना है।उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम पहली बार विधानसभा अध्यक्ष की प्रेरणा से आयोजित किया गया। इस अवसर पर राजेंद्र प्रसाद चैधरी, विकास स्वामी, मयंक सिंघल, किशोर पांडे, दीपचंद, दिनेश मंद्रवाल, चंद्र मोहन गोस्वामी, प्रमोद पांडे, प्रदीप गुणवंत, हेम गुरानी, वंदना हरिव्यासी सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी गण मौजूद थे।

Featured Post

चौबट्टाखाल के लोगों को मदद करने के लिए उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने शुरू की अनोखी पहल

सतपुली/देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के चैबट्टाखाल संयोजक चंद्रशेखर नेगी ने लोगों को मदद करने के लिए अनोखी पहल की शुरुआत की। पूर्व ...