Wednesday, 17 February 2021

लम्बित पड़े दाखिल खारीज व अन्य मामलों का निर्धारित समयान्तर्गत निस्तारण करेंः डीएम

रूद्रपुर। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व से सम्बन्धित मासिक समीक्षा बैठक अयोजित की गई। जिसमें वसूली, चकबन्दी, भू-राजस्व, सिंचाई पर वसूली, विविध देय, राज्य कर, बैंको की वसूली, स्टाॅम्प, तालाब पुर्नजिवित आदि विभिन्न की कार्यों की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान उन्होने अधिकारियों को निर्देश देते हुऐ कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यों को निर्धारित समय पर पूर्ण करना सुनिश्चित करें। तहसील की समीक्षा करते हुए उन्होने सभी तहसीलदारों को निर्देशित किया कि लम्बित पड़े दाखिल खारीज आदि मामलों का निर्धारित समयान्तर्गत निस्तारण करें। उन्होने कहा कि यदि किसी अधिकारी के स्तर पर कोई समस्या आती है तो वह तत्काल अपने वरिष्ठ अधिकारी को अवगत कराऐं ताकि कार्यों को दौरान आ रही समस्याओं का समाधान शीघ्रता से किया जा सके। उन्होने सभी उपजिलाधिकारियों व तहसीलदारों को कडेघ् निर्देश देते हुए कहा कि अपने कार्यालयों की सभी पत्रावलियों को अपडेट रखें। जिलाधिकारी ने तहसील स्तर पर लम्बित पड़े मामलों की विस्तृत रूप से जानकारी ली, उन्होने सभी उपजिलाधिकारी व तहसीलदारों को पूर्व में लम्बित पड़े मामलों पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए शीघ्रता से उनके निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसी अधिकारी के स्तर पर किसी भी प्रकार की शिकायत न आयें, यदि किसी के स्तर पर कोई शिकायत प्रकाश में आयी तो सम्बन्धित अधिाकरी के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होने वसूली की समीक्षा करते हुऐ उपजिलाधिकारियों व तहसीलदारों को निर्देश दिए कि बकाया वसूली में आमीनों का लक्ष्य निर्धारित करें, व निर्धारित किए गये लक्ष्य के सापेक्ष आमीन शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण करें, ताकि वसूली में और तेजी लाई जा सके। उन्होने कहा कि यदि किसी भी कर्मचारीध्अधिकारी के स्तर पर कोई लापारवाही सामने आई तो सम्बन्धित के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि सम्बन्धित अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र के बडेघ् बकायेदारों को चिन्हित करें एवं उनको भुगतान करने के लिए उचित कार्यवाही करें। उन्होने कहा कि यदि बकायेदारों द्वारा भुगतान नही कराया जा रहा है तो उनके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। राज्य कर की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि राज्य कर व तहसील आपस में समन्व्य बना के कार्य करें ताकि वसूली के प्रतिशत को और बढ़ाया जा सके। उन्होने जिन तहसीलों में वसूली का प्रतिशत कम पाया गया उनको वसूली में तेजी लाने के कड़े निर्देश दिए। उन्होने कहा कि सभी अधिकारी अपने अधीनस्थों के कार्यों की प्रतिदिन समीक्षा करें, जिससे कार्यों में आने वाली समस्याओं का निस्तारण समय से किया जा सके व कार्य तेजी से सम्पन्न हो। उन्होने उपजिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सम्बन्धित अपने अधीनस्थों के साथ क्षेत्र में जाकर सरकारी भूमि चिन्हित करें ताकि सरकारी भूमि पर किसी प्रकार का कोई अतिक्रमण न हो। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप ंिसह कुवंर ने समीक्षा के दौरान कहा कि आवश्यकतानुसार शिनाख्त की कार्यवाही भी की जायेगी, ताकि अपराधी को न्यायालय से किसी भी प्रकार की रियायत न मिल सके। उन्होने कहा कि तामील सम्मन्न से सम्बन्धित कार्यवाही में तेजी से कार्य किया जायेगा। उन्होने कहा कि अपराध को रोकने के दृष्टि से गैंगस्टर, गुंडा एक्ट व जिला बदर जैसी गम्भीर धाराओं पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि जनपद में कानून व्यवस्था किसी भी दशा में न बिगड़े इसके लिए एसडीएम व सीओ आपस में समन्वय बनाते हुए कार्य करें। इस अवसर पर एडीएम जगदीश चन्द्र काण्डपाल, ओसी नरेश चन्द्र दुर्गापाल, संयुक्त मजिस्टेªट विशाल मिश्रा, गौराव कुमार, एसडीएम निर्मला बिष्ट, मुक्ता मिश्रा, एपी बाजपेयी, सुन्दर सिंह सहित तहसीलदार आदि उपस्थित थे।

Featured Post

कोरोना काल के पश्चात राफ्टिंग का प्रारंभ होना बेहद सुखदः महाराज

ऋषिकेश। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े 15 हजार लोगों को पर्यटन विभाग की ओर से अब तक 7 करोड़ की धनराशि वितरित की जा चुकी है। उक्त बात गंगा नदी राफ...