लोक कलाकारों दी सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बहिष्कार की चेतावनी

देहरादून। उत्तराखण्ड के लोक कलाकारों ने वर्ष 2019-20 का भुगतान करने सहित अन्य मांगों को लेकर गांधी पार्क के समक्ष सांकेतिक धरना दिया। गांधी पार्क के समक्ष धरने पर बैठे लोक कलाकारों का कहना था कि प्रदेश सरकार द्वारा लोक कलाकारों को वर्ष 2019-20 तक के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का पूर्ण भुगतान अब तक नहीं किया गया है। कहा कि भारत के किसी भी राज्य में सांस्कृतिक दलों से जीएसटी नहीं लिया जाता है। जबकि उत्तराखण्ड में सांस्कृतिक दलों पर जीएसटी थोपा गया है। उत्तराखण्ड राज्य की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए सांस्कृतिक आयोजन में जाने वाले कलाकारों के बिलों का भुगतान पूर्व की भांति किया जाए। लोक कलाकारों ने कहा कि सांस्कृतिक दलों को स्थानीय कार्यक्रम में एक दिन का भत्ता दिया जाए। संस्कृति विभाग कल्याण कोष समिति में संस्कृति विभाग में पंजीकृत कलाकारों को ही सदस्य बनाया जाए। संस्कृति विभाग कलाकार कल्याण कोष से कलाकार की आर्थिक स्थिति खराब होने पर तुरंत आर्थिक सहायता की जाए। कलाकारों का पहचान पत्र पूर्व की भांति बनाया जाए। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भुगतान सांस्कृतिक कार्यक्रम के बिल जमा होने के एक महीने के अंदर किया जाए। संस्कृति विभाग में सांस्कृतिक सलाहकार का चयन यथाशीघ्र किया जाए। संस्कृति विभाग में रणमंडल संयोजक का पद शीघ्र भरा जाए। लोक कलाकारों चेतावनी दी है कि यदि उनकी मांगों पर 15 दिन तक कोई कार्यवाही नहीं की गई तो वे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का बहिष्कार करते हुए आंदेालन करने के लिए बाध्य होंगे।

Featured Post

चौबट्टाखाल के लोगों को मदद करने के लिए उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी ने शुरू की अनोखी पहल

सतपुली/देहरादून। उत्तराखंड प्रगतिशील पार्टी के चैबट्टाखाल संयोजक चंद्रशेखर नेगी ने लोगों को मदद करने के लिए अनोखी पहल की शुरुआत की। पूर्व ...