Sunday, 13 June 2021

एम्स ऋषिकेश में लाईफाई इनेबल्ड मल्टी-पैरामीटर्स सेंट्रलाइज्ड मॉनिटरिंग सिस्टम का उद्घाटन

ऋषिकेश। कोविड-19 महामारी के चलते बड़ी संख्या में मरीजों को अस्पताल में भर्ती और गहन देखभाल (इन्टेन्सिव केयर) की जरूरत पड़ रही है, ज्यादातर मामलों में मरीजों के वाइटल पैरामीटर्स पर निरंतर निगरानी रखनी पड़ रही है, इसके चलते अस्पतालों में मौजूद चिकित्सा सुविधाओं और प्रशिक्षित डॉक्टरों पर बोझ बहुत अधिक बढ़ गया है। कोविड-19 के गंभीर मरीजों, आईसीयू में भर्ती मरीजों में वाइटल पैरामीटर्स की रियल-टाईम मॉनिटरिंग के लिए जरूरी है कि प्रशिक्षित स्टाफ 24ध्7 मरीज की देखभाल के लिए उपलब्ध रहे, जो कि मौजूदा स्थिति में व्यवहारिक रूप से संभव नहीं हो सकता। इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, राज्यसभा के सांसद नरेश बंसल और विधायक रूड़की प्रदीप बत्रा ने किया। ‘कोविड-19 महामारी के इस मुश्किल दौर में देश की सेवा के लिए सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिए हमारी टीम ने लाईफाई इनेबल्ड मल्टी-पैरामीटर्स मॉनिटर सेंट्रलाइज्ड मॉनिटरिंग सिस्टम का विकास किया है, जो वीडियो कॉलिंग फीचर से युक्त है। आधुनिक लाईफाई तकनीक पर आधारित यह समाधान डॉक्टरों एवं पैरा-मेडिकल स्टाफ पर बोझ कम कर देगा, क्योंकि इसकी मदद से कोविड-19 के मरीजों और विशेष रूप से गंभीर लक्षण वाले मरीजों को समय पर उचित देखभाल मिल सकेगी।’भावेश अटल, नेशनल हैड, नव वायरलैस टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड ने कहा। ‘एम्स, ऋषिकेश में लाईफाई हॉस्पिटल समाधान को सफलतापूर्वक उपलब्ध कराकर, नवटेक आधुनिक तकनीकी समाधान उपलब्ध कराने की अपनी जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए प्रयासरत है, जो मरीजों की देखभाल में बेहद मददगार हो सकती है, इससे अस्पतालों और मेडिकल स्टाफ पर बोझ कम किया जा सकता है, साथ ही महामारी के इस मुश्किल दौर में मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा को भी सुनिश्चित किया जा सकता है।’ अर्पित केला, नेशनल हैड, नव वायरलैस टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड ने कहा। नवटेक का लाईफाई हॉस्पिटल समाधान, सेंट्रलाइज्ड मॉनिटरिंग स्टेशन की मदद से गंभीर रूप से बीमार मरीजों के वाइटल पैरामीटर्स पर 24 घंटे रियल टाईम मॉनिटरिंग करता है, जिससे प्रशिक्षित स्टाफ एक साथ कई मरीजों या पूरे आईसीयू वार्ड पर निगरानी रख पाते हैं। इसके लिए उन्हें हमेशा आईसीयूध्वार्ड मे रहने या मरीज के नजदीक रहने की जरूरत नहीं होती। ऐसे में मेडिकल स्टाफ में इन्फेक्शन के खतरे को भी कम किया जा सकता है। नवटेक के लाईफाई आधारित सीएमएस सिस्टम के लिए इंटरनेट कनेक्शन या नेटवर्क केबल या वाय-फाय इन्फ्रास्ट्रक्चर की जरूरत नहीं होती। यह पूरी तरह से इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन से रहित कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी है जो यह मरीज से जुड़े मल्टी-पैरामीटर्स मॉनिटर्स एवं अन्य टेबल टॉप मॉनिटर्स को सीएमएस के साथ कनेक्ट करती है। जिससे मरीज के वाइटल पैरामीटर्स जैसे एसपीओ2, ईसीजी, एनआईबीपी, एचआर, तापमान आदि को रियल टाईम में सेंट्रलाइज्ड लोकेशन से मॉनिटर किया जा सकता है। सेंट्रलाइज्ड मॉनिटरिंग सुविधा के साथ-साथ, नवटेक का लाईफाई हॉस्पिटल समाधान, मरीजों, मेडिकल स्टाफ एवं मरीज के रिश्तेदारों के लिए एचडी गुणवत्ता की वीडियो कॉलिंग भी उपलब्ध कराता है, जिसके लिए मोबाइल या ब्रॉडबैण्ड कनेक्टिविटी की जयरत नहीं होती। यह कॉलिंग लोकेलाइज्ड लाईफाई हाइब्रिड टेक्नोलॉजी नेटवर्क के जरिए की जाती है। इस तरह परिवारजनों और दोस्तों के संपर्क में रहने से आइसोलेशन वार्ड में रहने वाले मरीज जल्दी ठीक हो जाते हैं।

Featured Post

मन की बात में पीएम ने हैंडलूम एवं अन्य स्थानीय उत्पादों की खरीद पर दिया बल

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना। उन्होंने कहा कि मन की बात कार्यक्रम ...