Monday, 5 July 2021

डाॅक्टर्स राष्ट्र के असली रक्षकः साध्वी भगवती सरस्वती

ऋषिकेश। परमार्थ निकेतन ऋषिकेश, भारत से डाॅ साध्वी भगवती सरस्वती जी ने अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन (आपी) के वार्षिक सम्मेलन में आज मुख्य वक्ता के रूप में सहभाग कर डाॅक्टरों को सम्बोधित किया। 1982 में स्थापित, (आपी) संयुक्त राज्य अमेरिका में 80,000 से अधिक प्रैक्टिस करने वाले भारतीय डॉक्टरों के समूह का प्रतिनिधित्व करता है। इसके अलावा, यह यूएसए में 40,000 से अधिक मेडिकल छात्रों, स्थानीय निवासियों और भारतीय मूल के लोगों के लिए एक मंच के रूप में भी कार्य करता है। कोविड-19 महामारी के बाद पहली बार होने वाले इस प्रतिष्ठित सम्मेलन में डाॅ साध्वी भगवती सरस्वती, कांग्रेस की सदस्य कैरोलिन बॉर्डो, अर्ल. एल. बड्डी कार्टर, अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ बॉबी मुक्कामाला, बॉलीवुड अभिनेत्री मल्लिका शेरावत, इस्कॉन टेम्पल से आध्यात्मिक गुरू गौरांग दास तथा कई अन्य गणमान्य एवं प्रतिष्ठित हस्तियो ने सहभाग किया। डाॅ साध्वी भगवती सरस्वती जी ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये कहा कि आप सभी वास्तव में नायक (हीरों) हैं। आप ही हैं, जिन्होंने देश और देशवासियों को सुरक्षित रखा है। आमतौर पर हम सेना को देश के रक्षक के रूप में देखते हैं लेकिन इस वर्ष आप डाॅक्टर्स ने मिलकर सेना और सेनापतियों की तरह काम किया है। सैनिक सीमाओं की रक्षा करते हैं आप ने विश्व के स्वास्थ्य की रक्षा की है। आप सभी सचमुच राष्ट्र के असली रक्षक है। साध्वी जी ने कहा कि डॉक्टर के रूप में आपके पास दो खूबसूरत और अमूल्य उपहार हैं, जिन्हें आप अपने मरीजों के साथ साझा करते हैं टीचिंग एंड टच (शिक्षाएं और स्पर्श)। आपके पास अपने मेडिकल स्कूल की शिक्षाएं हैं, आपके अनुभव और आपके क्षेत्र की विशेषज्ञता है, लेकिन आपके पास और एक सुंदर उपहार भी है देने के लिये वह है ‘टच’ स्पर्श। आप के पास स्पेशल दिल है, देखभाल करने वाला आपका स्पर्श, प्रेम और करुणा जो अपने आप में बहुत कारगर उपचार है। भारतीय डॉक्टर्स के रूप में आपके पास वास्तव में 3 बहुमूल्य उपहार हैं - (टीचिंग, टच एंड ट्रांसफाॅर्मेशन) शिक्षाएं, स्पर्श और परिवर्तन जो भारतीय संस्कृति हमें देती है, जिसे मैंने 25 वर्ष पहले बहुत गहराई से अनुभव किया है। आप इन 3 उपहारों को अपने सभी रोगियों के साथ साझा करते रहें।

Featured Post

कोरोना काल के पश्चात राफ्टिंग का प्रारंभ होना बेहद सुखदः महाराज

ऋषिकेश। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े 15 हजार लोगों को पर्यटन विभाग की ओर से अब तक 7 करोड़ की धनराशि वितरित की जा चुकी है। उक्त बात गंगा नदी राफ...