Saturday, 7 August 2021

47 लाख की धनराशि से निर्मित पेयजल योजना का किया लोकार्पण

नैनीताल। राजकीय इन्टर कालेज रातीघाट मे बहुउददेशीय जनसमस्या निवारण शिविर में एस.सी.पी. योजना अन्तर्गत ग्राम पंचायत घूना में 47 लाख की धनराशि से निर्मित पेयजल योजना का लोकार्पण उपाध्यक्ष पीसी गोरखा एवं विधायक संजीव आर्य द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। शिविर में मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किट व कोरोना संकमण बचाव किट वितरित किये गये। अपने सम्बोधन मे अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा ने कहा कि सरकार की योजनाओं से कोई लाभार्थी वंचित न हो। उन्होने कहा अधिकारियो के साथ ही जनप्रतिनिधि भी लाभपरक योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को दिलाने मे पूर्ण सहयोग करें। उन्होने 13 अगस्त को गरमपानी मे व 18 अगस्त को सिमलखा मे शिविर लगाने के निर्देश पूर्ति अधिकारी को दिये ताकि सभी के राशन कार्डो का त्रुटिनिवारण एवं ऑनलाइन किये जा सकें। उन्होने कहा बहुउददेशीय शिविर मे प्राप्त जन समस्याओं का समयाधि मे निस्तारण करें तथा आयोग को भी अवगत करायें। उन्होने क्षेत्र मे मोेबाइल टावर लगाने का अनुरोध भी किया। उन्होने श्रम विभाग को क्षेत्र के सभी पात्र श्रमिकों को श्रम विभाग मे पंजीकरण कर श्रमिको के कार्ड बनाने के निर्देश दिये साथ ही कहा कि जो कार्ड बने है उनका वितरण भी सुनिश्चित किया जाए। शिविर को सम्बोधित करते हुये विधायक संजीव आर्य ने कहा क्षेत्र की सभी समस्याओ का प्राथमिकता निर्धारित करते हुये निस्तारित किये जायेंगे। श्री आर्य ने कहा घूना पेयजल योजना से प्रत्येक घूना गांव के घरों मे पेयजल संयोजन दिया जायेगा, जिसके लिए 13 लाख की धनराशि स्वीकृत हो चुकी है तथा जिसका टैंडर भी हो गया है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा संचाचित विभिन्न विभागों द्वारा लाभपरक योजनाओं का जागरूक होकर लाभ उठायें। उन्होने कहा कि विकास योजनाओं के अन्तर्गत जो कार्य हो रहे हैं उनकी गुणवत्ता पर पैनी नजर रखें ताकि योजना, विकास कार्य धरातल पर उतरें और जनता को उनका लाभ मिल सके। उन्होने क्षेत्रवासियों से कहा कि मोबाइल टावर हेतु भूमि निःशुल्क चिन्हित कर प्रस्ताव दें ताकि मोबाइल टावर लगाने की कार्यवाही की जा सके। श्री आर्य ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति बाहुल्य ग्रामों मे अवस्थापना का विकास योजना मे घूना ग्राम पंचायत को प्रस्तावित करने के निर्देश दिये ताकि घूना ग्राम पंचायत मे सडक, पेयजल,पुल, विद्युत, सिचाई गूल, बारातघर, जनमिलन केन्द्र आदि बनाये जा सके। उन्होने कहा पेयजल समस्या निवारण हेतु भारत सरकार द्वारा जलजीवन मिशन योजना संचालित है जिसमे हर घर मे नल व नल मे जल दिया जाना है। इसलिए क्षेत्र के प्रत्येक गांव का सर्वे करें जिसमे जनप्रतिनिधियो एवं गणमान्यों का भी सहयोग लिया जाए। श्री आर्य ने पाडली मे भी पेयजल योजना का सर्वे कर शीघ्र प्रस्ताव बनाने के निर्देश भी दिये। उन्होने कहा हरतपा मे सडक हेतु 5 लाख की धनराशि दी गई है, उससे सडक कटिंग कराकर आगे बढाने हेतु भी प्रस्ताव बनाकर देने के निर्देश ग्रामीण विकास विभाग को दिये साथ ही उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास कार्यो में मनरेगा से युगपतिकरण कर योजनाएं बनाने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये। उन्होेने कहा कि जिन बच्चों ने कोरोना काल मेे अपने अभिभावक खोये है उन्हेे वात्सल्य योजना मे चिन्हित कर लाभान्वित किया जाए। उन्होने कहा हमें दलगत राजनीति से उपर उठकर क्षेत्र का सर्वार्गींण विकास करना होगा। शिविर मे 74 कोविड वैक्सीनेशन किया गया साथ ही 64 कोविड जांच, 95 स्वास्थ्य परीक्षण,03 कृषि यंत्र,11 लोगों को उद्यान विभाग द्वारा बीज वितरण,13 वृद्वा पेंशन, 06 दिव्यांग,06 विधवा,02 परित्याकिता, 05 विवाह अनुदान के फार्म भरे गये तथा 10 बीपीएल कोड, 12 परिवार रजिस्टर नकल,12 प्रधानमंत्री श्रमयोगी आवेदन भरे गये। शिविर मे विभिन्न विभागों द्वारा स्टाल भी लगाये गये। शिविर मे ब्लाक प्रमुख आनन्दी बधानी, प्रधान जया किशोर, जिला पंचायत सदस्य अंकित साह, क्षेत्र पंचायत सदस्य रूचि, नीलम, बीना रौतेला, पूर्व प्रधान नन्दकिशोर, धीरज बिष्ट, कन्नू गोस्वामी के अलावा उपजिलाधिकारी विनोद कुमार,सीओ बीएस धौनी, अधिशासी अभियन्ता जलसंस्थान एसके उपाध्याय, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, प्रोवेशन अधिकारी व्योमा जैन, श्रम अधिकारी मीनाक्षी काण्डपाल, प्रधानाचार्य श्यामदत्त चैधरी आदि मौजूद थे

Featured Post

कोरोना काल के पश्चात राफ्टिंग का प्रारंभ होना बेहद सुखदः महाराज

ऋषिकेश। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े 15 हजार लोगों को पर्यटन विभाग की ओर से अब तक 7 करोड़ की धनराशि वितरित की जा चुकी है। उक्त बात गंगा नदी राफ...