Sunday, 29 August 2021

स्व. जेपी पांडे व उनके सहयोगियों को निर्दाेष ठहराये जाने के कोर्ट के फैसले का किया स्वागत

देहरादूना। उत्तराखंड कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एवं राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से अब से करीब 11 वर्ष पूर्व उत्तराखंड पुलिस के एक दरोगा गणेश बौंठियाल द्वारा पांच अन्य अभियुक्तों के साथ मिलकर व साजिश रच कर जाने-माने राज्य निर्माण आंदोलनकारी जेपी पांडे के विरुद्ध एक झूठे मामले में उन्हें जेल भिजवाए जाने के मामले में हरिद्वार के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मुकेश चंद्र आर्य द्वारा स्वर्गीय जे पी पांडे व उनके सहयोगियों को निर्दाेष ठहराये जाने के फैसले का जोरदार स्वागत करते हुए स्वर्गीय जेपी पांडे को हंसाने वाले उक्त दरोगा गणेश बौंठियाल को उनकी नौकरी से तत्काल बर्खास्त किए जाने, उन्हें जेल भेजे जाने व उनके साथ के पांच अन्य अपराधकर्मियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग उठाई है। धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि स्वर्गीय ज जेपी पांडे क्योंकि समाज के तमाम हिस्सों में भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज उठाते रहते थे यही कारण था कि पुलिस दरोगा गणेश बौठियाल ने स्वर्गीय जेपी पांडे को 11 साल पहले एक झूठे मामले में फंसा दिया था जिसमें उन्हें कई दिनों तक हरिद्वार जेल में उत्पीड़न भी सहना पड़ा था और कांग्रेस पार्टी ने भी जेपी पांडे को बजाय उनके मदद करने के किनारा करके भगवान के भरोसे छोड़ दिया था। धीरेंद्र प्रताप ने बताया उस दौरान वे अकेले कांग्रेस के ऐसे नेता थे जो हरिद्वार जेल में उन्हें मिलने गए व उनकी लगातार मदद की। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि जिस तरह से अब हरिद्वार के विद्वान न्यायाधीश ने फैसला दिया है उससे स्पष्ट हो गया है कि स्वर्गीय जेपी पांडे बेदाग नेता थे और सामाजिक जीवन में सच्चे मुद्दों को लेकर लड़ने वाले नेताओं को किस तरह का उत्पीड़न झेलना पड़ता है यह घटना इसका जीता जागता प्रमाण थी। प्रताप ने इस मामले में अब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मांग की है कि वे इस मामले में तत्काल व्यक्तिगत हस्तक्षेप कर उक्त भ्रष्ट दरोगा को तत्काल पुलिस सेवा से बर्खास्त कर जेल भेजने का मार्ग प्रशस्त करें व अन्य लोग भी जो दोषी हैं उन्हें सजा मिलनी चाहिए धीरेंद्र प्रताप ने कहा पुलिस को सदैव अपना रवैया निष्पक्ष रखना चाहिए और प्रशासन के लोगों को भी हर मामले में दूध का दूध और पानी का पानी करना चाहिए। धीरेंद्र प्रताप ने कहा स्वर्गीय जे पी पांडे तो एक सड़क दुर्घटना में अतीत का हिस्सा बन गए परंतु उनके द्वारा किए गए संघर्षाे को आज भी हरिद्वार और उत्तराखंड के हजारों लोग याद कर रहे हैं और इस मामले में उनके बरी होने से उनका चेहरा और चमक कर जनता के सामने आ गया है। उन्होंने उन्हें उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन का एक चमकदार सितारा बताया जिसे जनता ने फील्ड मार्शल का दर्जा दिया। धीरेंद्र प्रताप ने कांग्रेस समेत तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं से कहा है कि वे उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले लोगों की उपेक्षा न करें क्योंकि इससे बड़ा कोई पाप हो नहीं सकता।जिन्होंने रात दिन राज्य निर्माण के लिए बड़े संघर्ष की हत्या की है जिले काटी, आंदोलन किए उन्हें दरकिनार किया जा रहा है और पैसों के दम पर, भ्रष्टाचार के दम पर, साजिशें रच कर, भाई भतीजावाद कर, अच्छे-अच्छे नेताओं का गला कोटा जा रहा है। यह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। जिसमें बड़े नेताओं के व्यवहार में निश्चय ही सुधार होना चाहिए। धीरेंद्र प्रताप ने हाल के विधानसभा सत्र में सरकार के एक मंत्री व पूर्व भाजपा अध्यक्ष बंशीधर भगत द्वारा आंदोलनकारियों के 10 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण प्रस्ताव राज्यपाल को भेजे जाने को भी सफेद झूठ बताते हुए कहा कि मंत्रियों को सदैव सच बोलना चाहिए और जनता को बेवकूफ नहीं बनाना चाहिए।

Featured Post

सीएम धामी ने पौध उपहार व जन्मदिन पर पौधे लगाने की सीख दीः वृक्षमित्र डॉ सोनी

देहरादून। पौधों को भावनाओं से जोड़कर कार्य कर रहे वृक्षमित्र डॉ त्रिलोक चंद्र सोनी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को बहुत-बहुत बधाई दी। कह...