उत्तराखंड में जितने भी रिहाबिटेशन सेंटर हैं उनकी जांच होेः मधु जैन

देहरादून। मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन की प्रदेश अध्यक्ष मधु जैन ने देहरादून के अंदर लोगों से ड्रग्स की लत छुड़ाने वाले प्राइवेट रिहैबिटेशन सेंट्रो में युवतियों से जबरन रेप करने मामले को घोर निंदा करते हुए कहा कि किस तरह से उन लड़कियों को प्रताड़ित कर उनके साथ जबरन अत्याचार किए गए यह अत्यंत चिंता का विषय है। इसकी कड़े शब्दों में घोर निंदा करती हूं। इस तरह के कुकृत्य असहनीय है। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मांग की है कि उत्तराखंड के अंदर जितने भी ऐसे रिहाबिटेशन सेंटर हैं उनकी जांच होनी चाहिए। क्या वह सरकार की दी गई गाइड लाइन का पालन कर रहे हैं। जो लोग ऐसे सेंटर चला रहे हैं क्या वहां कोई अपराधिक या अपराधी गतिविधियों में लिप्त तो नहीं हैं। सरकार को इन सारे सैंटरांे के लिए एक गाइडलाइन बनानी चाहिए। ऐसे कृत्य करने वालों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई सरकार को करनी चाहिए, जिससे कोई भी किसी भी बालिका के साथ इस तरह के कुकृत्य करने की हिम्मत न कर सकें। इसमें कोई शक नहीं है हमारा पुरुष प्रधान देश है किंतु पुरुष भी तब है जब महिलाएं हैं, पुरुषों को जन्म देने वाली मातृशक्ति ही है।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर