Thursday, 12 August 2021

मानक पूरा करके स्थायी रजिस्ट्रेशन वाले अस्पतालों में विभिन्न बड़े अस्पताल भी शामिल नहीं

देहराूदन/काशीपुर। उधमसिंह नगर जिले में वैसे तो हजारों की संख्या में अस्पताल, क्लीनिक, नर्सिंग होम, लैबों सहित क्लीनिक इस्टैबलिशमेन्ट है लेकिन कुल वैध स्थापन केवल 269 ही है। इसमें से केवल 136 प्रतिष्ठान को ही मानक पूरे करके स्थायी रजिस्ट्रेशन प्राप्त हुआ है। यह सनसनीखेज खुलासा सूचना अधिकार के अन्तर्गत मुख्य चिकित्सा अधिकारी उधमसिंह नगर कार्यालय द्वारा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ है। काशीपुर निवासी सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी, उधमसिंह नगर से उधमसिंह नगर जिले के क्लीनिकल इस्टैबलिशमेन्ट एक्ट के अन्तर्गत स्थाई और अनन्तिम (प्रोवीजनल) रजिस्टर्ड नैैदानिक स्थापनों (क्लीनिकल इस्टैबलिशमेन्ट) की सूचना मांगी थी।। इसके उत्तर मेेें मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के लोक सूचना अधिकारी/अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अपने पत्रांक 4555 दिनांक 25-06-2021 के साथ रजिस्टर्ड स्थापनों की सूची उपलब्ध करायी है। जिसमें स्थायी पंजीकृत केवल 136 तथा जून 2021 के बाद तक वैैधता वाले अनन्तिम (प्रोवीजनल) पंजीकृत 133 स्थापन ही शामिल है। श्री नदीम को उपलब्ध सूची से स्पष्ट हैै कि विभिन्न बड़े अस्पताल व अपंजीकृत स्थापन अंपजीकृत अवैध है तथा उच्च न्यायालय ने ऐसे अस्पतालों पर कार्यवाही व बन्द करने का आदेश दे रखा हैै। श्री नदीम को उपलब्ध स्थायी पंजीकृत नैैदानिक स्थापनोें की सूची में 136 स्थापनों में 18 बाजपुर के, 4 दिनेशपुर के, 14 गदरपुर के, 3 जसपुर के, 20 काशीपुर के, 12 खटीमा केे, 15 किच्छा के, 1 नानकमत्ता, 36 रूद्रपुर के, 7 सितारगंज के व 6 अन्य स्थापन शामिल है। श्री नदीम को उपलब्ध अनन्तिम (प्रोवीजनल) पंजीकृत 30 जून 2021 के बाद वैैधता वाले कुल 133 स्थापनों में रूद्रपुर के 11, बाजपुर के 25, किच्छा के 6, काशीपुर के 49, खटीमा के 1, जसपुर के 9, दिनेशपुर के 2, सितारगंज के 15 तथा नानकमत्ता के 1 तथा अन्य स्थानों के 5 स्थापन शामिल है। काशीपुर के स्थायी रजिस्टर्ड 8 अस्पतालों में एम.पी0मेमोरियल हास्पिटल, एल.डी.भट्ट राजकीय चिकित्सालय, संकल्प हास्टिपल, डा0जोशी क्लीनिक, उजाला हास्पिटल, नवजीवन हास्पिटल, आर्यन क्षारसूत्र बवासीर अस्पताल, अली नर्सिंग होेग/हास्पिटल शामिल हैै। खटीमा मेें खिण्डा हास्पिटल, किच्छा के बाठला हास्पिटल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, सूरज मल लक्ष्मीदेवी सावरभिजा एजुकेशन ट्रस्ट हास्पिटल, नानकमत्ता का नानकमत्ता हास्पिटल शामिल है। रूद्रपुर के स्थायी रजिस्टर्ड अस्पतालोें में बी0डी0पाठक हास्पिटल, सिद्धि विनायक हास्पिटल, प्रकाश डेन्टल हास्पिटल, श्री कृष्णा हास्पिटल, श्रीराम आई केयर एवं नर्सिंग होम, संजीवनी हास्पिटल, सरकार हास्पिटल, चीमा हास्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर, कृष्ण हास्पिटल, जीवनदीप हास्पिटल, जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय, आशा नर्सिंग होम, ओम हास्पिटल एण्ड मर्टिनिटी होम, अग्रवाल हास्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर, ग्लोबल हास्पिटल एवं फार्मास्युटिकल रिसर्च सेन्टर शामिल है। सितारगंज केे स्थायी रजिस्टर्ड अस्पतालोें में टुरना सर्जिकल हास्पिटल, गुरू रामदास अस्पताल शामिल है। बाजपुर के कल्पना चाइल्ड केयर, भारत हास्पिटल चकरपुर, पूजा अस्पताल, डा0 पाडेेय हास्पिटल, जी0डी0 आई हास्पिटल, दिनेशपुर का भारत हास्पिटल, गदरपुर का महाजन नर्सिंग होम, सिंह हास्पिटल व भारत हास्पिटल तथा अन्य स्थापनों में अमृत हास्पिटल व अरोरा हार्ट केयर सेन्टर शामिल है।

Featured Post

तकिये से दबाकर बेटे की हत्या करने के बाद खुद फंदे से लटक गई मां

रुद्रपुर। रुद्रपुर में दो मौतों का सनसनीखेज मामला सामने आया है। चचिया ससुर के घर खेड़ा आई ट्रांजिट कैम्प निवासी महिला ने बीती देर रात पहले ...