भाजपा सरकार की विफलताओं को जनता तक पहुंचाएं कार्यकर्ताः चौहान

विकासनगर। सहसपुर विधानसभा क्षेत्र को लेकर इस बार कांग्रेस गंभीरता से ले रही है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष पृथ्वीपाल सिंह चौहान ने कहा कि चुनावों में युवाओं की भागीदारी महत्वपूर्ण है। कहा कि युवा शक्ति बूथ को मजबूत करेगी और बूथ मजबूत होंगे तो जीत भी सुनिश्चित है। कहा कि पिछले तीन विधानसभा चुनावों से सबक लेकर इस बार कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हर हाल में सहसपुर विधानसभा जीतनी है। सोमवार को नयागांव में एक वेडिंग प्वाइंट में यूथ कांग्रेस के बूथ अध्यक्षों की बैठक में शामिल होने पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष पृथ्वीपाल सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा विधायक व मंत्रियों ने पिछले तीन विधानसभाओं में सहसपुर की उपेक्षा की है। राजधानी देहरादून की सबसे नजदीकी महत्वूपर्ण सीट होने के बावजूद सहसपुर का विकास नहीं हुआ है। कहा कि संगठन में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होनी चाहिए। युवाओं को साथ लाना होगा। कहा कि भाजपा की इबल इंजन सरकार ने जनता को निराश किया है। महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी चरम पर है। कहा कि आज बेरोजगारी के मामले में उत्तराखंड देश के टॉप राज्यों में एक है। सरकारी विभागों में पद भरने के बजाय पदों को समाप्त किया जा रहा है। शिक्षित प्रशिक्षित युवा बेरोजगारी के मारे दर-दर भटक रहे हैं। पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस खाद्य तेलों व दालों की कीमतें आसमान छू रही हैं। इस डबल इंजन सरकार ने आम आादमी की कमर तोड़कर रख दी है। कहा कि जनता भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए तैयार है। जरुरत कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर पार्टी को मजबूत करने की है। चौहान ने कार्यकर्ताओं को गांव-गांव जाकर विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाने का आह्वान किया। कार्यक्रम के संयोजक राकेश नेगी ने बूथ अध्यक्षों को अपने अपने बूथ पर युवाओं को जोड़ने और मजबूत करने का आह्वान किया। इस मौके पार्टी नेता लक्ष्मी अग्रवाल, गुलजार अहमद, विनोद चौहान, ताहिर अली, मयंक सिंह, सुरेश राम, विशन थापा, नीतू, पवन थापा, अश्वनी, नूर हसन, कलाराम आदि मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

शिक्षा अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को एसएसपी को भेजा पत्र, DG शिक्षा से की विभागीय कार्रवाई की मांग