Wednesday, 8 September 2021

तीस शिक्षक-शिक्षिकाओं को किया सम्मानित

देहरादून। शिक्षक दिवस के उपलक्ष में मनबीर कौर चौरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में यूथ रेडक्रास सोसायटी तथा प्रादेशिक लोकसंपर्क ब्यूरो देहरादून द्वारा संयुक्त रूप से राजकीय बालिका इंटर कॉलेज (स्मार्ट स्कूल) राजपुर रोड पर सर्वश्रेष्ठ शिक्षक सम्मान के तहत तीस पूर्व एवं वर्तमान शिक्षक शिक्षिकाओं को मनबीर कौर शिक्षक गौरव रत्न अवार्ड प्रदान करके सम्मानित किया गया। सम्मानित शिक्षक -शिक्षिकाओं में जी०जी०आई०सी० राजपुर रोड की प्रधानाचार्या प्रेमलता बौड़ाई, एम०के०पी० इंटर कॉलेज की पूर्व उप-प्रधानाचार्य व एन०सी०सी०; ऑफीसर मेजर प्रेमलता वर्मा, जी०जी०आई०सी० की लेफ्टिनेंट मीनाक्षी रावत, एन० एस० एस० अधिकारी कविता रूहेला, पूर्व एन एस एस अधिकारी विजय लक्ष्मी यादव, संगीत विभागाध्यक्ष डॉ० संगीता शर्मा, डीएवी इंटर कॉलेज के एन एस एस अधिकारी डी आर रवि, एम के पी पी जी कॉलेज की पूर्व मनोविज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ० सरस्वती सिंह, डॉ० आर आर द्विवेदी, जी पी चमोली,विजय बहुगुणा, कुसुम लता , उर्मिला सिंह,गौरी रौतेला, बीना चौहान, सेंट थॉमस स्कूल की जागृति डोभाल,जीजी आईसी लक्खीबाग की बलबीर नौटियाल, सुमन सिंह,मोना कौल, घनसाली मसूरी से रूकमेशवर सुरिया, जी आर गंगवार, मनोरमा नेगी, कौशल्या अग्रवाल, संतोष डिमरी,सुस्मिता पांडे , ममता श्रीवास्तव,रामरानी थपलियाल,शिखा बिष्ट,प्रतिभा पाठक तथा ईरा कुकरेती सम्मिलित थे। समारोह का उद्घाटन मुख्य अतिथि हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के पूर्व उपकुलपति डॉ० आई पी सक्सेना,अति विशिष्ट अतिथि व रेडक्रास सोसायटी उत्तराखंड के महासचिव डॉ० एम एस अंसारी , विशिष्ट अतिथि यूथ रेडक्रास कमेटी के चेयरमैन अनिल वर्मा, समारोह अध्यक्ष व जीजीआई सी की प्रधानाचार्या श्रीमती प्रेमलता बौड़ाई , गढ़वाल मंडल विकास निगम की निदेशक पुष्पा बड़थ्वाल, मनबीर कौर चौरिटेबल ट्रस्ट की निदेशक रमनप्रीत सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। तत्पश्चात भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत विद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती वंदना तथा सर्वशक्ति सांस्कृतिक एवं सामाजिक संस्था की निदेशक सुरमई के निर्देशन में कलाकारों द्वारा गंगा पूजा गढ़वाली लोकनृत्य तथा साक्षरता पर आधारित नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया। मुख्य अतिथि व पूर्व उपकुलपति गढ़वाल वि० वि० डॉ०आई पी सक्सेना ने कहा कि शिक्षा ,शिक्षक एवं विद्यार्थी राष्ट्रीय विकास की नींव के पत्थर है। इनमें से एक भी ईंट कमजोर होने पर उन्नति की इमारत मजबूत नहीं रह सकती। इसलिए शिक्षा प्रणाली में तीनों का समान महत्व है। अति विशिष्ट अतिथि डॉ० एम०एस० अंसारी ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ विद्यार्थियों को स्वरोजगारपरक शिक्षा भी प्राप्त करनी चाहिए ताकि वे डिग्रियां लेकर भटकने के बजाय आत्मनिर्भर बन सकें। विशिष्ट अतिथि अनिल वर्मा ने कहा कि आज हमारे राष्ट्र को शिक्षित, प्रशिक्षित, अनुशासित तथा चरित्रवान आदर्श युवाओं की आवश्यकता है। आज बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा में नैतिक व सांस्कृतिक मूल्यों को पुनर्स्थापित करने की बेहद आवश्यकता है।शिक्षक इस काम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। कार्यक्रम अध्यक्षा प्रेमलता बौड़ाई ने सभी सम्मानित शिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि हमें अपनी जिम्मेदारियों को बोझ न समझकर ईश्वर की सौगात मानकर समाज, राष्ट्र तथा मानवता की सेवा करनी चाहिए।हम भाग्यशाली हैं जो हमें ईश्वर से भी ऊपर का दर्जा दिया गया है। धन्यवाद ज्ञापन करते हुए मनबीर कौर चौरिटेबल ट्रस्ट की निदेशक रमनप्रीत कौर ने मुख्य अतिथि डॉ० आई पी सक्सेना,यूथ रेडक्रास कमेटी के चेयरमैन अनिल वर्मा, प्रादेशिक लोक संपर्क ब्यूरो के अधिकारियों एन एस नयाल व हेमंत चंदेल, रेडक्रास सोसायटी मैनेजिंग कमेटी के सदस्य मोहन खत्री तथा इशरत हबीब खान, नवग्रह शनि मंदिर के आचार्य डॉ० सुशांत राज, एक्साईड लाइफ इंश्योरेंस के ब्रांच मैनेजर अर्पण ममगाईं तथा जीजीआई सी की प्रधानाचार्या प्रेमलता बौड़ाई सहित समस्त शिक्षकों आयोजन की सफलता में सहयोग हेतु धन्यवाद एवं आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का कुशल संचालन प्रेरणा रावत ने किया।

Featured Post

तकिये से दबाकर बेटे की हत्या करने के बाद खुद फंदे से लटक गई मां

रुद्रपुर। रुद्रपुर में दो मौतों का सनसनीखेज मामला सामने आया है। चचिया ससुर के घर खेड़ा आई ट्रांजिट कैम्प निवासी महिला ने बीती देर रात पहले ...