Saturday, 18 December 2021

भारत में अपनी तरह का पहला एवं उत्तराखंड सरकार की पहल-बकरॉ और उत्तरा फूड फेस्टिवल की धूम

देहरादून। उत्तराखण्ड सरकार की एक पहल और देश में अपनी तरह की पहली पहल, बकरॉ और उत्तरा फिश फेस्ट का आयोजन 17 और 18 दिसम्बर को पैसिफिक मॉल, देहरादून में बड़ी धूमधाम से किया गया। यह पहली बार है कि भारत में किसी राज्य सरकार ने अत्यधिक प्रभावी विपणन मंच देकर पशुपालकों की आय को बढाने की पहल की है। उत्तराखंड सरकार की ओर से प्रचारित बकरा मटन का ब्रांड स्थानीय, राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर एक लोकप्रिय ब्रांड बन गया है। इसे खाडी और अन्य देशों में निर्यात किया जा रहा है। जहां इसे एक अच्छा बाजार मिल रहा है। इसके अलावा, उत्तरा मछली के ब्रांड नाम के तहत राज्य द्वारा प्रचारित स्वादिष्ट ट्राउट मछली उच्च गुणवत्ता और आर्थिक मूल्य निर्धारण के कारण प्रतिदिन लोकप्रिय हो रहा है। डा. आर0मीनाक्षी सुन्दरम सचिव, सहकारिता, पशुपालन, मत्स्य पालन और राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना के मुख्य कार्यक्रम निदेशक ने कहा कि ट्राउट मछली और हिमालयन गोट मीट उच्च हिमालयी क्षेत्रों के उत्पाद है, उन्हें राज्य की राजधानी में बढ़ावा देने और पूरे भारत में इन प्रीमियम उत्पादों के बार मेें जागरूकता बढ़ाने के लिए दो दिवसीय ग्रैंड फूड फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। डॉ. आर0 मीनाक्षी सुन्दरम् ने सभी स्टॉलों का निरीक्षण किया। उन्होंने इस बात की सराहना की कि ग्रैंड फूड फेस्टिवल में उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों की पेशकश की गई है। इस आयोजन में ताज ऋषिकेश, जेडब्ल्यू मैरियट मसूरी, 4 प्वाइन्ट राजपुर रोड़ एवं कईं अन्य प्रसिद्ध पॉच सितारा होटलों के स्टॉल लगाए गए तथा सभी आय वर्ग के लोगों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। उत्तराखण्ड के निवासियों ने हिमालयी बकरी के मांस और उत्तरा ट्राउट मछली से बने स्वादिष्ट व्यंजनों का आनन्द लिया। लोगों के लिए खाना पकाने की प्रतियोगिता आयोजित की गई, जिसमें उत्तराखण्ड के विभिन्न हिस्सों से लगभग 50 प्रतिभागियों ने भाग लिया। फूड फेस्टिवल में सांस्कृृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। जहॅा सुप्रसिद्ध कलाकार प्रियंका मेहर और प्रत्यूल जोशी ने कार्यक्रम प्रस्तुत किये। इस सांस्कृतिक संध्या में गायिका प्रियंका मेहर एवं प्रत्यूल जोशी के बैण्ड ने मनभावक प्रस्तुति दी, जिसे कि दर्जनों युवाओं ने नाच-गाकर समा बांध दिया। डॉ. आर. मीनाक्षी सुन्दरम्् ने कहा कि हमारे दूर-दराज के पर्वतीय क्षेत्र के पशुपालकों एवं किसानों, जो कि बकरा पालन एवं मत्स्य पालन कर रहे हैं, उनकी आय को बढ़ाने एवं उनके उत्पाद से जन साधारण को जागरूक करने के उदद्ेश्य से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उन्होंने मांसाहारी लोगों को शुद्ध और जैविक रूप से तैयार उच्च गुणवत्ता वाले बकरॅा ब्राण्ड के मटन एवं शुद्ध ट्राउट मछली को खरीदने के लिए प्रोत्साहित किया, जिससे कि किसानों की आय में वृृद्धि हो सके। परियोजना निदेशक भेड़ और बकरी अविनाश आनन्द, परियोजना निदेशक मत्स्य पालन एच0के0 पुरोहित, महाप्रबन्धक सूचना और प्रसारण यू0के0 सी0डी0पी0 नीलम भट््ट सिल्सवाल, उप महाप्रबन्धक अजय कुमार शर्मा और प्रबन्धक विपणन उत्तरा मछली सुशील डिमरी भी उपस्थित थे।

Featured Post

टिकट न मिलेन पर भाजपा नेताओं पर लगाया दगाबाजी का आरोप

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए टिकट बंटवारे में भाजपा ने 10 नेताओं के टिकट काटे हैं। उनमें से कुछ ने बगावत कर दी है। कर्णप्रयाग व...