Thursday, 23 December 2021

इंडियन ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन ने गोवा में पद्मश्री डॉ. संजय को किया सम्मानित

देहरादून। इंडियन ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन (आई.ओ.ए.) ने 66वें वार्षिक सम्मेलन में उद्घाटन समारोह के दौरान आई.ओ.ए. के अध्यक्ष डॉ. बी. शिवशंकर ने डॉ. बी. के. एस. संजय को पद्मश्री सम्मान मिलने पर गोवा में सम्मानित किया। यह बात गौरतलब है कि डॉ. बी. के. एस. संजय को इस साल 9 नवम्बर 2021 को दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा डॉ. बी. के. एस. संजय के उत्कृष्ट चिकित्सीय एवं सामाजिक सेवाओं को देखते हुए भारत के चौथे सर्वाेच्च नागरिक सम्मान से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह एवं कैबिनेट के अन्य मंत्रियों एवं अति विशिष्ट गणमान्य लोगों की मौजूदगी में अलंकृत किया गया था। डॉ. संजय को अब तक बहुत सी सामाजिक एवं व्यवसायिक संस्थाऐं, सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थाऐं, उनके छात्र-छात्राऐं, सहपाठियों, उत्तराखण्ड ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन, सहयोगियों द्वारा कई मंचों से सम्मानित किया जा चुका है। इसी कड़ी में इंडियन ऑर्थाेपीडिक एसोशिएसन को अपनी सेवाऐं देने के उपलक्ष में आई.ओ.ए. के पदाधिकारियों ने डॉ. बी. के. एस. संजय को गोवा में सम्मानित करने का निर्णय लिया था। इस सम्मेलन में देश भर के लगभग 5 हजार से भी ज्यादा ऑर्थाेपीडिक शल्य चिकित्सकों ने भाग लिया था। सम्मान मिलने पर डॉ. संजय ने आई.ओ.ए. के अध्यक्ष डॉ. बी. शिवशंकर, सचिव डॉ. नवीन ठक्कर, सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. राम चड्डा तथा एसोशिएसन के अन्य पदाधिकारियों का आभार प्रकट किया। डॉ. संजय राज्य और यूपीएससी चयन बोर्डों के सलाहकार और हेमवती नंदन बहुगुणा गढवाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर गढवाल की विशेषज्ञ समिति के सदस्य है। डॉ. बी. के. एस. संजय को इनकी योग्यता के आधार पर इन्हें कई राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय फैलोशिप से पुरस्कृत किया गया। इन्होंने दुनिया के सुप्रसिद्ध तथा उच्च कोटि के संस्थानों में जैसे कि केरोलिनस्का इंस्टीट्यूट स्टाकहोम स्वीडन, सिटी हॉस्पिटल सोलोथूर्न स्विट्जरलैंड, चीबा कैंसर सेंटर, चीबा जापान, रॉयल एडिलेड अस्पताल एडिलेड, आस्टेªलिया, मेयो क्लीनिक रॉचौस्टर मिनीसोटा संयुक्त राष्ट्र अमेरिका तथा इलीजारॉब सेंटर, कुरगान, रूस में उच्च शिक्षा तथा शोध कार्य किया। इनके अब तक सौ से ज्यादा शोध राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनांे में और शोध पत्रिकाओं में छप चुके है। डॉ. संजय को जापान, सिंगापुर, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैण्ड, अमेरिका एवं मलेशिया के विभिन्न विश्वविद्यालयों में व्याख्यान देने का गौरव प्राप्त हो चुका है। यह उत्तराखण्ड प्रदेश के ऑर्थाेपीडिक संघ के संस्थापक अध्यक्ष है एवं कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रोफेशनल संघों के आजीवन सदस्य एवं फैलो है। कोरोना महामारी के दौरान डॉ. संजय अपनी सामाजिक सेवा बहुत बखूबी निभा रहे हैं। इनके द्वारा लाखों लोगों को रेडियों, टी.वी., केबल नेटर्वक, स्वास्थ्य पत्र-पत्रिकाऐं एवं समाचार-पत्रों के माध्यम से जागरुक कर चुके हैं। जिसके लिए इनको कोरोना योद्धा सम्मान, कोराना वरियर्स, अनस्टॉपेबल कोविड फाइटरए सेवा रत्न सम्मान आदि सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है। डॉ. संजय ने सम्मेलन के दौरान पत्रकारों को बताया कि वह आजीवन विकलांगता एवं सड़क दुर्घटनाओं को न केवल कम करने के लिए जारी रखेंगे अपितु इसे और जोर-शोर से आगे बढ़ाने की कोशिश जारी रखेंगे। डॉ. संजय ने इस माध्यम से जनता से अपील की, कि अपने और जनहित में सड़क यातायात के नियमों को सीखेंगे एवं मानेंगे। यदि सब लोग ऐसा करते हैं तो यह राष्ट्र निर्माण योगदान का एक अच्छा उदाहरण होगा।

Featured Post

चारधाम यात्राः एक माह में 16 लाख से अधिक तीर्थयात्री उत्तराखंड पहुंच चुके

देहरादून,गढ़ संवेदना न्यूज। अन्य सालों के मुकाबले इस साल भारी संख्या में यात्री एवं श्रद्धालु चार धाम यात्रा पर आ रहे हैं। 1 माह में यात्रि...