Thursday, 20 January 2022

डीएम ने निर्वाचन के संबंध में रिटर्निंग अधिकारियों को दिए जरूरी दिशा-निर्देश

देहरादून। जिला निर्वाचन अधिकारी व जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार की अध्यक्षता में विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022, के सफल सम्पादन हेतु की गई आवश्यक तैयारियों संबंध में एन आई सी सभागार में आयोजित बैठक में रिटर्निंग अधिकारियों एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने सभी रिटर्निंग अधिकारियों एवं नोडल अधिकारियों को अवगत कराया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आवश्यक सेवा पर अनुपस्थित मतदाताओं के रूप में डाक मतपत्र के माध्यम से मतदान की सुविधा के प्रयोजन के लिए संबंधित विभाग अपने राज्य मुख्यालय जनपद हेतु एक-एक नोडल अधिकारी नामित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी विभाग के संबंधित कर्मचारियों को डाक मतपत्र की सुविधा एवं जिम्मेदारियों से अवगत कराते हुए उनके फॉर्म-डी की प्रतियां प्राप्त कर संबंधित जनपद/विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के नोडल अधिकारियों को आयोग द्वारा निर्धारित समय सीमा के भीतर उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने बताया कि संबंधित विभागों/संस्थानों के कार्मिकों हेतु डाक-मतपत्र से मतदान 8, 9 व 10 फरवरी 2022 को प्रातः 9 बजे से सांय 05 बजे तक नियत है। उन्होंने सभी रिटर्निंग अधिकारियों को आयोग द्वारा आवश्यक सेवा वाले मतदाताओं हेतु मतदान करने के लिए मतदान केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने डाक-मतपत्र हेतु लगी टीम का रेण्डमाईजेशन, माइक्रो ऑब्जर्वर की नियुक्ति तथा मतपत्रों हेतु तहसील स्तर पर स्ट्रांग रूम की व्यवस्था, डाक मतपत्र व नाम-निर्देशन हेतु नामित किये गये सहायक रिटर्निंग आफिसरों का विवरण, फॉर्म-12डी नोटिस की प्राप्ति तथा सभी रिटर्निंग अधिकारियों को उनकी विधानसभा में स्थापित मॉडल बूथ का एवं सखी बूथ का विवरण प्राप्त करते हुए भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों अनुसार संबंधित बूथ पर व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश दिए तथा बनाए गए बूथों का निरीक्षण कर आवश्यक व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि जनपद में 943 मतदान केन्द्रों में वेबकास्टिंग की जानी है इसके लिए आवश्यक तैयारियों पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 21 जनवरी से स्थैतिक निगरानी टीमों को एक्टिवेट करते हुए उन्हें ऑब्जर्वर दायित्वों का भली-भांति निर्वहन करने हेतु निर्देशित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी निगरानी टीमों को चौकिंग के दौरान सरलता से व्यवहार करने तथा महिलाओं की जांच के दौरान महिलाकर्मी भी साथ रखें। किसी भी अभद्र व्यवहार की शिकायत को गम्भीरता से लिया जायगा। इसके लिए उन्होंने नोडल अधिकारी व्यय को सभी टीमों से वर्चुअल माध्यम से किसी व्यक्ति पर संदेह होने पर गहनता से जांच करते हुए इस दौरान व्यवहार में नम्रता बनाए रखने हेतु निर्देशित करने को कहा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल (वर्चुअल माध्यम से) अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के. मिश्रा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डॉ0 शिव कुमार बरनवाल, उपजिलाधिकारी सदर मनीष कुमार, मसूरी नरेश दुर्गापाल, ऋषिकेश अपूर्वा पाण्डेय, डोईवाला युक्ता मिश्रा सहित संबंधित रिटर्निंग अधिकारी उपस्थित रहे तथा उपजिलाधिकारी चकराता सहित अन्य अधिकारी वर्चुअच माध्यम से जुड़े रहे।

Featured Post

A viable alternative to joint replacement: Dr. Gaurav Sanjay

Dehradun. India and International book records holder Dr. Gaurav Sanjay is well known young orthopaedic surgeon has presented a clinical s...