Wednesday, 25 May 2022

जिला बदर बदमाश गिरफ्तार, तमंचा बरामद

हल्द्वानी। लालकुआं कोतवाली पुलिस ने एक जिला बदर अपराधी को गिरफ्तार किया है। यह अपराधी से तमंचा और दो जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार हुआ है। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह अपराधिक घटना को अंजाम देने लालकुआं पहुंचा था। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। पकड़े गए आरोपी का नाम सुंदर सिंह बिष्ट उर्फ देवा है। देवा लालकुआं के शास्त्री नगर का रहने वाला है। ये नैनीताल से जिला बदर है। लालकुआं कोतवाली प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि जिला बदर आरोपी सुंदर सिंह बिष्ट उर्फ़ देवा बीती देर रात लालकुआं पहुंचा था। मुखबिर की सूचना पर घोड़ा नाला के पास से आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। जिसके कब्जे से एक देसी तमंचा और दो जिंदा कारतूस बरामद किये गए हैं। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि आरोपी नैनीताल जिले से बदर है। लेकिन आपराधिक घटना को अंजाम देने लालकुआं पहुंचा था। उससे पहले पुलिस ने उसको दबोच लिया। पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है। आरोपी के खिलाफ आर्म्स एक्ट और गुंडा एक्ट के तहत आगे की कार्रवाई की जा रही है।

तेज रफतार कार ने बाइक को मारी टक्कर, बाइक सवार गंभीर रूप से घायल

हरिद्वार। ज्वालापुर क्षेत्र में एक बार फिर रफ्तार का कहर देखने को मिला है। हरीलोक तिराहे पर हरियाणा की ओर से आ रही कार की बाइक से जोरदार टक्कर हो गई। हादसे में बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हो गया है। घायल को गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल की हालत गंभीर बताई जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार देर शाम चोलापुर के व्यस्तम हरीलोक तिराहे के पास भीषण दुर्घटना हुई। हरियाणा नंबर की एक कार ने सड़क पार कर रहे एक बाइक सवार को जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि बाइक गाड़ी के अगले हिस्से में घुस गई और बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल को बेहोशी की हालत में जीडी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल की हालत गंभीर बताई जा रही है। वहीं, पुलिस ने मौके पर पहुंच कर कार को कब्जे और चालक को हिरासत में ले लिया है। चालक से पूछताछ की जा रही है साथ ही मेडिकल के लिए भी भेजा गया है। वहीं, अभी तक पुलिस को मामले में कोई तहरीर नहीं मिली है।

ट्रैक्टर ट्रॉली की चपेट में आने से दो बाइक सवारों की मौत

रुड़की। मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के नारसन में तेज रफ्तार ट्रैक्टर ट्रॉली से बाइक सवारों की भिड़ंत हो गई। हादसे में बाइक सवार दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। दोनों युवक यूपी के मुजफ्फरनगर के रहने वाले बताए जा रहे हैं। पुलिस ने दोनों शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। मिली जानकारी के अनुसार मंगलौर में गुरुकुल नारसन हाईवे पर बाइक पर सवार दो युवक मुजफ्फरनगर से नारसन की ओर जा रहे थे. तभी सामने गलत साइड से आ रही ट्रैक्टर ट्रॉली ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में बाइक सवार दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों ने इसकी सूचना नारसन पुलिस को दी। मौके पर पहुंची नारसन पुलिस ने 108 की मदद से घायलों को रुड़की के सिविल अस्पताल भिजवाया, जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। वहीं, ट्रैक्टर चालक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। चालक का नाम नजर मोहम्मद पुत्र वाजिद अली निवासी जिला मुजफ्फरनगर बताया गया है। बाइक सवार युवकों के नाम जितेंद्र पुत्र मदन सिंह व बालेंद्र पुत्र हुकम सिंह निवासी मुजफ्फरनगर बताया जा रहा है। पुलिस ने शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

शराब पीकर हुड़दंग करने पर पांच युवक गिरफ्तार

हरिद्वार। पुलिस ने गंगा घाट पर शराब पीकर हुड़दंग कर रहे 5 युवकों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए सभी आरोपी मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले हैं। बीती रात के बाद कोतवाली हरिद्वार पुलिस ने एक बार फिर ऑपरेशन मर्यादा के तहत कार्रवाई की है। मामले के अनुसार, पुलिस को सूचना मिली कि विष्णु घाट इलाके में कुछ युवक शराब पीकर हुड़दंग मचा रहे हैं। सूचना के आधार पर तत्काल मौके पर पहुंची पुलिस ने रविंद्र, प्रवीण, बल्लू मालिक, सोनू चौधरी व कर्मवीर निवासी फरीदाबाद को हिरासत में लिया। बताया जा रहा है कि पुलिस के पहुंचने के बाद भी यह सभी शराब के नशे में इस कदर चूर थे कि पुलिस को भी कुछ नहीं समझ रहे थे। इसके बाद इन सभी को पकड़कर कोतवाली हरिद्वार लाया गया जहां से जिला चिकित्सालय भेज मेडिकल कराया गया। मेडिकल में शराब की पुष्टि होने के बाद इन सभी के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर चालान किया गया है।

नवविवाहिता की गला रेतकर हत्या

रुद्रपुर। किच्छा कोतवाली क्षेत्र में एक नवविवाहिता की गला रेत कर हत्या कर दी गयी। जिसका आरोप मृतका के परिजनों से ससुरालियो पर लगाया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। सूचना पर तहसीलदार ने मोर्चरी पहुंचकर शव का पंचनामा भरने की कार्रवाई की है. मजिस्ट्रेट ने मौके पर पहुंच कर परिजनों से जानकारी ली है। दरअसल, यूपी के बरेली जिले की रहने वाली की नेहा बी की शादी पांच महीने पहले किच्छा के रहने वाले अबरार से हुई थी। शादी के बाद से ही दोनों में विवाद चल रहा था। विवाद बढ़ने पर महिला मायके चली गयी थी। सोमवार को अबरार नेहा को सुलह के बाद घर ले आया था। सोमवार की रात अबरार ने नेहा के परिजनों को बताया कि नेहा ने धारदार हथियार से अपना गला रेतकर सुसाइड कर लिया है। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। तहसीलदार सुरेश बुढ़लाकोटी के अनुसार फिलहाल मामला हत्या का लग रहा है। पोस्टमार्टम के बाद मौत की सही वजह का पता चल सकेगा।

कंपनी से गोपनीय दस्तावेज चोरने वाला शातिर गिरफ्तार

हरिद्वार। सिडकुल थाना पुलिस ने एक बड़ी कंपनी में इंटर्नशिप करने के दौरान कंपनी के गोपनीय दस्तावेजों से लोडेड हार्ड डिस्क उड़ाने वाले शातिर चोर को आखिरकार एक सप्ताह बाद गिरफ्तार कर लिया। वहीं पुलिस ने लंबे समय से फरार चल रहे तीन वारंटियों को भी कोर्ट के आदेश पर धर दबोचा। पकड़े गए सभी आरोपियों का चालान कर पुलिस ने जेल भेज दिया। सिडकुल थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बीती 17 मई को दवा बनाने की बड़ी कंपनियों में शुमार अकम्स ड्रग्स के एचआर हेड संजय शाही ने पुलिस को दी एक तहरीर दी थी। तहरीर में उन्होंने कहा था कि कंपनी में इंटर्नशिप करने आए संजीव निषाद निवासी यूपी ने कंपनी के गोपनीय दस्तावेजों की हार्ड डिस्क चोरी कर ली है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। पुलिस तभी से आरोपी की तलाश कर रही थी। सिडकुल पुलिस ने मंगलवार सुबह मुखबिर की सूचना पर एबीपी चौक से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी की गई हार्ड डिस्क भी बरामद कर ली। वहीं पुलिस ने लंबे समय से फरार चल रहे वारंटी सोनू, भूरा और नीरज को भी रोशनाबाद क्षेत्र से गिरफ्तार किया है।

दिनदहाड़े दुकान से नगदी चोरी

रामनगर। रानीखेत रोड स्थित रेडीमेड कपड़ों की दुकान से दिनदहाड़े नगदी चोरी होने का मामला सामने आया है। पीड़ित व्यक्ति ने पुलिस को तहरीर देकर आरोपी को पकड़ने की मांग की है। रानीखेत रोड निवासी सुरेंद्र अरोड़ा ने पुलिस को मंगलवार को दी तहरीर में बताया कि वे दुकान से कुछ देर के लिए शौचालय गए थे। जब वापस आए तो दुकान के अंदर रखा गल्ला गायब था। गल्ले में बीस हजार रुपये रखे थे जो उसकी कई दिन की दुकानदारी के थे। पास की दुकान के सीसीटीवी फुटेज में एक व्यक्ति गल्ला चुराकर ले जाता नजर आ रहा है। कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की जांच की जा रही है।

दो युवकों को चाकू संग पकड़ा

रामनगर। रामनगर पुलिस ने दो युवकों को चाकू के साथ गिरफ्तार किया है। कोतवाल अरुण कुमार सैनी ने बताया कि नाजिम और शफुंदीन निवासी शक्तिनगर पूछडी को कैनाल विभाग के खाली खण्डहर से गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से एक एक नाजायज चाकू बरामद किया गया। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कोर्ट पेश किया गया है।

पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से सम्मानित होने पर मधु चौहान का हुआ स्वागत

देहरादून। चकराता में पंडित दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार से सम्मानित जिला पंचायत अध्यक्ष मधु चौहान का भाजपा चकराता मंडल के कार्यकर्ताओं ने भव्य सम्मान किया। भारी बारीश के बीच उत्साह से लवरेज समर्थकों ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया और कंधे पर उठा लिया। अपने सम्बोधन में मधु चौहान ने कहा कि जौनसार-बावर के लोगों ने मुझे सबसे प्यार व सम्मान दिया, मैं पिछले दस सालों में क्षेत्र के विकास में जो कुछ भी कर पाई उसके पीछे यहां के लोगांे की ताकत है। उन्होंने कहा कि हमने गांव-गांव सड़कंे पहुंचाई, पेयजल लिफ्टिंग योजनाएं बनवाई, जिला पंचायत से प्रत्येक गांव में विकास कार्य किया। स्कूलों का उच्चीकरण-उनकी मरम्मत, सिर्चाइं योजनाएं स्वीकृत कराई। इसी का परिणाम है कि भाजपा का जनाधार लगातार बढ़ रहा है। इस अवसर पर कालसी के ब्लाक प्रमुख मठोर सिंह, ज्येष्ठ उपप्रमुख भीम सिंह, कनिष्क प्रमुख रितेश, जिला पंचायत सदस्यों में मदन लाल, रामपाल, गीता चौहान, पूजा रावत, अंजू देवी, मंडल व प्रदेश पार्टी पदाधिकारी एवं पूर्व पदाधिकारी-प्रतिनिधि समेत अनेक लोग उपस्थित रहे।

खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री ने किया नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का उद्घाटन

देहरादून। नेशनल हैंडलूम एक्सपो का देहरादून में शुभारंभ हुआ। यह एक्सपो 5 जून तक चलेगा। यह रेस कोर्स प्ले ग्राउंड में आयोजित किया जा रहा है। इसका उद्घाटन बतौर मुख्य अतिथि मंत्री सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम खादी एवं ग्रामोद्योग चंदन राम दास द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक राजपुर रोड खजान दास ने की। विकास आयुक्त (हथकरघा), वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार की विपणन प्रोत्साहन योजनान्तर्गत देश के बुनकरों को विपणन सुविधा उपलब्ध कराने हेतु देश के विभिन्न प्रान्तों में नैशनल हैण्डलूम एक्सपो का आयोजन किया जाता है। नैशनल हैण्डलूम एक्सपो देहरादून का आयोजन उद्योग विभाग द्वारा उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्य विकास परिषद के माध्यम से प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी किया जा रहा है। देश के सभी बुनकरों एवं देहरादून तथा उत्तराखण्ड राज्य के दर्शकों को इस एक्सपो की उत्सुकता से प्रतीक्षा रहती है। नैशनल हैण्डलूम एक्सपो में विभिन्न हथकरघा संगठन, हथकरघा सहकारी समितियां, निगम/फेडरेशन, सेल्फ हेल्प ग्रुप, राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर पुरस्कृत बुनकरों एवं हथकरघा कार्य में संलग्न व्यक्तिगत बुनकरों द्वारा प्रतिभाग किया जाता है। विगत वर्षों में इस एक्सपो का आयोजन परेड ग्राउण्ड देहरादून में आयोजित किया जाता रहा है, किन्तु इस वर्ष परेड ग्राउण्ड उपलब्ध न होने के कारण एक्सपो का आयोजन रेसकोर्स प्ले ग्राउण्ड, देहरादून में किया जा रहा है। इस एक्सपो का आयोजन वित्तीय वर्ष 2021-22 की स्वीकृति के सापेक्ष एवं इस हेतु बजट माह मार्च 2022 में प्राप्त होने तथा राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण इस अवधि में किया जा रहा है तथा चालू वित्तीय वर्ष 2022-23 में नैशनल हैण्डलूम एक्सपो के आयोजन के लक्ष्य के सापेक्ष इस एक्सपो का आयोजन इस वर्ष माह दिसम्बर, 2022 से माह जनवरी, 2023 के मध्य किया जाना प्रस्तावित है। इस एक्सपो में उत्तराखण्ड राज्य के अतिरिक्त विभिन्न राज्यों यथा जम्मू-कश्मीर, नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगना एवं कर्नाटक आदि राज्यों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है। इस वर्ष नैशनल हैण्डलूम एक्सपो में लगभग 80 स्टॉल स्थापित किये गये है, जिसके अन्तर्गत विभिन्न राज्यों के विविध एवं आकर्षक हथकरघा उत्पादों की बड़ी रेन्ज बिक्री हेतु उपलब्ध होगी। एक्सपो में उत्तर प्रदेश की बनारसी साड़ियां, दरी तथा कालीन राजस्थान की जयपुरी चादरें, बिहार की टसर एवं भागलपुरी ड्रेस मैटिरियल एवं साडियां, कर्नाटक की कांजीवरम सिल्क साड़ियां, पश्चिमी बंगाल की जमदानी बालचौरी साड़ियां, जम्मू कश्मीर के हथकरघा उत्पाद, आन्ध्र प्रदेश की सिल्क साड़ियां, मध्य प्रदेश की चन्देरी एवं महेश्वरी साड़ियां, बेडशीट/ बेड कवर एवं उत्तराखण्ड की कॉटन बेडशीट/बेड कवर, स्कार्फ, मफलर, खादी ड्रेस मैटिरियल, ट्वीड आदि हथकरघा उत्पाद विक्रय हेतु उपलब्ध हैं। विकास आयुक्त (हथकरघा) भारत सरकार के बुनकर सेवा केन्द्र, चमोली द्वारा देश के विभिन्न प्रान्तों के विशिष्ट हथकरघा उत्पाद का प्रदर्शन थीम पैवेलियन में किया गया है। हथकरघे पर कपड़ा उत्पादन एवं विभिन्न हथकरघा डिजाइनों का सजीव प्रदर्शन भी किया गया है। हथकरघा उद्योग के सम्बन्ध में इस पैवेलियन के माध्यम से आने वाले दर्शकों, छात्रों एवं अन्य उत्सुक लोगों को जानकारियां उपलब्ध करायी जायेंगी। हिमाद्रि मण्डप उत्तराखण्ड हथकरघा एवं हस्तशिल्प विकास परिषद, जो राज्य में हथकरघा एवं हस्तशिल्प उत्पादों के समृद्ध विकास के लिये गठित शीर्ष संस्था , द्वारा राज्य के विशिष्ट उत्पादों को हिमाद्रि ब्राण्ड नेम के अन्तर्गत प्रोत्साहित किया जा रहा है। नैशनल हैण्डलूम एक्सपो में हिमाद्रि मण्डप में हथकरघा उत्पादों के साथ-साथ हस्तशिल्पियों को भी विपणन के लिये स्थान उपलब्ध कराया जा रहा है। हिमाद्रि मण्डप में एकीकृत हस्तशिल्प विकास एवं प्रोत्साहन योजनान्तर्गत प्रतिष्ठित डिजाइन संस्थाओं के डिजाइनरों के माध्यम से राज्य के 15 विकासखण्डों में विकसित किये गये नवीन उत्पादों को भी प्रदर्शन/विपणन हेतु प्रस्तुत किया जा रहा है। विकास आयुक्त (हथकरघा), वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के बुनकर सेवा केन्द्र, चमोली द्वारा थीम पैवेलियन स्थापित कर देश के विभिन्न प्रान्तों के विशिष्ट हथकरघा उत्पाद का प्रदर्शन किया जायेगा। इस थीम पैवेलियन पर हथकरघे पर कपड़े की बुनाई एवं विभन्न हथकरघा के उत्कृष्ठ डिजाइनरों का सजीव प्रदर्शन भी किया जायेगा।

बीडीसी की बैठक से नदारद अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने के डीएम ने दिए आदेश

पौड़ी। कल्जीखाल ब्लाक में बीडीसी बैठक में आधी अधूरी जानकारी के साथ आने पर जिलाधिकारी डा. विजय कुमार जोगदंडे ने अफसरों को जमकर फटकार लगाई। जिलाधिकारी ने बैठक से नदारद अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिए। मंगलवार को ब्लाक सभागार में आयोजित बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा विद्युत, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, जल जीवन मिशन व जल संस्थान शिक्षा से संबंधित समस्याएं उठाई गई। जिस पर जिलाधिकारी डा. विजय कुमार जोगदंडे ने संबंधित अधिकारियों को क्षेत्र के सभी स्कूलों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए। वहीं विद्युत विभाग को 15 दिन के भीतर पोल, झूल रहे तारों व अन्य छोटी समस्याओं का निस्तारण करने के निर्देश दिए। बैठक में पेयजल की समस्या पर डीएम ने योजनाओं की डीपीआर, टेंडर, कार्य प्रारंभ व जहां कार्य प्रारंभ नहीं हुए उसकी रिपोर्ट 15 दिन के अंदर ब्लॉक प्रमुख के माध्यम से जनप्रतिनिधियों को प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि जहां पुरानी पेयजल योजना बंद हो गई है। उसकी तत्काल मरम्मत कर उसे सुचारू करने के निर्देश दिए। बैठक में जनप्रतिनिधियों ने आरोप लगाते हुए नाराजगी जताई कि अधिकारी वर्ग उनकी बात पर अमल नहीं कर रहे है। बैठक में ब्लाक प्रमुख बीना राणा ने कहा कि बैठक में ब्लाक से संबंधित समस्याओं के निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।

अस्तपाल के रेफर सेंटर बनने पर विधायक ने नाराजगी जताई

टिहरी। वीसी कक्ष में आयोजित बैठक में विधायक किशोर उपाध्याय ने अस्तपाल को रेफर सेंटर बनने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि डॉक्टर इसे गंभीरता से लेकर स्थिति में सुधार करें। डीएम ने सीएमओ को निर्देशित करते हुए कहा कि निशुल्क जांच से संबंधित जानकारी का बड़े स्तर पर प्रचार-प्रसार करने के साथ ही निशुल्क जांच संबंधी सूचना बोर्ड चिकित्सालय में लगवाना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही चिकित्सालय में होने वाले अल्ट्रासाउंड का ब्लॉक वाइज रोस्टर बनाकर प्रचार-प्रसार करें। अस्पताल में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाय। सीएमओ डा. संजय जैन ने बताया कि जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े वाहन चालकों के 14 पद रिक्त चल रहे हैं, जिन्हें भरे जाने के लिए शासन स्तर से निरन्तर पत्राचार किया जा रहा। बैठक में चिकित्सालय के पैथोलॉजी विभाग, नेत्र रोग विभाग, आकस्मिक विभाग के लिए सामग्री क्रय करने, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के लिए एक मोबाइल हैंडसेट क्रय करने, कुर्सियां, आलमारी, रैक, चिकित्सालय में कार्यरत कर्मचारियों के आईडी कार्ड बनवाने, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के कक्षद्वार में एल्युमीनियम पार्टिशन कराये जाने, वैक्सीनेशन कक्ष तथा टेलीमेडिसन को कंप्यूटर, प्रिंटर व यूपीएस क्रय करने, ऑपरेशन थियेटर के लिए एक ओटी लाइट क्रय, आईडीएसपी लैब का रिनोवेशन, कार्यालय में रंगाई-पुताई, अनुरक्षण कार्य किये जाने के प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए। इसके साथ ही चिकित्सालय में एक शव वाहन क्रय करे पर भी चर्चा हुई। बैठक नगर पालिका अध्यक्ष सीमा कृषाली, वरिष्ठ कोषाधिकारी नमिता सिंह, सांसद प्रतिनिधि जीतराम भट्ट आदि मौजूद रहे।

गंगोत्री हाईवे के बाद अब यमुनोत्री हाईवे पर भी गेट सिस्टम हुआ लागू

उत्तरकाशी। गंगोत्री हाईवे के बाद अब यमुनोत्री हाईवे पर भी गेट सिस्टम लागू कर दिया गया है। पुलिस ने हाईवे पर जाम की समस्या ने निजात पाने के लिए यह निर्णय लिया है। हाईवे पर पालीगाड़ से राणाचट्टी के बीच गेस्ट सिस्टम लागू रहेगा। चारधाम यात्रा के दौरान बड़ी संख्या में वाहनों के पहुंचने से अक्सर गंगोत्री व यमुनोत्री हाईवे पर जाम की स्थिति बन रही है। हाईवे कई स्थानों पर काफी संकरे हैं। जिससे बड़े वाहनों के एक स्थान पर पास होने से समस्याएं हो रही हैं। सुरक्षित यात्रा व जाम से निजात के लिए पुलिस ने गंगोत्री हाईवे पर करीब 12 स्थानों पर गेट सिस्टम लागू किया है। अब यमुनोत्री हाईवे पर भी गेट सिस्टम लागू कर दिया गया है। पुलिस प्रशासन के अनुसार हाईवे पर पालीगाड़ से राणाचट्टी के बीच गेस्ट सिस्टम रहेगा। इस दौरान यहां बड़े वाहनों के आवागमन में करीब 10 से 15 मिनट का अंतराल रखा जाएगा। साथ ही राणाचट्टी, स्यानाचट्टी व पालीगाड़ के बीच तैनात टीम आपस में संपर्क करने के लिए आरटी सेट का प्रयोग करेंगे। सीई सुरेंद्र भंडारी का कहना है कि जाम आदि की समस्या से निजात पाने के लिए गेट सिस्टम लागू किया गया है। पालीगाड़ से राणाचट्टी तक बड़े वाहनों को 10 से 15 मिनट के अंतराल पर छोड़ा जाएगा।

हरिद्वार जिला प्रशासन ने भूमाफिया यशपाल तोमर की संपत्तियों को कुर्क किया

हरिद्वार। पश्चिमी यूपी के चर्चित भूमाफिया यशपाल तोमर की नोएडा, मेरठ और बागपत में बेनामी संपत्तियों को जब्त करने की कार्रवाई के बाद हरिद्वार जिला प्रशासन ने भी उनकी संपत्तियों को कुर्क करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। मंगलवार को ज्वालापुर क्षेत्र में करोड़ों रुपये की जमीन को कुर्क कर लिया गया है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने जमीन पर तहसीलदार को रिसीवर नियुक्त किया है। भूमाफिया और गैंगस्टर यशपाल तोमर की नया गांव ज्वालापुर स्थित करोड़ों की जमीन है। उत्तराखंड एसटीएफ की ओर से यशपाल तोमर गैंग पर कार्रवाई की जा रही है। पिछले दिनों एसटीएफ ने यशपाल तोमर को गिरफ्तार किया था। जानकारी के अनुसार एसटीएफ की ओर से जिलाधिकारी से तोमर की बेनामी संपत्ति को कुर्क करने का आग्रह किया गया था। तहसील प्रशासन की ओर से जमीन की जांच पड़ताल करने पर सामने आया कि यहां यशपाल तोमर की 36 बीघा बेनामी जमीन है। बताया जाता है कि जमीन यशपाल तोमर के साले नाम की गई है। जमीन को ठिकाने लगाने के लिए यहां प्लाटिंग भी शुरू कर दी गई थी। औने-पौने दामों में प्लाट काटने का कार्य शुरू कर दिया गया था। मंगलवार को प्रशासन ने 36 बीघा जमीन को कुर्क कर दिया। इसके साथ ही जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने तहसीलदार शालिनी मौर्य को रिसीवर नियुक्त किया है। लगभग 50 करोड़ रुपये की जमीन को कुर्क करने की कार्रवाई तहसीलदार शालिनी मौर्य के नेतृत्व में की गई। तहसील प्रशासन ने जमीन को कुर्क करने के बाद अपना बोर्ड लगा दिया है।

डीएम ने ली जिला उद्योग मित्र उप समिति की बैठक

नैनीताल। जिला उद्योग मित्र की उप समिति की जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार के भीमताल मैं बैठक आयोजित की गई। बैठक में उपखंड अधिकारी विद्युत वितरण उपखंड कालाढूगी ने 33/11 केवी उप संस्थान कोटाबाग से निकलने वाले नए पोषक कोटाबाग से सोनजाला तक 1ऽ2 किऽमी लाईन बनाने के कार्यों के संपादन हेतु प्रशासनिक/पुलिस सहायता उपलब्ध कराए जाने जिस पर जिलाधिकारी ने तत्काल संबंधित उप जिलाधिकारी को फोन के माध्यम से पर्याप्त फोर्स की व्यवस्था करने के निर्देश दिए एव विद्युत अधिकारी कालाढूंगी को कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उपायुक्त राज्य कर काठगोदाम, ने सोप स्टोन की व्यवसायियों की वेट से संबंधीत लंबित मूल धनराशि को 12 वर्ष की समान मासिक किस्तों में जमा कराए जाने संबंधी मे जिलाधिकारी ने सहमति जताई इसके साथ ही उपनिबंधक स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन हल्द्वानी ने लिसा इकाइयों द्वारा लीसे का मूल्य पर स्टांप ड्यूटी दर 2 अथवा प्रतिशत 12ऽ5 प्रतिशत होने के संबंध में स्थिति स्पष्ट ना होने के कारण संबंधित अधिकारी को स्थिति स्पष्ट करने के निर्देश दिए। क्षेत्रीय प्रबंधक लीड बैंक अधिकारी एवं शाखा प्रबंधक ने अवगत कराया है कि मैसेज तेजल गुप एण्ड इंडस्ट्रीज कठघरिया हल्द्वानी की इकाई को कब्जा का मामला माननीय उच्च न्यायालय नैनीताल मे वाद दायर किया गया है जिसमें माननीय उच्च न्यायालय द्वारा स्टे दिया गया। दसके अलावा अधिशासी अभियंता निर्माण खंड लोक निर्माण विभाग हल्द्वानी ने बताया की ग्राम हरिपुरा मोतिया बेलबाबा मंदिर से पहले रामपुर रोड हल्द्वानी से लगी इकाईयां भारत माईन्स एण्ड मिनरल एव अन्य इकाईयो को जाने वाले सम्पर्क मार्ग की मरम्मत हेतु शासन को भेजा गया है। अधिशासी अभियन्ता सिचाई हल्द्वानी ने बताया है की उमेश चंद्र डालाकोटी की देवलचौड बंदोबस्ती रामपुर रोड हल्द्वानी स्थिति इकाई के समीप सिंचाई विभाग की नहर पर पुलिया निर्माण हेतु आगणन शासन को प्रेषित किया गया है जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए है कि तत्काल जिला योजना के अंतर्गत पेयजल निर्माण के कार्यों को शुरू करने के निर्देश दिए। बैठक मे अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान हल्दानी पेयजल निगम निर्माण शाखा भीमताल ने ग्राम हरिपुरा जमन सिंह स्थित मैसस डाला कोटी पेन्टिंग एण्ड कैमिकल फैक्टी एव अन्य इकाईयो मे पेयजल संकट होने के वाबत में श्री गर्ब्याल ने संबंधित अधिकारियों को आपस में समन्वय बनाते हुए कायो को ससमय एवं गुणवत्ता के साथ कायो को पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी शिवचरण द्विवेदी,डीआरएम रीतेश पन्त, रिकवरी अधि0गौरव पांडे, शाखा प्रबंधक भावना जोशी, गीता चुफाल, दीपक पाठक विधुत,सहायक आयुक्त कमल किशोर जोशी, भानु प्रकाश हरबोला,महेश चन्द्र जोशी,दीपक कुमार जोशी,अशोक कुमार, आदि बैक के अधिकारी उपस्थित थे।

सीएम धामी ने सुनीं जनसमस्याएं, साईं मन्दिर में की पूजा-अर्चना

खटीमा। प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद भम्रण के तीसरे दिन मंगलवार को नंगला तराई स्थित आवास में प्रातःकाल में आम जनता की समस्याओं को सुना और उनके निस्तारण हेतु महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश अधिकारियों को दिए। श्री धामी ने विभिन्न क्षेत्रों से आई जनता से भी मुलाकात की। इसके पश्चात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने श्री साईं मन्दिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की और प्रदेश व देश की सुख-समृद्धि एवं खुशहाली, चहुमुँखीं विकास, प्रदेश में के पर्यटन सीजन शांतिपूर्ण संचालन के लिए प्रार्थना करने की व साईं बाबा के सामने अर्जी भी लगाई। इसके पश्चात श्री धामी राधा स्वामी सतसंग व्यास मैदान हैलीपेड पहुॅचे, जहॉ पर सरस्वती विद्या मन्दिर के विद्यार्थियों ने स्कूल की बालकनी से मुख्यमंत्री का उत्साह व उमंग से नारे लगाकर स्वागत किया और मुख्यमंत्री ने विद्यालय के समीप पहुॅचकर हाथ हिलाकर विद्यार्थियों का अभिवादन किया। इस दौरान जिलाधिकारी युगल किशोर पन्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ टीसी, मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई, उप जिलाधिकारी रविन्द्र बिष्ट सहित क्षेत्रीय जनता उपस्थित थी।

थॉमस कप की ऐतिहासिक जीत पर सीएम ने किया लक्ष्य सेन को सम्मानित

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार की सांय मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में भारत की ऐतिहासिक थॉमस कप जीत पर उत्तराखण्ड के सपूत एवं विश्व विख्यात खिलाडी लक्ष्य सेन को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने थामस कप की एतिहासिक जीत पर लक्ष्य सेन को 15 लाख तथा गतवर्ष आल इंगलैंड प्रतियोगिता में विजयी होने पर 10 लाख का चेक भेंट किया। उन्होने लक्ष्य सेन को आगामी ओलम्पिक में जीत की शुभकामनाये देते हुए कहा कि लक्ष्य सेन ने हम सबको भी सम्मानित करने का कार्य किया है। हमारे नये उदीयमान खिलाड़ी लक्ष्य सेन से प्रेरणा लेकर अपनी प्रतिभा देश व दुनिया में प्रदर्शित करने में कामयाब होगें। मुख्यमंत्री ने कहा कि लक्ष्य सेन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भेंट के दौरान उन्हे अल्मोड़ा की बाल मिठाई भेंट कर बाल मिठाई को ब्राण्ड बना दिया है। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री श्री मोदी का उत्तराखण्ड के प्रति विशेष लगाव का भी प्रतीक है। प्रधानमंत्री से हमें खेलों के साथ अन्य विभिन्न क्षेत्रों में नई कार्य संस्कृति एवं कार्य व्यवहार की सीख मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेलो में कोई शार्टकट नही होता है। खिलाडी का परिश्रम व पसीना उसे पदक प्राप्त करने में मदद करता है। महाभारत के अर्जुन की भांति मछली की आंख को लक्ष्य बनाने जैसा कार्य कर लक्ष्य सेन ने इंडोनेशिया की 14 बार की विजेता टीम को हराकर देश का मान बढ़ाया है। यह जीत लक्ष्य सेन को नई जिम्मेदारी का अहसास कराने के साथ ओलम्पिक जीतने के लिये प्रेरित करेगी हम सबकी भावना उससे जुडी है। हमारा कोई भी बेटा या बेटी जब अपनी प्रतिभा के बल पर आगे बढता है तो उसमें सबकी भावना जुड जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के प्रतिभावान खिलाडियों को खेल प्रतियोगिताओं में उचित अवसर तथा वातावरण उपलब्ध कराने के लिये खेल नीति तैयार की गई है। इससे सामान्य परिस्थिति में रहने वाले खिलाडियों को अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करने के बेहतर मौके मिल सकेंगे। उन्होंने कहा की विकास की दृष्टि से उत्तराखण्ड हर क्षेत्र में आगे बढ़े इसके लिये व्यापक स्तर पर मंथन किया जा रहा है। विभिन्न क्षेत्रों के विषय विशेषज्ञों, बुद्धिजीवियों से संवाद कायम कर आम बजट तैयार करने से लेकर विकास योजनाओं के क्रियान्वयन उनके विचार एवं सुझाव आमंत्रित किये गये हैं। राज्य के विकास में जन सहभागिता का हमारा प्रयास है। इस अवसर पर लक्ष्य सेन ने कहा कि थामस कप में इस बार हम एज ए टीम पहली बार देश के लिये खेले। उन्होंने कहा कि आगे भी अपनी खेल प्रतिभा से देश का नाम रोशन करने का उनका प्रयास रहेगा। उन्हें सम्मानित करने के लिये उन्होंने मुख्यमंत्री का भी आभार व्यक्त किया। उत्तराखण्ड बेडमिन्टन एशोसियेशन द्वारा लक्ष्य सेन को टेब भी भेंट किया गया। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार तथा विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार ने भी अपने सम्बोधन में लक्ष्य सेन को बधाई दी। उन्होंने कहा कि खेल प्रतियोगितायें राष्ट्रभावना का प्रतीक होती है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, उत्तरांचल बेडमिंटन एशोसियेशन की अध्यक्ष अलकनन्दा अशोक, निदेशक खेल जीएस रावत, संयुक्त निदेशक खेल धमेन्द्र भट्ट, लक्ष्य सेन के पिता एवं कोच डी.के.सेन सहित एशोसियेशन के पदाधिकारी तथा बड़ी संख्या में युवा खिलाड़ी उपस्थित थे।

Sunday, 22 May 2022

सामाजिक सद्भाव के लिए एकजुटता पर दिया बल

देहरादून। दून के कई संगठनों और राजनीतिक दलों ने राज्य में बढ़ती साम्प्रदायिक तनाव की घटनाओं पर चिन्ता जताते हुए इन घटनाओं के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत बताई है। रविवार को प्रेस क्लब में संविधान और सामाजिक सद्भाव पर आयोजित वक्ताओं ने आशंका जताई कि कुछ लोग राज्य में साम्प्रदायिक तनाव फैलाने का प्रयास कर रहे हैं। सम्मेलन में इस तरह की घटनाओं को रोकने का प्रयास करने की जरूरत बताई गई। वक्ताओं का कहना था कि पिछले कुछ वर्षों में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के कई बार प्रयास हुए लेकिन ऐसा प्रयास करने वाले संगठनों के खिलाफ सख्त कार्यवाही नहीं की गई, इसलिए अब जनता की तरफ से आवाज उठाना जरूरी हो गया है। सम्मेलन की अध्यक्षता कर रही गांधी जी की अनुयायी और कौसानी स्थित अनाशक्ति आश्रम की संचालिका राधा बहन ने कहा कि साम्प्रदायिक ताकतें देश के लिए खतरा बन रही हैं। उन्होंने कहा कि अब उत्तराखंड में भी ऐसी ताकतें मजबूत हो रही हैं और इस पर्वतीय राज्य में भी घृणा की बीज बोने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्हें लगता था कि बढ़ती साम्प्रदायिकता के बीच उत्तराखंड में लोग चुप बैठे हुए हैं, लेकिन आज के सम्मेलन को देखकर पता चला कि लोग इन घटनाओं में पैनी नजर रखे हुए हैं और बहुत कुछ सोच रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि हम जो भी कदम उठाएं, उसमें शांति और अहिंसा को ध्यान सबसे पहले रखा जाना चाहिए। पर्यावरणविद् प्रो. रवि चोपड़ा ने संविधान की रक्षा और सद्भाव के हिमायती लोगों की एक शांति दल बनाने की जरूरत बताई, जो साम्प्रदायिक दंगे जैसी किसी भी स्थिति में मौके पर पहुंचकर शांतिपूर्ण स्थिति बनाने के प्रयास करे। उन्होंने कहा कि इस सेना का संपर्क आम लोगों से भी होना चाहिए और प्रशासनिक अधिकारियों से भी। सम्मेलन का संचालन करते हुए चेतना आंदोलन के शंकर गोपाल ने कहा कि कुछ लोग उत्तराखंड में यह धारणा बनाने की कोशिश कर रहे हैं कि एक समुदाय राज्य के लिए खतरा है। उन्होंने लोहारी से देकर देहरादून तक लोगों के रहने की व्यवस्था किये बिना उन्हें बेघर किये जाने पर नाराजगी जताई। कहा कि लोगों को हटाना यदि जरूरी है तो पहले उनके रहने की व्यवस्था की जानी चाहिए। कवि और अंबेडकर आंदोलन के कार्यकर्ता राजेश पाल ने कहा कि आरएसएस का इरादा 2025 में संघ की 100 वर्षगांठ तक देश में संविधान को पूरी तरह से खत्म करके देश को हिन्दू राष्ट्र घोषित करने का है। भारत ज्ञान विज्ञान समिति के विजय भट्ट ने कहा कि आजादी के बाद हमने विकास और भाईचारे के मामले में जो कुछ हासिल किया था, वह सब दांव पर लगा हुआ है। इसे बचाने के लिए एकजुट होना जरूरी है। महिला मंच की कमला पंत ने कहा कि वर्ग विशेष पर हमला करने की प्रवृत्ति लगातार बढ़ रही। इसे रोकने के लिए एक सामाजिक आंदोलन की जरूरत है। उन्होंने राजनीतिक स्थिति को बदलने और शांतिदल स्थापित करने की जरूरत बताई। उन्होंने घृणा का जवाब परस्पर सद्भाव से देने की जरूरत बताई। सीपीआई के समर भंडारी ने कहा कि संविधान, लोकतंत्र और सद्भाव पर हमले बढ़ गये हैं। इस स्थिति को अब ज्यादा दिन चुप बैठकर देखना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार हर मोर्चे पर फेल होने के बाद अब साम्प्रदायिकता को हवा दे रही है। नागरिकता संविधान के आधार पर तय होगी, न किस संप्रदाय के आधार पर। सम्मेलन में सपा के डॉ. एसएन सचान, सीपीएम के सुरेन्द्र सजवाण, पूर्व गढ़वाल कमिश्नर एसएस पांगती, उमा भट्ट, चेतना आंदोलन की सुनीता देवी, चंद्रा भंडारी, जगमोहन मेहंदीरत्ता, चौ. ओमवीर सिंह, जबर सिंह, थॉमस सेन आदि ने भी संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए सभी को एक मंच पर आने की जरूरत बताई। जनगीत गायक सतीश धौलाखंडी, त्रिलोचन भट्ट, हिमांशु चौहान ने साम्प्रदायित सद्भाव को समर्पित जनगीत गाया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पाञ्चजन्य मीडिया कॉन्क्लेव में किया प्रतिभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को दिल्ली के चाणक्यपुरी में आयोजित पाञ्चजन्य मीडिया कॉन्क्लेव” में प्रतिभाग किया। कॉन्क्लेव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के विभिन्न राजनीतिक एवं सामरिक संबंधी विषयों पर संवाद किया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड चौमुखी विकास कर रहा है, सरकार का प्रयास है कि आने वाले समय में उत्तराखण्ड हर क्षेत्र में देश के श्रेष्ठ राज्यों में शामिल हो। उत्तराखण्ड में लॉ एंड ऑर्डर सम्बंधी चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि कानून तोड़ने वालों पर राज्य पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाई की जा रही है, अपराधियों के लिए उत्तराखण्ड में कोई जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि दूसरी बार मुख्य सेवक की शपथ ग्रहण के बाद पुलिस के द्वारा एक स्पेशल ड्राइव चलाई गई जिसके अंतर्गत उत्तराखण्ड में लोगों का री-वेरिफिकेशन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम धर्मांतरण के कानून को और अधिक सख्त करने की दिशा में भी कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड देव भूमि है। यह अध्यात्म, धर्म और संस्कृति का केंद्र है। यहां औसतन हर परिवार में एक व्यक्ति सेना में भर्ती होकर देश सेवा के लिए समर्पित है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में एक समान कानून लागू हेतु ड्राफ्ट तैयार करने के लिए हम एक कमेटी गठित करने वाले हैं। हम चाहते हैं कि देश के अन्य राज्य भी अपने-अपने राज्यों में कॉमन सिविल कोड लागू करें। भू कानून संबंधी सवालों पर जवाब देते हुए मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारी सरकार ने इसके लिए एक उच्चस्तरीय कमेटी बनाई है। जल्दी हम राज्य हित में इसपर कानून लाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड की भौगोलिक स्थिति अन्य राज्यों की तुलना में बहुत भिन्न है, राज्य का अधिकतम क्षेत्र पर्वतीय है, सरकार का प्रयास है कि राज्य में औद्योगीकरण विस्तार और रोजगार का भी ध्यान रखा जाए। ----------------------------------------

Saturday, 21 May 2022

सुराज सेवा दल ने की ऊर्जा निगम के एमडी को बर्खास्त करने की मांग

देहरादूना। सुराज सेवा दल के प्रदेश अध्यक्ष रमेश जोशी ने एक बार फिर ऊर्जा निगम में भारी धांधली का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि ऊर्जा निगम और पिटकुल के एमडी अनिल कुमार यादव पूरी तरह भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। उन्होंने कहा कि एमडी अनिल कुमार ना सिर्फ एक ही व्यक्ति की कंपनी को चार-चार काम दे रहे हैं, बल्कि एक ही परिवार और उसके रिश्तेदार को कंपनी में अलग-अलग दिखाकर काम दिया गया और करोड़ों रुपए को ठिकाने लगाया गया है। उन्होंने कहा कि ऊर्जा निगम और पिटकुल के एमडी अनिल कुमार यादव पूरी तरह भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं, लेकिन सरकार उनके द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की सीबीआई, एसआईटी या विजिलेंस से जांच नहीं करवा रही है। रमेश जोशी का कहना है कि ऊर्जा निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार की वजह से आज प्रदेशवासियों को बिजली महंगी मिल रही है। इसका खामियाजा यहां की जनता को भुगतना पड़ रहा है। अनिल यादव को दो-दो जगह का एमडी बनाया गया है। पिटकुल और ऊर्जा निगम दोनों जगहों पर तैनाती मिलने पर यादव अपने चहेतों को लाभ पहुंचा रहे हैं। प्रदेश के करोड़ों रुपए को ठिकाने लगा रहे हैं। यादव पर मुख्य अभियंता रहते हुए भी आरोप लगे हैं, जब उन्होंने सारे नियमों को ताक पर रखकर एक ही कंपनी के नाम पर तीन-तीन ड्राफ्ट जारी कर दिए। रमेश जोशी ने पिटकुल के सभी टेंडरों की जांच किए जाने की मांग उठाई है। उनका कहना है कि प्रदेश में जीरो टॉलरेंस की सरकार बैठी हुई है। ऐसे में क्या इन अधिकारियों के ऊपर कारवाई नहीं करनी चाहिए, क्योंकि जिन कंपनियों को टेंडर में शामिल किया गया, उनके बैंक ड्राफ्ट एक ही बैंक एक ही शाखा से कैसे बन गए। उन्होंने यहां तक आरोप लगाया कि एमडी यादव, एमडी नहीं बल्कि ठेकेदार हैं, उनकी एक फर्म है और उन्होंने अपने बेटे के खातों से ठेकेदारों को भुगतान किया है। रमेश जोशी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर भ्रष्टाचार में लिप्त ऊर्जा निगम के एमडी को बर्खास्त नहीं किया गया, तो सेवादल को आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है, तो सुराज सेवा दल का कोई एक कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर शांतिपूर्ण तरीके से अनशन करने के लिए बाध्य होगा।

संसदीय कार्यमंत्री ने स्पीकर से की बजट सत्र की तैयारियों को लेकर चर्चा

विधानसभाा। संसदीय कार्य व वित्त मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने आज उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी भूषण से उनके यमुना कॉलोनी स्थित शासकीय आवास पर शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान आगामी बजट सत्र को लेकर दोनों नेताओं के बीच चर्चा वार्ता हुई। इस मुलाकात के दौरान उत्तराखंड राज्य की पंचम विधानसभा के बजट सत्र एवं उसकी तैयारियों को लेकर विधानसभा अध्यक्ष एवं संसदीय कार्य मंत्री के बीच विस्तार से चर्चा वार्ता हुई। वहीं प्रदेश के विकास से संबंधित विषयों पर भी बातचीत हुईद्य इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने शहरी विकास मंत्री से अपने विधानसभा क्षेत्र कोटद्वार से संबंधित विभिन्न समस्याओं को लेकर भी चर्चा की उन्होंने नगर निगम कोटद्वार को स्वच्छ एवं सुविधाओं से युक्त शहर बनाए जाने के लिए कई भविष्य की योजनाओं को लेकर वार्ता की।

मेदांता अस्पताल से कैंसर रोग विशेषज्ञों की टीम पहुंची देहरादून

देहरादूना। कैंसर के बढ़ते मामलों की गंभीरता को देखते हुए मेदांता-गुरुग्राम अस्पताल की कैंसर विशेषज्ञों की टीम उत्तराखंड की राजधानी देहरादून पहुंची। यहां मरीजों को कैंसर से बचाव, संक्रमित होने के बाद बरती जाने वाली सावधानियां, कैंसर रोगियों को परामर्श एवं उपचार संबंधी दिशा निर्देश दिए गए। मेदांता-गुरुग्राम में मेडिकल और हेमेटो-ऑन्कोलॉजी डिवीजन के उपाध्यक्ष डॉ. सत्य पाल कटारिया ने कहा कि कैंसर जैसी घातक बीमारी की रोकथाम के लिए संक्रमित मरीज के बारे में जल्द से जल्द पता लगाना जरूरी है। इसके लिए हमारे पास अत्याधुनिक ओपीडी है, जिसमें मरीज के संक्रमित होने की जानकारी और संक्रमण की दर का भी पता लगाया जा सकता है। डॉक्टर कटारिया 27 वर्षों से भी अधिक समय से कैंसर मरीजों का उपचार कर रहे हैं। देश की 30 से ज़्यादा प्रतिष्ठित पत्र पत्रिकाओं में उनके शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं। डॉ कटारिया ने आगे कहा कि कैंसर का पता लगाने और इलाज में देरी होने पर बचने की संभावना कम होती है और इलाज की लागत भी बढ़ जाती है। हेमेटोलॉजी और ऑन्कोलॉजी विशेषज्ञ रक्त, हड्डी के रोगों के उपचार के साथ मज्जा, लिम्फ नोड्स में भी विशेषज्ञता रखते हैं। इतना ही नहीं पित्त संबंधी कैंसर, स्तन कैंसर, फेफड़ों के कैंसर, ग्रीवा कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर, हॉजकिन लिम्फोमा, गैर हॉगकिन लिंफोमा, क्रोनिक ल्यूकेमियास, गुर्दा कैंसर, लिवर कैंसर, मेलेनोमा, डिम्बग्रंथि कैंसर, अग्नाशय कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, त्वचा कैंसर के इलाज में भी इन्हें विशेष योग्यता व अनुभव प्राप्त है। कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी पर हालही में हुए अध्ययन बताते हैं कि पहले बड़े बड़े शहरों में ही इसके रोगी मिलते थे, लेकिन कुछ समय से छोटे शहरों व गांवों से भी बड़ी संख्या में कैंसर के मामले सामने आ रहे हैं। शहरों में कैंसर के मामले बढ़ने का प्रमुख कारण तंबाकू, शराब का सेवन, जनसंख्या वृद्धि के कारण होने वाला वायु प्रदूषण व स्वस्थ आहार न लेना है। मेदांता में कैंसर संस्थान की स्थापना वर्ष 2010 में की गई थी। इस अस्पताल का मुख्य उद्देश्य कैंसर पीड़ित मरीजों का बेहतर इलाज करना है। कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के लिए बेहतर इलाज के साथ मेदांता कैंसर संस्थान में हेमटो ऑन्कोलॉजी विभाग, ऑन्कोलॉजी विभाग, स्तन, सिर और गर्दन के ऑन्कोलॉजी विभाग सहित कई अंग-विशिष्ट सर्जिकल डिवीजन भी शामिल हैं। मेदांता अस्पताल में कैंसर विशेषज्ञों की अनुभवी टीम के साथ प्रशिक्षित ऑन्कोलॉजिस्ट साइबरनाइफ वीएसआई रोबोटिक रेडियो सर्जरी, वीएमएटी, आईजीआरटी, टोमोथेरेपी और अन्य हाई-एंड डायग्नोस्टिक जैसी हाई टेक्नोलॉजी से लैस है। यहां विश्वस्तरीय उपकरण और विश्व के प्रतिष्ठित सर्जन भी हैं।

महिला हस्तशिल्प कारीगरों को मिलेगा आर्टिजन कार्ड

देहरादूना। तेजस्वनी चौरिटेबल ट्रस्ट की ओर से 23 मई सोमवार को रेसकोर्स में महिला कारीगरों के लिए आर्टिजन कार्ड कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। जानकारी देते हुए तेजस्विनी चौरिटेबल ट्रस्ट की अध्यक्ष प्रिया गुलाटी ने बताया कि तेजस्विनी द्वारा महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में कार्य किए जा रहे हैं इसी क्रम में यह आर्टिजन कार्ड कैंप का आयोजन कार्यालय विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) कार्यालय उत्तराखंड के सहयोग से किया जा रहा है। इससे महिलाओं के पास यह प्रावधान रहता है कि केंद्र सरकार द्वारा आयोजित होने वाले ट्रेड फेयर्स में उन्हें मुफ्त स्टॉल मिल जाता है । प्रिया गुलाटी ने बताया कि कैंप के लिए अभी तक 40 से अधिक महिला कारीगरों के पंजीकरण हो चुके हैं। कैम्प रेसकोर्स स्थित पार्षद आवास निकट अमरीक हॉल में सुबह 11 बजे से लगाया जा रहा है। इसके लिए महिलाओं को अपना आधार कार्ड, बैंक की पासबुक एवं अपनी दो पासपोर्ट साइज फ़ोटो लानी होगी। मौके पर ट्रस्ट से त्रिशला मालिक, रोमी सलूजा, कविता पाल एवं आंशिक खुराना बतौर समन्वय मौजूद रहेंगी।

सुंदरलाल बहुगुणा की पहली पुण्यतिथि पर आम आदमी पार्टी ने दी श्रद्धांजलि

देहरादून। आम आदमी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आज स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा की पहली पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान प्रदेश के संगठन समन्वयक जोत सिंह बिष्ट समेत पार्टी के कई पदाधिकारियों ने कार्यालय में पहुंचकर स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए उन्हें नमन किया। श्री बिष्ट ने इस दौरान बताया कि स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा ने हमेशा अपने जीवन में कई संघर्ष किए और वह प्रसिद्ध पर्यावरणविद् रहे जिन्होंने सदैव जल जंगल जमीन की लड़ाई को सर्वाेपरि रखा। उन्होंने कहा कि आज सुंदरलाल बहुगुणा हमारे बीच में नहीं हैं लेकिन हमें उनके विचार और आदर्शों पर चलने की बहुत जरूरत है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड एक पर्वतीय प्रदेश है और पर्वत जैसे महान शख्सियत रहे सुंदरलाल बहुगुणा के अनुसरण पर चलने का कार्य आम आदमी पार्टी शुरू से ही करती आई है। उन्होंने यह भी कहा कि सुंदरलाल बहुगुणा जी के कार्यों को देखते हुए आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने उनके परिजनों को सम्मानित भी किया था साथ ही भारत सरकार से स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा जी को भारत रत्न देने की अपील भी की थी। इस दौरान प्रदेश कार्यालय में जोत सिंह बिष्ट के साथ रविंद्र आनंद, डिंपल सिंह, सीमा कश्यप, सतीश शर्मा, अमरेंद्र बिष्ट समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे।

पुण्यतिथि पर याद किए गए भारतरत्न पूर्व पीएम राजीव गांधी

देहरादूना। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस ने भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर अपने प्रिय नेता को श्रद्वासुमन अर्पित किये। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि स्व0 राजीव गांधी प्रतिभाषाली व्यक्तित्व के धनी थे। माहरा ने कहा कि स्व0 राजीव जी का नाम आधुनिक भारत के निर्माता, भारत में कम्प्यूटर क्राति के सूत्रधार के रूप में देश के इतिहास के पन्नों मेें सदैव स्वर्ण अक्षरों में लिख जायेगा। स्व0 राजीव जी ने संविधान में संशोधन कर पंचायती राज व्यवस्था मंे महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देकर मात्र शक्ति को राजनीति की मुख्यधारा से जोड़ने का काम किया। स्व0 राजीव गांधी जी के जीवन वृतान्त का उल्लेख करते हुए करन माहरा ने कहा कि स्वभाव से वे गंभीर लेकिन आधुनिक सोच एवं निर्णय लेने की अदभुत क्षमता वाले और भारत को प्रगतिशील देशों के समकक्ष लाकर उच्च तकनीकी से लैस करना चाहते थे, जो उन्होंने करके भी दिखाया। माहरा ने कहा कि राजीव जी बार-बार कहते थे कि भारत की एकता एवं अखण्डता को बनाये रखने के लिए सभी धर्मों को आगे आने की आवश्यकता है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मात्र 40 वर्ष की युवा अवस्था में सबसे बडे लोकतंत्र के प्रधानमंत्री जैसे सर्वाेच्च पद पर असीन होने वाले राजीव गांधी सज्जनता, मित्रता और प्रगतिषीलता का प्रतीक थे। राजनैतिक क्षितिज में उनका उदय अप्रत्याक्षित तो अवश्य था परन्तु इतने बडे देष के प्रधानमंत्रित्व का भार अपने युवा कंधों पर लेते हुए राजीव गांधी ने साहसिक कदम उठाकर ज्वलन्त समस्याओं के प्रति स्पश्ट दृष्टिकोण अपनाकर अपनी छवि एक विवेकशील और गतिशील राजनेता के रूप में प्रतिष्ठित की। उनकी स्पश्टवादिता और आधुनिक विचारों ने उन्हें शीघ्र ही ’’मिस्टर क्लीन’’ की संज्ञा दी। उन्होंने अपने प्रधानमंत्रित्व के 5 वर्शाे के कार्यकाल में देश हित में अनेकों ऐसे काम किये जो आज भी युवाओं के लिए प्रेरणा श्रोत बने हुए है। वह राजीव जी ही थे जिन्होंने नौजवानोें को 18 वर्ष की आयु में मताधिकार देकर लोकतंत्र मंे भागीदारी करने का मौका दिया तथा नई षिक्षानीति लागू करके देष की शिक्षा नीति में आमूलचूल परिवर्तन करने का काम किया। माहरा ने कहा कि राजीव जी सोच कृशि क्षेत्र को मजबूती देने की थी। स्व0 राजीव कहा करते थे यदि किसान कमजोर होता है तो देष आत्मनिर्भता खो देता है लेकिन अगर वह मजबूत है तो देष की स्वत्रंतता भी मजबूत हो जाती है इसीलिए हमारे सबसे बड़े कार्यक्रम गरीबी उल्मूलन का मकसद किसानों का उत्थान होना चाहिए। करन माहरा ने कहा कि स्व0 राजीव जी ने कहा था ’’मैं ऐसे भारत का सपना देखता हॅू जो मानवता की सेवा के लिए मजबूत, स्वतंत्र और आत्मनिर्भर हो और पूरी दुनिया के देषों में सबसे आगे हो’’ अपने प्रधानमंत्रितत्व काल में उन्होंने देष को विष्व के राजनीतिक पटल में मजबूती से खड़ा करने का काम किया। माहरा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि हम सबको स्व0 राजीव गांधी जी के पद चिन्हांे में चलकर कांग्रेस को मजबूत करना है। प्रदेष कांग्रेस मुख्यालय में भी कांग्रेस के वरिश्ठ नेतागणों एवं कार्यकर्ताओं ने अपने प्रिय नेता का स्मरण करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्वांजलि अर्पित की। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष राजेन्द्र भण्डारी, महानगर अध्यक्ष, लाल चन्द्र शर्मा, मीडिया प्रभारी गढ़वाल मण्डल गरिमा महरा दसौनी, प्रदेष प्रवक्ता डॉ0 आर0 पी0 रतू़डी, पूर्व मत्री अजय सिंह, डॉ. प्रतिमा ंिसह, पूर्व सैनिक विभाग के प्रदेष अध्यक्ष कै0 बलवीर सिंह रावत, उपाध्यक्ष पूरन सिह रावत, महामंत्री राजेन्द्र षाह, मनीष अमरजीत ंिसह, नागपाल, नवीन जोषी, जोत ंिसह रावत, पूर्व एसी विभाग के प्रदेष अध्यक्ष दर्शन लाल, सुनित राठौार, मोहन काला, आषीश सिंह बिश्ट, इजी0 सतेन्द्र कुमार, कर्नल मोहन सिंह रावत, सुदर्षन सिंह रावत, सुरेन्द्र नागपाल, नीरज त्यागी, जसवीर सिंह, राजेन्द्र दुर्गापाल, अषोक मल्होत्रा, चंडी प्रसाद गोदियाल, मंजू चौहान, लता ंिसह, मीना देवी, सावित्री थापा, अनुराधा तिवाडी, भवन डोरा, कविराज आदि उपस्थित थे।

अनिल रतूड़ी के उपन्यास “भंवर एक प्रेम कहानी“ का सीएम ने किया विमोचन

देहरादूना। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड के पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित उपन्यास “भंवर एक प्रेम कहानी“ का विमोचन किया। अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित 340 पृष्ठों का यह उपन्यास विनसर प्रकाशन द्वारा प्रकाशित किया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उपन्यास के लेखक अनिल रतूड़ी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि एक वर्दीधारी अधिकारी जब एक प्रेम कथा लिखते हैं, तो इससे अनुमान लगाया जा सकता है की इनके हृदय में किस तरह के भाव होंगे। इस उपन्यास में उन्होंने अपने जीवन में घटित सभी संस्मरणों एवं अनुभूतियों का वर्णन किया है। अपने कार्यों के साथ उन्होंने जिस तरह अपनी साहित्यिक अनुभूतियों को बचा कर रखा वह प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री ने कहा की इस उपन्यास के माध्यम से मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं को दर्शाने का सराहनीय प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य तब ज्यादा अच्छा होता है, जब हम उस कार्य को करने के लिए स्वतंत्र हों। कार्य की स्वतंत्रता के लिए जरूरी है कि कोई भी व्यक्ति सुविधा का दास न बने। मुख्यमंत्री ने “भंवर एक प्रेम कहानी“ उपन्यास के कुछ मुख्य अंशों का जिक्र भी किया। कार्यक्रम का शुभारंभ अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी धर्मपत्नी अनिल रतूड़ी ने उत्तराखण्ड गढ़वाल के मागलिक गीत ”देणा होयां खोली का गणेशा रे, देणा होयां मोरी का नारेणा रे” गीत गाकर प्रारंभ किया। कार्यक्रम का संचालन पत्रकार एवं साहित्यकार, लेखक डॉ0 कंचन नेगी ने किया। अनिल रतूड़ी की शिक्षा कन्वेंट ऑफ जीसस एण्ड मैरी हैम्पटन कोर्ट और सेंट जॉर्जस कॉलेज मसूरी से पूर्ण करने के उपरान्त दिल्ली विश्वविद्यालय से बी.ए ऑनरस और एम.ए अंग्रेजी साहित्य में शिक्षा ग्रहण की तथा 1987 में आईपीएस अधिकारी बन सभी को गौरवान्वित किया, जहां पहले उन्हें यूपी कैडर आंवटित किया गया, वहीं बाद में उत्तराखण्ड के निर्माण पर उन्होंने राज्य की कंमान सभांलते हुए 2017 से 2020 तक उत्तराखण्ड पुलिस के महानिदेशक पद से सेवाएं देते हुए अधिवर्षता आयु पूर्ण करने पर सेवानिवृत हुए। उन्होंने यूपी में महत्वपूर्ण पदों पर सेवाएं दी। उपन्यास के लोकापर्ण के अवसर पर मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड सरकार पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रशासनिक कार्यों के दबाव के साथ साहित्य की अनुभूति को बचाकर रखना बहुत ही कठिन होता है तथा जो व्यक्ति ऐसा कर पाते है वह लम्बे समय तक जाने जाते है। श्री रतूड़ी की छवि एक अनुशासनात्मक एवं ईमानदार अधिकारी की रही है जो कि राज्य के युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत है। उन्होंने कहा कि यह उपन्यास अभिमन्यू से अर्जुन बनने की ओर प्रेरित करती है। उन्होंने कहा कि मनुष्य के लिए कोई भी कार्य असम्भव नहीं है बल्कि स्वयं को पहचानने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अनिल रतूड़ी एवं राधा रतूड़ी का नाम श्रद्धा पूर्वक लिया जाता है, तथा इनका जीवन आने वाली पीढ़ी के लिए मार्ग दर्शन है, तथा सभी युवाओं को इनके जीवन से सीख लेते हुए इनके आर्दशों को अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए। इस अवसर पर मुख्य सचिव एस.एस संधू ने कहा कि “भँवर एक प्रेम कहानी” उपन्यास प्रासंगिक विषय पर लिखा गया है जिसमें जीवन शुरूआती अनुभव से लेकर सरकारी सेवा में आई चुनौतियां आदि सभी विषयों पर है जो कि एक प्रसांगिक कहानी है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को कभी अपनी इच्छाओं को दबाना नहीं चाहिए जब भी समय मिलें अपनी आत्मा की आवाज को सुनकर अपने अन्दर छुपी कला को बाहर लाना चाहिए यह पुस्तक युवाओं के लिए मार्गदर्शन का कार्य करेगी। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि यह एक पुस्तक नहीं बल्कि एक ऐतिहासिक दस्तावेज है जिसमें 1971 से लेकर 2020 तक की यात्रा का उल्लेख है। उपन्यास के लोकार्पण के अवसर पर लेखक/पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी ने कार्यक्रम में कार्यक्रम में आए हुए सभी लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही अपने माता-पिता, बहिन एवं बेटी, परिजनों, मित्रों का सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही अपनी अर्द्धागिनी राधा रतूड़ी का विशेष धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि उन्होंने जीवन के हर एक क्षण में उनका साथ दिया। उन्होंने कहा कि मानव सभ्यता की सबसे बड़ी चीज है जो हमें हमारे परम्परा एवं इतिहास का बोध कराती है। उन्होंने कहा कि पुस्तक मेरे विचार से मानव सभ्यता की सबसे बड़ी चीज है जो हजारो वर्ष पूर्व जो व्यक्ति अब नहीं है उससे कालों के पार संवाद कर सकते हैं अगर हम चाहें तो। अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि हमारी 34 वर्ष की यात्रा उसमे यह एक महत्वपूर्ण पूर्ण पड़ाव था, जिसमें आप सब लोग साक्षी बने। यह पुस्तक के रूप में संतान का जन्म है जिसे आप सब ने आशीर्वाद दिया। उन्होंने कार्यक्रम उपस्थित, एवं कार्यक्रम व्यवस्थाओं में लगे सभी लोगों का ध्यान्वाद ज्ञापित किया। पूर्व मुख्य सचिव नृप सिंह नपलच्याल, उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपति डॉ. सुधा रानी पांडे एवं ललित मोहन रयाल ने उपन्यास “ भंवर एक प्रेम कहानी“ के बारे में विस्तार से बताया। “भंवर एक प्रेम कहानी“ उपन्यास के विमोचन के अवसर पर साहित्यकार एवं कवि पद्मश्री लीलाधर जगूड़ी, उपन्यास के लेखक अनिल रतूड़ी, मुख्य सचिव डॉ. एस.एस संधू, पूर्व मुख्य सचिव एस रामास्वामी, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, साहित्यकार डॉ. राम विनय सिंह मौजूद रहे।

रविवार को खुलेंगे हेमकुंड साहिब के कपाट, घांघरिया के लिए रवाना हुआ पहला जत्था

चमोली। सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट श्रद्धालुओं के लिए रविवार 22 मई को खुल जाएंगे। इसके तहत शनिवार को पंच प्यारों के नेतृत्व में यात्रा गोविंदघाट से घांघरिया के लिए रवाना हुई। श्रद्धालुओं का जत्था 22 मई की सुबह हेमकुंड साहिब पहुंचेगा। इसके बाद गुरुद्वारा साहिब व लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। इसके लिए दोनों धामों की फूलों से भव्य सजावट की गई है। दो साल बाद अपने भव्य स्वरूप में शुरू हो रही हेमकुंड साहिब की यात्रा को लेकर भ्यूंडार घाटी में उल्लास का माहौल है। व्यापारियों के चेहरे भी खिले हुए हैं। जत्थे में शामिल होने के लिए तीन हजार से अधिक श्रद्धालु गोविंदघाट व जोशीमठ गुरुद्वारा पहुंचे थे। इनमें सरदार जनक सिंह व गुरवेंद्र सिंह का जत्था भी शामिल हैं। ये दोनों जत्थे बीते 20 वर्षों से कपाटोद्घाटन व कपाटबंदी के मौके पर धाम में मौजूद रहते हैं। गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब के साथ ही लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट भी 22 मई को खोले जाएंगे। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पैदल मार्ग पर आवाजाही शुरू हो गई है और घोड़ा-खच्चर, डंडी-कंडी संचालक भी पड़ावों पर पहुंच चुके हैं।

अधिकारी पूरी तत्परता के साथ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करेंः महाराज

गोपेश्वर। पर्यटन, सिंचाई, संस्कृति, जलागम प्रबंधन, बाढ़ नियंत्रण उत्तराखंड सरकार सतपाल महाराज ने शनिवार को जिला कार्यालय सभागार में अधिकारियों की बैठक लेते हुए बद्रीनाथ में यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होने अधिकारियों से कहा कि चारधाम यात्रा राज्य की प्रतिष्ठा का सवाल है। तीर्थयात्रियों का ‘‘अतिथि देवों भवः‘‘ की भावना से सम्मान करते हुए उनको हर संभव सुविधाएं मुहैया की जाएं। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने ने चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों से अपील की है कि यदि कोई तीर्थयात्री डायबटीज, हायपरटेंशन, ब्लडप्रेशर जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित हो, तो वे अपना स्वास्थ्य जांच एवं चिकित्सक से परामर्श लेकर ही यात्रा करें। ताकि स्वास्थ्य को लेकर परेशानी न हो। मंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा से होटल, रेस्टोरेंट एवं अन्य सभी व्यवसायियों को भी आर्थिक लाभ मिलना चाहिए। उन्होंने धाम में यात्रियों के ठहरने की क्षमता के अनुसार पंजीकरण व्यवस्था में संशोधन करने के निर्देश दिए। एनएच, लोनिवि, बीआरओ एवं सडक से जुडे विभागों को सडकों का सुधारीकरण पर विशेष फोकस रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि मानसून सीजन निकट है। जहां पर भी सडकें खराब है, उनको ठीक किया जाए। भूस्खलन क्षेत्रों पर प्रोटेक्शन वर्क एवं सडक किनारे नालियों की साफ सफाई की जाए। राष्ट्रीय राजमार्ग पर कुछ स्थानों में फुटपाथ का लेवल सडक लेवल से ऊपर बनाने से बरसात में सडकों पर पानी जमा होने की समस्या को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने एनएच अधिकारियों को तत्काल इस समस्या का समाधान करने के निर्देश भी दिए। श्री महाराज ने कहा कि धाम और यात्रा मार्ग पर नियमित साफ सफाई एवं सेनेटाइजेशन की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। एकत्रित कूडे का उचित निस्तारण करें। पेट्रोल, डीजल व राशन का पर्याप्त स्टाक रखने के साथ ही होटल, रेस्टोंरेंट व ढाबों में गुणवक्तायुक्त भोजन की नियमित जांच करें। ट्रक एवं अन्य मालवाहक वाहनों में सवारी ढोने को पूरी तरह प्रतिबंधित करते हुए दुपहिया एवं सवारी वाहनो में भी क्षमता के अनुसार यात्रियों को ले जाने की अनुमति दी जाए। वाहन चालक यात्रियों से मधुर व्यवहार रखें। मंत्री ने हेमकुण्ड साहिब यात्रा मार्ग पर भी यात्री सुविधाओं के पुख्ता इंतेजाम करने के निर्देश दिए। गोविंदघाट में सिल्ट जमा होने के कारण नदी का लेवल ऊपर उठने से संभावित खतरे को देखते हुए उन्होंने ड्रेजिंग कराने हेतु शीघ्र प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा हमारी प्रतिष्ठा का सवाल है। सभी अधिकारी पूरी तत्परता के साथ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। किसी भी अधिकारी को फोन आने पर फोन अवश्य उठाए। किसी कारण से उपलब्ध न होने की दशा में कॉलबैक अवश्य करें। उन्होंने टैक्सी डाइवर एवं टूर ऑपरेटरों से भी अपील की कि वे तीर्थयात्रियों से मधुर व्यवहार रखें। तीर्थयात्रियों को हमारे अन्य पर्यटक एवं धार्मिक स्थलों के बारे में जानकारी दें। पर्यटकों को रिवर राफ्टिंग, एंग्लिंग एवं अन्य साहसिक गतिविधियों से भी जोड़ा जाए। बैठक में कर्णप्रयाग विधायक अनिल नौटियाल, थराली विधायक भूपाल राम टम्टा, भाजपा जिला अध्यक्ष रघुवीर बिष्ट, जिलाधिकारी वरूण चौधरी, पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे, डीएफओ सर्वेश कुमार दुबे, सीएमओ एसपी कुडियाल, सीईओ बीकेटीसी बीडी सिंह, एसडीएम अभिनव शाह सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

चारधाम यात्रा समीक्षा बैठक में मंत्री महाराज ने कसे अधिकारियों के पेंच

रूद्रप्रयाग। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि यात्रा मार्गों पर तीर्थयात्रियों को त्वरित प्राथमिक उपचार उपलब्ध कराया जाए। रुद्रप्रयाग जिला मुख्यालय में शनिवार को पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने चारधाम यात्रा की दृष्टि से जनपद के सभी अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देने के साथ साथ हिदायत दी कि सभी अधिकारी अपने फोन उठायें यदि किसी कारणवश नहीं उठा पाते हैं तो वापस संबंधित नम्बर पर कॉल करें। तीर्थयात्रियों को किसी भी प्रकार की असुविधा हुई तो कार्यवाही की जायेगी। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि कोविड महामारी ने मनुष्य के फेफड़ों को सबसे अधिक प्रभावित किया है। ऐसे में तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यात्रा मार्गों में ऑक्सीजन और उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होने चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों से अनुरोध किया कि वह यात्रा पर जाने से पहले डॉक्टर से जाँच करवाने के अलावा उनकी सलाह अवश्य लें। पर्यटन मंत्री ने चार धाम मार्गों पर घोड़े व खच्चरों की मौत को भी गंभीरता से लिया। पशुपालन विभाग को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि घोड़े-खच्चरों को उचित आराम और चारा दिया जाए। साथ ही उन्होंने घोड़े-खच्चरों की मौत के लिए उनके मालिकों पर भी जवाबदेही तय करने के अधिकारियों को निर्देश दिए। पर्यटन मंत्री ने कहा कि चार धाम यात्रा अपने चरम चरण में प्रवेश कर चुकी है। ऐसे में संबंधित विभाग के प्रत्येक अधिकारी को फोन उठाना चाहिए और यदि वह कॉल लेने की स्थिति में नहीं है, तो उसे वापस कॉल करना होगा। उन्होंने उन तीर्थयात्रियों के आगमन पर प्राथमिकता देने का सुझाव दिया, जिन्होंने पहले ही चारधाम के लिए होटल और अन्य बुकिंग कर ली है। उन्होंने यह भी स्पष्ट रूप से कहा कि यात्रा के दौरान किसी भी असुविधा से बचने के लिए यात्रा मार्ग के बीच में रोकने के बजाए तीर्थयात्रियों को पहले ही पड़ाव पर रोका जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने लोक निर्माण विभाग के सचिव से फोन पर वार्ता कर निर्देश दिए कि केदारनाथ यात्रा मार्गाे पर पर्याप्त संख्या में जेई और अन्य अधिकारी तेनात किये जायें। उन्होने यात्रा मार्ग पर बने वैकल्पिक मार्ग और निर्माणाधीन पुलों का कार्य जल्द पूरा करने के निर्देश देने के साथ ट्रेक रूटों की रेलिंगों को भी जल्द सही करने के निर्देश दिए। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने ने ऑनलाइन माध्यम से बैठक में जुड़े पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर से बात कर पंजीकरण प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के निर्देश दिए। जिससे तीर्थयात्रियों को पंजीकरण कराने साथ ही अन्य जानकारी भी मैसेज में प्राप्त हो जाए। इसके अलावा उन्होने यात्रा ट्रेक और केदारनाथ मंदिर के आसपास शीघ्रता से तीर्थयात्रियों के लिए टीन शेड भी बनाए जाने के निर्देश दिए। जिससे बारिश के दिनों में श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना ना करना पड़ेगा। पर्यटन मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्रा के दौरान होने वाली तीर्थयात्रियों की मौत के बाद शव को उनके परिजनों तक पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस सेवा उपलब्ध कराने में आ रही दिक्कतों का समाधान किया जाए। उन्होंने यात्रा मार्गों पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने पर भी जोर दिया। बैठक में रुद्रप्रयाग विधायक भरत सिंह चौधरी, बदरी केदार समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय, जिला पंचायत अमरदेई शाह, डीएम रुद्रप्रयाग मयूर दीक्षित, भाजपा जिलाध्यक्ष दिनेश उनियाल, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य महावीर पंवार, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य महिला मोर्चा उमा आर्य, भाजपा जिला मीडिया प्रभारी सतेन्द्र बर्त्वाल, जिला सह मीडिया प्रभारी बुद्धि बल्लभ थपलियाल, जिला सोशल मीडिया प्रभारी पंकज कपरवान, रुद्रप्रयाग नगर मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह रावत रुद्रप्रयाग ग्रामीण मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र जोशी, तलानागपुर मंडल अध्यक्ष शुभाष पुरोहित, जिला अध्यक्ष उद्योग व्यापार मंडल रुद्रप्रयाग अंकुर खन्ना, पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य जयंती प्रसाद कुरवांचलि एवं पूर्व प्रदेश महिला मौर्चा सदस्य सरला खंडूड़ी सहित एनएचआई, पीडब्ल्यूडी, पंचा‌य‌ती राज, स्वास्थ्य, पशुपालन, बिजली और पेयजल सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

उपन्यास “भंवर एक प्रेम कहानी“ का सीएम ने किया विमोचन, अनिल रतूड़ी हैं इसके लेखक

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उत्तराखंड के पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित उपन्यास “भंवर एक प्रेम कहानी“ का विमोचन किया। अनिल रतूड़ी द्वारा लिखित 340 पृष्ठों का यह उपन्यास विनसर प्रकाशन द्वारा प्रकाशित किया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उपन्यास के लेखक अनिल रतूड़ी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि एक वर्दीधारी अधिकारी जब एक प्रेम कथा लिखते हैं, तो इससे अनुमान लगाया जा सकता है की इनके हृदय में किस तरह के भाव होंगे। इस उपन्यास में उन्होंने अपने जीवन में घटित सभी संस्मरणों एवं अनुभूतियों का वर्णन किया है। अपने कार्यों के साथ उन्होंने जिस तरह अपनी साहित्यिक अनुभूतियों को बचा कर रखा वह प्रशंसनीय है। मुख्यमंत्री ने कहा की इस उपन्यास के माध्यम से मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं को दर्शाने का सराहनीय प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य तब ज्यादा अच्छा होता है, जब हम उस कार्य को करने के लिए स्वतंत्र हों। कार्य की स्वतंत्रता के लिए जरूरी है कि कोई भी व्यक्ति सुविधा का दास न बने। मुख्यमंत्री ने “भंवर एक प्रेम कहानी“ उपन्यास के कुछ मुख्य अंशों का जिक्र भी किया। पूर्व मुख्य सचिव नृप सिंह नपलच्याल, उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय की पूर्व कुलपति डॉ. सुधा रानी पांडे एवं ललित मोहन रयाल ने उपन्यास “ भंवर एक प्रेम कहानी“ के बारे में विस्तार से बताया। “भंवर एक प्रेम कहानी“ उपन्यास के विमोचन के अवसर पर साहित्यकार एवं कवि पद्मश्री लीलाधर जगूड़ी, उपन्यास के लेखक अनिल रतूड़ी, मुख्य सचिव डॉ. एस.एस संधू, पूर्व मुख्य सचिव एस रामास्वामी, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, साहित्यकार डॉ. राम विनय सिंह मौजूद रहे।

Friday, 13 May 2022

मां जगदीशिला डोली रथयात्रा का दून में विभिन्न स्थानों पर हुआ स्वागत, लोगों ने लिया आशीर्वाद

देहरादून, गढ़ संवेदना। बाबा विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली रथयात्रा गुरुवार को हरिद्वार से देहरादून पहुंची। देहरादून में नगरनिगम कार्यालय परिसर में डोली रथ यात्रा का भव्य स्वागत हुआ। यहां पर मेयर सुनील उनियाल गामा व अन्य लोगों द्वारा डोली यात्रा का स्वागत किया गया। नगरनिगम कार्यालय परिसर से डोली यात्रा दून के अन्य क्षेत्रों के लिए रवाना हुई। लोगों ने बड़ी संख्या में एकत्रित होकर मां जगदीशिला का आशीर्वाद लिया। शुक्रवार को जगदीशिला डोली रथ यात्रा पछवादून के लिए रवाना होगी। नगरनिगम कार्यालय स्थित जुगमंदर हाल में आयोजित डोली शोभायात्रा स्वागत कार्यक्रम की अध्यक्षता मेयर सुनील उनियाल गामा द्वारा की गई। इस मौके पर यात्रा संयोजक पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी ने कहा कि 30 दिवसीय बाबा विश्वनाथ जगदीशिला डोली रथयात्रा राज्य के सभी 13 जिलों से होकर गुजरेगी। उन्होंने कहा कि इस डोली रथयात्रा का मुख्य उददेश्य विश्व शांति व देवभूमि उत्तराखंड में 1000 धाम स्थापित करना है। यह 23वीं डोली रथयात्रा है। डोली रथ यात्रा 10 मई को विशोन पर्वत टिहरी से हरिद्वार पहुंची। 11 मई को हरिद्वार में हरि की पौड़ी पर गंगा स्नान के बाद डोली रथ यात्रा हरिद्वार में विभिन्न स्थानों पर गई। गुरुवार को यह यात्रा हरिद्वार से देहरादून के लिए रवाना हुई, देहरादून में विभिन्न स्थानों पर डोली यात्रा का लोगों ने स्वागत किया व मां जगदीशिला से आशीर्वाद लिया। यात्रा संयोजक श्री नैथानी ने कहा कि इस यात्रा के माध्यम से प्रदेश में साढ़े दस हजार किलोमीटर की यात्रा तय की जाएगी। उन्होंने सरकार से अनुरोध किया कि पूर्व में यात्रा के दौरान जो 141 स्थान चयनित हो चुके हैं उन्हें तीर्थाटन सर्किट में शामिल किया जाए। कहा कि डोली यात्रा विगत वर्ष जिन स्थानों पर जा चुकी है उन स्थानों पर इस समय नहीं जाएगी। यात्रा नए स्थानों पर जाएगी। उन्होंने कहा कि गांवों में बंजर पड़ी जमीन को आबाद करने, पलायन कर चुके लोगों को गांवों की ओर लौटने के लिए जागरूक करना भी इस यात्रा का उद्देश्य है। संस्कृत भाषा के उन्नयन के लिए भी इस यात्रा के माध्यम से प्रयास किए जाएंगे। जो एक हजार धाम चिन्हित होंगे, उन सभी धामों में संस्कृत विद्यालय व ध्यान केंद्र खोले जाएंगे। कहा कि राज्य में चारधाम के अलावा बहुत सारे मंदिर व स्थल हैं जहां लोगों के कष्ट दूर होते हैं, उनको धाम के रूप में विकसित किया जाए। इस मौके पर देवभूमि प्राथमिक संस्कृत विद्यालय के छात्रों द्वारा स्वस्तीवाचन किया गया। नगरनिगम में आयोजित कार्यक्रम में बतौर विशिष्ठ अतिथि राज्य अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा, राज्य पिछड़ा आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा, लालचंद शर्मा, समिति अध्यक्ष रूप सिंह बजियाला, गोविंद पेटवाल, डा. जितेंद्र पाल, कर्म सिंह समेत अनेक लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डा. चंडी प्रसाद घिल्ड़ियाल द्वारा किया गया। इस मौके पर बाबा विश्वनाथ मां जगदीशिला पर आधारित यूट्यूब चैनल का लोकार्पण भी अतिथियों द्वारा किया गया। इस यूट्यूब चैनल के निर्माता व निर्देशक कैलाशपति मैठाणी हैं। डोली का रात्रि विश्राम यात्रा संयोजक पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी के निवास नंदा विहार नवादा में होगा। 13 मई को डोली रथयात्रा नवादा से लख्सियार स्थित महासू मंदिर के लिए प्रस्थान करेगी। यात्रा सुद्धोवाला, झाझरा, सेलाकुई, सहसपुर, हर्बटपुर, विकासनगर, बाड़वाला, कालसी, लखवाड़ होते हुए लक्सियार महासू मंदिर पहेुचेगी, रात्रि विश्राम वहीं होगा। 14 मई को डोली रथयात्रा लक्सियार से सेरकुरिया देवता मंदिर रायगी के लिए प्रस्थान करेगी। 15 मई को यात्रा रायगी से शिकारू नाग मंदिर चंदेली के लिए प्रस्थान करेगी। 16 मई को यात्रा नागराजा मंदिर क्यारी थौलधार के लिए प्रस्थान करेगी। 17 मई को यात्रा चंबा के लिए प्रस्थान करेगी। 18 मई को डोली यात्रा चंबा से पुनाणू शिवालय के लिए प्रस्थान करेगी। 19 मई करे यात्रा पलेठी बनगढ़ के लिए प्रस्थान करेगी। 20 मई को यात्रा बनगढ़ से कमलेश्वर मंदिर श्रीनगर गढ़वाल पहुंचेगी। 21 मई डोली यात्रा बड़ागांव जोशीमठ के लिए रवाना होगी। 22 मई को यात्रा कुरुड़ मां चंदा मंदिर चमोली पहुंचेगी। 23 मई को डोली यात्रा धुनारधार गांवली पहुंचेगी। 24 मई को डोली यात्रा लाटू देवता मंदिर चमोली के लिए प्रस्थान करेगी। 25 मई को यात्रा वाण गांव से चमोली के भराड़ी बाराही पहुंचेगी। 26 मई को यात्रा सतगढ़ पहुंचेगी। 27 मई को यात्रा पिथौरागढ़ पहुंचेगी। 28 मई को डोली यात्रा गोल्जू महाराज मंदिर चंपावत के लिए प्रस्थान करेगी। 29 मई को यात्रा डोल आश्रम अल्मोड़ा पहुंचेगी। 30 मई को डोली यात्रा सत्यनारायण मंदिर हल्द्वानी पहुंचेगी। 31 मई को यात्रा तारकनाथ मंदिर रूद्रपुर उधमसिंहनगर पहुंचेगी। 1 जून को यात्रा गुरुद्वारा जसपुर पहुंचेगी। 2 जून को यात्रा कोटद्वार पौड़ी पहुंचेगी। 3 जून को यात्रा डा. जैक्सवीन नेशनल स्कूल गुप्तकाशी रूद्रप्रयाग पहुंचेगी। 4 जून को यात्रा बासुदेव मंदिर गंगानगर बांगर रूद्रप्रयाग पहुंचेगी। 5 जून को यात्रा बजीरा लस्या पहुंचेगी। 6 जून को यात्रा शिवदेई मंदिर एवं नागेंद्र देवता मंदिर बजीरा लस्या पहुंचेगी। 7 जून को यात्रा मालगांव हिंदाव के लिए प्रस्थान करेगी। 8 जून को यात्रा विशोन पर्वत विश्वनाथ मंदिर पहुंचेगी। 9 जून को 30वें दिन गंगा दशहरा के दिन डोली यात्रा का विश्वनाथ मंदिर में नीलाछाड़ में समापन होगा।

Wednesday, 4 May 2022

दिल की दक्षता में सुधार कर सकती सीआरटी: डॉ सलिल गर्

देहरादून। आंकड़ों के अनुसार हृदय गति रुक जाना एक वैश्विक महामारी के रूप में सामने आ रहा है। दुनिया भर में लगभग 26 लाख लोग इस स्थिति से प्रभावित हैं। आज की दुनिया में इस स्थिति के जोखिम कारकों और एक निवारक जीवन शैली का नेतृत्व करने के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है। दिल की विफलता अक्सर तब विकसित होती है जब अन्य स्थितियों के चलते दिल कमजोर या क्षतिग्रस्त हो जाता है। हालाँकि, यह स्थिति तब भी हो सकती है जब हृदय बहुत कठोर हो जाए। जांच के दौरान डॉक्टर स्टेथोस्कोप का इस्तेमाल दिल की असामान्य आवाजों को पकड़ने के लिए कर सकते हैं जो दिल की विफलता का संकेत दे सकता है। इस बारे में बात करते हुए, डॉ सलिल गर्ग, प्रोफेसर और हेड, इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी, श्री महंत इंद्रेश अस्पताल, देहरादून ने कहा, “हार्ट फेल्योर या कंजेस्टिव हार्ट फेल्योर तब होता है जब हृदय की मांसपेशी रक्त को उतनी अच्छी तरह से पंप नहीं करती जितनी उसे करनी चाहिए। कुछ स्थितियां, जैसे कि संकुचित धमनियां (कोरोनरी धमनी रोग) या उच्च रक्तचाप, धीरे-धीरे हृदय को इतना कमजोर या कठोर बना देती हैं कि वह कुशलता से भर और पंप नहीं कर पाता। दिल की विफलता या तो चल रही (पुरानी) हो सकती है, या स्थिति अचानक (तीव्र) शुरू हो सकती है। एक इजेक्शन अंश इस बात का एक महत्वपूर्ण माप है कि हृदय कितनी अच्छी तरह पंप कर रहा है और इसका उपयोग हृदय की विफलता को वर्गीकृत करने और उपचार का मार्गदर्शन करने में मदद करने के लिए किया जाता है। एक स्वस्थ हृदय का इजेक्शन अंश 50 प्रतिशत या उससे अधिक होता है। हालांकि, सामान्य इजेक्शन अंश वाले लोगों में भी दिल की विफलता हो सकती है। अपने कथन में आगे जोड़ते हुए, डॉ सलिल गर्ग ने कहा, ष्दिल की विफलता जीवन के लिए खतरा हो सकती है और स्थिति से जूझने वाले लोगों में गंभीर लक्षण हो सकते हैं। ध्यान देने योग्य संकेतों में कमजोरी और थकान, सांस फूलना शामिल हैं; टखनों, पैरों या पेट में सूजन; भार बढ़ना; भूख में कमी; चक्कर आना; और खाँसी विशेष रूप से शामिल है। कुछ लोगों में उचित उपचार से लक्षण और हृदय क्रिया में सुधार होता है। दिल की विफलता को रोकने की कुंजी उच्च रक्तचाप और कोरोनरी धमनी रोग जैसे संबंधित जोखिम कारकों को कम करना है। जीवनशैली में बदलाव पहला कदम है। दिल की विफलता के उपचार के विकल्पों में से एक को कार्डिएक रीसिंक्रनाइज़ेशन थेरेपी (सीआरटी) कहा जाता है। यह चिकित्सकीय रूप से सिद्ध उपचार है और हृदय की कार्यक्षमता में सुधार करने में मदद कर सकता है। एक सीआरटी डिवाइस दिल के दोनों निचले कक्षों में छोटे विद्युत आवेग भेजता है ताकि उन्हें अधिक सिंक्रनाइज़ पैटर्न में एक साथ हराने में मदद मिल सके। यह आपके शरीर में रक्त और ऑक्सीजन को पंप करने की हृदय की क्षमता को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। हालांकि, प्रक्रिया को चुनने से पहले किसी विशेषज्ञ से परामर्श करना अनिवार्य है क्योंकि इसकी आवश्यकता केवल मध्यम से गंभीर लक्षणों वाले लोगों में ही हो सकती है। दो प्रकार के सीआरटी उपकरणों में कार्डिएक रीसिंक्रनाइज़ेशन थेरेपी पेसमेकर (सीआरटी-पी) और एक कार्डिएक रीसिंक्रनाइज़ेशन थेरेपी डिफिब्रिलेटर (सीआरटी-डी) शामिल हैं।

वर्षों बाद अपने पैतृृक गांव पंचूर पहुंचे सीएम योगी, अपनी मां का लिया आशीर्वाद

कोटद्वार, गढ़ संवेदना न्यूज। अपने बेटे योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनकी 84 वर्षीय मां सावित्री देवी काफी भावुक हुई। इस दौरान योगी ने मां से आशीर्वाद लिया। योगी आदित्यनाथ को अपने बीच में पाकर उनके नाते रिश्तेदार व परिजन गदगद हो उठे। मंगलवार को अपने गुरु अवेधनाथ की प्रतिमा अनावरण के सिलसिले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ अपने पैतृक गांव यमकेश्वर के पंचूर पहुंचे थे। यहां तीन बजे से करीब साढ़े पांच बजे तक उन्होंने अनावरण कार्यक्रम और जनसभा में शिरकत की। इसके बाद वह उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत और अन्य लोगों के साथ बिथ्याणी स्थित महाविद्यालय से करीब तीन किमी दूर घर पहुंचे।  योगी आदित्यनाथ मंगलवार रात को घर में ही ठहरेंगे। उनके यहां यूपी पुलिस प्रशासन के साथ ही उत्तराखंड प्रशासन की ओर से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। घर में बुधवार की रात को उनके छोटे भाई महेंद्र बिष्ट के बेटे का चूड़ाक्रम संस्कार है। जिसमें वह भी शामिल रहेंगे। मुंडन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उनके सभी नाते रिश्तेदार पहले ही घर पहुंचे हुए हैं। सीएम योगी को अपने बीच पाकर उनके नाते रिश्तेदार और परिजन गदगद हैं। सभी से योगी ने बचपन की यादें ताजा की। परिजनों के अनुसार घर पहुंचकर सीएम योगी ने मां से आशीर्वाद लिया और कुशल क्षेम पहुंची। परिजनों की ओर से उनके लिए उसी कमरे को तैयार किया गया है, जिसमें वह बचपन में रहा करते थे। योगी आदित्यनाथ ने परिजनों और रिश्तेदारों के साथ सामूहिक फोटो भी खिंचवाई। इस दौरान नाते रिश्तेदार सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने के बाद काफी खुश दिखे।

Featured Post

हेरिटेज स्कूल के युवराज ने जीता एयर पिस्टल प्रतियोगिता में काँस्य पदक

देहरादून। हेरिटेज स्कूल के कक्षा नौवीं के छात्र चैधरी युवराज सिंह ने 10 मीटर एयर पिस्टल शूटिंग अंडर-17 वर्ग में काँस्य पदक जीत कर स्क...