Sunday, 20 November 2022

तुलाज इंस्टीट्यूट ने ग्लोबल एजुकेशन एंड कॉर्पाेरेट लीडरशिप अवार्ड्स की की मेजबानी

-वित्त मंत्री डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल ने वितरित किए पुरस्कार देहरादून (गढ़ संवेदना)। तुलाज़ इंस्टिट्यूट ने आज कॉलेज परिसर में ग्लोबल एजुकेशन एंड कॉर्पाेरेट लीडरशिप अवार्ड्स 2022 का आयोजन किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उत्तराखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल, लाइफ वे टेक इंडिया के सीईओ और निदेशक सुनील कुमार, तुलाज़ ग्रुप के उपाध्यक्ष रौनक जैन और डॉ. निरंजन लाल द्वारा दीप प्रज्वलन समारोह के साथ हुई। कार्यक्रम के दौरान विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, कोचिंग संस्थानों, स्टार्ट-अप्स, उद्यमियों, उद्योगों और कॉरपोरेट्स सहित कुल 58 व्यक्तियों और हितधारकों को सम्मानित किया गया। मोउमिता घोष को सर्वश्रेष्ठ शिक्षाविद का पुरस्कार दिया गया, तुलाज़ इंस्टिट्यूट को सर्वश्रेष्ठ इंजीनियरिंग कॉलेज के पुरस्कार से नवाज़ा गया, बी.के. शर्मा को सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार प्राप्त हुआ, डॉ. कुंवर सिंह वैसला को इनोवेटिव रिसर्चर ऑफ द ईयर का अवार्ड प्रदान किया गया, और इमैनुएल गेब्रियल को एक्सटेंशन एक्टिविटी कोआर्डिनेशन का पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम के दौरान प्रोफेसर डॉ. डी पी कोठारी को भारत की ओर से लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्राप्त हुआ, रानू इस्कंदर को इंडोनेशिया की नेगेरी सेमारंग यूनिवर्सिटी की ओर से बेस्ट वोकेशनल एजुकेशन अवार्ड मिला, जेरेसोम इलुकोर को पूर्वी अफ्रीका में युगांडा से बेस्ट प्रिंसिपल ऑफ द ईयर का अवॉर्ड मिला, डॉ. आनंद नय्यर को ड्यू टैन यूनिवर्सिटी, वियतनाम की ओर से सर्वश्रेष्ठ वरिष्ठ वैज्ञानिक का पुरस्कार मिला, और मुकेश मदानन को ढोफर विश्वविद्यालय, ओमान की ओर से इनोवेटिव रिसर्चर अवार्ड से नवाज़ा गया। दर्शकों को संबोधित करते हुए, मुख्य अतिथि डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल ने सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और सभी उम्र के लोगों के जीवन में शिक्षा के महत्व पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने इस तरह के प्रतिष्ठित पुरस्कार समारोह की मेजबानी के लिए जीईसीएल, लाइफ वे टेक इंडिया और तुलाज इंस्टीट्यूट को धन्यवाद दिया। लाइफ वे टेक इंडिया के सीईओ और निदेशक सुनील कुमार ने भी पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और उन्हें भविष्य में इस तरह के और सम्मान हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर बोलते हुए, तुलाज़ ग्रुप के उपाध्यक्ष, रौनक जैन ने कहा, हम तुलाज़ इंस्टिट्यूट में ग्लोबल एजुकेशन एंड कॉर्पाेरेट लीडरशिप अवार्ड्स 2022 की मेजबानी करके बेहद खुश हैं। यह पुरस्कार समारोह अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और स्थानीय स्तर पर प्रगति के अवसर पैदा करने के लिए दुनिया भर में कॉर्पाेरेट और शिक्षा के क्षेत्र में हितधारकों के लिए एक शानदार अवसर प्रदान करेगा। मैं आज यहां मौजूद सभी पुरस्कार विजेताओं को उनकी उपलब्धियों के लिए बधाई देता हूँ। जीईसीएल अवार्ड्स एक खुला मंच है जो शैक्षिक, वित्तीय, आर्थिक और प्रबंधन के मुद्दों में अपनी नेतृत्व रणनीतियों और अंतर्दृष्टि को साझा करने के लिए भारत के कुछ बुद्धिजीवियों को एक साथ लाता है। इस अवसर पर डॉ. निशांत सक्सेना, डॉ. रनित किशोर, डॉ. सुनील सेमवाल, और डॉ. त्रिपुरेश जोशी भी उपस्थित रहे।

Featured Post

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

नई दिल्ली, गढ़ संवेदना न्यूज: कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ़ इंडिया नई दिल्ली में नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम द्वारा आयोजित नेशनल सेमिनार में देश के...