Sunday, 8 January 2023

सेवानिवृत्त राजकीय पेन्शनर्स संगठन की बैठक में विभिन्न प्रस्ताव पारित

देहरादून,(गढ़ संवेदना)। सेवानिवृत्त राजकीय पेन्शनर्स संगठन उत्तराखण्ड की आवश्यक बैठक पवेलियन ग्राउंड देहरादून में प्रदेश अध्यक्ष विरेन्द्र सिंह कृषाली की अध्यक्षता में हुई। बैठक का संचालन प्रदेश सचिव रमेन्द्रसिंह पुण्डीर ने किया। बैठक में अति महत्वपूर्ण विषयों पर विचार-विमर्श कर विभिन्न प्रस्ताव पारित किए गए। प्रदेश कार्य समिति की बैठक 20 जनवरी को पदम सिंह शिक्षक भवन रेसकोर्स में प्रातः 11 बजे आहूत की गयी है जिसमें समस्त शाखाओं के अध्यक्ष एवं सचिव सहित गढवाल व कुमाऊं मण्डल के संगठन सचिव को आमंत्रित किया है। पेन्शनरांे की समस्याओ के समाधान हेतु एक प्रतिनिधि मण्डल डाटा सेन्टर एवं स्वास्थ्य प्राधिकरण में डा.वी.एस.टोलिया निदेशक मेडिकल एवं क्वालिटी से भी मिला तथा पेंशनरो के गोल्डन कार्ड के अंशदान की कटौती के सम्बन्ध मे निम्नांकित समस्याओं की मांग रखी। गोल्डन कार्ड के अंशदान की कटौती जिसके दो गुना व तीन गुना कटौती की गयी है शीघ्र वापस की जाय। गोल्डन कार्ड न चाहने वाले पेंशनरों की जनवरी 2021से की गयी अंशदान कटौती वापस करने की माँग की गयी। जिन पेंशनरों के सितम्बर 2022 मे गोल्डन कार्ड के अंशदान की कटौती जबरन या स्वेच्छा से काटी गयी है उनके उससे पूर्व के अंशदान कटौती (ऐरियर) को जमा करने के लिए सरलीकरण प्रक्रिया अपनायी जाने की प्रबल मांग की है जिससे पेंशनरो को चिकित्सा प्रतिपूर्ति के बिल एवं चिन्हित अस्पतालो में इलाज की सुविधा मुहैय्या हो सकें। चिन्हित अस्पतालों में गोल्डन कार्ड की अलग खिड़की लगाने का स्वागत किया गया तथा स्वास्थ्य प्राधिकरण का उसमे टोल फिरी नम्बर भी अंकित करने की माँग की गयी। बैठक में संरक्षक आर. एस.परिहार,प्रदेश प्रचार सचिव आर.एस. विरोरिया, प्रदेश कोषाध्यक्ष एम.एस.गुसांईं,प्रदेश संगठन मंत्री मोहन सिंह रावत, प्रदेश संगठन मंत्री (गढवाल) हृदय राम सेमवाल,जबर सिंह पंवार, शूरवीरसिंहचौहान,देवेन्द्र दत्त जोशी,धर्म सिंह कृषाली,सोहन सिह नेगी,श्यामजी यादव, चरणसिंहचौधरी,सरदार रोशनसिंह, बिरेन्द्र कुमार जिन्दल एवं मंगल सिंह राठौर आदि उपस्थित रहे।

Featured Post

कर्तव्य पथ पर गणतंत्र दिवस परेड में शामिल उत्तराखंड की झांकी ने पहली बार प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

देहरादून, गढ़ संवेदना न्यूज। गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया है। ...