केदारनाथ यात्रा तैयारियों को लेकर डीएम ने ली तैयारियों एवं व्यवस्थाओं का जायजा

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम की यात्रा को सुगम एवं सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए विभिन्न विभागों द्वारा की जा रही तैयारियों एवं व्यवस्थाओं का जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने चंद्रापुरी से गौरीकुंड घोड़ा-पड़ाव तक स्थलीय निरीक्षण कर की जा रही तैयारियों एवं व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने निरीक्षण में उपस्थित अधिकारियों जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग, डीडीएमए, सुलभ, पेयजल, विद्युत आदि विभागों को निर्देश दिए हैं कि उनके स्तर पर यात्रा व्यवस्थाओं में जो भी मरम्मत कार्य एवं निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो पाए हैं उन कार्यों को हर हाल में 15 अप्रैल, 2023 तक पूर्ण करना सुनिश्चित करें इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि चंद्रापुरी में जो पुल पर रैलिंग का कार्य किया जाना है उसे तत्परता से पूरा किया जाए। इसके साथ ही जिन दुकानों का अधिग्रहण किया गया है उन दुकानों का भी तत्काल ध्वस्तीकरण की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि यात्रा के दौरान जाम की स्थिति न बने। इसके साथ ही कुंड से गौरीकुंड तक रोड कटिंग का कार्य शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिए तथा श्रमिकों की संख्या बढाने के निर्देश दिए तथा जिन स्थानों में पैच वर्क का कार्य किया जाना है वहाँ पैचवर्क का कार्य करना सुनिश्चित करें। सुलभ को निर्देश दिए कि सीतापुर, सोनप्रयाग एवं धाम सहित जो भी शौचालय का निर्माण किया जा रहा है उन्हें तत्परता से पूर्ण करना सुनिश्चित करें एवं गौरीकुंड में बनाए जा रहे बायोगैस प्लांट उसे भी तत्परता से शीघ्र पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने गौरीकुंड, सोनप्रयाग, सीतापुर, केदारनाथ धाम में साफ-सफाई व्यवस्था दुरस्त करने के निर्देश दिए तथा जल संस्थान को पेयजल व्यवस्था दुरस्त करने के निर्देश दिए तथा जो लाइनें लीकेज हैं उन्हें तत्परता से ठीक करना सुनिश्चित करे तथा घोड़े-खच्चरों के पीने का गरम पानी उपलब्ध कराने के लिए जो भी मरम्मरत कार्य एवं निर्माण कार्य किए जा रहे हैं उन्हें शीघ्रता से पूर्ण करना सुनिश्चित करे। उन्होंने विद्युत विभाग को निर्देश दिए हैं कि यात्रा मार्ग में लो वोल्टेज की समस्या को दुरस्त करें एवं जिन स्थानों में विद्युत लाइट लगाई जानी हैं उनमें विद्युत लाईट लगाना सुनिश्चित करें। उन्होंने डीडीएमए को निर्देश दिए कि उनके द्वारा यात्रा मार्ग में जो मरम्मत कार्य एवं रैलिंग का कार्य अवशेष हैं उन्हें यथाशीघ्र पूर्ण करना सुनश्चित करें इसके साथ ही उन्होंने परियोजना निदेशक एवं अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को निर्देश दिए हैं कि परियोजना निदेशक को निर्देश दिए कि गौरीकुंड से घोड़ा पडाव तक यात्रा मार्ग में वाल पेंटिंग कराने के निर्देश दिए। इस अवसर पर परियोजना निदेशक केके पंत, उप जिला अधिकारी ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा, अधि. अभि. डीडीएमए प्रवीण कर्णवाल, आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार, जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्रा, सहायक अभियंता जल संस्थान, सुलभ इंटरनेशनल के इंचार्ज धनंजय पाठक, तहसीलदार जखोली राम किशोर ध्यानी, सहायक अभियंता एन एच प्रमोद नेगी सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे

Popular posts from this blog

नेशनल एचीवर रिकॉग्नेशन फोरम ने विशिष्ट प्रतिभाओं को किया सम्मानित

व्यंजन प्रतियोगिता में पूजा, टाई एंड डाई में सोनाक्षी और रंगोली में काजल रहीं विजेता

घरों के आस-पास चहचहाने वाली गौरैया विलुप्ति के कगार पर